Submit your post

Follow Us

गैंगरेप पर अपने सात साल पुराने ट्वीट को लेकर विवेक अग्निहोत्री ने अब क्या कहा है?

विवेक अग्निहोत्री. डायरेक्टर हैं फिल्म इंडस्ट्री में. चॉकलेट, हेट स्टोरी, और डी ताशकंद फाइल्स जैसी फिल्में डायरेक्ट कर चुके हैं. इनका सात साल पुराना ट्वीट इस वक़्त सोशल मीडिया पर दुबारा चल रहा है.

क्या है उस ट्वीट में?

एक मीम है, जिसमें लिखा है- नैनो कार में इतनी जगह ही नहीं है कि इसमें गैंग रेप किया जा सके. इसके साथ विवेक ने लिखा है कि इसीलिए नैनो औरतों के लिए सबसे सुरक्षित कार है.

अब ये ट्वीट डिलीट कर दिया गया है. उसका आर्काइव्ड वर्जन आप यहां देख सकते हैं.

Vivek Agnihotri
ट्वीट का स्क्रीनशॉट

हाल में ही बॉयज लाकर रूम के चैट के स्क्रीनशॉट वायरल हुए थे. जिसके बाद रेप और लड़कियों की सुरक्षा पर नई बहस छिड़ गई है. लोग बात कर रहे हैं कि किस तरह स्कूल कॉलेज में पढ़ने वाले कम उम्र लड़के, लड़कियों की नग्न तस्वीरें लीक करने और उनका रेप करने की बात कर रहे हैं. इसी बहस के बीच ये ट्वीट फिर से इंटरनेट पर तैरने लगा, और लोगों ने विवेक अग्निहोत्री को क्रिटिसाइज करना शुरू किया. उनके असंवेदनशील ट्वीट के लिए.

हमने इसे लेकर विवेक अग्निहोत्री से बात की. उन्होंने ‘ऑडनारी’ से बातचीत में कहा,

“ज़ाहिर सी बात है कि वो गलत था इसलिए मैंने उसे डिलीट किया. लेकिन उस समय मैं बॉलीवुड के अर्बन नक्सल कल्चर का हिस्सा था. और इस तरह के डार्क जोक ट्विटर पर हमेशा सभी सेलेब्स द्वारा क्रैक किए जाते थे. लोगों को सोशल मीडिया के एटिकेट्स (तौर-तरीके) नहीं पता थे. समय बदलता है, संदर्भ बदलते हैं, लोग बदलते हैं. उस समय मैं हेट स्टोरी जैसी फिल्में बनाता था. अब मैं द ताशकंद फाइल्स जैसी फिल्में बनाता हूं. मुझे याद भी नहीं कि वो इंसान कौन था. मैंने ये बात अपनी किताब और कई पब्लिक भाषणों में बार-बार दुहराई है.”

इसके आगे विवेक ने ये भी कहा कि चेतन भगत, कुनाल कामरा, देवदत्त पटनायक जैसे बाकी सेलेब्स  भी इस तरह के जोक्स क्रैक करते थे. लेकिन हम आस पास हो रहे बदलावों से सीख कर इवॉल्व होते हैं और बदलते हैं. जैसे कोरोना क्राइसिस के बाद हम बदल जाएंगे.

कुल मिलाकर विवेक ने अपने इस ट्वीट का बचाव ये कहकर किया कि बाकी लोग भी ऐसे ट्वीट करते थे. महिलाएं भी 3 इडियट्स फिल्म में बलात्कार वाले जोक पर हंसी थीं. और बॉलीवुड के ‘अर्बन नक्सल’ उन्हें टार्गेट कर रहे हैं.

इस बीच,

जितनी देर में आपने ये आर्टिकल पढ़ा, उतनी देर में एक महिला अपने रेप की रिपोर्ट दर्ज करा चुकी होगी. रेप का शिकार हुई हर चौथी लड़की, नाबालिग होगी. लगभग हर मामले में रेप करने वाला उसकी जानपहचान का होगा. जब तक आप ये आर्टिकल पढ़कर इसके बारे में भूल भी चुके होंगे, तब तक 90 रेप के मामले रिपोर्ट किए जा चुके होंगे.कितने मामले ऐसे होंगे, जो पुलिस थानों तक पहुंच भी नहीं पाए होंगे. 

इन्हीं आंकड़ों के बीच आपको कहीं ऐसे जोक भी दिखाई देंगे. अब आप उन पर हंसते हैं, या सिर हिलाकर निकल जाते हैं, निर्णय आपका है.

आखिर में

विवेक अग्निहोत्री ने बातचीत के दौरान इस बात पर ज़ोर दिया था कि उनकी पूरी बात रखी जाए. तो उनका पूरा कोट हम यहां रख रहे हैं,

“मैं पहले एक अर्बन नक्सल , लिबरल और सेक्युलर था. फिर मुझे पता चला कि मैं भारत के शत्रुओं से प्रभावित था, और उन्होंने मुझे गलत दिशा में धकेल दिया था. ताकि मैं भारत और हिन्दुओं के खिलाफ काम करूं. अब मैं भारत को मजबूत बनाने की कोशिश कर रहा हूं अपनी खोजी फिल्मों के साथ. और बेहद रचनात्मक युवाओं के साथ काम कर रहा हूं. भारत के पुनर्जागरण के लिए.

जब से मैंने अर्बन नक्सल्स को एक्सपोज किया- जो भारत के असल दुश्मन हैं, तब से ही वो मेरे खिलाफ गैंग अप कर रहे हैं. लेकिन मेरी जिंदगी वाल्मीकि के जीवन के रूपक की तरह खुली किताब समझिए- एक लेफ्टिस्ट डकैत से रचनात्मक धार्मिक व्यक्ति तक. जो कुछ भी मुझे कहना है वो मेरी बेस्ट सेलिंग किताब अर्बन नक्सल्स में है.”


वीडियो: जामिया की सफ़ूरा के अजन्मे बच्चे को ‘नाजायज़’ कहने वालों पर कार्रवाई होगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

अस्पताल के कर्मचारियों पर आरोप- डिलीवरी के बाद महिला का यौन शोषण किया

दूध की टेस्टिंग के लिए महिला को सैंपल देना था.

बॉयज़ लॉकर रूम: विक्टिम ने बताया, लड़कों के घरवाले शिकायत वापस लेने को कह रहे हैं

इंस्टाग्राम के इस ग्रुप के चैट वायरल होने के बाद छानबीन शुरू.

अफेयर का शक था, इसलिए पुलिसवाले ने कॉन्स्टेबल पत्नी को गोली से उड़ा दिया

अगले दिन कुछ ऐसा हुआ, जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी.

जामिया की सफ़ूरा के अजन्मे बच्चे को 'नाजायज़' कहने वालों की अब खैर नहीं!

दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस के सामने तीन मांगें रखी हैं.

'बॉयज़ लॉकर रूम' में लड़कियों का रेप प्लान करने वाले लड़कों का भांडा कैसे फूटा?

इस इंस्टाग्राम ग्रुप के एडमिन को दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने गिरफ्तार किया है.

'गर्ल्स लॉकर रूम': लड़कियों की चैट वायरल, जिसमें लड़कों की नग्न तस्वीरें शेयर होती थीं

पहले 'बॉयज़ लॉकर रूम' के चैट्स वायरल हुए थे.

बिहार: तीन बूढ़ी औरतों को पंचायत ने वो 'सज़ा' दी, जिसे सुनकर इंसानियत शर्मसार हो जाए!

तीन बूढ़ी औरतें घर छोड़ने पर मजबूर हुईं.

बनारस में महिला पत्रकार ने सुसाइड किया, नोट में स्थानीय SP नेता को ज़िम्मेदार बताया

आरोपी SP नेता इस वक्त पुलिस की हिरासत में है.

बॉयज लॉकर रूम: गैंगरेप का प्लान बना रहे लड़के दिल्ली के नामी स्कूलों में पढ़ते हैं

इंस्टाग्राम के इस ग्रुप में लड़कियों से जुड़ी और भी भद्दी बातें होती थीं.

'बॉयज़ लॉकर रूम': नाबालिग स्कूली लड़कों का ग्रुप, जहां गैंगरेप के प्लान बनते हैं

ये कोई गुंडे नहीं, साउथ दिल्ली के स्कूली बच्चे हैं.