Submit your post

Follow Us

UP में सरकारी टीचर ने आत्महत्या की, सुसाइड नोट देखकर लोगों की रूह कांप गई

उत्तर प्रदेश का बहराइच जिला. यहां एक स्कूल टीचर ने सुसाइड कर लिया. सुसाइड से पहले उन्होंने दो पन्नों का सुसाइड नोट लिखकर वॉट्सऐप पर उसकी फोटो सर्कुलेट कर दी. इसमें उन्होंने अपनी बिल्डिंग में रहने वाले और अपने ही विभाग से जुड़े लोगों का नाम लिखा है और उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

सुसाइड नोट में क्या लिखा है

आत्महत्या करने वाले शिक्षक का नाम नीरज कुमार चौबे है. उनकी पत्नी भी जरवल ब्लॉक के ही एक सरकारी स्कूल में शिक्षिका हैं. सुसाइड नोट में नीरज कुमार ने लिखा कि वो और उनकी पत्नी कैसरगंज में एक बिल्डिंग में किराए के मकान में रहते हैं. इस बिल्डिंग में चार लोगों की दबंगई चलती है. उन्होंने लिखा कि बिल्डिंग के बाकी किराएदार भी उनसे डरते हैं.

सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि चारों लोग उनका और उनकी पत्नी का मज़ाक उड़ाते हैं. उनकी पत्नी पर कमेंट करते हैं. सुसाइड नोट में  उन्होंने लिखा कि विरोध करने पर उन्हें जान से मारने और पत्नी के रेप की धमकी दी जाती थी.

नीरज कुमार ने लिखा है कि पत्नी ने 2018 में नौकरी जॉइन की थी. तब से ही इन लोगों की गतिविधि ऐसी ही है. उन्होंने लिखा कि इन लोगों ने उनका मानसिक और सामाजिक शोषण किया. उनका इतना शोषण किया कि अब उनकी जीने की इच्छा ही खत्म हो गई है. सुसाइड नोट में उन्होंने जहरीली गोलियां खाने की बात लिखी है.

सुसाइड नोट में किन लोगों का नाम लिखा है?

– नीरज कुमार सिंह. प्रधान अध्यापक. प्राथमिक विद्यालय हगपुरवा. कैसरगंज विकासखंड.
– अनिल कुमार. सहायक अध्यापक. प्राथमिक विद्यालय- ग्यारहसौरेती. कैसरगंज विकासखंड.
– मोहम्मद आरिफ. सहायक अध्यापक. प्राथमिक विद्यालय- अनभापुर. जरवल विकासखंड.
– नारायण सेवक गुप्ता. इनकी पत्नी कैसरगंज में एक प्राथमिक विद्यालय में टीचर हैं.

इस केस में आरोपियों का पक्ष जानने के लिए हमने उनसे बात करने की कोशिश की. लेकिन, सभी का फोन नंबर बंद मिला.

क्या कार्रवाई हुई?

Additional City Sp Behraich
Behraich के एडिशनल सिटी एसपी कुंवर ज्ञानंजय सिंह ने बताया कि सुसाइड नोट में लिखी बातों की जांच हो रही है. जांच पूरी होते ही कार्रवाई की जाएगी.

इस मामले पर बहराइच के एडिशनल सिटी एसपी कुंवर ज्ञानंजय सिंह ने जानकारी दी. उन्होंने बताया,

“नीरज कुमार चौबे ने एक सुसाइड नोट लिखकर वॉट्सऐप पर सर्कुलेट किया. और जहरीला पदार्थ खा लिया. अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. उनकी पत्नी भी टीचर हैं. जिस बिल्डिंग में वो रहते थे वहां करीब 20-22 परिवार रहते हैं. उन्होंने बिल्डिंग में रहने वाले चार लोगों पर आरोप लगाया है कि वो लोग उनकी पत्नी पर टिप्पणी करते थे, बाहर निकलती थीं तो हंसते थे. इस संबंध में उन्होंने पहले कोई शिकायत नहीं की थी. ये मामला पहली बार संज्ञान में आया है. पुलिस ने पत्नी की तहरीर के आधार पर मामला दर्ज किया गया है.”

सिंह ने बताया कि सुसाइड नोट में लिखी बातों की विवेचना की जा रही है. साथ ही बिल्डिंग में रहने वाले बाकी लोगों, आरोपियों के परिवारों से बात करके भी इस पूरे मामले की जांच की जा रही है. जांच पूरी होने के बाद जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी.

मार्कशीट की SIT जांच को लेकर परेशान थे नीरज!

इस मामले पर थोड़ी और जानकारी के लिए हमने मोहम्मद रफीक सिद्दीकी से बात की. वो कैसरगंज ब्लॉक के खिलाफतपुर प्राथमिक स्कूल में प्रधान अध्यापक हैं. उन्होंने बताया,

“आरोपियों में से दो नीरज कुमार सिंह और अनिल कुमार मेरे ब्लॉक में पदस्थ हैं. दोनों अपने काम और स्कूल के प्रति समर्पित माने जाते हैं. दोनों को ब्लॉक लेवल पर सम्मानित भी किया जा चुका है. ब्लॉक लेवल पर होने वाली कई मीटिंग्स में हम मिलते हैं. महिला शिक्षक भी इन मीटिंग्स में शामिल होती हैं, लेकिन कभी भी उनका व्यवहार औरतों के प्रति अपमानजनक नहीं लगा. न ही उनके आचरण को लेकर इस तरह की कोई शिकायत पहले आई.”

मोहम्मद रफीक ने बताया कि नीरज कुमार चौबे की डिग्री वाराणसी स्थित सम्पूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी की थीं. बता दें कि इस यूनिवर्सिटी की तरफ से फर्जी डिग्री जारी करने का मामला सामने आया है. पिछले दिनों खबर आई थी कि बीते 16 साल में जारी की गई डिग्रियों की जांच के बाद ये पता चला था कि यूनिवर्सिटी की तरफ से छह हज़ार से ज्यादा फर्जी डिग्रियां जारी की गई थीं. उत्तर प्रदेश में जॉब कर रहे ऐसे सभी शिक्षकों की डिग्री की जांच एसआईटी के द्वारा की जा रही थी जिनके पास इस यूनिवर्सिटी की डिग्री थी.

मोहम्मद रफीक ने बताया कि नीरज सिंह से उनकी बात हुई थी. सिंह ने उन्हें बताया था कि नीरज कुमार चौबे की डिग्री भी जांच के दायरे में थी. इसे लेकर वो अवसाद में थे. पूछताछ के लिए एसआईटी की टीम उनके घर भी गई थी. नीरज चौबे अपने ऊपर बैठी जांच के लिए नीरज सिंह को जिम्मेदार मानते थे. इस वजह से उन्होंने नीरज सिंह और उनके करीबी लोगों पर इस तरह का आरोप लगाया.

Neeraj Kumar Chaube
बहराइच के एक प्राथमिक स्कूल में शिक्षक Neeraj Kumar Chaube ने अपने सुसाइड नोट में तीन शिक्षकों और एक महिला शिक्षक के पति पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

इसके अलावा मोहम्मद रफीक ने कहा कि सुसाइड करने वाले शिक्षक की पत्नी खुद भी शिक्षिका हैं. सुसाइड नोट के मुताबिक, 2018 से ही आरोपी उनके ऊपर टिप्पणी कर रहे थे. उन्हें परेशान कर रहे थे. लेकिन इस बारे में न नीरज कुमार चौबे ने और न ही उनकी पत्नी ने किसी भी माध्यम से शिकायत की. जबकि वो महिला हेल्पलाइन नंबर या ऑनलाइन पोर्टल के जरिए शिकायत कर सकती थीं.

हालांकि, नीरज कुमार ने सुसाइड नोट में जान से मारने और रेप की धमकी की बात भी लिखी है. और यौन शोषण के कई मामले ऐसे आते हैं जिनमें महिलाएं शिकायत करने को लेकर बहुत कॉन्फिडेंट नहीं होती हैं, क्योंकि उन्हें खुद को जज किए जाने का, खुद के ही आचरण पर सवाल उठाए जाने का डर होता है.

पुलिस फिलहाल सुसाइड नोट में लगाए गए आरोपों की जांच कर रही है. आरोपियों, बिल्डिंग में रहने वाले दूसरे परिवारों से पूछताछ की जा रही है. मृतक शिक्षक की पत्नी से भी इस बारे में पूछताछ की जा रही है. अभी तक का सच ये है कि एक व्यक्ति ने सुसाइड कर लिया. उस व्यक्ति ने चार लोगों पर अपने और अपनी पत्नी को मानसिक और सामाजिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. रेप और हत्या की धमकी देने का आरोप लगाया है. उम्मीद है कि पुलिस ये मामला जल्द से जल्द सुलझा ले.


बंगाल चुनाव: इस महिला ने ममता सरकार के ‘स्वास्थ्य साथी योजना’ की पोल-पट्टी खोल दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

चिंकी, राही और मनु ने शूटिंग वर्ल्ड कप में क्या गज़ब कर दिया?

ये होता है क्लीन-स्वीप.

हम मेंस टीम की तारीफ में लगे रहे और विमिंस टीम ने कमाल कर दिया

शफाली ने फिर बरसाए छक्के.

यौन शोषण की शिकायत वापस लेने गई महिला को कोर्ट ने खाली हाथ क्यों लौटा दिया?

पीड़ित महिला आरोपी के खिलाफ दर्ज FIR क्यों रद्द कराना चाहती थी?

दिल्ली की एक आम प्रेम कहानी को किस तरह लोगों ने हिंदू-मुसलमान की गंदी लड़ाई बना दी

हिंदू लड़के और मुस्लिम लड़की की शादी पर बवाल मचा हुआ है.

लोगों के घरों में बर्तन मांजने का काम करती हैं, BJP ने चुनाव का टिकट दे दिया

एक महीने की छुट्टी लेकर चुनावी कैंपेन कर रही हैं.

डियर तीरथ रावत जी, औरतें बच्चा पैदा करने की मशीन नहीं हैं

राशन कम मिलने के पीछे जो तर्क दिया वो सुनकर माथा पीट लेंगे.

कंधे पर बच्चा, सिर पर लाइट उठाने वाली 'मां' को हर्ष गोयनका ने सैल्यूट किया, ट्विटर ने क्लास लगा दी

लोग बोले- शर्म आनी चाहिए.

PM आवास योजना के ऐड में जिस महिला की फोटो छपी, उसने खुद ही पोल खोल दी!

महिला का दावा- बिना पूछे ही तस्वीर छाप दी गई.

डायरेक्टर ने प्रियंका चोपड़ा से कहा था- नाचते हुए इतने कपड़े उतारना कि पैंटी दिख जाए

उस घटना को लेकर प्रियंका को अब तक किस बात अफसोस है?

औरंगाबाद की SP मोक्षदा, जो झुग्गियों और स्कूलों में जाकर गज़ब की 'ड्यूटी' कर रही हैं!

एक बच्ची के रेप से आहत महिला IPS की मुहिम को सम्मान.