Submit your post

Follow Us

शादी के बाद पति का प्रमोशन हुआ, तो ससुराल वाले दहेज में 4 लाख और मांगने लगे

बिहार के नालंदा ज़िले का हिलसा इलाके से दहेज हत्या का एक मामला सामने आया है. ‘आज तक’ से जुड़े पत्रकार रंजीत सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, जिस महिला की हत्या की गई, उसका नाम काजल कुमारी था. वो प्रेगनेंट भी थी. शादी के समय उसका पति संजीत कुमार रेलवे में फोर्थ ग्रेड का कर्मचारी था. शादी के बाद उसका प्रमोशन हुआ और वो टीटीई बन गया. और इसके बाद काजल के ससुराल वाले दहेज के तौर पर चार लाख रुपए मांगने लगे. काजल के पैरेंट्स का आरोप है कि दहेज की रकम न मिलने पर ससुराल वालों ने मिलकर उनकी बेटी की हत्या कर दी. शव के 12 टुकड़े कर ज़ीमन में गाड़ दिए.

पिता की क्या शिकायत है?

काजल के पिता ने पुलिस को लिखित में जो शिकायत दी, उसमें उन्होंने बताया कि वो पटना के रहने वाले हैं, पिछले साल 27 जून को उन्होंने काजल की शादी हिलसा से नोनिया विगहा में रहने वाले संजीत कुमार से करवाई थी. शादी के कुछ दिन बाद तक तो सब ठीक चला, लेकिन बाद में सब मिलकर उनकी बेटी से दहेज के तौर पर चार लाख रुपए मांगने लगे. जब काजल ने अपने मायके में ये बात बताई, तो उसके पिता अरविंद सिंह ने उसके ससुराल वालों से बात की और किसी तरह इस साल फरवरी में 80 हज़ार रुपए दिए. लेकिन इसके कुछ ही दिन बाद दोबारा काजल को परेशान किया जाने लगा.

अरविंद सिंह ने अपने शिकायती लेटर में आगे बताया कि संजीत काम के लिए बंगलुरु गया था, काजल ससुराल में ही थी. उसे पैसे के लिए फिर से परेशान किया जाने लगा. वो 5-7 महीने की गर्भवती थी. 17 जुलाई को काजल ने पिता को फोन किया, बताया कि उसे अब ससुराल वाले बचने नहीं देंगे. इसके बाद उसका फोन बंद हो गया. अरविंद ने काजल के ससुर को फोन लगाया, उनका फोन भी बंद आ रहा था. फिर 19 जुलाई को काजल के मायके वाले उसके ससुराल पहुंचे, वहां उन्हें पता लगा कि काजल की हत्या कर दी गई है, शव को गायब कर दिया गया है और घर के सभी लोग फरार हैं. अरविंद का कहना है कि उन्हें पूरा यकीन है कि दहेज नहीं देने की वजह से ही काजल को मारा गया.

काजल के भाई ने मीडिया को बताया कि संजीत पहले ग्रुप डी कर्मचारी था, एग्जाम देने के बाद टीटीई बना और फिर दहेज के लिए उनकी बहन को परेशान किया जाने लगा.

काजल के पिता ने संजीत समेत पांच लोगों पर हत्या के आरोप लगाए हैं और केस दर्ज कराया है. मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने शव को खोजना शुरू कर दिया था. नोनिया विगहा के एक खेत से शव के कई टुकड़े बरामद किए गए हैं. पुलिस को शव को जलाने के सबूत भी मिले हैं. शो शूट होते तक आरोपी पकड़ में नहीं आए थे.


वीडियो देखें: बेटे के साथ आपत्तिजनक इंस्टाग्राम रील्स बनाने वाली मां के खिलाफ महिला आयोग की शिकायत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

पेगासस लिस्ट में जिन महिलाओं का नाम आया, उन्होंने इस पर क्या कहा?

पेगासस लिस्ट में जिन महिलाओं का नाम आया, उन्होंने इस पर क्या कहा?

लिस्ट में उस महिला का भी नाम है जिसने पूर्व CJI पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे.

पूर्व CJI रंजन गोगोई पर यौन शोषण के आरोप लगाने वाली महिला की जासूसी हो रही थी?

पूर्व CJI रंजन गोगोई पर यौन शोषण के आरोप लगाने वाली महिला की जासूसी हो रही थी?

पेगासस वाली लिस्ट में महिला और उसके परिवारवालों के 11 फोन नबंर शामिल हैं.

राज कुंद्रा के अरेस्ट होने पर शिल्पा के बारे में अश्लील बातें लिखने वाले कहां रुकेंगे?

राज कुंद्रा के अरेस्ट होने पर शिल्पा के बारे में अश्लील बातें लिखने वाले कहां रुकेंगे?

लोग योग संभोग वाले जोक्स लिख रहे हैं.

स्कूली किताबों में कब तक केवल राम स्कूल जाता रहेगा, सीता रोटी बनाती रहेगी?

स्कूली किताबों में कब तक केवल राम स्कूल जाता रहेगा, सीता रोटी बनाती रहेगी?

आपके बच्चों की टेक्स्टबुक्स इस तरह उनके दिमाग में ज़हर भर रही हैं.

पुराना माल, नया पैकेट: 'बालिका वधू' के फर्स्ट लुक से और क्या पता चलता है?

पुराना माल, नया पैकेट: 'बालिका वधू' के फर्स्ट लुक से और क्या पता चलता है?

कितना अलग होगा बाल विवाह पर बना ये शो

महामारी की तरह फैली दहेज़ प्रथा को रोकने ने लिए केरल सरकार ने लगाया ये आइडिया

महामारी की तरह फैली दहेज़ प्रथा को रोकने ने लिए केरल सरकार ने लगाया ये आइडिया

क़ानून काम नहीं आ रहे, देखें ये फैसला कितना काम आता है.

ओलंपिक में पदक जीतने वाली ये भारतीय एथलीट्स अब क्या कर रही हैं?

ओलंपिक में पदक जीतने वाली ये भारतीय एथलीट्स अब क्या कर रही हैं?

दो खिलाड़ी तो इस बार के ओलंपिक में भी खेलेंगी.

सब्जी बेचकर परिवार का पेट पालने वाली महिला बनीं ब्लॉक प्रमुख

सब्जी बेचकर परिवार का पेट पालने वाली महिला बनीं ब्लॉक प्रमुख

पैसों से होने वाले चुनावों के बीच गरीब महिला के हौसलों की जीत

हाथ-पैर काम नहीं करते, 'रेंगते' हुए कोरोना को रोकने में लगीं ये बहादुर महिला

हाथ-पैर काम नहीं करते, 'रेंगते' हुए कोरोना को रोकने में लगीं ये बहादुर महिला

जन्म से ही चलने और खड़े होने में असमर्थ हैं जयंती.

मंत्री जी के साथ सेल्फी चाहिए तो जेब से 100 रुपए निकालो!

मंत्री जी के साथ सेल्फी चाहिए तो जेब से 100 रुपए निकालो!

मध्य प्रदेश की मंत्री ऊषा ठाकुर का सेल्फी प्लान.