Submit your post

Follow Us

अस्पताल के कर्मचारियों पर आरोप- डिलीवरी के बाद महिला का यौन शोषण किया

ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क का शारदा अस्पताल. प्राइवेट अस्पताल है. 6 मई के दिन यहां एक कोरोना पॉजिटिव महिला का यौन शोषण करने की कोशिश हुई. आरोप लगा अस्पताल में काम कर रहे निंबस के दो कर्मचारियों पर.

क्या है पूरा मामला?

शारदा अस्पताल में 20 साल की एक महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई. 12 दिन पहले ही उसने एक बच्चे को जन्म दिया था. महिला के दूध का भी टेस्ट होना था. इसके लिए उसे अपना दूध निकालना था. तभी निंबस के दो कर्मचारियों ने महिला पर दबाव बनाया कि वो उन्हें दूध निकालने दें.

पत्रकार प्रवीण सिंह ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी. मामला पुलिस तक पहुंचा, तो कार्रवाई हुई. ‘दी लल्लनटॉप’ ने नॉलेज पार्क के SHO से बात की. उन्होंने बताया कि दोनों कर्मचारियों की गिरफ्तारी हो गई है. हालांकि कड़ी पूछताछ के बाद भी दोनों ने अपने ऊपर लगे आरोपों को स्वीकार नहीं किया है.

पुलिस ने बताया कि चूंकि शारदा अस्पताल COVID-19 का अस्पताल नहीं है, इसलिए उनके पास कर्मचारी भी उस हिसाब से हैं नहीं. यही वजह थी कि उन्होंने थर्ड पार्टी, यानी निंबस कंपनी के कर्मचारियों को भर्ती किया था. जिनकी गिरफ्तारी हुई है, उनमें से एक सफाई कर्मचारी है और दूसरा हाउसकीपिंग स्टाफ का मेंबर है.


वीडियो देखें: मुंबई में एक मरीज़ ने डॉक्टर पर यौन शोषण का आरोप लगाया, लेकिन गिरफ्तारी नहीं हुई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

लगातार दो प्रेग्नेंट औरतों की मौत के बाद प्रशासन की आंख खुली, अब प्लान बना रहे हैं

कश्मीर में डॉक्टरों पर लापरवाही के आरोप लगाए गए.

इंडिया की लड़कियों का पहला पॉप बैंड 18 साल बाद वापस आ गया है

दो एल्बम आए और बैंड बंद हो गया था.

अमेरिका की महिलाओं ने यह लड़ाई जीत ली तो पूरी दुनिया में मिसाल बनेगी

और मिसाल भुलाई नहीं जाती, दी जाती है.

कुछ बातें रामगोपाल वर्मा के लिए, लड़कियों को शराब खरीदते देख जिनकी अक्ल पथरा गई

क्या शराब खरीदने की लाइन में लगी लड़कियों को पीटा जाना चाहिए?

COVID-19 से लड़ने के लिए भारतीय महिला हॉकी टीम ने किया खूबसूरत 'सौदा'

कोरोना से जंग के लिए टीम इंडिया ने बटोरे 20 लाख रुपये.

तिहाड़ में बंद प्रेगनेंट जामिया स्टूडेंट सफ़ूरा के जिस बच्चे को 'नाजायज़' कह रहे हैं, उसका सच

सफ़ूरा ज़रगर दिल्ली में दंगे भड़काने के आरोप में जेल में बंद हैं.

तार में फोन बांधकर वीडियो बनाती हैं, लाखों में हैं इनके फॉलोवर्स

ममता वर्मा की कहानी, जिन्होंने अपनी बेटी के लिए टिकटॉक डाउनलोड किया था.

इंटरनेट पर चल रहे हर तरह के चैलेंज के बीच ये एक बेहद सुंदर वीडियो सामने आया है

और एक ऐसे मुद्दे के साथ, जिस पर बात करना बेहद ज़रूरी है.

इन विदेशी लड़कियों को हिंदी बोलते सुन लेंगे तो अपनी भूल जाएंगे

करोड़ों लोग देखते हैं इन्हें.

टिकटॉक पर वायरल चैलेंज करने के चक्कर में ये टीवी स्टार बुरे फंस गए

लोग कह रहे हैं कि घरेलू हिंसा को बढ़ावा दे रहा है उनका वीडियो.