Submit your post

Follow Us

ओलंपिक में पदक जीतने वाली ये भारतीय एथलीट्स अब क्या कर रही हैं?

टोक्यो ओलंपिक्स शुरू होने में अब महज कुछ दिन ही बचे हैं. भारतीय खेमे ने भी अपनी कमर कस ली है. इस बार सौ से भी अधिक भारतीय एथलीट्स ने ओलंपिक्स के लिए क्वालिफाई किया है. इनमें महिला एथलीट्स (Women Athletes) का हिस्सा भी उल्लेखनीय है.  जो एथलीट्स गए हैं उनसे उम्मीद तो है ही, पर वो महिला खिलाड़ी अब क्या कर रही हैं जिन्होंने पहले भारत के लिए ओलंपिक मेडल्स जीते हैं? आज हम यही जानेंगे. अब तक पांच भारतीय महिला एथलीट ओलंपिक खेलों में पदक जीत चुकी हैं. इनके नाम हैं- कर्णम मल्लेश्वरी, साइना नेहवाल, मैरी कॉम, पीवी सिंधु और साक्षी मलिक. इनमें से दो एथलीट्स पीवी सिंधु और मैरी कॉम इस बार भी ओलंपिक का भी हिस्सा बनेंगी.

कर्णम मल्लेश्वरी

कर्णम मल्लेश्वरी भारत की पहली महिला एथलीट हैं, जिन्होंने ओलंपिक पदक जीता. साल 2000 में सिडनी में हुए ओलंपिक खेलों में मल्लेश्वरी ने भारोत्तोलन यानी वेट लिफ्टिंग में कांस्य पदक अपने नाम किया. इन ओलंपिक खेलों के ठीक पहले मल्लेश्वरी अच्छे फॉर्म में चल रही थीं. उन्हें उम्मीद थी कि वे स्वर्ण पदक जीतेंगी. हालांकि, एक गलतफहलमी के चलते वे गोल्ड मेडल जीतने से चूक गईं. मल्लेश्वरी ने यह बात एक टीवी इंटरव्यू में बताई थी. उन्होंने बताया था कि गोल्ड मेडल जीतने के लिए उन्हें केवल 132.5 किलोग्राम वजन उठाना था. लेकिन उनके कोच को लगा कि ऐसा करने के लिए 137.5 किलोग्राम वजन उठाना है. ऐसे में उन्होंने पहले 130 किलोग्राम वजन उठाया और फिर 137.5 किलोग्राम वजन उठाने में विफल हो गईं.

एक कार्यक्रम के दौरान Karnam Malleswari. (फोटो: आजतक)
एक कार्यक्रम के दौरान Karnam Malleswari. (फोटो: आजतक)

इन ओलंपिक खेलों के बाद मल्लेश्वरी का करियर पहले रुका और फिर समाप्त हो गया. दरअसल साल 2000 के ओलंपिक्स के बाद साल 2001 में उनके बेटे का जन्म हुआ और फिर 2002 में उनके पिता की मौत हो गई. इसके चलते उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा नहीं लिया और फिर 2004 के एथेंस ओलंपिक्स में भी वह नहीं खेल पाईं. और इसी के बाद उन्होंने रिटायर होने का फैसला कर लिया. फिलहाल मल्लेश्वरी को दिल्ली स्पोर्ट्स यूनीवर्सिटी का वाइस चांसलर नियुक्त किया गया है. 22 जून को दिल्ली सरकार की तरफ से उनकी नियुक्ति की गई.

साइना नेहवाल

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने साल 2012 के लंदन ओलंपिक में देश के लिए कांस्य पदक जीता. नेहवाल ओलंपिक पदक जीतने वालीं दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं. साल 2008 में उन्हें पहली बार ओलंपिक खेलों का हिस्सा बनने का मौका मिला था. इसी साल उन्होंने वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप जीती थी.

2012 के लंदन ओलंपिक्स में बैडमिंटन विमेन सिंगल्स में कांस्य पदक के लिए साइना का मुकाबला चीन की शिन वांग से था. शिन वांग ने पहला सेट 21-18 से जीत लिया था. दूसरे सेट में 1-0 से आगे चल रही थीं. इसी बीच उनके घुटने में खिंचाव आ गया और वे बाहर हो गईं. इस तरह से कांस्य पदक साइना नेहवाल की झोली में आ गया.

साइना नेहवाल की फाइल फोटो.
साइना नेहवाल की फाइल फोटो.

साइना नेहवाल इस बार के ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाईं. उनका प्रदर्शन भी लगातार गिरता जा रहा है. एक समय दुनिया की नंबर एक महिला बैडमिंटन प्लेयर रहीं साइना नेहवाल लगातार अपने फॉर्म को लेकर संघर्ष कर रही हैं. साइना को गाइड करने वाले विमल ने इंडिया टुडे को बताया था कि साल 2016 के बाद से साइना लगातार अलग-अलग चोट से जूझी हैं. इसी वजह से उनके प्रदर्शन पर असर पड़ा. उन्होंने कहा था कि साइना फिलहाल कुछ और दिन बैडमिंटन खेल सकती हैं. हालांकि, अगले ओलंपिक में उनका भाग लेना असंभव बताया जा रहा है.

मैरी कॉम

साल 2012 के लंदन ओलंपिक में एक और भारतीय महिला खिलाड़ी ने ओलंपिक मेडल अपनी झोली में डाला. भारत की स्टार बॉक्सर मैरी कॉम ने कांस्य पदक अपने नाम किया था. मैरी कॉम साल 2012 के ओलंपिक्स में क्वालिफाई करने वालीं अकेली भारतीय महिला बॉक्सर थीं. वे इस ओलंपिक में भी भाग लेने जा रही हैं. उन्हें उम्मीद है कि इस बार गोल्ड मेडल उनकी झोली में होगा.

मैरी कॉम इस साल गोल्ड मेडल की उम्मीद लेकर कर टोक्यो गई हैं.
मैरी कॉम इस साल गोल्ड मेडल की उम्मीद लेकर कर टोक्यो गई हैं.

वैसे तो मैरी कॉम के पास बॉक्सिंग का दो दशक का अनुभव है. उनके पास कुल 19 अंतरराष्ट्रीय टाइटल भी हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मैरी कॉम 13 गोल्ड, 3 सिल्वर और इतने ही ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकी हैं. छह बार विश्व चैंपियन रह चुकीं मैरी कॉम टोक्यो पहुंच चुकी हैं और तैयारियों में जुटी हुई हैं.

पीवी सिंधु

पीवी सिंधु ने साल 2016 के रियो ओलंपिक में इतिहास रचा था. उन्होंने इस ओलंपिक में विमेन सिंगल्स बैडमिंटन प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता. फाइनल में वे स्पेन की कैरोलीना मरीन से कड़े मुकाबले में हार गई थीं. सिंधु ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वालीं भारत की पहली महिला खिलाड़ी बनीं. इस ओलंपिक में उनकी भी निगाहें गोल्ड मेडल पर हैं.

पीवी सिंधु इस बार अपने मेडल का रंग बदलने का इरादा लेकर टोक्यो गई हैं.
पीवी सिंधु इस बार अपने मेडल का रंग बदलने का इरादा लेकर टोक्यो गई हैं.

मैरी कॉम के साथ पीवी सिंधु भी टोक्यो पहुंच चुकी हैं और तैयारियों में जुटी हुई हैं. दूसरी तरफ हाल फिलहाल में सिंधु का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है. इस साल मार्च में हुए स्विस ओपन में सिंधु फाइनल में पहुंची थीं, लेकिन आखिरी बाउट पार नहीं कर पाईं. दस दिन बाद हुए ऑल इंग्लैंड टूर्नामेंट में भी सिंधु को निराशा ही हाथ लगी. स्टार इंडियन शटलर क्वार्टर फाइनल में बाहर हो गईं. इससे पहले इसी साल हुए योनेक्स थाईलैंड ओपन में भी सिंधु पहले ही राउंड में बाहर हो गई थीं.

साक्षी मलिक

भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने भी साल 2016 के रियो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. हालांकि, इस बार वे ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाई हैं. साक्षी भारत की पहली महिला एथलीट हैं, जिन्होंने कुश्ती में ओलंपिक मेडल जीता. उनकी इस उपलब्धि ने भारत में महिला पहलवानों के लिए नए दरवाजे खोले.

Sakshi Malik 800 File
Sakshi Malik ने Rio 2016 Olympics में Bronze Medal जीता था. (गेटी फाइल)

दूसरी तरफ टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई ना कर पाने पर साक्षी मलिक ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा कि इस बार उनकी किस्मत ने साथ नहीं दिया. उन्होंने पहलवान सोनम मलिक को ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए शुभकामनाएं दी हैं. साक्षी का कहना है कि फिलहाल वे साल 2022 में होने जा रहे कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए तैयारी कर रही हैं.


 

वीडियो- रोटी-कपड़ा-घर की उम्मीद से तीरंदाजी में आईं दीपिका क्या टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड ला पाएंगी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

मां ने नाबालिग बेटे के साथ ऐसे वीडियो डाले कि FIR की नौबत आ गई

बच्चे के साथ आपत्तिजनक वीडियो बनाने का आरोप है.

कानपुर देहात पुलिस की इस वायरल तस्वीर का सच क्या है?

पुलिस ने वीडियो जारी कर अपनी सफाई पेश की है.

प्रेमी के पास गई महिला तो उसे नग्न करके पीटा, पति को कंधे पर बिठाकर परेड निकाली

पुलिस ने इस मामले में 18 लोगों को गिरफ्तार किया है.

सुल्ली डील्स के बाद 'हिंदू' महिलाओं के खिलाफ दिखाई गई नफरत बहुत परेशान करने वाली है

इधर मुस्लिम महिलाओं को 'सुल्ली' कहा गया, तो उधर हिंदू महिलाओं के लिए हो रहा 'Hslut' का प्रयोग. एक अपराध के नाम पर दूसरे को जायज ठहरा रहे घटिया लोग.

रोमैंस के नाम पर लड़कियों के साथ ये अपराध होता है, आप जानते थे?

स्टॉकिंग को प्रेम का रूप समझना सबसे बड़ी बेवकूफी है.

हिंदू- मुस्लिम शादी के लिए परिवार थे राज़ी, धर्म के ठेकेदारों ने हंगामा मचा दिया

घर वालों को प्रेम दिख रहा था, दुनिया वालों को लव-जिहाद.

इस एक्ट्रेस को एक शख्स सालभर से भेज रहा अश्लील तस्वीरें, अब रेप की धमकी दी

बंगाली एक्ट्रेस प्रत्युषा ने बताया- "30 बार ब्लॉक कर चुकी हूं, 31वां अकाउंट बनाकर धमका रहा"

केरल के इस फेमस एक्टर पर लगा दहेज उत्पीड़न का आरोप, हाई कोर्ट ने कहा- 'सरेंडर करो'

पत्नी का आरोप- पैसे गबन कर लिए, शारीरिक और मानसिक तौर पर टॉर्चर भी किया.

कोच पी नागराजन पर सात और महिला एथलीट्स ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

कोच नागराजन करीब तीन दशक से कई राष्ट्रीय पदक विजेताओं को ट्रेनिंग दे रहे हैं.

UP: मॉडल की मां ने फेसबुक लाइव कर सुसाइड कर लिया, पुलिस पर लगाए ये आरोप

बेटे के लापता होने की शिकायत दर्ज कराने थाने गईं थीं.