Submit your post

Follow Us

दाग धब्बे हटाने का दावा करती क्रीम में इस्तेमाल होने वाले केमिकल की असलियत

5
शेयर्स

चेहरे पर ढेर सारे दाने निकल आएं, तो गुस्सा आता है. मन में आता है कि ऐसा क्या करें, ऐसा क्या लगा लें, कि एक ही दिन में सारे दाने ठीक हो जाए. और चेहरा पहले की तरह बिलकुल साफ हो जाए.

मैंने भी ठीक ऐसा ही सोचा. कई नुस्खे अपनाए. पर कोई असर नहीं हुआ. फिर मैंने टीवी और न्यूजपेपर में ऐड देखा. वो ऐड था एक क्रीम का, जो कुछ दिनों में ही चेहरे के दाग-धब्बे हटाने का दावा कर रही थी. पहले मुझे सही नहीं लगा, पर एक-दो दोस्तों ने बोला कि ये क्रीम लगाओ, वो क्रीम लगाकर देखो. तुम्हें असर होगा.

मैंने क्रीम खरीदकर लगाई भी. पर खाक फर्क हुआ, उल्टा और दाने निकल आए. वो क्रीम आज भी वैसे ही रखी हुई है.

जो मेरे साथ हुआ, वो कइयों के साथ होता होगा. कि देखा-देखी में हम प्रोडक्ट तो इस्तेमाल कर लेते हैं. पर वो हमारी स्किन पर कितना सही है, कितना नहीं. ये नहीं सोचते. खैर. आपने कभी सोचा कि ये क्रीम असर करने का दावा करती हैं, पर असलियत में होता कुछ नहीं है. ऐसा क्यों है?

इसी बात की जानकारी के लिए हमने अमेर्टिस हॉस्पिटल के डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. सचिन धवन से बात की.

उन्होंने बताया:

‘इस तरह की क्रीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. क्योंकि इसमें हाइड्रोक्योनोन और स्टेरॉयड पाया जाता है. हाइड्रोक्योनोन एक ब्लीचिंग एजेंट होता है, जिससे एक बार तो काफी अच्छा लगता है, स्किन साफ होने लगती है. दाने गायब होने लगते हैं. पर कुछ समय बाद स्किन खराब हो जाती है. वहीं, स्टेरॉयड से हमारी स्किन पतली हो जाती है. ये दोनों ही केमिकल हैं, जो हर क्रीम में पाए जाते हैं, चाहे वो क्रीम कितना भी हर्बल होने का दावा कर ले. इसीलिए क्रीम को लगाना बंद करते ही दोबारा बुरी तरह से दाने-धब्बे होने लगते हैं. वैसे भी इस तरह को तीन महीने से ज्यादा नहीं लगाना चाहिए. इससे चेहरा ही खराब होता है. ये बात अलग है कि इस तरह के प्रोडेक्ट को लाइसेंस तो दे दिया जाता है. पर कोई जांच नहीं होती है.’

untitled-design-1_070919043216.jpg

वहीं, काया क्लीनिक की डॉक्टर हेमा पंत से बात की. उन्होंने बताया

‘इस तरह क्रीम को लाइसेंस मिलता है, तभी तो ये उसका प्रचार करते ही हैं. पर लोगों को ये समझना चाहिए कि क्रीम लगाने से उनके पिम्पल्स या दाग-धब्बे नहीं जाएंगे, क्योंकि वो हॉर्मोनल इम्बैलेंस या फिर आपकी गलत डाइट की वजह से होते हैं. लोग उन पर ध्यान नहीं देते हैं. बल्कि इस तरह के प्रोडेक्ट का इस्तेमाल करने लगते हैं. जो नहीं करना चाहिए, एक बार डॉक्टर सी सलाह जरूर लेनी चाहिए.’

तो आप भी समझ गई होंगी, कि क्रीम आप पर क्यों असर नहीं कर रही थी, और अगर कर भी रही थी, तो उसे बंद करने पर दोबारा क्यों हो रही थी. इसलिए आगे से बिना डॉक्टरी सलाह से कोई क्रीम न इस्तेमाल करें. और करें तो पहले उसको अच्छे सा जांच-परख लें.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

अंग्रेजी कमजोर थी, इसलिए कॉलेज स्टूडेंट ने सुसाइड कर लिया

स्कूल की पढ़ाई हिंदी में की थी. कॉलेज अंग्रेजी में कर रही थी.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में बच्चियों से बलात्कार केस का फैसला टल गया है

वकीलों की हड़ताल की वजह से फैसले में देरी होगी.

रेप के बाद नाबालिग मां बन गई, पंचायत ने बच्चे को 20 हजार में बेचने का फरमान सुना दिया!

पहली बार टीचर ने, फिर बिजली बनाने वाले रेप किया था.

अस्पताल के टॉयलेट में इस महिला ने जो किया जान लेंगे तो आपको स्कूल याद आ जाएगा

पुलिसवाले टॉर्च लेकर उसे ढूंढ़ रहे हैं.

बर्फीली नदी में डूब रहा था, लोग बचाने गए तो पता चला लाश के टुकड़े ठिकाने लगा रहा था

मगर ये कुछ भी नहीं था, पूरी कहानी अभी बाकी थी.

81 साल की बुजुर्ग महिला के मुंह पर कालिख पोती, नंगे पांव पूरे गांव में घसीटा

जूतों की माला पहनाई.

परीक्षा देने शहर आई लड़की के साथ उसी के भाई ने होटल में रेप किया

अगले दिन परीक्षा थी. कज़िन ने ख़ुद लड़की से कहा, रात को मेरे साथ ही होटल में रुक जाओ.

पाकिस्तान में हिंदू लड़की की मौत की गुत्थी सुलझी, हत्या से पहले उसका रेप हुआ था

पुलिस को जिस बात की आशंका थी, वही हुआ.

घर पर अकेला पाकर अपनी ही बेटी को गलत तरह से छूता था पिता, मां ने भी विश्वास नहीं किया

बच्ची खुद समझदार न होती, तो ये जाने कबतक चलता.

कैफे के वॉशरूम में लड़की ने छिपा कैमरा देखा, शिकायत की तो सिर चकराने वाला जवाब मिला

कैफे के मैनेजर कुछ और ही बात कह रहे हैं.