Submit your post

Follow Us

महिलाओं के साथ तालिबान की ज्यादती पर भड़के ऑस्ट्रेलिया ने क्या धमकी दे दी?

तालिबान के फैसलों का असर अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट पर दिखने लगा है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने साफ कर दिया है कि अगर अफ़ग़ान महिलाओं को खेलने से रोका गया तो वह अफ़ग़ानिस्तान पुरुष क्रिकेट टीम के साथ होने वाला इकलौता टेस्ट रद्द कर देंगे. बीते बुधवार, 8 अगस्त को तालिबान ने कहा था कि महिलाओं को खेलने नहीं दिया जाएगा. क्योंकि यह इस्लामिक मूल्यों के खिलाफ है.

और तालिबान के इस फैसले के तुरंत बाद पूरी दुनिया ने इसके खिलाफ आवाज उठाई. और इन आवाजों में ऑस्ट्रेलिया के खेल मंत्री समेत कई नेता भी शामिल रहे. खेल मंत्री रिचर्ड कोलबेक ने कहा कि महिलाओं पर लगी इस तरह की रोकथाम के बीच होबार्ट में 27 नवंबर से होने वाला टेस्ट मैच नहीं खेला जा सकेगा. इस मसले पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) ने एक स्टेटमेंट जारी कर कहा,

‘वैश्विक स्तर पर महिलाओं के क्रिकेट के विकास में हिस्सेदारी क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. क्रिकेट के लिए हमारी सोच है कि यह खेल सबके लिए है और हम स्पष्ट तौर पर खेल में हर लेवल पर महिलाओं को सपोर्ट करते हैं.

अगर हालिया मीडिया, जिनमें कहा जा रहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में महिला क्रिकेट को सपोर्ट नहीं किया जाएगा, स्पष्ट हैं, तो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के पास होबार्ट में होने वाले टेस्ट में अफ़ग़ानिस्तान की मेजबानी ना करने के अलावा कोई चारा नहीं है. हम इस महत्वपूर्ण मसले पर समर्थन के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और तस्मानियन सरकार के शुक्रगुजार हैं.’

कोलबेक ने यह भी कहा व्यक्तिगत तौर पर अफ़ग़ान एथलीट्स का ऑस्ट्रेलिया में स्वागत है. लेकिन अगर महिलाओं को खेलने की इजाजत नहीं मिलती तो तालिबान के झंडे के नीच किसी भी एथलीट को ऑस्ट्रेलिया में नहीं खेलने दिया जाएगा. बता दें कि इस मसले पर ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स असोसिएशन (ACA) ने भी स्पष्ट रूप से CA का सपोर्ट किया है. ACA ने अपने बयान में कहा,

‘अभी अफ़ग़ानिस्तान में जो हो रहा वह मानवाधिकार का मामला है जो क्रिकेट के खेल में अतिक्रमण कर रहा है. और जहां हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ राशिद खान जैसे प्लेयर्स को खेलते देखना पसंद करते, वहीं रोया समीम और उनकी टीममेट्स को खेलने से रोकने के हालात में इस टेस्ट मैच की मेजबानी के बारे में सोचा भी नहीं जा सकता.’

बता दें कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) भी इस मसले पर गंभीर है. उन्होंने साफ किया है कि उनकी अगली बोर्ड मीटिंग में अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट के अंतरराष्ट्रीय भविष्य पर चर्चा की जाएगी.


इंग्लैंड के फ़ैन्स ‘बार्मी आर्मी’ को विराट का ये सेलिब्रेशन क्यों चुभ रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

17 लड़कियों को रातभर स्कूल में रखा, नशे की दवा खिलाकर यौन शोषण का आरोप

17 लड़कियों को रातभर स्कूल में रखा, नशे की दवा खिलाकर यौन शोषण का आरोप

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर की घटना.

दूल्हा जयमाला लेकर खड़ा था, दिलजला आया और दुल्हन की मांग में सिंदूर भर दिया

दूल्हा जयमाला लेकर खड़ा था, दिलजला आया और दुल्हन की मांग में सिंदूर भर दिया

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है.

बहन के कटे सिर के साथ सेल्फी ली, पड़ोसियों को दिखाने के लिए घर के बाहर रख दिया

बहन के कटे सिर के साथ सेल्फी ली, पड़ोसियों को दिखाने के लिए घर के बाहर रख दिया

लड़की ने परिवार की मर्ज़ी के खिलाफ जाकर शादी की थी.

खुले आम रेप की बातें और लड़कियों के प्राइवेट पार्ट्स पर चर्चा, सोशल मीडिया पर लोग भड़के

खुले आम रेप की बातें और लड़कियों के प्राइवेट पार्ट्स पर चर्चा, सोशल मीडिया पर लोग भड़के

एक वायरल ऑडियो ने सुल्ली डील्स मामले को फिर चर्चा में ला दिया है.

सेक्स क्राइम के मामलों में अदालतों की 5 चौंकाने वाली टिप्पणियां

सेक्स क्राइम के मामलों में अदालतों की 5 चौंकाने वाली टिप्पणियां

POCSO से जुड़े एक मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा, "ओरल सेक्स अति गंभीर श्रेणी वाला अपराध नहीं है."

'महान डिएगो माराडोना ने मेरा बलात्कार किया था'

'महान डिएगो माराडोना ने मेरा बलात्कार किया था'

महिला ने बताया- मैं 16 साल की थी, जबकि माराडोना 40 के थे.

पाकिस्तान की संसद ने रेप के दोषियों को दवाओं से नपुंसक बनाने को मंज़ूरी दे दी है

पाकिस्तान की संसद ने रेप के दोषियों को दवाओं से नपुंसक बनाने को मंज़ूरी दे दी है

क्या केमिकल कैस्ट्रेशन से परमानेंट नपुंसक हो जाते हैं लोग?

16 साल की लड़की का छह महीने में 400 लोगों ने बलात्कार किया

16 साल की लड़की का छह महीने में 400 लोगों ने बलात्कार किया

विक्टिम दो महीने की गर्भवती है.

नशे में धुत्त हेडमास्टर ने लड़कियों को क्लासरूम में बंद करके कहा- चलो डांस करते हैं

नशे में धुत्त हेडमास्टर ने लड़कियों को क्लासरूम में बंद करके कहा- चलो डांस करते हैं

घटना मध्य प्रदेश के दमोह जिले की है.

लड़की ने बुर्का नहीं, जींस पहनी तो दुकानदार अपनी बुद्धि खो बैठा

लड़की ने बुर्का नहीं, जींस पहनी तो दुकानदार अपनी बुद्धि खो बैठा

दुकानदार का तर्क सुनकर तो हमारे कान से खून ही निकल आया!