Submit your post

Follow Us

पीटने, रेप करने वाले सौतेले बाप की हत्या करने वाली लड़की रिहा

बीते शुक्रवार माने 25 जून की बात है. फ्रांस की एक अदालत एक हत्या के मामले में सुनवाई कर रही थी. एक महिला पर हत्या के आरोप थे, उसने गुनाह भी कुबूल कर लिया था. फिर भी कोर्ट संशय में था, इस पर विचार किया जा रहा था कि महिला को जेल भेजा जाए या नहीं. और अगर भेजा जाए भी तो कितने साल के लिए. अल्टिमेटली कोर्ट ने महिला को ऐसी सज़ा सुनाई कि उसे जेल जाना ही नहीं पड़ा. उसे बरी कर दिया गया. और जब वो कोर्ट से बाहर निकली तो लोगों ने तालियां बजाकर उसका स्वागत किया. इस महिला ने अपने ही पति की हत्या की थी, लेकिन फिर भी लोग उसे बचाना चाह रहे थे, और उसके रिहा होने पर खुश भी थे, कोर्ट ने भी इस महिला के हक में ही फैसला सुनाया. ऐसा क्यों हुआ? क्या है इस महिला की कहानी? सब बताएंगे एक-एक करके.

क्या है पूरी कहानी?

जिस महिला की हमने बात की, उसका नाम है वैलेरी बेकू (Valerie Bacot). 40 साल की है. 2016 में उन्होंने अपने पति डेनियल पोलेट (Daniel Polette)की हत्या कर दी थी. डेनियल पहले वैलेरी का स्टेपफादर था, माने सौतेला पिता था, फिर बाद में उसने वैलेरी से शादी ही कर ली थी. वो फिर डेनियल के हाथों करीब 25 साल तक घरेलू हिंसा का शिकार हुईं, उनका रेप किया गया, डेनियल ने उन्हें वेश्यावृत्ति में भी जबरन धकेल दिया. वैलेरी ने मानसिक, शारीरिक और भावनात्मक, हर तरह की पीड़ा को सहन किया. जब पानी सिर से ऊपर हो गया, तब उन्होंने 13 मार्च 2016 के दिन डेनियल की हत्या कर दी. 2017 में उन्हें गिरफ्तार किया गया. एक साल तक वो जेल में भी रही, 2018 में ज़मानत पर बाहर आ गई. 21 जून 2021 में वैलेरी के केस का ट्रायल शुरू हुआ, 25 जून को कोर्ट ने हत्या का दोषी ठहराते हुए चार साल की सज़ा सुनाई. लेकिन इनमें से तीन साल की सज़ा को ससपेंड कर दिया गया, बचा एक साल. वैलेरी पहले ही एक साल जेल में काट चुकी थीं, इसलिए उन्हें दोबारा जेल नहीं जाना पड़ा. और 25 जून को वो आज़ाद महिला की तरह कोर्ट से बाहर आईं. और तब उनका ज़ोरदार स्वागत हुआ.

Valerie Bacot 1 (1)
वैलेरी बेकू कोर्ट से बाहर आते हुए.

कोर्ट में किसने क्या कहा?

इस केस में दो पक्ष थे, पहला प्रोसिक्यूटर वाला पक्ष और दूसरा बचाव पक्ष. प्रोसिक्यूटर पक्ष के वकील मांग कर रहे थे कि वैलेरी को सज़ा दी जाए. उनका कहना था कि वैलेरी ने जो किया, वो सोचा-समझा था. इसलिए सज़ा मिले, भले ही उन्हें जेल ने भेजा जाए. वहीं बचाव पक्ष के वकील चाहते थे कि वैलेरी को निर्दोष करार दिया जाए. बचाव पक्ष का ये कहना था कि वैलेरी ने जब हत्या की थी, तब उनकी दिमागी हालत ऐसी नहीं थी कि वो कुछ सोच सकें. खैर, सभी दलीलों को सुनने के बाद कोर्ट ने दोषी करार तो दिया, लेकिन सज़ा ऐसी सुनाई कि वैलेरी को दोबारा जेल नहीं जाना पड़ा.

अब बताते हैं कि क्या है वैलेरी की कहानी. कुछ दिनों पहले उनकी एक किताब भी आई थी, जिसका टाइटल था- “Everyone Knew”. माने हर कोई जानता था. इस किताब में और कोर्ट में वैलेरी ने जो बताया, उसके मुताबिक, उनकी मां एल्कोहॉलिक थीं और पिता ज्यादा ख्याल नहीं रखते थे. ऐसे में जब वो 12 साल से छोटी थीं, तभी उनके माता-पिता का तलाक हो गया. इसके बाद उनकी मां की ज़िंदगी में डेनियल पोलेट आया. जो उम्र में वैलेरी से 25 साल बड़ा था. कुछ महीनों बाद ही वो वैलेरी का यौन शोषण करने लगा. जब वो 12 साल की थीं, तब पहली बार डेनियल ने उनका रेप किया. इसके बाद उसे ढाई से तीन साल की जेल हुई. सोचिए नाबालिग बच्ची से रेप के मामले में केवल ढाई साल की जेल.

जेल से आने के बाद फिर रेप का शिकार हुईं!

1995 में डेनियल जेल से बाहर आया और दोबारा वैलेरी और उनकी मां के साथ रहने लगा. अपनी किताब में इस घटना का ज़िक्र करते हुए वो लिखती हैं-

“किसी को भी ये नहीं खटका कि डेनियल वापस आकर हमारे साथ रहने लगा, जैसे कुछ हुआ ही न हो. सभी को सबकुछ पता था, लेकिन किसी ने कुछ नहीं कहा.”

कुछ दिन बाद डेनियल फिर से वैलेरी का रेप करने लगा. इस पर उनकी मां ने कहा था-

“मुझे तब तक कोई फर्क नहीं पड़ता, जब तक वो प्रेगनेंट नहीं होती”

रेप की इन्हीं घटनाओं के बीच 17 साल की उम्र में वैलेरी प्रेगनेंट हो गईं. मां ने घर से निकाल दिया. डेनियल ने एक फ्लैट में उन्हें पत्नी मानकर रखना शुरू किया. और साथ रहने लगा. इसके बाद तीन और बच्चे हुए वैलेरी को. इस दौरान डेनियल लगातार उन्हें टॉर्चर करता रहा. उन्हें किसी से बात करने की परमिशन नहीं थी, वो अकेले बाहर जा नहीं सकती थीं, अगर जाती भी थीं, तो डेनियल किसी न किसी तरीके से लगातार नज़र रखता था. डेनियल ने वैलेरी की नाक तोड़ दी थी, सिर पर हथौड़े से मारा था, लेस्बियन एनकाउंटर करने पर मजबूर किया, जिसे उसने रिकॉर्ड भी किया. एक तरह से डेनियल ने वैलेरी को अपना कैदी बनाकर रख लिया था.

Valerie Bacot 1 (2)
वैलेरी जब 12 साल की थीं तब पहली बार सौतेले पिता ने रेप किया था.

वेश्यावृत्ति में धकेला गया

साल 2002 आते-आते डेनियल ने वैलेरी को प्रोस्टिट्यूशन में जबरन धकेलने का फैसला किया. अपनी गाड़ी के पीछे गद्दे बिछवा दिए, यहीं पर वो वैलेरी से प्रोस्टिट्यूशन का काम करवाता था. साथ में एक पिस्टल भी रखता था, ताकि अगर क्लाइंट के साथ कुछ पंगा हो तो पिस्टल का इस्तेमाल किया जा सके. वैलेरी ने जब प्रोस्टिट्यूशन के लिए मना किया, तो उसने उसे भी गन दिखाकर डराया. एक बार की बात है, डेनियल ने वैलेरी के सिर पर गन रखकर ऐसा प्रिटेंड किया था कि ट्रिगर भी खींच दिया है, और कहा था- “अगली बार ये सच होगा”.

मार्च 2016 में एक क्लाइंट को लेकर वैलेरी और डेनियल के बीच झगड़ा हुआ, इस पर वैलेरी ने गाड़ी की सीट में दबी पिस्टल निकाली, जो डेनियल की ही थी, जिससे वो डराता था, फिर वैलेरी ने उसी गन से डेनियल को पीछे से सिर और गर्दन के पास गोली मारी. और डेनियल की मौत हो गई.

अपने दो बच्चों और उनके एक दोस्त के साथ वैलेरी ने शव को दफना दिया. लेकिन फिर 2017 में वो गिरफ्तार हो गई. उन्होंने अपना गुनाह भी कुबूल कर लिया था. हाल ही में हुए कोर्ट के ट्रायल के दौरान वैलेरी से पूछा गया कि उन्होंने पुलिस में शिकायत क्यों नहीं की थी, तब उन्होंने बताया कि पुलिस को डेनियल की हरकतों के बारे में शिकायत की गई थी, लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया था. उनके बच्चे पुलिस के पास गए थे, लेकिन कुछ एक्शन नहीं लिया गया. वैलेरी बताती हैं कि उन्हें इस बात का भी डर था कि कहीं डेनियल उनकी 14 साल की बेटी को भी जबरन प्रोस्टिट्यूशन में न डाल दे.

हालिया ट्रायल में डेनियल के परिवार वालों ने और पूर्व पार्टनर्स ने भी वैलेरी के पक्ष में गवाही दी. उसके लिए ‘मॉन्सटर’ शब्द का इस्तेमाल किया गया. उसकी बहन ने बताया कि जब वो 12 साल की थी, तब डेनियल ने उसका भी रेप किया था. धमकी दी थी कि वो चुप रहे नहीं तो मां और उसकी हत्या कर दी जाएगी. AP के मुताबिक, बहन ने कहा-

“दुनिया में अगर किसी व्यक्ति की मैं सबसे ज्यादा शुक्रगुज़ार हूं तो वो वैलेरी है, क्योंकि उन्होंने उसकी हत्या की. उन्होंने वो किया जो मुझे कई साल पहले कर देना चाहिए था.”

डेनियल की एक्स-वाइफ ने भी कहा-

“वो एक मॉन्सटर था, जिसे जीने का हक नहीं था.”

वैलेरी के केस की तरह ही एक और केस फ्रांस में पहले भी हुआ था. जिसे जेकलीन सुवाज केस नाम से जानते हैं. जेकलीन 47 साल तक अपनी शादी में अपने पति के हाथों घरेलू हिंसा का शिकार हुई थी. 2012 में उन्होंने पति की हत्या कर दी थी, 10 साल की सज़ा हुई थी, लेकन 2016 में उन्हें प्रेसिडेंशियल पार्डन दे दिया गया था.

हम नहीं कह रहे कि कानून को हाथ में लेना सही है, लेकिन वैलेरी के केस में हालात बहुत अलग थे. वो कैद थीं, कहीं जा नहीं सकती थीं, मारपीट, टॉर्चर का शिकार हो रही थीं, बच्चों ने पुलिस में शिकायत की, लेकिन कुछ हुआ नहीं, इसलिए मजबूरी में उन्हें हत्या करनी पड़ी. कई बार आप ऐसी स्थिति में होते हो जहां आप चाहकर भी कुछ कर नहीं पाते. वैलेरी ऐसे ही एक जाल में फंसी हुई थीं.


वीडियो देखें: शौचालय से लेकर शिक्षा तक इन दिक्कतों से जूझते हैं ट्रांसजेंडर्स

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

महिला नेताओं के काम से ज्यादा उनके कपड़े और डांस पर नज़र रखने वाले ये खबर पढ़ें

महिला नेताओं के काम से ज्यादा उनके कपड़े और डांस पर नज़र रखने वाले ये खबर पढ़ें

सोनाली फोगाट का विरोध करने के चक्कर में इतना नीचे मत गिरो.

मैच के बीच कोच की किस बात ने सिंधु को सेमीफाइनल में पहुंचाया?

मैच के बीच कोच की किस बात ने सिंधु को सेमीफाइनल में पहुंचाया?

यामागुची गेम पॉइंट पर थीं तो कोच ने सिंधु से कहा...!

सिमोन बाइल्सः जिसके जानबूझकर ओलंपिक गोल्ड छोड़ने का फैसला सुकून देता है

सिमोन बाइल्सः जिसके जानबूझकर ओलंपिक गोल्ड छोड़ने का फैसला सुकून देता है

बाइल्स के चैंपियन बनने की पूरी कहानी.

औरतों से जुड़े घटिया बयान पर लीपापोती के चक्कर में इमरान खान और फंस गए

औरतों से जुड़े घटिया बयान पर लीपापोती के चक्कर में इमरान खान और फंस गए

एक, दो, तीन बार तो हो गया, देखते हैं अगली बार क्या बोलते हैं पाकिस्तान के पीएम.

आखिरी राउंड तक मेरी कॉम ने लगाई जान, नतीजा क्या रहा?

आखिरी राउंड तक मेरी कॉम ने लगाई जान, नतीजा क्या रहा?

मुक्केबाज़ी की सबसे बड़ी उम्मीद का क्या हुआ?

खुद को ट्रांसजेंडर बताकर ओलंपिक्स में उतरे इस प्लेयर ने इतिहास रच दिया है

खुद को ट्रांसजेंडर बताकर ओलंपिक्स में उतरे इस प्लेयर ने इतिहास रच दिया है

क्विन ने 2020 में ऐलान किया था कि वो नॉन बाइनरी ट्रांसजेंडर हैं. यानी न वो पुरुष हैं और न ही महिला.

'किराए की कोख' पर बनी कृति सैनन की फ़िल्म 'मिमी' कितनी रियल है?

'किराए की कोख' पर बनी कृति सैनन की फ़िल्म 'मिमी' कितनी रियल है?

भारत में इस वक्त सरोगेसी का कितना पुराना कानून चल रहा है?

ओलंपिक्स में जिमनास्ट लड़कियों को छोटे कपड़े पहनना क्यों है जरूरी?

ओलंपिक्स में जिमनास्ट लड़कियों को छोटे कपड़े पहनना क्यों है जरूरी?

कभी छोटे स्कर्ट, तो कभी टाइट सूट के चलते महिला खिलाड़ी बनती रहीं निशाना.

शिल्पा शेट्टी थीं राज कुंद्रा की 'मैरिज ब्रेकर', ऐसा कहने वालों को होश में आने की ज़रूरत है

शिल्पा शेट्टी थीं राज कुंद्रा की 'मैरिज ब्रेकर', ऐसा कहने वालों को होश में आने की ज़रूरत है

किसी की शादी टूटने का ठीकरा हमेशा दूसरी पत्नी या गर्लफ्रेंड के सिर क्यों फोड़ा जाता है?

बच्चा गोद लेना चाहते हैं? तो ये राहत वाली खबर आपके लिए है

बच्चा गोद लेना चाहते हैं? तो ये राहत वाली खबर आपके लिए है

जुवेनाइल जस्टिस (केयर एंड प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन) अमेंडमेंट बिल लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी पास हो गया.