Submit your post

Follow Us

छात्राओं का आरोप, DU के इस कॉलेज फेस्ट में लड़के आए, 'जय श्री राम' के नारे लगाए और यौन शोषण किया

दिल्ली यूनिवर्सिटी का गार्गी कॉलेज. यहां 4 से 6 फरवरी को एक एनुअल फेस्ट हुआ. शुरू के दो दिन फेस्ट तो अच्छा गया. लेकिन 6 फरवरी को आना था सिंगर ज़ुबिन नौटियाल को. लेकिन इस दिन कॉलेज में बवाल मच गया. कुछ लड़के कॉलेज में गेट और बैरिकेड फांदकर अंदर घुस आए. आरोप है कि उन्होंने लड़कियों से बद्तमीज़ी की. इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. लड़कियां सोशल मीडिया पर अपने-अपने एक्सपीरियंस  शेयर कर रही हैं. पोस्ट के मुताबिक, जो लड़के कॉलेज में घुसे वो नशे में थे और ‘जय श्री राम’ के नारे लगा रहे थे. फिलहाल स्टूडेंट इस घटना के लिए कॉलेज प्रशासन और स्टूडेंट यूनियन पर आरोप लगा रहे हैं. साथ ही उनके इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

इस मामले की जानकारी के लिए हमने कॉलेज की एक लड़की से बात की. उसने अपनी पहचान उजागर न करने की शर्त पर बताया, ”स्टूडेंट यूनियन ने ये फेस्ट ऑर्गनाइज़ करवाया था. दिल्ली यूनिवर्सिटी के किसी भी कॉलेज से स्टूडेंट आ सकते थे. लड़कियों को एंट्री के लिए आईडी कार्ड और लड़कों को एंट्री पास दिखाना था.” स्टूडेंट ने बताया कि दो दिन तो सब अच्छा रहा. तीसरे दिन ज़ुबिन नौटियाल को आना था. लेकिन उसके पहले ही कॉलेज में भीड़ बहुत ज्यादा बढ़ गई. कुछ लड़के बैरीकेड तोड़कर कॉलेज में घुस आए. तो कुछ कॉलेज के गेट को फांदकर. गेट पर भी चेकिंग के लिए कोई नहीं था, जिससे उन्हें रोका जा सके. अब इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें लड़के गेट पर चढ़कर अंदर जाते दिखाई दे रहे हैं.

सोशल मीडिया पर शेयर की गई पोस्ट के मुताबिक, ‘ट्रक में भरकर लड़के आए थे, जो कॉलेज में एंटर हुए. उन्होंने लड़कियों को परेशान किया, उनके साथ छेड़छाड़ की और मास्टरबेट भी किया.’

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, कॉलेज प्रिंसिपल प्रोमिला कुमार ने बताया कि ये इवेंट DU के स्टूडेंट के लिए था, चाहे वो लड़का हो या लड़की. सिक्योरिटी के लिहाज से कमांडो और बाउंसर कैम्पस में मौजूद थे. साथ ही कॉलेज के स्टाफ भी ड्यूटी पर तैनात थे. उनके मुताबिक, लड़कियों के लिए एक जगह तय थी, अगर वो उससे बाहर थीं, तो वो उनकी पसंद थी, उनकी मर्ज़ी थी.

इंडिया टुडे से बातचीत में स्टूडेंट्स ने बताया कि जब वो कॉलेज अथॉरिटी के पास इस घटना के बारे में बताने के लिए गईं, तो उनसे कहा गया अगर वो सेफ फील नहीं करती हैं, तो उन्हें ये फेस्ट अटेंड भी नहीं करना चाहिए.

स्टूडेंट ने एक इंस्टाग्राम पेज भी बनाया है, जिसमें सभी अपना एक्सपीरियंस शेयर कर रही हैं. एक ने लिखा है कि उन्हें ग्राउंड में जाने के लिए कहा जा रहा था, पर वहां जगह ही नहीं थी. जो वॉलेंटियर एंट्री गेट पर थे, उन्हें भी अंदर बुला लिया गया था. आई कार्ड चेक करने के लिए गेट पर सिर्फ एक व्यक्ति ही था. अचानक लड़कों के झुंड ने एंट्री ली. उनका कार्ड चेक कर पाना मुश्किल था. साढ़े चार बजे एंट्री करने का आख़िरी वक्त था. उसी दौरान ये वाकया हुआ. 

 

 

 

View this post on Instagram

 

  #42   A post shared by Speak Up Gargi (@speakupgargi) on

स्टूडेंट के इंस्टाग्राम पेज स्पीकअप गार्गी के एक पोस्ट के मुताबिक, सोमवार 10 फरवरी को सुबह 10 बजे एक प्रोटेस्ट किया जाएगा. ये प्रोटेस्ट शांतिपूर्वक कॉलेज प्रशासन के ऑफिस के बाहर होगा. पोस्ट के मुताबिक, छात्रों से अपील की गई है कि वो अपनी क्लासेज का बायकॉट कर इस प्रोटेस्ट का हिस्सा बनें.


वीडियो देखें : राजगढ़ की DM निधि निवेदिता और प्रिया वर्मा पर BJP कार्यकर्ताओं को पीटने का आरोप

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

तीन साल पहले आदमी ने सेक्स चेंज कराया, रेलवे ने अब माना कि वो महिला हैं

2017 में राजेश सेक्स चेंज करवाकर सोनिया पांडे बन गए थे.

वरुण ग्रोवर ने नेल पॉलिश लगाई और परेशानी ज़माने को हो गई

सवालों के जवाब में वरुण ने पूछे कुछ जरूरी सवाल.

गोरा करने वाली क्रीम बेचने के ऐड बनाए, तो सरकार जेल भेज देगी

क्या है ड्रग्स एंड मैजिक रेमेडीज (ऑब्जेक्शनेबल एड्वर्टिजमेंट) एक्ट, जिसमें बदलाव होने वाले हैं?

कौन हैं नैंसी पेलोसी, जिन्होंने ट्रंप के सामने उनका भाषण फाड़ डाला!

इससे पहले भी एक बार वो ट्रंप का मज़ाक उड़ा चुकी हैं.

अब सिंगल औरतें भी किराए पर कोख ले पाएंगी!

सरोगेसी रेगुलेशन बिल: सेलेक्ट कमिटी ने कहा सिंगल औरतों को भी सरोगेसी का ऑप्शन मिलना चाहिए.

बीना दास: 21 साल की वो स्वतंत्रता सेनानी, जो डिग्री लेने पहुंचीं और चीफ गेस्ट पर गोलियां दाग दीं

आज के ही दिन कलकत्ता यूनिवर्सिटी को थर्राया था बीना दास ने.

कौन हैं शाहीन बाग़ में बुर्का पहने पकड़ी गईं गुंजा कपूर, जिन्हें PM मोदी फॉलो करते हैं

कभी राहुल गांधी को चिट्ठी लिखी थी गुंजा कपूर ने.

केंद्र ने कोर्ट से कहा- सेना में महिलाओं को कमांड पोस्ट कैसे दें, मैटरनिटी लीव देनी पड़ जाएगी

महिला ऑफिसर अभी सिर्फ शॉर्ट सर्विस कमीशन पर रखी जाती हैं आर्मी में.

ज़ायरा वसीम ने इंस्टाग्राम पर लिखा- कश्मीर की आवाज़ को दबा देना इतना आसान क्यों है?

ये भी लिखा कि मीडिया की दिखाई चीज़ों पर भरोसा मत कीजिए.

निर्भया के दोषियों को एक साथ फांसी देने के पीछे क्या मजबूरी है?

जिसकी याचिका खारिज हो गई, उसे अलग से फांसी क्यों नहीं दी जा सकती?