Submit your post

Follow Us

दाग धब्बे हटाने का दावा करती क्रीम में इस्तेमाल होने वाले केमिकल की असलियत

5
शेयर्स

चेहरे पर ढेर सारे दाने निकल आएं, तो गुस्सा आता है. मन में आता है कि ऐसा क्या करें, ऐसा क्या लगा लें, कि एक ही दिन में सारे दाने ठीक हो जाए. और चेहरा पहले की तरह बिलकुल साफ हो जाए.

मैंने भी ठीक ऐसा ही सोचा. कई नुस्खे अपनाए. पर कोई असर नहीं हुआ. फिर मैंने टीवी और न्यूजपेपर में ऐड देखा. वो ऐड था एक क्रीम का, जो कुछ दिनों में ही चेहरे के दाग-धब्बे हटाने का दावा कर रही थी. पहले मुझे सही नहीं लगा, पर एक-दो दोस्तों ने बोला कि ये क्रीम लगाओ, वो क्रीम लगाकर देखो. तुम्हें असर होगा.

मैंने क्रीम खरीदकर लगाई भी. पर खाक फर्क हुआ, उल्टा और दाने निकल आए. वो क्रीम आज भी वैसे ही रखी हुई है.

जो मेरे साथ हुआ, वो कइयों के साथ होता होगा. कि देखा-देखी में हम प्रोडक्ट तो इस्तेमाल कर लेते हैं. पर वो हमारी स्किन पर कितना सही है, कितना नहीं. ये नहीं सोचते. खैर. आपने कभी सोचा कि ये क्रीम असर करने का दावा करती हैं, पर असलियत में होता कुछ नहीं है. ऐसा क्यों है?

इसी बात की जानकारी के लिए हमने अमेर्टिस हॉस्पिटल के डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. सचिन धवन से बात की.

उन्होंने बताया:

‘इस तरह की क्रीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. क्योंकि इसमें हाइड्रोक्योनोन और स्टेरॉयड पाया जाता है. हाइड्रोक्योनोन एक ब्लीचिंग एजेंट होता है, जिससे एक बार तो काफी अच्छा लगता है, स्किन साफ होने लगती है. दाने गायब होने लगते हैं. पर कुछ समय बाद स्किन खराब हो जाती है. वहीं, स्टेरॉयड से हमारी स्किन पतली हो जाती है. ये दोनों ही केमिकल हैं, जो हर क्रीम में पाए जाते हैं, चाहे वो क्रीम कितना भी हर्बल होने का दावा कर ले. इसीलिए क्रीम को लगाना बंद करते ही दोबारा बुरी तरह से दाने-धब्बे होने लगते हैं. वैसे भी इस तरह को तीन महीने से ज्यादा नहीं लगाना चाहिए. इससे चेहरा ही खराब होता है. ये बात अलग है कि इस तरह के प्रोडेक्ट को लाइसेंस तो दे दिया जाता है. पर कोई जांच नहीं होती है.’

untitled-design-1_070919043216.jpg

वहीं, काया क्लीनिक की डॉक्टर हेमा पंत से बात की. उन्होंने बताया

‘इस तरह क्रीम को लाइसेंस मिलता है, तभी तो ये उसका प्रचार करते ही हैं. पर लोगों को ये समझना चाहिए कि क्रीम लगाने से उनके पिम्पल्स या दाग-धब्बे नहीं जाएंगे, क्योंकि वो हॉर्मोनल इम्बैलेंस या फिर आपकी गलत डाइट की वजह से होते हैं. लोग उन पर ध्यान नहीं देते हैं. बल्कि इस तरह के प्रोडेक्ट का इस्तेमाल करने लगते हैं. जो नहीं करना चाहिए, एक बार डॉक्टर सी सलाह जरूर लेनी चाहिए.’

तो आप भी समझ गई होंगी, कि क्रीम आप पर क्यों असर नहीं कर रही थी, और अगर कर भी रही थी, तो उसे बंद करने पर दोबारा क्यों हो रही थी. इसलिए आगे से बिना डॉक्टरी सलाह से कोई क्रीम न इस्तेमाल करें. और करें तो पहले उसको अच्छे सा जांच-परख लें.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

एक लाख रुपए दहेज के लिए पत्नी और तीन महीने की बेटी को जिंदा जलाया

कमाई बचाकर मायके वालों ने मोटरसाइकल दी, पर ससुराल पक्ष खुश नहीं था.

शहीद की नाबालिग बेटी का दो साल तक रेप करने वाला, पुलिसवाला है

वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रहा था.

विधवा औरत को एक आदमी से प्यार हो गया, लोगों ने दोनों को पीटा, बाल काटे, पेशाब पिलाई

लोगों के मुताबिक ये रिलेशन 'अवैध' है. कमाल है.

पाकिस्तान: मेडिकल कॉलेज में मिली हिंदू लड़की की लाश, सुसाइड नहीं, हत्या है

शोएब अख्तर भी इंसाफ की लड़ाई में कूद चुके हैं.

तलाकशुदा औरत से दोस्ती की, विश्वास जीता, फिर दोस्त के साथ मिलकर उसका रेप कर दिया

औरत एक बच्ची की मां है.

दिल्ली के मशहूर इंद्रप्रस्थ पार्क में लड़की का गैंगरेप हुआ, उसे बिना कपड़ों के फेंक दिया

मॉर्निंग वॉक के लिए गए लोग तो लड़की दिखी, 'भैया मुझे छोड़ दो' की रट लगा रही थी.

हैदराबाद का ये कॉलेज पढ़ाई के बजाय लड़कियों को जांघों का आकार छुपाना सिखा रहा है

कपड़े लंबे होंगे तो अच्छे रिश्ते आएंगे, पढ़ाई तो फिर कभी होती रहेगी.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम से बचाई गई लड़की का चलती गाड़ी में गैंगरेप

ये वही शेल्टर होम है जहां 34 बच्चियों का यौन शोषण हुआ था.

मंदिर में लड़कियों का यौन शोषण करने वाले प्रफेसर को BHU ने वापस बुलाया और फिर बवाल हो गया

इतना बवाल कि लड़के यूनिवर्सिटी के गेट पर धरना दे रहे हैं.

गैंगरेप के बाद इतना डरी कि आधा किलोमीटर बिना कपड़ों के भागती रही

राजस्थान के भीलवाड़ा की घटना. लड़की 15 साल की है.