Submit your post

Follow Us

बिहार: तीन बूढ़ी औरतों को पंचायत ने वो 'सज़ा' दी, जिसे सुनकर इंसानियत शर्मसार हो जाए!

बिहार का मुज़फ्फरपुर ज़िला. यहां का हथौड़ी इलाका. इसके तहत डकरामा नाम का एक गांव पड़ता है. बीते दिन (4 मई) इस गांव की पंचायत ने बड़ा घिनौना काम किया. सज़ा सुनाई. तीन बूढ़ी औरतों को. क्या सज़ा? उनका सिर मुंडवा दिया, पेशाब पिलाई और पूरे गांव में चक्कर लगवाए.

क्यों? क्योंकि गांववालों को शक था कि तीनों औरतें डायन हैं. जादू-टोना करती हैं. गांववाले पंचायत के पास पहुंचे. सभा बैठी और ये सज़ा सुनाई गई. घटना के कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.

भीड़ बस तमाशा देखती रही

वीडियो में दिख रहा है कि तीनों औरतें लाचार-सी बैठी हैं. आस-पास खड़ी भीड़ शोर कर रही है. उन्हें पेशाब पिला रही है और हंस रही है. औरतें चुपचाप अपनी सज़ा भुगत रही हैं. उन्होंने खुद को निर्दोष बताने की भी कोशिश की, लेकिन किसी ने सुना नहीं. एक आदमी उनकी मदद करने के लिए सामने आया, तो उसे भी वही सज़ा सुना दी गई, जो इन औरतों को सुनाई गई थी.

Witch Hunting In Hathaudi
डायन होने के शक में तीनों औरतों का मुंडन कर दिया गया. फोटो- रितेश अनुपम.

उसके बाद पंचायत ने तीनों औरतों को गांव से निकाल दिया. वो चली भी गईं. तीनों में से एक औरत डकरामा की रहने वाली है. बाकी दो उसकी रिश्तेदार थीं. दूसरे गांव से आई थीं.

पुलिस ने क्या किया?

‘आज तक’ से जुड़े रितेश अनुपम ने जानकारी दी कि 10 नामजद और 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है. नौ की गिरफ्तारी हो गई है. जिसने औरतों का मुंडन किया, उसे खोजा जा रहा है. पुलिस को किसी गांववाले ने शिकायत नहीं दी थी. वो तो वीडियो जब वायरल हुए, तब कार्रवाई हुई.

असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (ASP) अमितेश कुमार ने बताया कि किसी गांववाले की तरफ से पुलिस को जानकारी नहीं दी गई, मीडिया की तरफ से ही पुलिस को खबर मिली. उनका कहना है कि छानबीन की जा रही है.


वीडियो देखें: कोरोना वायरस से ठीक होकर महिला घर आई, तो पड़ोसी भद्दी बातें करने लगे!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

तिहाड़ में बंद प्रेगनेंट जामिया स्टूडेंट सफ़ूरा के जिस बच्चे को 'नाजायज़' कह रहे हैं, उसका सच

सफ़ूरा ज़रगर दिल्ली में दंगे भड़काने के आरोप में जेल में बंद हैं.

तार में फोन बांधकर वीडियो बनाती हैं, लाखों में हैं इनके फॉलोवर्स

ममता वर्मा की कहानी, जिन्होंने अपनी बेटी के लिए टिकटॉक डाउनलोड किया था.

इंटरनेट पर चल रहे हर तरह के चैलेंज के बीच ये एक बेहद सुंदर वीडियो सामने आया है

और एक ऐसे मुद्दे के साथ, जिस पर बात करना बेहद ज़रूरी है.

इन विदेशी लड़कियों को हिंदी बोलते सुन लेंगे तो अपनी भूल जाएंगे

करोड़ों लोग देखते हैं इन्हें.

टिकटॉक पर वायरल चैलेंज करने के चक्कर में ये टीवी स्टार बुरे फंस गए

लोग कह रहे हैं कि घरेलू हिंसा को बढ़ावा दे रहा है उनका वीडियो.

कृति सैनन ने औरतों का ये जरूरी मसला उठाया, जिसके बारे में वो बोल ही नहीं पातीं

लॉकडाउन के चलते जाने कितनी औरतें घुट रही हैं.

'ऑनलाइन क्लास' सुनने में अच्छा आइडिया लगता है, मगर इन लड़कियों का दम घोंट रहा है

लॉकडाउन के दौरान कैसे पढ़ रही हैं लड़कियां, सुनकर रूह कांपती है.

'रामायण' की 'सीता' दीपिका चिखलिया ने कहा, 'सीता दुनिया की पहली सिंगल मदर थीं'

जिन्होंने लव-कुश को अकेले पाला-पोसा और बड़ा किया.

सुतपा सिकदर: वो लड़की जिसके लिए इरफ़ान ज़िंदा रहना चाहते थे

जो खोज-खोजकर इरफ़ान की इच्छाएं पूरी किया करती थीं

कहा, 'मुंबई के लिए कुछ भी' और मेयर ने फिर पहनी अपनी पुरानी नर्स की यूनिफॉर्म

मुंबई की मेयर ने कोरोना के दौर में कुर्सी से उठ जॉइन किया अस्पताल.