Submit your post

Follow Us

केरल का चर्चित नन रेप केस, जिसमें आरोपी बिशप को बरी कर दिया गया है

केरल का चर्चित नन रेप केस. कोट्टायम की अदालत ने इस मामले में आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल को बरी कर दिया गया है. फ्रैंको मुलक्कल पर एक नन का 2014 से 2016 के बीच 13 बार रेप करने का आरोप था. 2018 में सामने आया ये मामला विवादों से भरा रहा. केरल मिशनरीज़ पर फ्रैंक मुक्कल को बचाने के आरोप लगे, प्रदर्शन करने वाली नन्स को कॉन्वेंट से निकाल दिया गया. सितंबर, 2018 में फ्रैंको मुलक्कल की गिरफ्तारी हुई थी. हालांकि, तीन हफ्ते के अंदर ही आरोपी को ज़मानत मिल गई थी.

चलिए जानते हैं कि पूरा मामला क्या है

केरल के कुराविलंगड़ पुलिस थाने में जून, 2018 को एक FIR दर्ज हुई. ये FIR ऑर्डर ऑफ मिशनरीज़ ऑफ जीसस ऑफ द कैथलिक चर्च की एक नन की शिकायत पर दर्ज की गई थी. नन का आरोप था कि जालंधर डायसिस के बिशप फ्रैंक मुलक्कल ने उनका रेप किया. नन ने कहा था कि मुलक्कल ने 5 मई, 2014 को कुरविलांगड़ के एक गेस्टहाउस के रूम नंबर 20 में उसके साथ रेप किया और उसे बंधक बनाए रखा. इसके बाद 6 मई को भी बिशप ने नन के साथ रेप किया. पुसिस में दर्ज केस के मुताबिक 2014 से 2016 के दौरान बिशप ने उस नन के साथ 13 बार रेप और अननैचुरल सेक्स किया.

इन आरोपों पर फ्रैंको मुलक्कल की तरफ से कहा गया उसे फंसाया जा रहा है, आरोप झूठे हैं. फ्रैंको ने कहा था कि नन का भाई उसे धमका रहा था, क्योंकि बतौर बिशप उसने आरोप लगाने वाली नन को मदर सुपीरियर के पद से हटा दिया था. इस मामले में नन के भाई के खिलाफ पुलिस जांच भी शुरू हुई थी.

बिशप के खिलाफ प्रोटेस्ट करती सिस्टर अनुपमा, सिस्टर अंचिता, सिस्टर एल्फी और सिस्टर जोसेफिन.
सिस्टर अनुपमा, सिस्टर अंचिता, सिस्टर एल्फी और सिस्टर जोसेफिन ने सितंबर 2018 में फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ प्रोटेस्ट किया था..

नन ने चर्च की सबसे बड़ी संस्था वेटिकन सिटी के पोप को भी पत्र लिखा था. नन ने आरोप लगाया कि चर्च ने उनकी शिकायतों पर ध्यान नहीं दिया, पादरी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की, इस वजह से उन्हें पुलिस के पास जाना पड़ा.

मामले की जांच के लिए SIT बनाई गई. इस बीच विक्टिम नन के एक रिश्तेदार ने दावा किया कि उन पर केस वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है.

शिकायत के बाद से ही कई नन, सामाजिक कार्यकर्ता, महिला संगठन और नेता नन के समर्थन में आए. अगस्त, 2018 में आरोप लगाने वाली नन के समर्थन में चार नन्स ने केरल हाईकोर्ट के सामने भूख हड़ताल शुरू कर दी. फ्रैंको मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग तेज होने लगी थी. तमाम दबावों के बीच सितंबर, 2018 में फ्रैंको मुलक्कल को जालंधर से कोच्चि लाया गया. तीन दिन तक चली पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार किया गया. हालांकि तीन हफ्ते के अंदर ही बिशप को बेल मिल गई थी.

अक्टूबर, 2018 में फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ गवाही देने वाले फादर कुरियाकोसे कट्टूथारा की मौत हो गई. 68 साल के फादर कुरियाकोसे जालंधर के भोगपुर इलाके के दासुआ स्थित सेंट मैरी चर्च में मृत पाए गए थे. फादर कुरियाकोसे आरोप लगाने वाली नन के टीचर रहे थे और उन्होंने रेप मामले में नन का सपोर्ट किया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, गवाही के बाद से ही फादर कुरियाकोसे को जान से मारने की धमकी मिल रही थी, उनकी कार पर हमला भी हुआ था. उनके परिवार ने भी हत्या की आशंका जताई थी.

तीन दिन तक पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपी बिशप को गिरफ्तार कर लिया था.
फ्रैंको मुलक्कल को सितंबर, 2018 में गिरफ्तार किया गया था.

इस मामले में अप्रैल 2019 में चार्जशीट दाखिल की गई और सितंबर, 2020 में मामले की सुनवाई शुरू हुई. 14 जनवरी, 2022 को कोर्ट ने फ्रैंको मुलक्कल को यौन शोषण के आरोपों से बरी कर दिया.

चर्च ने नन्स को पर ही जांच बिठा दी थी

फ्रैंको मुलक्कल ने आरोप लगाया था कि नन को एंटी चर्च लोग स्पॉन्सर कर रहे हैं. जस्टिस ऑफ मिशनरीज़ ने फ्रैंको पर आरोप लगाने वाली नन समेत छह नन्स के खिलाफ जांच बिठा दी थी. इनमें से चार वो नन थीं जिन्होंने केरल हाईकोर्ट के बाहर भूख हड़ताल की थी. विक्टिम का साथ देने वाली चार नन्स- सिस्टर एल्फी पल्लास्सेरिल, अनुपमा केलामंगलाथुवेलियिल, जॉसेफिन विल्लून्निक्कल और अंचिता ऊरुम्बिल- को चर्च की तरफ से जनवरी, 2019 में चिट्ठी लिखी गई थी. कहा गया था कि उन्हें कोट्टायम छोड़कर जाना होगा. आदेश दिया कि सिस्टर अनुपमा को चामियारी (पंजाब), सिस्टर अंचिता को परियारम (कन्नूर), सिस्टर एल्फी को बिहार और सिस्टर जोसेफ़िन को झारखण्ड जाना होगा.

इस चिट्ठी में ये भी लिखा था कि वो केस लड़ने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन केस को वो अपनी धार्मिक और सामाजिक जिम्मेदारी से बचने का बहाना नहीं बना सकती हैं. इन नन्स का आरोप था कि वो लोग बिशप मुलक्कल के खिलाफ खड़ी हैं और उन्हें अलग करके कमज़ोर करने की कोशिश की जा रही है.

वहीं, एक नन लूसी पर नियमों के खिलाफ ड्राइविंग लाइसेंस लेने, पैसे उधार लेने, कविता की किताब छपवाने, जानकारी के बिना पैसा खर्च करने, नन की ड्रेस न पहनने और सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने जैसे आरोप लगाते हुए उन्हें धर्मसभा फ्रांसिस्कन क्लैरिस्ट कांग्रिगेशन (FCC) से बाहर कर दिया गया था.


नन रेप केस में केरल नन रेप केस में पादरी को कौन बचा रहा है!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

Alia Bhatt ने Hero के ऐड में women drivers पर बात की, लोग किलस गए

Alia Bhatt ने Hero के ऐड में women drivers पर बात की, लोग किलस गए

कुछ ट्रोलवीरों ने लड़की चला रही है को एंटी मेन मान लिया.

उन्नाव रेप विक्टिम की मां लड़ेंगी UP विधानसभा चुनाव, कांग्रेस ने बनाया उम्मीदवार

उन्नाव रेप विक्टिम की मां लड़ेंगी UP विधानसभा चुनाव, कांग्रेस ने बनाया उम्मीदवार

125 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट में 50 महिलाओं का नाम.

औरतों का वो ताकतवर वीडियो जिसे देखकर तालिबानी किलस जाते हैं

औरतों का वो ताकतवर वीडियो जिसे देखकर तालिबानी किलस जाते हैं

आवाज़ दबाने वाले तालिबान के खिलाफ काबुल की औरतें फिर से सड़क पर उतर रही हैं.

Siddharth ने 'Bull and Cock' फ्रेज का इस्तेमाल किया, उसके मायने क्या हैं?

Siddharth ने 'Bull and Cock' फ्रेज का इस्तेमाल किया, उसके मायने क्या हैं?

साइना से सिद्धार्थ किलसे क्यों?

तालिबान को महिलाओं के नहाने से क्या दिक्कत है?

तालिबान को महिलाओं के नहाने से क्या दिक्कत है?

क्या होते हैं हमाम जो बंद करवाए जा रहे हैं?

स्वेटर के साथ साड़ी पहनना अजीब लगता है? ये रहे कुछ सुपर कूल स्टाइल्स

स्वेटर के साथ साड़ी पहनना अजीब लगता है? ये रहे कुछ सुपर कूल स्टाइल्स

ब्लेज़र, स्वेटर, हाई नेक सबके साथ पहनी जा सकती है साड़ी.

डेटिंग ऐप पर मिली लड़की ने लड़के को सवालों की लिस्ट भेजी, ट्विटर की मौज आ गई

डेटिंग ऐप पर मिली लड़की ने लड़के को सवालों की लिस्ट भेजी, ट्विटर की मौज आ गई

सवाल ऐसे हां कहकर भी फंसे, न कहकर भी फंसे?

साइना नेहवाल पर 'अभद्र' ट्वीट को लेकर एक्टर सिद्धार्थ ने क्या सफाई दी

साइना नेहवाल पर 'अभद्र' ट्वीट को लेकर एक्टर सिद्धार्थ ने क्या सफाई दी

सिद्धार्थ ने जो कहा क्या उसे बदतमीज़ी की कैटेगिरी में रखा जाना चाहिए?

इंजीनियरिंग कॉलेज में लड़कियों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है?

इंजीनियरिंग कॉलेज में लड़कियों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है?

इंजीनियरिंग में लड़कियां कम क्यों हैं ?

कहीं आपको भी देर तक पेशाब रोककर रखने की आदत तो नहीं है?

कहीं आपको भी देर तक पेशाब रोककर रखने की आदत तो नहीं है?

जानें कितनी देर तक पेशाब रोककर रख सकता है शरीर?