Submit your post

Follow Us

पति ने बेटी से रेप के बाद हत्या कर दी, पत्नी को 3 साल बाद मुआवज़ा मिला

5
शेयर्स

दिल्ली स्टेट लीगल सर्विसेज अथॉरिटी ने एक महिला को अंतरिम मुआवज़ा दिया है. मुआवज़े की रकम 75 हज़ार रुपए है. महिला के पति ने अपनी ही बेटी का तीन साल पहले यानी 2016 में रेप किया और उसकी हत्या कर दी थी. इस मामले में बाल अधिकार संरक्षण आयोग, दिल्ली ने महिला को केस हैंडल करने के लिए एक वकील दिया है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला ने 7 अगस्त को एक एप्लीकेशन दिया था. इस एप्लीकेशन में महिला ने बताया था कि उसे अपने पांच बच्चों की परवरिश करने में दिक्कत हो रही है, क्योंकि उसके पास पैसे नहीं हैं. उसके बाद अंतरिम मुआवज़ा देने के लिए 75 हजार रुपए देने पर विचार किया गया. और महिला को सोमवार यानी 19 अगस्त को मुआवज़े की तय रकम मिली.

दरअसल, 21 अप्रैल, 2016 को महिला की एक बेटी की लाश घर की छत पर मिली थी. महिला ने पुलिस को सूचना दी. जांच में सामने आया कि लड़की के पिता ने ही रेप के बाद उसकी हत्या कर दी थी. इसके बाद उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. महिला के पांच बच्चे और हैं. पैसे नहीं होने की वजह से उनकी परवरिश में उसे खासी दिक्कत आ रही है.

एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला तीन साल से मुआवज़े के लिए लड़ रही थी. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी वित्त विभाग को लेटर लिखा था और महिला को मुआवजा देने पर विचार करने के लिए भी कहा था. पर हालत ये है कि सरकार की तरफ से महिला को अभी तक मदद नहीं मिली है.

sisodia_082419013925.jpgदिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया.

महिला और उनके बच्चे रिसेटेलमेंट कॉलोनी यानी पुनर्वास कॉलोनी में एक किराए के कमरे में रहते हैं. और गुजारा करने के लिए सब्जियों का ठेला लगाते हैं. उसने 24 हजार रुपये उधार लेकर ठेला और अन्य ज़रूरी सामान खरीदे थे. मुआवज़े में मिली रकम से वह उधार चुकाने का सोच रही है. साथ ही वह उन पैसों का इस्तेमाल अपने बच्चों की पढ़ाई में करना चाहती है.

महिला के मुताबिक, उसे लगा था कि तीन साल में कुछ नहीं हुआ तो अब कुछ नहीं होगा. लेकिन 19 अगस्त को उसके पास एक अधिकारी का फोन आया. और अकाउंट चेक करने के लिए कहा. महिला का कहना है कि मुआवज़े के पूरे पैसे मिलने के बाद वह एक घर खरीदना चाहती है.

वहीं, दिल्ली के बाल अधिकार संरक्षण आयोग के मुताबिक, माइनर रेप विक्टिम के 70 परिवार ऐसे हैं, जिन्हें अभी तक POCSO के तहत कोई मुआवज़ा नहीं मिला है.


 

वीडियो: क्या है थर्ड डिग्री टॉर्चर जिसे अमित शाह बंद करवाने की बात कह रहे हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

जर्नलिस्ट ने कोर्ट में बताया कि कैसे एम जे अकबर ने उनकी छाती पर हाथ डाला था

डिफेमेशन केस की सुनवाई में जर्नलिस्ट गज़ाला वहाब ने कही ये बातें.

टाटा ग्रुप ने अपने LGBT एम्प्लॉयीज़ के लिए ये बेहतरीन कदम उठाया है

हर कंपनी को ये करने की ज़रूरत है.

इस महिला की उम्र जानकर यकीन नहीं होगा कि ये प्रधानमंत्री बन रही हैं, पूरा देश चलाएंगी

और इनका मंत्रिमंडल देखकर तो आंखें ही निकल आएंगी.

लड़कियों के लिए एक अच्छी खबर आई है, देश की पहली महिला नेवी पायलट के रूप में

मिलिए सब लेफ्टिनेंट शिवांगी से.

कोर्ट के सामने अजमल कसाब को पहचानने वाली लड़की की कहानी

गोली पैर चीरती हुई निकल गई थी, डेढ़ महीने अस्पताल में रही, फिर बैसाखियों के सहारे कोर्ट पहुंची.

लाइन'मैन' सीता, 30 फुट ऊंचे खम्भों पर चढ़कर बिजली ठीक करना जिसका रोज़ का काम है

कॉलेज में किसी ने कहा था, 'लड़कियां ये सब नहीं करतीं.'

जब एक मिस वर्ल्ड कांटेस्ट की वजह से दंगे हुए और करीब 250 लोग मारे गए

धर्म भी घुस आया और राजनीति भी.

सरोगेसी रेगुलेशन बिल में ऐसा क्या है कि राज्यसभा में उस पर बवाल मचा हुआ है

इतनी बंदिशें हैं कि बच्चा चाहने वाले जोड़े का दिमाग घूम जाए.

रानू मंडल का मेकअप करने वाली आर्टिस्ट क्या कहती हैं?

रानू की वायरल तस्वीर पर बयान दिया है.

मेट्रो में लड़की को 'संस्कार' सिखाने वाली महिला ने साबित कर दिया कि बुजुर्ग हमेशा सही नहीं होते

कुछ बेहद घटिया तरीके से जजमेंटल होते हैं.