Submit your post

Follow Us

कांग्रेस छोड़ने वाली अदिति सिंह से लेकर मनीषा अनुरागी तक BJP ने किन महिलाओं को टिकट दिया?

देश के सात राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा अब तक 192 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है. बीते 21 जनवरी को भाजपा ने अपने उम्मीदवारों की दूसरी सूची निकाली. पार्टी ने पहली सूची में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सहित 107 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी.

अब इस दूसरी सूची में भाजपा ने 85 उम्मीदवारों का नाम शामिल किया है. इनमें महिला उम्मीदवारों की संख्या 16 है.

भाजपा की चुनावी उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट में महिलाएं 

# रायबरेली से अदिति सिंह – भाजपा के उम्मीदवारों की सूची में महिलाओं में सबसे चर्चित नाम अदिति सिंह का है. अदिति सिंह ने 2017 के चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर चुनाव जीता था. अदिति हाल ही में बीजेपी में शामिल हुई हैं.

हाथरस से अंजुला माहोर – अंजुला माहोर पूर्व मेयर हैं.  लंबे वक्त से बीजेपी से जुड़ी हुई हैं.

# तिलहर से सलोना कुशवाह  – पहले सपा में थीं, पार्टी ने उन्हें शाहजहांपुर सीट के लिए टिकट दिया था. सलोना लंबे वक्त से तिलहर सीट के लिए तैयारियां कर रही थीं. तिलहर से टिकट न मिलने पर वो बीजेपी में शामिल हो गईं. अब बीजेपी ने उन्हें तिलहर से टिकट दिया है.

# श्री नगर (अजा) से मंजू त्यागी – मंजू त्यागी फिलहाल इसी सीट से विधायक हैं. बीजेपी ने दोबारा उन पर भरोसा जताया है.

mla aditi singh
अदिति सिंह हाल ही में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुई हैं.

# महमूदाबाद से आशा मौर्य – इन्होंने 2017 में महमूदाबाद से विधानसभा का चुनाव लड़ा था, लेकिन जीत नहीं पाई हैं. बीजेपी ने दोबारा उन्हें इसी सीट से टिकट दिया है.

# शाहाबाद से रजनी तिवारी – रजनी तिवारी साल 2008 से लगातार विधायक हैं. साल 2008 में उनके पति उपेंद्र तिवारी की मौत के बाद बिलग्राम सीट खाली हुई, तब रजनी ने उपचुनाव जीता था. 2012 में उन्होंने सवायजपुर सीट पर जीत दर्ज किया. साल 2017 में रजनी BSP छोड़कर बीजेपी में शामिल हुईं. 2017 में उन्होंने शाहाबाद से चुनाव जीता और इस बार फिर बीजेपी ने उन्हें शाहाबाद से टिकट दिया है.

# सण्डीला से अलका अर्कवंशी – अलका पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ेंगी.

# छिबरामऊ से अर्चना पांडे – अर्चना पांडे योगी सरकार में माइनिंग और एक्साइज़ मंत्री हैं. वो 2012 से छिबरामऊ सीट पर चुनाव लड़ रही हैं, 2012 में ये सीट सपा के खाते में गई थी. हालांकि, 2017 में अर्चना पांडे ने इस सीट पर जीत हासिल की.

# इटावा से सरिता भदौरिया – सरिता साल 2000 से बीजेपी से जुड़ी हैं. वो महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष, पार्टी के प्रदेश यूनिट की उपाध्यक्ष और सचिव रह चुकी हैं. इटावा से विधायक हैं और महिला बाल विकास संयुक्त समिति की अध्यक्ष हैं.

Bjp 1 Sixteen Nine Sixteen Nine

 

# बिधूना से रिया शाक्य – रिया शक्य को बिधूना सीट से टिकट मिली है. उम्मीदवारों की लिस्ट में रिया का नाम इसलिए भी चर्चित है क्योंकि इस सीट से रिया के पिता विनय शाक्य बीजेपी से विधायक हैं.   लेकिन उन्होंने हाल ही में समाजवादी पार्टी जॉइन कर ली. उत्तर प्रदेश की यह ऐसी सीट होगी जहां पिता और बेटी आमने-सामने होंगे.

# अकबरपुर रनिया से प्रतिभा शुक्ला – 2007 में बसपा की टिकट पर चौबेपुर से विधायक बनी थीं. 2017 में अकबरपुर-रनिया से बीजेपी विधायक बनीं. बीजेपी ने उन्हें दोबारा टिकट दिया है.

# राठ से मनीषा अनुरागी – एमफिल डिग्रीधारी हैं. साल 2012 में उन्होंने राठ नगर पालिका अध्यक्ष का चुनाव निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ा और जीत हासिल की, राठ में उनकी पॉपुलैरिटी देखते हुए 2017 में बीजेपी ने उन्हें विधायकी का टिकट दिया. मनीषा ने जीत दर्ज की. इस बार फिर बीजेपी ने उन्हें राठ से टिकट दिया है.

# नरैनी से ओममनी वर्मा – नरैनी से नगर पंचायत अध्यक्ष रह चुकी हैं. इस बार वह नरैनी से विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगी.

# खागा से कृष्णा पासवान – कृष्णा पासवान 2002 से 2007 के बीच किशुनपुर से विधायक रहीं. इसके बाद साल 2012 और साल 2017 में वो खागा से विधायक बनी हैं. इस बार भी बीजेपी ने उन्हें खागा से उतारा है.

# कल्याणपुर से नीलिमा कटीयार – नीलिमा कटियार वर्तमान में योगी सरकार में मंत्री हैं. 2017 में उन्होंने कल्याणपुर से चुनाव जीता था.

इसके पहले जारी की गई उम्मीदवारों की लिस्ट में भाजपा ने 107 सीटों में से 10 महिला उम्मीदवारों को सीट दी थी.  भाजपा की तरफ़ से जारी दोनों लिस्ट्स को मिलाकर 192 सीटों पर बीजेपी ने उम्मीदवारों की घोषणा की है. इनमें केवल 26 महिलाएं हैं यानी करीब 13 प्रतिशत. दूसरी तरफ कांग्रेस यूपी चुनाव के लिए कुल 166 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की है, इनमें से 66 यानी 40 प्रतिशत उम्मीदवार महिलाएं हैं.


UP चुनाव: योगी के खिलाफ चंद्रशेखर आजाद के चुनाव लड़ने की असली वजह क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

श्वेता सिंह गौर की बेटी बोली- पापा ने कहा था, स्कूल से लौटोगी तो मां मरी मिलेगी

श्वेता सिंह गौर की बेटी बोली- पापा ने कहा था, स्कूल से लौटोगी तो मां मरी मिलेगी

पुलिस ने 29 अप्रैल को श्वेता के पति दीपक को गिरफ्तार किया है. श्वेता की मौत के बाद से ही दीपक फरार चल रहे थे.

रूसी सैनिक ने नाबालिग को रेप से पहले धमकाया- मेरे साथ सोओ नहीं तो 20 और ले आऊंगा

रूसी सैनिक ने नाबालिग को रेप से पहले धमकाया- मेरे साथ सोओ नहीं तो 20 और ले आऊंगा

विक्टिम 16 साल की है और घटना के वक्त छह महीने की प्रेग्नेंट थी.

UP: BJP की जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह गौर की मौत, घर पर मिला शव, पति फरार

UP: BJP की जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह गौर की मौत, घर पर मिला शव, पति फरार

मौत से कुछ घंटे पहले फेसबुक पोस्ट में खुद को बताया था घायल शेरनी.

राजस्थानः लिफ्ट देने के बहाने महिला को कार में बैठाया, फिर रेप और मर्डर के बाद कुएं में फेंकने का आरोप

राजस्थानः लिफ्ट देने के बहाने महिला को कार में बैठाया, फिर रेप और मर्डर के बाद कुएं में फेंकने का आरोप

कार की नंबर प्लेट से हुई आरोपी की पहचान.

पेरू की सरकार ऐसा बिल ले आई कि रेपिस्ट को नपुंसक बना दिया जाएगा

पेरू की सरकार ऐसा बिल ले आई कि रेपिस्ट को नपुंसक बना दिया जाएगा

तीन साल की बच्ची का रेप हुआ, लोग इतने नाराज़ हुए कि सरकार को इतना बड़ा कदम उठाना पड़ा.

13 साल की लड़की का इतनी बार गैंगरेप हुआ कि पुलिस ने 80 लोगों को आरोपी बनाया

13 साल की लड़की का इतनी बार गैंगरेप हुआ कि पुलिस ने 80 लोगों को आरोपी बनाया

कोरोना से मां की मौत हुई, विक्टिम को अस्पताल से उठा ले गई औरत.

शक था कि पत्नी पॉर्न एक्ट्रेस है, बच्चों के सामने दिल दहलाने वाली क्रूरता की

शक था कि पत्नी पॉर्न एक्ट्रेस है, बच्चों के सामने दिल दहलाने वाली क्रूरता की

कर्नाटक के बेंगलुरु की घटना.

'तुम तलाकशुदा, मेरी बीवी के ब्रेस्ट्स नहीं, हम दोनों एक-दूसरे के काम आ जाएंगे'

'तुम तलाकशुदा, मेरी बीवी के ब्रेस्ट्स नहीं, हम दोनों एक-दूसरे के काम आ जाएंगे'

हॉस्टल वॉर्डन का आरोप, प्रिंसिपल सेक्स करने का दबाव बना रहा था.

उस शाम नदिया रेप पीड़िता के साथ क्या हुआ था? जमीनी हकीकत आई सामने

उस शाम नदिया रेप पीड़िता के साथ क्या हुआ था? जमीनी हकीकत आई सामने

इस मामले को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार सवालों के घेरे में है.

पत्नी जेल अधिकारी, पति ने कैदियों से मिलाने के बहाने महिला का यौन शोषण किया?

पत्नी जेल अधिकारी, पति ने कैदियों से मिलाने के बहाने महिला का यौन शोषण किया?

यूपी के बाराबंकी का मामला, घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है.