Submit your post

Follow Us

क्यों पुरुष नेताओं पर अटैक करते हुए भी औरतों को घसीट लेते हैं नेता?

पिछले दिनों दिलीप घोष ने ममता बनर्जी को बरमूडा पहनने की सलाह दी. तमिलनाडु में डीएमके नेता दिंडिगुल लियोनी ने औरतों के फिगर पर कमेंट किया. कहा कि वो गुब्बारे की तरह फूलने लगी हैं. दोनों ने ही खूब आलोचना झेली, कि भई औरत क्या खाती है, क्या पहनती है इसका फैसला उन पर छोड़ दो. खूब खिंचाई हुई, लेकिन इसका असर नेताओं पर हुआ नहीं लगता है.

तभी तो अपने प्रतिद्वंद्वी पुरुष नेताओं पर हमला करने की कोशिश में भी नेता उनसे जुड़ी महिलाओं को टारगेट कर रहे हैं. उदाहरण देखिए,

अवैध रिश्ते का नतीजा हैं ई पलानीस्वामीः ए राजा

हाल ही में डीएमके लीडर ए राजा ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी की मां को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी. ए राजा ने कहा,

“स्टालिन एक वैध संतान हैं और नॉर्मल डिलीवरी से पैदा हुए हैं. जबकि पलानीस्वामी एक अवैध रिश्ते का नतीजा हैं और समय से पहले पैदा हो गए. दिल्ली के एक डॉक्टर पीएम नरेंद्र मोदी इस प्रीमैच्योर बच्चे का हाथ पकड़कर उसे हेल्दी होने का सर्टिफिकेट दे रहे हैं.”

पलानीस्वामी की पैदाइश पर सवाल उठाते हुए ए राजा ने उनकी मां और पिता के रिश्ते पर सवाल उठाए, उनकी मां के कैरेक्टर पर सवाल उठाए. ए राजा के कहे को सीधे शब्दों में लिखा जाए तो मतलब यही निकलेगा कि वो कह रहे हैं कि ई पलानीस्वामी की मां ने शादी से बाहर या शादी से पहले संबंध बनाए और उस संबंध से पलानीस्वामी पैदा हुए.

राज्य में एक ही पार्टी की 10 साल से सरकार है. ऐसे में सीएम पलानीस्वामी के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर देखने को मिल सकती है.
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी.

इस आपत्तिजनक और निंदनीय बयान पर चुनाव आयोग ने ए राजा को नोटिस भी भेजा. विवाद बढ़ा तो ए राजा बोलने लगे कि उनकी बात को आउट ऑफ कॉन्टेक्स्ट लिया गया. उनके कहने का ऐसा कोई मतलब नहीं था, मुख्यमंत्री की मां का अपमान करने की उनकी कोई मंशा नहीं थी.

केंद्रीय मंत्री रह चुके ए राजा जी! क्या आपको इतनी सी बात नहीं मालूम कि किसी की पैदाइश या परवरिश पर सवाल उठाएंगे तो उंगली सीधे उस व्यक्ति को पैदा करने वाली या उसकी परवरिश करने वाली औरत पर उठती है? 

इस केस में अपडेट ये है कि चुनाव आयोग ने ए राजा के प्रचार करने पर 48 घंटे का बैन लगा दिया है.

राहुल गांधी गर्ल्स कॉलेज जाकर लड़कियों को झुकना सिखाते हैंः जॉयस जॉर्ज

जॉयस जॉर्ज. केरल में सीपीएम के नेता हैं. सांसद रह चुके हैं. बीते दिनों राहुल गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा,

“राहुल गांधी के कार्यक्रम ऐसे हैं कि वो केवल गर्ल्स कॉलेज में जाएंगे. वहां जाकर वो लड़कियों को झुकना सिखाएंगे. प्यारी बच्चियों, उसके सामने खड़े होना या झुकना नहीं, वो शादीशुदा नहीं है.”

राहुल गांधी कैसे एक अच्छे नेता नहीं हैं, ये बताने के लिए जॉयस जॉर्ज के पास उदाहरणों की कमी नहीं होगी. अमेठी में हार, चुनावों में लगातार कांग्रेस की हार, जैसी तमाम चीज़ें वो गिनवा सकते थे. लेकिन उन्होंने राहुल गांधी के कैरेक्टर पर हमला करने का ऑप्शन चुना. कॉलेज में पढ़ने वाली लड़कियों के दिमाग में कूड़ा भरने का ऑप्शन उन्होंने चुना, कि क्यों लड़कियों को किसी अविवाहित पुरुष के आगे खड़े नहीं होना चाहिए, झुकना नहीं चाहिए. वैसे दिमाग में गंदगी हो और औरतों के लिए नज़र खराब हो तो वो शादी करने से ठीक नहीं हो जाती.

रही बात राहुल गांधी के सामने लड़कियों के झुकने की, तो केरल में चुनाव प्रचार के दौरान राहुल कॉलेज में पढ़ने वाली लड़कियों को आईकिडो की टेक्नीक सिखा रहे हैं. ये एक मार्शियल आर्ट है, जो राहुल ने सीखी है.

राहुल गांधी ने ये टेक्नीक सिखाते हुए लड़कियों से कहा था कि कोई पुरुष आपको कभी नहीं बताएगा कि औरतें पुरुष से ज़्यादा ताकतवर होती हैं.

उनकी इस बात को लेकर भी लोगों ने उन पर घटिया टिप्पणी की थी. उनके मर्द होने को लेकर बेहद आपत्तिजनक बातें की थीं. कि वो मर्द नहीं हैं क्या जो ये बात बता रहे हैं. आदि इत्यादि.

जबकि एक नेता लड़कियों को सेल्फ डिफेंस की टेक्नीक बता रहा है, उन्हें बता रहा है कि ये उनके लिए क्यों ज़रूरी है. वहीं, पर एक दूसरा नेता लड़कियों से कह रहा है कि उस नेता के सामने मत जाओ, उसके सामने झुको मत. उस नेता के कैरेक्टर पर कमेंट कर रहा है कि वो लड़कियों को झुकना सिखा रहा है.

ए राजा हों या जॉयस जॉर्ज. दोनों ही के ही कमेंट बेहद गैरज़रूरी थे. इस तरह के व्यक्तिगत हमले देश की राजनीति में कुछ जोड़ते नहीं है, उल्टे इस बात के परिचायक हैं कि हमारे देश की राजनीति एक ऐसी दिशा में बढ़ रही है जहां औरतों को लेकर कुछ भी कह देना नेताओं को गलत नहीं लगता. ये दुखद है.


डॉ अग्रवाल ने ऐसा झाड़ा कि मर्दानगी वाला लेक्चर देने से पहले लोग 10 बार सोचेंगे

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

UP के आगरा में महिला का पति के सामने गैंगरेप, वीडियो बनाकर जान से मारने की धमकी दी

महिला होली वाले दिन अपने पति के साथ मायके जा रही थी. इसी दौरान आरोपियों ने उन्हें रोका.

शर्मनाक! जिसका रेप हुआ उसी को आरोपी के साथ रस्सी से बांधकर जुलूस निकाला गया

मध्य प्रदेश के अलीराजपुर की घटना.

पुलिसवाली ने आठ महीने की प्रेग्नेंट औरत को तीन किलोमीटर पैदल चलने पर मजबूर किया

महिला पुलिस इंस्पेक्टर की असंवेदनशील कार्रवाई पर क्या एक्शन लिया गया?

केजरीवाल सरकार ने किन प्रेमी जोड़ों के लिए सेफ हाउस तैयार किया है?

क्या है सेफ हाउस का कंसेप्ट?

लॉ स्टूडेंट से रेप के आरोप में चिन्मयानंद को कोर्ट ने बरी किया

2019 में लगे थे पूर्व केंद्रीय मंत्री पर आरोप.

'लव जिहाद' के आरोपों के बीच निकिता तोमर के हत्यारों को हुई सजा

निकिता को गोली मारने वाले तौसीफ का कांग्रेस कनेक्शन क्या है?

UP में सरकारी टीचर ने आत्महत्या की, सुसाइड नोट देखकर लोगों की रूह कांप गई

पढ़ने-पढ़ाने वाले, पेशे से टीचर पड़ोसियों पर गंभीर आरोप लगे हैं.

औरत ने अपने पिता को खूब दारू पिलाई, फिर जलाकर क्यों मार डाला?

आरोपी बेटी तक कैसे पहुंची कोलकाता पुलिस?

यौन शोषण करता था पुलिस वाला, लड़की ने आवाज़ उठाई तो घिनापे की हद ही पार कर दी

एक लड़की का पूरा परिवार बर्बादी की कगार पर आ गया.

आठ साल की बच्ची ने अपने रेपिस्ट को ऐसे पकड़वाया, आप भी बहादुरी की दाद देंगे

घटना के बाद शहर से भागने वाला था आरोपी, लॉकडाउन ने रोक दिया.