Submit your post

Follow Us

14 साल की बेटी को बाप ने ज़ंजीरों में बांधकर रखा, यौन शोषण किया

5
शेयर्स

जालोर. राजस्थान का एक जिला है. यहां एक आदमी ने अपनी 14 साल की बेटी को जंजीरों से बांध दिया और घर के एक कमरे में बंद कर दिया. लड़की जैसे-तैसे वहां से बचकर निकली. अपनी नानी और मामा को घटना की जानकारी दी. मामा ने पुलिस में शिकायत की जिसके बाद लड़की के पिता की गिरफ्तारी हुई.

लेकिन पिता ने बेटी को बंधक बनाकर क्यों रखा?

इस संबंध में जानकारी के लिए हमने इंडिया टुडे से जुड़े अशोक से बात की. उन्होंने बताया कि बागोड़ा थाना क्षेत्र की घटना है. लड़की के पैर में बंधी जंजीर में तीन ताले लगे थे.

थाना प्रभारी गिरधर सिंह के हवाले से अशोक ने बताया कि आरोपी अपनी पत्नी को मारता-पीटता था. इससे परेशान होकर उसने घर छोड़ दिया था और दूसरी शादी कर ली थी. लेकिन बेटी आरोपी के साथ ही रह रही थी. बच्ची ने अपने मामा को बताया था कि रात में आरोपी उसे अपने साथ सुलाता था और उसके साथ गलत हरकतें करता था.

लड़की के मामा ने पुलिस को बताया कि आरोपी अपने परिवार की ही किसी महिला के साथ रिलेशन में था. बच्ची ने उन दोनों को संबंध बनाते हुए देख लिया था. पिता को डर था कि वह ये बात किसी से कह न दे, इसलिए उसने उसे जंजीरों में बांधकर एक कमरे में बंद कर दिया.

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.


वीडियो देखें : हैदराबाद रेप केस: लड़की के बचाव में DWC अध्यक्ष स्वाति मालिवाल, AAP नेता संजय भड़क गए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

फ़ोर्ब्स की सबसे ताकतवर महिलाओं की लिस्ट में निर्मला सीतारमण के साथ ये महिलाएं भी हैं

लिस्ट में सीतारमण का नाम पहली बार आया है.

स्मृति ईरानी देश की औरतों को निराश करने से पहले मोदी के पुराने वीडियो देख लेतीं तो अच्छा होता

रेप का मज़ाक राहुल गांधी ने नहीं, स्मृति ईरानी ने बनाया.

34 साल की उम्र में PM बनने जा रही सना मरीन की सफलता के पीछे की कहानी

कई दशकों, और लाखों महिलाओं की मेहनत लगी है इसमें

संसद से निकला वेंकैया नायडू का ये क्लिप औरतों के प्रति उनकी मानसिकता को दिखाता है

उन्होंने बिना सोचे-समझे जो बोला, अब इंटरनेट पर घूम रहा है.

जर्नलिस्ट ने कोर्ट में बताया कि कैसे एम जे अकबर ने उनकी छाती पर हाथ डाला था

डिफेमेशन केस की सुनवाई में जर्नलिस्ट गज़ाला वहाब ने कही ये बातें.

टाटा ग्रुप ने अपने LGBT एम्प्लॉयीज़ के लिए ये बेहतरीन कदम उठाया है

हर कंपनी को ये करने की ज़रूरत है.

इस महिला की उम्र जानकर यकीन नहीं होगा कि ये प्रधानमंत्री बन रही हैं, पूरा देश चलाएंगी

और इनका मंत्रिमंडल देखकर तो आंखें ही निकल आएंगी.

लड़कियों के लिए एक अच्छी खबर आई है, देश की पहली महिला नेवी पायलट के रूप में

मिलिए सब लेफ्टिनेंट शिवांगी से.

कोर्ट के सामने अजमल कसाब को पहचानने वाली लड़की की कहानी

गोली पैर चीरती हुई निकल गई थी, डेढ़ महीने अस्पताल में रही, फिर बैसाखियों के सहारे कोर्ट पहुंची.

लाइन'मैन' सीता, 30 फुट ऊंचे खम्भों पर चढ़कर बिजली ठीक करना जिसका रोज़ का काम है

कॉलेज में किसी ने कहा था, 'लड़कियां ये सब नहीं करतीं.'