Submit your post

Follow Us

'बॉयज़ लॉकर रूम' में नहीं हुई थी गैंगरेप प्लानिंग, लड़की ने लड़के की फेक ID बनाकर ये बात की थी

इंस्टाग्राम ग्रुप ‘बॉयज़ लॉकर रूम‘. बीते दिनों इस ग्रुप की चैट के कुछ स्क्रीनशॉट्स काफी वायरल हुए थे. इनमें एक ऐसा स्क्रीनशॉट भी था, जिसमें दो लोगों के बीच एक लड़की के गैंगरेप की प्लानिंग पर बात होती दिखी थी. दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम टीम इन सभी स्क्रीनशॉट्स और ‘बॉयज़ लॉकर रूम’ मामले में जांच कर रही है. अभी तक हुई छानबीन में पता चला है कि गैंगरेप की प्लानिंग वाली बात, इस ग्रुप (बॉयज़ लॉकर रूम) की थी ही नहीं. यानी जो गैंगरेप की प्लानिंग वाला स्क्रीनशॉट ‘बॉयज़ लॉकर रूम’ की चैट के नाम से वायरल हुआ था, वो चैट असल में इस ग्रुप में हुई ही नहीं. वो स्क्रीनशॉट स्नैपचैट का था.

‘इंडिया टुडे’ से जुड़े अरविंद कुमार ओझा ने बताया कि जांच में ये पता चला है कि एक नाबालिग लड़की ने फर्जी आईडी बनाकर एक लड़के से गैंगरेप वाली स्नैपचैट पर बात की थी. ये बातचीत मार्च के महीने की थी. केवल दो लोगों के बीच चैटिंग हुई थी. वो भी स्नैपचैट पर, इंस्टाग्राम पर नहीं.

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, DCP (साइबर सेल) अन्येश रॉय ने 10 मई को बताया,

‘जांच में पता चला है कि स्नैपचेट वाली बातचीत दो लोगों के बीच हुई थी. वो भी एक लड़की और एक लड़का. दोनों ही नाबालिग हैं. लड़की ने ‘सिद्धार्थ’ के नाम से फर्जी अकाउंट बनाया था. वो अपने दोस्त के कैरेक्टर के बारे में जानना चाहती थी. इसलिए उसने गैंगरेप की बात छेड़ी. लड़की ने लड़का बनकर खुद के गैंगरेप की बात की, हालांकि उसके दोस्त ने इस प्लानिंग के लिए उसे मना ही किया. लड़का और लड़की एक-दूसरे को पहले से जानते थे.’

Bois Locker Room 3
bois locker room ग्रुप की चैट्स के कुछ स्क्रीनशॉट्स. लड़कियों की पहचान छिपाने के लिए उनकी तस्वीर हमने छिपा दी है. ज्यादातर लड़कियां 18 साल से कम उम्र की हैं. लाल घेरे में देखिए ‘बॉयज़ लॉकर रूम’ ग्रुप का नाम. फोटो- ट्विटर/इंस्टाग्राम.

DCP रॉय ने बताया कि ‘सिद्धार्थ’ ने जब गैंगरेप की बात कही, तो लड़के ने उसका स्क्रीनशॉट ले लिया. फिर उसे अपने कुछ दोस्तों को भेज दिया, उस लड़की को भी भेजा, जो सिद्धार्थ बनकर बात कर रही थी. लड़की ने तो इस पर रिपोर्ट नहीं की, लेकिन एक और आदमी, जिसे लड़के ने स्क्रीनशॉट भेजा था, उसने उसे इंस्टाग्राम स्टोरी पर लगा लिया. वहीं से ये वायरल हो गया. ‘बॉयज़ लॉकर रूम’ वाले स्क्रीनशॉट जब सामने आए, तो ये स्क्रीनशॉट भी इस ग्रुप के हिस्से के नाम पर वायरल हो गया.

पुलिस के मुताबिक, लड़का और लड़की से बात की गई. लड़की ने कुबूल किया कि उसी ने सिद्धार्थ बनकर बात की थी. दोनों नाबालिग हैं, इसलिए उनके खिलाफ केस दर्ज नहीं किया गया.

एक और बात, भले ही गैंगरेप वाली बात ‘बॉयज़ लॉकर रूम’ की नहीं थी, लेकिन इस ग्रुप में कुछ और बातें हुईं थीं जो आपत्तिजनक थीं और जिनकी अभी जांच चल रही है. पुलिस ने ग्रुप एडमिन को गिरफ्तार कर लिया है. एक 15 साल के लड़के को भी पकड़ा है और 22-24 लड़कों की पहचान की है. DCP रॉय का कहना है कि सारी टेक्निकल डिटेल इकट्ठा की जा रही हैं. जांच के दौरान जो इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को सीज़ किया गया था, उन्हें फॉरेंसिक एनालिसिस के लिए भेज दिया गया है.


वीडियो देखें: ‘बॉयज़ लॉकर रूम’ मामले में दिल्ली पुलिस ने 23 लड़कों की पहचान कर FIR दर्ज की

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

नर्स को लगा कि उन्हें अपेंडिक्स का दर्द है, पर बाद में जो हुआ, उससे खुशी से झूम उठीं

दुनियाभर में ऐसा तो कभी-कभी ही होता है.

मदर्स डे: मिलिए दुनिया की सबसे 'लीचड़', 'घटिया', 'कपटी' मांओं से

और जानिए कि वो ऐसी कैसे बन गईं.

पैदल ही जोधपुर से कठुआ जा रहे मज़दूरों के लिए इस महिला जज ने बड़ा नेक काम किया

12 प्रवासी मज़दूर पैदल ही घर के लिए निकल पड़े थे.

फिरोज़ाबाद: डॉक्टरों की लापरवाही के चलते महिला ने सड़क के किनारे बच्चे को जन्म दिया!

डिलीवरी के लिए आई महिला को सिर्फ दवा देकर भेज दिया था.

परिवार के लिए छह नक्सलियों से अकेले भिड़ गई, एक कमांडर को मार डाला

अब पुलिस ने इनाम दिया है.

पति की खराब परफॉर्मेंस के लिए पत्नी को टारगेट करने वालों पर क्या बोलीं सानिया मिर्ज़ा?

इस पर तो अनुष्का भी सानिया से सहमत हैं.

बॉयज़ लॉकर रूम में फैली सड़ांध के ज़िम्मेदार टीचर भी हैं

पेरेंट्स के साथ-साथ टीचरों की भी क्लास लगाई जानी चाहिए.

सानिया मिर्ज़ा ने बताया स्पोर्ट्स में आगे क्यों नहीं आ पातीं भारतीय महिलाएं

अभी बाकी है बहुत सारा काम.

गैंगरेप पर अपने सात साल पुराने ट्वीट को लेकर विवेक अग्निहोत्री ने अब क्या कहा है?

अपने एक जवाब में थ्री इडियट्स, कथित 'अर्बन नक्सल' और देवदत्त पटनायक, सबको लपेट लिया.

सफ़ूरा की प्रेग्नेंसी पर इस पुलिस अधिकारी का पोस्ट क्यों अचानक वायरल होने लगा?

पोस्ट वायरल होने पर इंदौर की थाना इन्चार्ज ने क्या सफाई दी?