Submit your post

Follow Us

इंदौर में जिन डॉक्टर्स पर पत्थर फेंके गए थे, उन्होंने हमालावरों से गज़ब का बदला लिया!

मध्य प्रदेश का इंदौर. यहां का टाटपट्टी बाखल इलाका. बीते दिनों इस इलाके में कोरोना के मरीज़ों की पहचान करने गई डॉक्टर्स की टीम पर पथराव हुआ था. टीम में डॉ तृप्ति कटदरे और डॉ ज़ाकिया सईद शामिल थी. अब एक बार फिर इन्हीं दोनों डॉक्टर्स और पथराव वाले इलाके से एक और खबर आई है. नई खबर सुकून देने वाली है. दरअसल, इस इलाके के 48 लोग 21 अप्रैल को जब क्वारंटीन सेंटर से वापस लौटे, तो इन्हीं दोनों डॉक्टर्स ने उन लोगों का स्वागत किया. सभी लोगों को पौधे दिए.

Indore Tatpatti Bakhal 1
ये वही इलाका है जहां 1 अप्रैल को डॉक्टर्स की टीम पर पथराव हुआ था. फोटो- आशू पटेल.

तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहे हैं. 48 लोग क्वारंटीन सेंटर में 14 दिन गुज़ारने के बाद जब अपने घर लौटे, तो रास्ते में डॉ तृप्ति और डॉ ज़ाकिया अपने साथी डॉक्टर्स और हेल्थ वर्कर्स के साथ खड़ी थीं. एक-एक करके इन सभी लोगों को पौधे दे रही थीं. क्वारंटीन से लौटने वालों के लिए तालियां भी बजाई गईं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंदौर के क्वारंटीन सेंटर में जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आ रही हैं, और जिनका क्वारंटीन पीरियड पूर हो गया है, उन्हें घर भेजा जाने लगा है.

क्या हुआ था टाटपट्टी बाखल में?

1 अप्रैल को यहां कोरोना के लक्षण वाले लोगों की पहचान करने डॉक्टर्स और हेल्थ वर्कर्स की टीम पहुंची थी. लोगों ने उनके ऊपर हमला किया था. पत्थर फेंककर उन्हें भगा दिया था. डॉक्टर्स को चोट भी आई थी, लेकिन दूसरे दिन वही डॉक्टर्स दोबारा उसी इलाके में पहुंचे. उन्हीं लोगों की जांच करने, जिन्होंने पत्थर फेंके थे. जांच के बाद बहुत से लोगों को क्वारंटीन सेंटर भेजा गया था.

इंदौर के हाल बेहाल

21 अप्रैल तक की कोरोना हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, ज़िले में 923 कन्फर्म मामले सामने आ चुके हैं. 52 की मौत हो चुकी है. 72 लोग रिकवर हुए हैं. 21 अप्रैल को आठ नए कन्फर्म मामले सामने आए हैं.

ये भी पढ़ें-

‘स्वस्थ मुस्लिम्स को सुई लगाकर कोरोना पेशेंट बना देंगे’- ये फ़ेक मैसेज पढ़ डॉक्टरों को पीट दिया

लोगों की पत्थरबाजी झेलने वाली डॉक्टर की बात सुनकर आप बार-बार सैल्यूट करेंगे


वीडियो देखें: मध्य प्रदेश के इंदौर में सर्वे करने निकले स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला किया और उनके फोन भी तोड़ दिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यौन उत्पीड़न और जान से मारने की धमकी मिलने से परेशान नाबालिग ने खुद को आग लगाई

पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की. पांच आरोपी गिरफ्तार.

राशन देने का झांसा देकर महिला मजदूर से रेप के आरोप में पुलिसवाला गिरफ्तार

मामला हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर का है.

पांच लड़के नाबालिग लड़की को घर से किडनैप कर ले गए, गैंगरेप किया

एक आरोपी जज का भतीजा है.

गुरुग्राम: मणिपुरी लड़की का आरोप- लोगों ने मारा-पीटा और कहा- समझ नहीं आता, यहां क्यों आती हो

लड़की के खिलाफ भी मामला दर्ज.

बच्ची ने दुकान खोलने से मना किया तो AIADMK के दो नेताओं ने उसे ज़िंदा जला दिया

लड़की के पिता के साथ पुरानी दुश्मनी थी, बदला ले लिया.

दिल्ली: ऑटो ड्राइवर ने पहले गर्भवती पत्नी की हत्या की, फिर पुलिस को बता दी पूरी कहानी

खुद ही सरेंडर करने भी पहुंच गया.

21 साल की नन की लाश कुएं में मिली, दूसरी नन ने लिखा- और कितनी लाशें चाहिए आंखें खोलने के लिए?

पुलिस का एक ही जवाब- जांच चल रही है.

'बॉयज़ लॉकर रूम' में नहीं हुई थी गैंगरेप प्लानिंग, लड़की ने लड़के की फेक ID बनाकर ये बात की थी

मार्च के महीने में हुई थी ये बातचीत.

80 साल के बुजुर्ग पर 22 साल की लड़की के रेप का आरोप

मामला अप्रैल का है, पीड़िता ने 8 मई को केस दर्ज कराया.

अस्पताल के कर्मचारियों पर आरोप- डिलीवरी के बाद महिला का यौन शोषण किया

दूध की टेस्टिंग के लिए महिला को सैंपल देना था.