Submit your post

Follow Us

पत्नी का आरोप- जबरन सेक्स के चलते पैरालाइज़ हुई, कोर्ट बोला- सहानुभूति, पर पति की गलती नहीं

फोर्स्ट सेक्स और दहेज प्रताड़ना के एक मामले में महाराष्ट्र के एक सेशन कोर्ट ने आरोपी पति और ससुराल पक्ष के लोगों को एंटीसिपेटरी बेल दे दी है. महिला का आरोप है कि पति ने उसकी मर्ज़ी के खिलाफ उसके साथ जबरन संबंध बनाए, जिसकी वजह से उसका शरीर कमर के नीचे पैरालाइज़ हो गया है.  इस पर कोर्ट ने महिला के प्रति सहानुभूति तो जताई पर कहा कि इसके लिए पति ने कोई गलत काम नहीं किया.

पूरा मामला विस्तार से जानते हैं

इंडिया टुडे से जुड़ीं विद्या की रिपोर्ट के मुताबिक, मामला मुंबई का है. महिला की शादी 22 नवंबर, 2020 को हुई थी. महिला का आरोप है कि शादी के बाद से ही पति और ससुराल वाले उसके साथ बुरा व्यवहार करते थे. महिला का आरोप है कि ससुराल वाले उससे दहेज की मांग करते थे और उसके मायके वालों को बुरा-भला कहते थे.

महिला का आरोप है कि शादी के एक महीने बाद उसके पति ने उसकी मर्जी के खिलाफ उसके साथ सेक्स किया. इसके बाद 2 जनवरी, 2021 को जब दोनों महाबलेश्वर गए तब भी पति ने उसके साथ जबरदस्ती की. कुछ वक्त बाद महिला की तबीयत बिगड़ गई. उसने डॉक्टर को दिखाया तो पता कि उसके कमर के नीचे का हिस्सा पैरालाइज़ हो गया है. इसके बाद महिला ने पति और ससुराल वालों के खिलाफ FIR दर्ज की.

कोर्ट ने क्या कहा?

FIR के बाद महिला के पति और ससुराल वालों ने अग्रिम जमानत की याचिका डाली थी. महिला के पति ने कहा कि उन्हें झूठे आरोप में फंसाया जा रहा है. उसने कहा कि उसका परिवार रत्नगिरी में रहता है और केवल दो दिन के लिए उनके साथ रहने आया था. पति का कहना है कि उसका परिवार जांच में सहयोग करने के लिए तैयार है. वहीं, पति ने भी महिला के खिलाफ झूठे आरोप में फंसाने का मामला दर्ज करवाया है.

मुंबई के एडिशनल सेशंस कोर्ट में मामले की सुनवाई हुई. जज संजश्री जे घरत ने मामले की सुनवाई की. उन्होंने पाया कि महिला ने दहेज प्रताड़ना के आरोप तो लगाए हैं लेकिन ये नहीं बताया कि ससुराल वाले दहेज में क्या और कितना मांग रहे थे. उन्होंने कहा कि आरोप ऐसे नहीं हैं कि ससुराल वालों को कस्टडी में रखकर पूछताछ करनी पड़े.

दूसरी तरफ, फोर्स्ड सेक्स के आरोप पर जज ने पति को क्लीन चिट दे दी. जज ने कहा,

“पति होने के नाते अगर एक आदमी ने अपनी पत्नी के साथ यौन संबंध बनाए हैं. तो उसने कोई अवैध काम नहीं किया है. ये बहुत दुख की बात है कि महिला को पैरालिसिस का सामना करना पड़ा. मगर आवेदक (पति और उसका परिवार) को इसके लिए ज़िम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. आवेदकों के खिलाफ लगाए गए आरोपों को देखकर. उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करने की ज़रूरत नहीं है.”

ये डर का विषय है कि पत्नी के साथ जबरदस्ती करने वाले शख्स को कोर्ट न कोई चेतावनी देता है, न उसके खिलाफ कोई एक्शन लेने की बात करता है. उसे पति-पत्नी के बीच का मामला मानकर नज़रअंदाज़ कर देता है. वो भी तब जब पत्नी के आरोप गंभीर हैं. तब जब वो कह रही है कि जबरन सेक्स की वजह से वो पैरालाइज़ हो गई.


 

ये खबर हमारे साथ इंटर्नशिप कर रहीं अवनि ने लिखी है.

 

 


 

वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

जेंडर रोल्स को लेकर करीना कपूर ने बेहद ज़रूरी बात कही है

'पिता रोज परिवार के लिए रोटियां सेंके और सास अपनी बहुओं के साथ स्पा का आनंद लें.'

अफगानिस्तान में आतंक मचा रहे तालिबान की नाक में दम करने वाली ये महिला कौन है?

सलीमा मजारी की कहानी, जो खुद बंदूक लेकर तालिबानियों को खदेड़ रही हैं.

एक अनजान लड़की ने जमैका के खिलाड़ी को कैसे जितवाया ओलंपिक गोल्ड?

लड़की ने तब मदद की जब हांसले मान चुके थे कि वो डिस्क्वॉलिफाई हो जाएंगे.

महिला सांसदों ने राज्यसभा के मार्शल्स पर बदसलूकी के आरोप लगाए, पर पूरी कहानी क्या है?

कांग्रेस की महिला सांसदों के चौंकाने वाले आरोपों पर BJP ने क्या सफाई दी.

पाकिस्तान में 'किडनैप' हुई अफगानी राजदूत की बेटी बोली- मुझे गालियां दीं, पीटा गया

'मुझे लगता है कि मैं अब भी वहीं पड़ी हूं जहां मेरे साथ ये सब हुआ.'

वो कौन सा 'जादू' है जिसने लारा दत्ता को इंदिरा गांधी बनाकर ट्रेंड करा दिया?

प्रोस्थेटिक मेकअप किसी जादू से कम नहीं है.

पैगंबर मोहम्मद का अपमान करने वाली इस लड़की को क्यों बचा रही है फ्रांस की सरकार?

इस लड़की का शार्ली एब्दो से क्या कनेक्शन है? क्या अपनी किताब बेचने के लिए की इस्लाम के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी?

UP जनसंख्या बिल पर आए लीचड़ सुझाव, दो बेटियों के बाद तीसरा बच्चा पैदा करने की मंजूरी मांगी

सरकार भी विकलांग बच्चा होने पर तीसरा बच्चा पैदा करने की बात कह चुकी है.

दक्षिण कोरिया की औरतें क्यों रख रही हैं छोटे बाल, वजह आंखों से पर्दा हटा देगी

ओलंपिक में तीन गोल्ड जीतने वाली तीरंदाज का देश में विरोध क्यों हो रहा था?

190 साल से इंडिया में है गोल्फ, फिर ओलंपिक से पहले अदिति अशोक को क्यों नहीं जानते थे?

हमें अदिति को थैंक्यू कहना चाहिए