Submit your post

Follow Us

इलाज के बाद एंबुलेंस तक नहीं मिली, 23 किमी पैदल चलकर घर पहुंची 75 साल की महिला

असम के जोरहाट मेडिकल कॉलेज में एक बुज़ुर्ग महिला इलाज के लिए गई. इलाज हुआ और तुरंत ही उन्हें अस्पताल से जाने के लिए भी कह दिया गया. इतना ही नहीं, महिला को घर जाने के लिए एंबुलेंस तक अस्पताल की तरफ से मुहैया नहीं कराई गई.

पूरा मामला..

75 साल की कादमी गूई. असम के सिवसागर में रहती हैं. बिस्तर से गिरने की वजह से उन्हें कोहनी में चोट आ गई थी. तुरंत सिवसागर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया. डॉक्टर्स ने जोरहाट मेडिकल हॉस्पिटल में रेफर कर दिया. कादमी गूई की बहू ने बताया कि 108 नंबर पर कॉल करके उन्होंने एंबुलेंस बुलाई और जोरहाट मेडिकल हॉस्पिटल पहुंची. वहां डॉक्टर्स ने एक्स-रे और कुछ अन्य चेकअप किए. हल्का-फुल्का इलाज करके अस्पताल के अधिकारियों ने उन्हें तुरंत अस्पताल से जाने के लिए कह दिया.

कादमी की बहू ने बताया कि अस्पताल की तरफ से उन्हें घर जाने के लिए कोई एंबुलेंस तक मुहैया नहीं कराई गई. लॉकडाउन के चलते दूसरा कोई विकल्प समझ नहीं आया, तो वो लोग पुलिस स्टेशन गए. यहां पर भी उन्हें मदद नहीं मिली. मजबूरन दोनों ने पैदल ही घर जाने का तय किया. 23 किलोमीटर का रास्ता तय करके वो जोरहाट जिले के काकोजन क्षेत्र में पहुंची. वहां के लोगों ने उनकी सास की हालत को देखते हुए साधन की व्यवस्था की और उन्हें घर पहुंचाने में मदद की.


वीडियो देखें : लॉकडाउन में पत्नी की कीमोथेरेपी कराने के लिए व्यक्ति 130 किमी साइकिल चलाकर अस्पताल पहुंचा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

लॉकडाउन में पति राजस्थान में फंसे थे, मध्य प्रदेश में दृष्टिहीन पत्नी से रेप हो गया!

पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू की.

महिला डॉक्टर का आरोप, पेशेंट ने यौन शोषण किया, झुंड बनाकर हमला किया

जैसे तैसे कमरे में बंद कर डॉक्टर्स ने खुद को बचाया.

पिज़्ज़ा मंगवाया था, डिलीवरी बॉय ने नंबर लेकर अश्लील मैसेज भेजने शुरू कर दिए

लड़की ने ट्विटर पर बताई पूरी घटना.

इस आदमी ने बच्ची का रेप और हत्या कर जंगल में फेंका, जानवरों ने कंकाल तक न छोड़ा

बच्ची की उम्र जानकर उल्टी आती है.

दिल्ली यूनिवर्सिटी की महिला प्रोफेसरों ने बताया- ऑनलाइन क्लासों में लोग भद्दे मैसेज लिख रहे

वीडियो पर ऑनलाइन लेक्चर देने वाले टीचर्स ने की शिकायत.

कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने पर औरत ने कलाई की नस काट ली, डॉक्टर को पुलिस बुलानी पड़ी

अस्पताल में दो घंटे तक हंगामा करती रही महिला.

होम क्वारंटीन में रह रही लड़की भूख हड़ताल पर क्यों है?

कोयंबटूर में पढ़ती थी, केरल में अपने घर आई थी.

लॉकडाउन: मां बाजार गई थी, घर में रेप के बाद 13 साल की बेटी की हत्या हो गई

लोग सोशल मीडिया पर इंसाफ मांग रहे हैं.

दर्द से जूझ रही प्रेगनेंट महिला को अस्पताल ने भर्ती नहीं किया, पार्किंग एरिया में बच्चे को जन्म दिया!

घटना इंदौर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल की है.

लॉकडाउन : सरकारी हेल्पलाइन ने बताया, हर मिनट छह बच्चों का शोषण हो रहा है

अलग-अलग तरीकों से.