Submit your post

Follow Us

ऑफिसवाले फोन टैप कर परेशान करते थे, BHEL की लेडी अफसर ने फांसी लगाकर जान दे दी

1.46 K
शेयर्स

नेहा चौकसे. भेल (BHEl) कम्पनी में अकाउंट ऑफिसर थी. अब इसने सुसाइड कर लिया है. वजह ये है कि नेहा के सीनियर अफसर और कुछ साथी फोन टैप करके उसे प्रताड़ित करते थे. इसी वजह से परेशान होकर उसने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी. घरवाले इस मामले की CBI से जांच करवाने की मांग कर रहे हैं. नेहा के परिवारवालों का कहना है कि भेल की भोपाल यूनिट से ये सिलसिला शुरू हुआ था, जो हैदराबाद यूनिट तक जारी रहा.

नेहा चौकसे (33) ने एक सुसाइड नोट लिखा है. इसमें उन्होंने साथ में काम करने वाले लोगों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है. साथ ही लिखा है कि उनका फोन ऑफिस के सीनियर ऑफिसर और दोस्त हैक करते थे. हालांकि नेहा ने साइबर सेल में फोन हैक करने की शिकायत की थी. पर कोई एक्शन नहीं लिया गया.

भास्कर अखबार के मुताबिक नेहा ने अपने सुसाइड नोट में BHEL के डीजीएम फाइनेंस आर्थर किशोर कुमार पर फोन हैक करने और परेशान करने की बात कही है. इसके अलावा नेहा ने अपने लेटर में BHEL के मोहनलाल सोनी, तीरथभासी स्वेन, सीताराम पेंटाकोटा और महेश कुमार के भी नाम लिखे हैं और कहा है कि ये लोग अश्लील कमेंट करते थे. नेहा ने लिखा है कि आर्थर ने तो उसे जान से मारने की साजिश भी की थी. लेकिन उससे पहले ही वो आत्महत्या कर रही है. उसने अपने इस कदम के लिए अपनी मां से सॉरी भी लिखा है.

साइबर सेल में शिकायत की थी. पर कार्रवाई नहीं हुई.
नेहा ने साइबर सेल में शिकायत की थी. पर कार्रवाई नहीं हुई.

नेहा भोपाल की रहने वाली थीं. और भेल की भोपाल यूनिट में जॉब करती थीं. लेकिन शादी के बाद पति के साथ रहने के लिए उन्होंने जून, 2019 में अपना ट्रांसफर भोपाल से हैदराबाद करवा लिया था. जुलाई में भेल की हैदराबाद यूनिट में नेहा की जॉइनिंग हो गई थी. नेहा के परिवार का कहना है कि भेल की भोपाल यूनिट से उसे प्रताड़ित किया जा रहा था. कई दफे शिकायत भी की थी. पर किसी ने भी उसकी मदद नहीं की. नेहा के लेटर के मुताबिक भोपाल BHEL के फाइनेंस डिपार्टमेंट में काम करने वाली नीलिमा, रूचिता, कल्पना, स्वाति और नेहा नाम की महिलाओं ने भी उसे परेशान किया और हैदराबाद ट्रांसफर होने पर भी बदनाम करने की कोशिश करती रहीं.

नेहा की मुंहबोली बहन रीता ने बताया कि नेहा उनसे हर बात शेयर करती थीं. रीता का आरोप है कि नेहा अक्सर फोन पर उनसे बात करते हुए कहती थीं कि उसका फोन टैप हो रहा है, क्योंकि जो बातें वो घर के लोगों से करती थी, वहीं बातें उसके सहकर्मी ऑफिस में बताते थे. इसके चलते उनको हमेशा इस बात का डर रहता था कि उनकी बातचीत रिकॉर्ड की जा रही है. रीता के मुताबिक नेहा ने हैदराबाद जाकर भी अपने सहकर्मियों के साथ तालमेल बनाने की बहुत कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी. नेहा 18 अक्टूबर को भोपाल आने वाली थीं, लेकिन उन्होंने 17 अक्टूबर को ही आत्महत्या कर ली.

नेहा अपने पति के साथ.
नेहा अपने पति के साथ.

नेहा के मुंह बोले भाई संजय चौकसे ने इस मामले में सीबीआई जांच करने की मांग की है, ताकि ये पता चल सके कि नेहा को आखिर किस बात ने इतना ज्यादा परेशान और डर से भर दिया था कि ट्रांसफर के महज 4 महीनों में ही उसने सुसाइड कर लिया.


वीडियो देखें : यूपी के मुज़फ्फरनगर में लड़की का दो बार रेप हुआ, घरवालों ने इंसाफ नहीं दिलाया तो आत्महत्या कर ली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

जब एक मिस वर्ल्ड कांटेस्ट की वजह से दंगे हुए और करीब 250 लोग मारे गए

धर्म भी घुस आया और राजनीति भी.

सरोगेसी रेगुलेशन बिल में ऐसा क्या है कि राज्यसभा में उस पर बवाल मचा हुआ है

इतनी बंदिशें हैं कि बच्चा चाहने वाले जोड़े का दिमाग घूम जाए.

रानू मंडल का मेकअप करने वाली आर्टिस्ट क्या कहती हैं?

रानू की वायरल तस्वीर पर बयान दिया है.

मेट्रो में लड़की को 'संस्कार' सिखाने वाली महिला ने साबित कर दिया कि बुजुर्ग हमेशा सही नहीं होते

कुछ बेहद घटिया तरीके से जजमेंटल होते हैं.

मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन, जिनके जीवन में गंदगी खोजने की कोशिश लोग आज भी कर रहे हैं

जिनकी 20 साल की बेटी की 'हॉट पिक्स' गैलरी आपको कहीं नहीं मिलेगी.

लोगों को ट्रैफिक रूल सिखाने के लिए MBA स्टूडेंट सड़क पर डांस कर रही है

और उनके साथ ट्रैफिक पुलिस वाले भी नाच रहे हैं.

रानू मंडल का भुतहा मेकअप बुरा है, मगर उससे भी बुरा कुछ है जो उनके साथ हो रहा है

मीम्स देखकर हंस चुके हों तो ये भी पढ़ लें.

और इस तरह दिव्या खोसला कुमार और नेहा कक्कड़ ने मेरे बचपन की यादों का सर्वनाश किया

आज तक 'याद पिया की आने लगी' से घटिया भी कुछ बना है क्या?

सबरीमाला मंदिर में जाने से केरल पुलिस ने 10 महिलाओं को क्यों रोका?

16 नवंबर को मंडल उत्सव के लिए कपाट खोला गया.

एक काली लड़की की कहानी जिसे फिल्मों में नहीं दिखाया जाता

जिसे स्ट्रॉन्ग रोल मिल भी जाएं, नायक नहीं मिलते.