Submit your post

Follow Us

कल्कि जैसी एक गैर-शादीशुदा, प्रेगनेंट औरत की हमें बेहद जरूरत है

5
शेयर्स

कल्कि केक्लौं का नाम आपने सुना होगा. ‘देव डी’ से डेब्यू करने वाली कल्कि अब तक कई फिल्मों में दिख चुकी हैं. फिल्में लिखती भी हैं, नाटक भी लिखती और प्रोड्यूस करती हैं. कुल मिलाकर अच्छा ख़ासा काम रहा है इनका बॉलीवुड में.

30 सितंबर को उन्होंने इन्स्टाग्राम पर एक फोटो शेयर की. इस फोटो में वो प्रेग्नेंट हैं. ये उनका पांचवां महीना है, ऐसा उन्होंने बताया. उनके पार्टनर गाई हर्शबर्ग और वो इस प्रेग्नेंसी को लेकर बहुत एक्साइटेड हैं. हर्शबर्ग इजरायल से हैं, पियानो बेहतरीन बजाते हैं. फोटोग्राफी का शौक है.

(तस्वीर: इन्स्टाग्राम)
(तस्वीर: इन्स्टाग्राम)

मुंबई मिरर को दिए एक इंटरव्यू में कल्कि ने प्रेग्नेंसी, शादी और बच्चे को पालने, उसे बड़ा करने पर बातचीत की. इस इंटरव्यू में कल्कि ने कुछ ऐसी बातें कहीं जिनको सबको पढ़ना चाहिए. उन्होंने कहा,

कुछ महिलाएं बच्चे नहीं चाहतीं, और ये बिल्कुल ठीक है. मैं खुद भी नहीं चाहती थी कि मेरे बच्चे हों, और इसलिए जब मैं बीसेक साल की थी, तब मैंने ये भी सोचा था कि अपनी ट्यूब्स बंधवा दूं (फैलोपियन ट्यूब्स- इन्हीं से एग यानी फीमेल अंडा ओवरी से गर्भाशय में जाता है). लेकिन जब मैंने अपने भाई को बड़े होते हुए देखा और अपने एक खुद के घर में सेटल होने की इच्छा हुई, तो मैं बच्चा होने को लेकर काफी एक्साइटेड हो गई.

कल्कि ने ये भी बताया कि शादी के बारे में उन्होंने सोचा ज़रूर है लेकिन पेरेंटल अधिकारों और राष्ट्रीयता के एंगल की वजह से. लेकिन समाज के दबाव की वजह से मैं इसमें कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहती. हम देखेंगे जब भी समय सही होगा. ये रजिस्ट्रेशन वाली शादी होगी, और शांत फंक्शन होगा जिसमें परिवार के लोग रहेंगे. कल्कि ने ये भी कहा कि उन्होंने अपने होने वाले बच्चे के लिए ऐसा नाम सोचा है जो किसी भी जेंडर के लिए सही रहेगा. चाहे वो लड़का हो या लड़की.

(तस्वीर: इन्स्टाग्राम/कल्कि)
(तस्वीर: इन्स्टाग्राम/कल्कि)

कल्कि की हमें जरूरत है 

ऐसे समय में जहां बॉलीवुड की बड़ी-बड़ी एक्ट्रेसेज जैसे अनुष्का, दीपिका इत्यादि धूमधाम से ट्रेडिशनल शादियां कर रही हैं. वहां कल्कि का ये डिसीजन हमें सोचने पर मजबूर करता है. कि जिन शादियों को देख हम लड़कियां अपनी शादी की कल्पना करती हैं, वो कितना सही है. शादी, जो दो लोगों के बीच एक नए रिश्ते की शुरुआत है, असल में  हम उसे महज एक सोशल स्टेटमेंट बनाकर छोड़ देते हैं. महंगे फोटोशूट, लाखों के लहंगे. और ‘गिफ्ट’ के नाम पर दिया और लिया गया दहेज़. ताकि समाज में हम खुद को रुतबे वाला दिखा सकें. खुद की पैठ बना सकें.

ऐसे में कल्कि ने एक अलग तरह का अप्रोच दिखाया. जो खुश करता है. क्योंकि ये एक फ्रेश सोच का प्रमाण है. जहां पर एक महिला अपने पार्टनर के साथ बिना शादी किए एक बच्चा पैदा करने का डिसीजन ले सकती है. उसके जेंडर को लेकर उसे चिंता करने की ज़रुरत नहीं होती.

पर क्या हम लड़कियों के लिए ये करना आसान है?

कल्कि की इमेज हमेशा ‘Quirky’  लड़की की रही है फिल्मों में. उनके माता-पिता फ्रेंच हैं, कल्कि का जन्म इंडिया में हुआ. उन्होंने अपने लिए थियेटर की पढ़ाई चुनी. अभी भी थियेटर के लिए काम कर रही हैं. फिल्मों में भी उन्होंने अधिकतर ऐसे किरदार निभाये हैं जो ट्रेडिशनल रोल्स से हटकर रहे हैं. बहुत सारे ऐसे डिसीजन हैं जो शायद एक आम भारतीय परिवार की लड़की लेने का सोच भी नहीं सकती. कल्कि लीग से हटकर काम करने के लिए जानी जाती हैं. उनके बेबी करने के फैसले को भी इसी तरह देखा जाएगा.

अनुष्का और दीपिका अगर इस तरह का कोई निर्णय लेतीं, तो शायद उन्हें कहीं ज्यादा ट्रोलिंग का शिकार होना पड़ता. क्योंकि उनको लेकर ये बात आड़े आ जाती है लोगों के दिमाग में कि ‘भारत की संस्कारी लड़कियां’ ऐसा नहीं करतीं. अनुष्का शर्मा का माथे से सर के पीछे तक भरी हुई मांग में पब्लिक में आना महज उनके सुहागन होने का प्रमाण नहीं है. वो तमाम लड़कियों के लिए, जो अनुष्का जैसी बनना चाहती हैं, के लिए मानक है. कि सुहागन ऐसी ही दिखनी चाहिए.

मगर कल्कि से ये सुहागन लुक अपेक्षित ही नहीं है. क्योंकि वो पोस्टर गर्ल हैं ही नहीं. वो सिलेक्टेड फ़िल्में करने वालीं ‘साइड’ एक्ट्रेस हैं. जिनके जैसे बनने के सपने लड़कियां देखें, ये उनसे अपेक्षित नहीं है.

कल्कि के लिए बहुत से फैक्टर्स ऐसे हैं जो उनके लिए प्रिविलेज की तरह काम करते हैं. व्यक्तिगत तौर पर कल्कि के लिए अपने निजी ज़िन्दगी के निर्णय लेना चाहे जितना मुश्किल या आसान रहा हो, समाज का उस पर रिएक्शन उनके लिए चिंता नहीं है. उनका अलहदापन उन्हें ये मौका आसानी से दे देता है. क्योंकि वो नॉर्म नहीं हैं. एक्सेप्शन हैं.


वीडियो: क्या है तमिलनाडु की न्यूट्रिनो ऑब्जर्वेटरी जिसके ख़िलाफ़ ट्विटर पर लोगों ने बवाल मचा दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

प्रेगनेंट हुई लड़की ने शादी करने को कहा तो घर में घुसकर जला दिया

साल भर से लड़का और लड़की रिलेशनशिप में थे. शादी की बात उठी तो लड़के ने ऐसा कर डाला.

उन्नाव: आरोपी ने कोर्ट में कहा, रेप के दौरान अस्पताल में भर्ती था, डॉक्टर्स के जवाब से कलई खुली

डॉक्टर ने बहुत ठोस बात कही है.

महिला ने कोर्ट में बताया, 1981 में पहली बार रेप हुआ, बालिग होने तक 3 अबॉर्शन करा चुकी थी

रेप करने वाले का महिला से रिश्ता जानकर कांप उठेंगे.

झगड़ा हुआ तो गर्लफ्रेंड के माथे पर चाकू से अपना नाम लिख दिया

फेसबुक पर मुलाकात हुई थी. तीन हफ्तों से रिलेशनशिप में थे.

बक्सर में जिस लड़की की जली हुई लाश मिली थी, उसे उसके ही परिवार ने मारा था

लड़की की बहन ने पुलिस को आरोपियों तक पहुंचाया.

हैदराबाद गैंगरेप एनकाउंटर में मारे गए दो लोगों के परिवार ने नई बात बताई है

पुलिस इससे इनकार कर रही है.

ससुर यौन शोषण करता था, घरवालों ने ध्यान नहीं दिया तो बहू ने वीडियो बना ली

वीडियो में साफ़ दिख रहा है कि ससुर जबरन बहू से यौन संबंध बनाने की कोशिश कर रहा है.

रेप करने में नाकाम हुआ तो 22 साल की लड़की को ज़िंदा जला दिया

तीन साल से लड़की के पीछे पड़ा था आरोपी लड़का.

अश्लील फोटो लेने की शिकायत पर जेल गया, छूटा तो महिला से बदला लेने में हद पार की

कब तक चलेगा ये. ऐसे तो महिलाएं शिकायत करने से डरेंगी.

हैदराबाद गैंगरेप आरोपियों के एनकाउंटर के बाद पीड़ित परिवार का भावुक करने वाला बयान

देर रात पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर किया.