Submit your post

Follow Us

मकान मालकिन ज़बरन वेश्यावृत्ति कराना चाहती थी, लड़ाई हुई तो बुरी तरह टॉर्चर करके मार डाला

आंध्र प्रदेश का विशाखापट्नम. यहां पुलिस ने 22 साल की एक लड़की की मौत का मामला सुलझा लिया है. पहले ये कहा जा रहा था कि किसी बीमारी से लड़की की मौत हुई, लेकिन जांच में सामने आया कि उसे कई दिनों तक बुरी तरह टॉर्चर किया गया था, जिसकी वजह से उसने दम तोड़ा था. इस मामले में पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

क्या है पूरा मामला?

‘आज तक’ से जुड़े आशीष पांडे की रिपोर्ट के मुताबिक, रिया (बदला हुआ नाम) विशाखापट्नम में किराये के घर पर रहती थी. मकान मालकिन का नाम गुटाला वसंता था. 4 जून को वसंता अपने कुछ साथियों के साथ रिया के शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रही थी. उसी वक्त किसी ने पुलिस को इस बात की जानकारी दे दी. पुलिस वहां पहुंची, शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेजा और वसंता से पूछताछ की. उसने पुलिस से कहा कि रिया बीमार थी और यही उसकी मौत का कारण बना.

इधर पोस्ट मार्टम की रिपोर्ट आई, तो पता चला कि रिया के शरीर पर चोट के 33 निशान थे और इन्हीं चोटों की वजह से उसकी मौत हुई थी. इन चोटों को छिपाने के लिए वसंता ने रिया के शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाते वक्त, पूरी तरह फूलों से ढक दिया था.

छानबीन में पता चला कि वसंता ज़बरन रिया से वेश्यावृत्ति कराना चाहती थी. घर खाली कराने की धमकी भी देती थी. अवैध कामों से जो कमाई हुई थी, रिया ने उसे वसंता से शेयर करने से मना कर दिया था, इस वजह से भी दोनों के बीच लड़ाई चल रही थी. पुलिस का ये भी कहना है कि वसंता, रिया से जलती थी, क्योंकि वो उससे ज्यादा ‘खूबसूरत’ थी.

वसंता ने रिया के हाथ-पैर बांधकर उसे रखा था. उसके बाल काट दिये, उसकी आईब्रो भी शेव कर दी. उसे खाना-पानी देना बंद कर दिया. उसके शरीर को सिगरेट से दागती थी. कई दिनों तक इसी तरह टॉर्चर होने की वजह से रिया की मौत हो गई.

फिर किसी को इस बारे में पता न चले, ये सोचकर वसंता ने रिया का शव फूलों से सजा दिया. 4 जून को वो उसे अंतिम संस्कार के लिए लेकर जा रही थी, तभी पुलिस ने वहां पहुंचकर अंतिम संस्कार होने से रोक दिया.

पुलिस ने वसंता, उसकी बहन मंजू उर्फ संध्या, मां दानलक्ष्मी और परिवार के तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है. सभी के ऊपर IPC की धारा 302 (हत्या), 343 (तीन या उससे ज्यादा दिन के लिए किसी को गलत तरीके से कैद करके रखना), 324 (खतरनाक हथियार से किसी को ज़बरन नुकसान पहुंचाना), 326 (किसी व्यक्ति को गंभीर रूप से ज़ख्मी करना). इसके अलावा मानव तस्करी के भी चार्जेस लगे हैं.

छानबीन में पुलिस को ये भी पता चला कि साल 2015 में रिया की मां, भाई और दादी की भी किसी ने हत्या कर दी थी. ये केस अभी भी चल ही रहा है.


वीडियो देखें: पंजाबी एक्ट्रेस के नाम से फेक अकाउंट बनाया और अब वीडियो वायरल करने की धमकी दे डाली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

लॉकडाउन के दौरान पुरुषों के मुकाबले ज्यादा नौकरियां खो रही हैं महिलाएं?

नई स्टडी तो यही कहती है.

दलितों के नाम पर पैसा पीट रही थी ये कंपनी, लोगों ने आईना दिखा दिया

इसके बाद से माफ़ी मांगने का दौर जारी है.

क्या ये वेबसाइट, गे मैरिज अरेंज कराने के नाम पर समलैंगिकों को ठग रही है!

इस साइट के पीछे क्या चल रहा है? सीईओ ने हमें कोई जवाब नहीं दिया.

क्या जान-बूझकर तोड़ी गईं इस एथलीट की टोक्यो ओलंपिक की उम्मीदें?

दो साल बाद डोपिंग का केस बंद हुआ.

वीडियो कॉल के दौरान एक ट्रिक आपको घरेलू हिंसा से बचा सकती है

वायरल है ये तरीका.

आज जान लीजिए, सिर्फ़ औरतों को नहीं, इन लोगों को भी पीरियड होते हैं

मासिक धर्म से किसी का औरत होना डिसाइड नहीं होता.

बिहार, झारखंड और असम में कई जगह 'कोरोना माई' की पूजा क्यों की जा रही है

कई जगह से वीडियो आ रहे हैं.

इंटरनेट पर फेमिनिज्म की क्लास लगाने वाले लोग ये आर्टिकल पढ़ लें

फ्रेंडशिप एंडेड विद फेमिनिज्म, नाउ ह्यूमनिज्म इज माई बेस्ट फ्रेंड.

ये कौन सी तकनीक है जो चेहरे पर से चमड़ी की परत उतार देती है?

और इसके पीछे लोग पागल हो रहे हैं

सोशल मीडिया पर भद्दे मैसेज करने वाले इस एक्ट्रेस से थर-थर कांपते हैं!

मैसेज भेजते हैं, फिर पछताते हैं.