Submit your post

Follow Us

अलका लांबा ने 2 साल पहले मोदी को अपशब्द कहे, अब उनके चरित्र पर हमला किया जा रहा

लखनऊ के हज़रतगंज थाने में कांग्रेस नेता अलका लांबा के ख़िलाफ एफआईआर दर्ज़ कर ली गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में. अलका लांबा का अचानक 25 मई को एक वीडियो वायरल होने लगा. इसमें वो उन्नाव रेप केस का बैकग्राउंड लेते हुए देश में महिला सुरक्षा पर बात कर रही थीं. बोलते-बोलते मोदी और योगी को लेकर ग़लत बातें बोल गईं. उनके लिए ‘नपुंसक’ शब्द तक का इस्तेमाल कर दिया.

बस यही वीडियो वायरल होने के बाद यूपी बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य प्रीति वर्मा की तहरीर पर उनके खिलाफ एफआईआर हुई है. मज़े की बात ये कि जिस वीडियो पर एफआईआर हुई है, वो दो साल पुराना है. 2018 का.

इधर, अलका लांबा पर अभद्र कमेंट के लिए एफआईआर हुई. उधर, लोग उन्हीं पर अभद्र कमेंट करने में जुट गए.

ये ट्वीट देखिए, जो 25 मई की शाम सतेंद्र सिंह नाम के शख़्स ने किया. सतेंद्र ट्विटर पर ख़ुद को भारतीय जनता युवा मोर्चा का आईटी सहप्रमुख- मध्यप्रदेश लिखते हैं.

सतेंद्र सिंह कितने ज़िम्मेदार पद पर हैं, नहीं पता. लेकिन मेरठ से बीजेपी एमएलसी डॉक्टर सरोजिनी अग्रवाल ज़िम्मेदार पर हैं. उन्होंने भी ऐसा ही ट्वीट किया. बाद में डिलीट कर दिया. फिर उनके ट्वीट का स्क्रीनशॉट अटैच करते हुए ऑल इंडिया महिला कांग्रेस ने ट्वीट किया.

ट्वीट डिलीट करने के बाद स्पष्टीकरण. कि – ये न्यूज़ तो पहले से ट्विटर पर थी. मैंने कोई टिप्पणी नहीं की. मैं कोई न्यूज़ नहीं फैला रही. बाद में ये ट्वीट भी डिलीट कर दिया. एक और सफाई देता ट्वीट किया. ये अभी डिलीट होने से बचा हुआ है.

दि लल्लनटॉप ने सरोजिनी अग्रवाल से  पूछा कि जनता की प्रतिनिधि हैं. ऐसी ख़बर, जिसके सही-ग़लत होने का कोई प्रमाण नहीं, उसे क्यों शेयर किया? जवाब मिला –

“वो स्क्रीनशॉट तो मुझे ट्विटर पर कहीं मिला था. मैंने तो बस उसे पोस्ट करते हुए सवाल किया कि जिस महिला के बारे में ऐसी ख़बरें आ रही हैं, वो मोदी जी और योगी जी के बारे में अभद्र टिप्पणी कर रही है. मैंने अपनी तरफ से थोड़ी न कुछ ग़लत लिखा. बस एक स्क्रीनशॉट शेयर किया. अब मुझे थोड़ी न पता था कि उसकी सच्चाई क्या है?”

अब देखिए सतेंद्र सिंह के ट्वीट पर आ रहे कुछ कमेंट्स..

अलका के घर पर पुलिस रेड की बात कहां से आई?

ये 2014 का स्क्रीनशॉट है. फर्ज़ी है. उस वक्त अलका लांबा आम आदमी पार्टी में थीं. अचानक उनके नाम पर ये ख़बर सोशल मीडिया पर चली. वायरल होने लगी. अलका ने पुलिस में शिकायत की. नाम लिया पूर्व आप नेता विनोद कुमार बिन्नी का. कहा कि ये फर्ज़ी ख़बर बिन्नी ने वायरल कराई कि अलका के घर पर पुलिस का छापा पड़ा और इससे पता चला कि वे सेक्स रैकेट चला रही थीं. ऐसा कोई छापा नहीं पड़ा था.

अब छह साल बाद फिर से ये स्क्रीनशॉट्स वायरल किए जा रहे हैं.

हास्यास्पद है कि किसी भी तरफ से नेता को नीचा दिखाने के लिए ‘सेक्स’ को सहारा बनाया जाता है. फिर वो एक तरफ से ‘नपुंसक’ कहना हो, या दूसरी तरफ से ‘वेश्या’.


PM मोदी की RSS वाली फोटो पर भद्दी टिप्पणी करने पर अलका लांबा, योगेश्वर दत्त भिड़ गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

‘कामवाली’ से इंफेक्शन का डर दिखा मशीन बेचने चले थे, लोगों ने हवा टाइट कर दी

सोशल मीडिया पर लोगों ने ऐसी क्लास लगाई कि ऐड डिलीट करना पड़ा.

'हराम की बोटी' कहकर लड़कियों के प्राइवेट पार्ट को काटा और सिल दिया जाता है

सोमालिया में लड़कियों के ख़तने के मामले लॉकडाउन के दौरान बढ़ गए हैं.

जिस महिला की बालकनी से बीजेपी नेता कूदे थे, उसे गिड़गिड़ाता देख स्वाद लिया जा रहा है

'गर्लफ्रेंड' कहला रही महिला रो रही है, वीडियो में अपशब्द सह रही है.

लड़की की हत्या पर लोगों ने दुख जताया, डोनेशन दिए, फिर ऐसा क्या हुआ कि वापस लेने लगे?

आया हाशेम को बाज़ार में गोली मार दी गई थी.

पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था जिन दो महिलाओं को उम्मीद से देख रही है, वो कौन हैं?

दुनिया में पैसों के मामले में टॉप पदों पर हैं कारमेन रेनहार्ट और गीता गोपीनाथ.

18 महीने बंधक बना कर रखी गई लड़की अपने देश लौटी तो उसे 'आतंकवादी' कह दिया गया

इस्लाम अपनाने का खामियाज़ा भुगत रही लड़की की कहानी.

अब भारत को ओलंपिक मेडल दिलाएगी, साइकल पर पिता को बिठाकर गुरुग्राम से दरभंगा आने वाली ज्योति?

सात दिन में 1200 किलोमीटर नाप गई थी ज्योति.

अज़ान के वक़्त मस्जिद में न जा सकीं, अब महिलाओं को एंट्री दिलाने के लिए लड़ रही हैं

फरहा शेख ने वो घटना बताई, जिसने उन्हें याचिका डालने पर मजबूर कर दिया.

कोलकाता के लोगों और प्रशासन ने 500 नर्सों को शहर छोड़ने पर मजबूर किया

ऐसे वक़्त में, जब उनकी सबसे ज्यादा ज़रुरत है.

मृत पति की लाश लेने अस्पताल पहुंची, तो ऐसा राज खुला कि खाली हाथ ही लौट गई!

लाश लेना तो दूर, कहा- इसकी शकल भी नहीं देखना चाहती.