Submit your post

Follow Us

गार्गी कॉलेज में यौन शोषण की शिकायत करने वाली लड़कियां पीछे क्यों हटीं?

फरवरी के महीने में दिल्ली यूनिवर्सिटी के गार्गी कॉलेज में फेस्ट हुआ. इसके दौरान हुई हिंसा और यौन शोषण के मामलों में जिन लड़कियों ने शिकायत दर्ज कराई थी, वो कथित रूप से अपनी शिकायत वापस ले रही हैं. हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़ कुछ लड़कियों ने अपने बयान भी दर्ज नहीं कराए हैं.

एक फाइनल ईयर स्टूडेंट ने ने बताया,

‘कई छात्राओं ने यौन शोषण को लेकर दिए गए अपने बयान वापस लिए हैं, अलग अलग वजहों से. जैसे मुझे बार बार फ्लाईट पकड़ कर आना पड़ेगा इस केस की सुनवाई के लिए. ये सब सोच कर मैं कानूनी रास्ता नहीं अपनाना चाहती. हमारे भविष्य की बात आती है, तो हमारे पास खोने को बहुत कुछ है. इस बारे में बार बार बात करना मेरे लिए मुश्किल है. उन्हें (कॉलेज वालों) को सुरक्षा में हुई इस चूक के लिए किसी को तो ज़िम्मेदार मानना ही होगा.

कॉलेज ने इस मामले की जांच के लिए फैक्ट फाइंडिंग कमिटी भी बनाई है. इसकी रिपोर्ट इस हफ्ते के अंत तक आएगी.

Gargi College Web700x400
आरोप लगाए गए थे कि गार्गी कॉलेज के मैनेजमेंट ने ढंग से तैयारी नहीं की, जिसकी वजह से इतने सारे लोग बिना आईडी कार्ड के अन्दर घुस आए.

गार्गी की ही एक स्टूडेंट्स के मुताबिक,

‘जो भी हो रहा है उसे लेकर छात्राएं काफी घबराई हुई हैं. हम इस रिपोर्ट को उच्चाधिकारियों तक पहुंचाना चाहते हैं ताकि इस तरह की घटनाएं दुबारा न हों.

कॉलेज की प्रिंसिपल प्रोमिला कुमार ने कहा,

पुलिस अपनी खोजबीन कर रही है और कॉलेज के स्तर पर जो भी किया जाना चाहिए, हम वो सब कुछ कर रहे हैं. जैसे कि हमने स्टूडेंट्स की काउंसलिंग का इंतजाम किया है, वर्कशॉप्स कराई हैं. इंटरनल कम्प्लेंट्स कमिटी के चुनाव भी करवाए हैं.’

वहीं पुलिस कह रही है कि उसने छात्राओं को आगे बढ़कर डीटेल्स उपलब्ध कराने के लिए कहा है. इससे जांच में मदद मिलेगी. जिस सिक्योरिटी एजेंसी की जिम्मेदारी थी उस दिन एंट्री और भीड़ को मैनेज करने की, उसके लाइसेंस को कैंसल कराने के लिए भी हमने लाइसेंसिंग डिपार्टमेंट से बात की है.

Gargi Pti 2
गार्गी कॉलेज में दस फरवरी को छात्राओं ने रैली निकाली. उनकी मांग थी कि जो बाहरी लोग घुस आए थे, उनकी पहचान कर उन्हें सज़ा दी जाए. (तस्वीर: PTI)

मामला क्या है?

पिछली फरवरी की 6 तारीख को गार्गी कॉलेज के एनुअल फेस्ट ‘रेवरी’ में कुछ लोग घुस आए थे. कॉलेज की छात्रों ने आरोप लगाया कि इन लोगों ने उनके साथ यौन हिंसा की, भद्दे इशारे किये, और गंदी बातें बोलीं. इसके बाद 10 फरवरी को छात्राओं ने रैली निकाली. मामले की जांच की मांग की. FIR दर्ज हुई, और कॉलेज ने एक फैक्ट फाइंडिंग कमिटी भी बनाई.

पुलिस ने इस मामले में CCTV फुटेज के आधार पर 100 से ज्यादा लोगों को चिह्नित किया है. इनमें से दस लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. मामला हौज़ ख़ास पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ था. 11 टीमें इस केस पर लगी हुई थीं.


वीडियो: दोषियों को फांसी पर लटकते देखना चाहती हैं निर्भया की मां, जानिए नियम क्या कहता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

महिला दिवस पर इन सात महिलाओं ने चलाए पीएम मोदी के सोशल मीडिया अकाउंट

कोई बम धमाकों में बचीं तो कोई भूखों को खिलाती हैं खाना.

जानिए उन 16 महिलाओं की कहानी जिन्हें सरकार ने नारी शक्ति पुरस्कार दिया है

किसी को 'लेडी टार्जन' तो किसी को 'चंडीगढ़ का चमत्कार' कहा जाता है.

'दुनिया की बेस्ट मम्मी' का खिताब पाने वाले ये पापा कौन हैं?

आदित्य तिवारी की कहानी, जिन्होंने डाउन सिंड्रोम वाले बच्चे को गोद लेकर इतिहास रच दिया.

वो राजकुमारी जिनकी वजह से AIIMS में हम और आप अपना इलाज करवा पाते हैं

राजकुमारी अमृत कौर को Time मैगज़ीन ने 1947 के लिए वुमन ऑफ द ईयर चुना है.

कौन हैं नवनीत कौर राणा, वो सांसद जो लोकसभा में मास्क पहने दिखाई दीं?

इनके पति भी विधायक हैं.

रेलवे स्टेशन पर सामान ढोती इन महिलाओं की तस्वीर में दिक्कत क्या है?

रेल मंत्रालय ने ट्वीट कर इन तस्वीरों की तारीफ़ की है.

सत्ता में आने के बाद से अब तक PM मोदी महिला दिवस पर ये पांच चीज़ें कर चुके हैं

इस बार तो सोशल मीडिया अकाउंट महिलाओं को दे रहे हैं.

इस गाने में आलिया भट्ट, अनुष्का शर्मा, कटरीना कैफ़ सब हैं, लेकिन सबसे ख़ास बात ये है

'कुड़ी नू नचन दे' गाने में एक ऐसी चीज़ है, जो ज्यादातर गानों में नहीं मिलती.

इस बड़ी टीवी एक्ट्रेस ने बताया, 16 साल की उम्र में कास्टिंग काउच का कैसे किया सामना

मां से इंडस्ट्री छोड़ने की बात कही थी.

बरसों अपनी पर्सनल लाइफ पर चुप रहीं नीना गुप्ता ने अब बड़ी शॉकिंग बात कही है

#SachKahoonToh हैशटैग के सााथ नीना ने इंस्टाग्राम पर वीडियो मैसेज शेयर किया है.