Submit your post

Follow Us

बीजेपी विधायक को नहीं मिला प्रेगनेंट बेटी की डिलीवरी के लिए अस्पताल में बेड, भटकते रहे

देश में शिक्षा पर बात हो रही है. महंगा सस्ता चल रहा है. आती सर्दी में भी राजधानी नारों से गरम है. शिक्षा स्वास्थ्य पर बात होनी ही चाहिए. अब मध्य प्रदेश से एक ऐसा मामला सामने आ रहा है, जब नागरिकों को स्वास्थ्य सुविधाएं कितनी और कैसी मिल रही हैं? ये और बड़ा सवाल बन गया है. आम नागरिक तो इन सुविधाओं के लिए जूझ ही रहा है अब एक विधायक तक को सरकारी इलाज ने धोखा दे दिया. मामला मध्यप्रदेश के विजयपुर से भाजपा विधायक सीताराम आदिवासी की बेटी के इलाज का है.

# क्या है पूरा मामला

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार. विजयपुर से भाजपा विधायक सीताराम आदिवासी. और उनकी गर्भवती बेटी का इलाज. ये तीनों मध्यप्रदेश में चर्चा का विषय बन गए हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ विधायक सीताराम आदिवासी जब एक सरकारी अस्पताल में अपनी गर्भवती बेटी को लेकर पहुंचे तो डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने की बात कही. लेकिन डॉक्टर मौजूद न होने के कारण उन्हें कहा गया कि शाम तक डॉक्टर आ जाएंगे तो ऑपरेशन करवा दिया जाएगा. लेकिन देर रात तक जब डॉक्टर नहीं आए तो विधायक अपनी बेटी को लेकर जिला अस्पताल से चले गए.

बताया जा रहा है कि भाजपा विधायक सीताराम आदिवासी की बेटी 9 माह की गर्भवती थीं. सोमवार 18 नवंबर की सुबह 10:30 बजे प्रसव पीड़ा उठने के बाद विधायक बेटी को लेकर जिला अस्पताल आए. विधायक ने करीब 35 मिनट तक डॉक्टर का इंतजार किया. डॉक्टर ने चेकअप के बाद सोनोग्राफी की जांच लिख दी. इसके बाद विधायक अपनी गर्भवती बेटी को लेकर सोनोग्राफी जांच केन्द्र पर गए, लेकिन वहां जांच का नंबर ही नहीं आया. इसके बाद विधायक अपनी समस्या लेकर सिविल सर्जन डॉ. आरबी गोयल के पास पहुंचे. सिविल सर्जन के कहने पर विधायक की बेटी की सोनोग्राफी जांच हुई.

# अस्पताल का क्या कहना है?

स्थानीय अखबारों में छपी ख़बरें बता रही हैं कि इस मामले में सिविल सर्जन डॉ आरबी गोयल का भी बयान आया है. उनका कहना है कि हमने रेफर करने के लिए दोपहर में उन्हें एंबुलेंस भी उपलब्ध करवा दी थी. लेकिन विधायक अपनी बेटी को लेकर नहीं गए. क्योंकि ऑपरेशन करने वाले दोनों डॉक्टर छुट्‌टी पर थे इसलिए ऑपरेशन नहीं हो सका.

# इतनी बुनियादी ज़रुरत भी नहीं होगी पूरी?

मध्यप्रदेश में लगातार भाजपा की सरकार रही. जब कांग्रेस ने चुनाव लड़ा तो सड़क, बिजली, पानी, स्वास्थ्य इन्हीं मुद्दों पर चुनाव लड़ा. जीता भी. सरकार कांग्रेस की बन गई. लेकिन क्या वजह है कि आम नागरिकों की सुविधाओं का वायदा करके सरकार बनाने वाली कांग्रेस और इसके मुख्यमंत्री बेहद बुनियादी ज़रूरतों के लिए भी सवालों के घेरे में आ रहे हैं.


ये भी देखें:

फीस बढ़ोतरी का विरोध कर रहे JNU के छात्रों का दिल्ली पुलिस पर जबरन पिटाई करने का आरोप

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

डिलिवरी के लिए पहुंची महिला को अस्पताल ने लौटा दिया, सड़क पर बच्चे को जन्म दिया

...और बच्चे की मौत हो गई.

कोरोना वायरस: लॉकडाउन का फायदा उठाकर 9 लड़कों ने नाबालिग का गैंगरेप किया

ऐसे माहौल में भी इन लड़कों को डर नहीं लगा.

'कोरोना' चिल्लाकर लड़की पर थूकने वाले को पुलिस ने धर लिया है

दिल्ली का ही है आरोपी, सफ़ेद स्कूटी और CCTV फुटेज ने मदद की

महिला क्रिकेटर्स ने हेड कोच पर यौन शोषण के आरोप लगाए, कोच को सस्पेंड किया गया

कोरोना के कारण हेड कोच की मुश्किल और भी बढ़ गई.

निर्भया के दोषियों से पहले रेप के अपराध में आखिरी बार फांसी इस शख्स को हुई थी

जिसके बारे में बाद में कहा गया कि वो बेगुनाह था.

ईवेंट के लिए असम से कानपुर पहुंची मॉडल, बिजनेसमैन ने दोस्तों के सामने रेप किया

पार्टी के बाद दोस्त के बंगले लेकर गया था.

वेटनरी डॉक्टर गैंगरेप जैसा मामला फिर, पुलिया के नीचे नग्न हालत में महिला की लाश मिली

सिर कुचला हुआ, शरीर पर सोने के गहने सही-सलामत.

बॉक्सिंग टूर्नामेंट के लिए कोलकाता जा रही स्टूडेंट का उसी के कोच ने ट्रेन में रेप किया

ट्रेनर को पुलिस ने सोनीपत से गिरफ्तार कर लिया है.

सौम्या हत्याकांड: जब एक पत्रकार लड़की के मर्डर का राज़ दूसरी लड़की से मर्डर से खुला

दिल्ली के पॉश इलाके में क्रूर हत्या को अंजाम देने वाला एक बार फिर पकड़ा गया है.

इंटरनेट के ज़रिए डेटिंग पार्टनर या दूल्हा खोज रही हैं तो इन लड़कियों की कहानी पढ़िए

आपका वो हाल न हो, जो इनका हुआ.