Submit your post

Follow Us

दिल्ली पुलिस का 'भाप वाला जुगाड़' क्या सच में कोरोना से बचाएगा या और फैला देगा?

कोरोना वायरस की दूसरी लहर अब सुनामी बन चुकी है. इस वायरस से बचने के लिए लोग तमाम तरह के जतन कर रहे हैं. घरों में खुद को बंद रख रहे हैं. इम्यूनिटी बूस्टर्स का इस्तेमाल कर रहे हैं और कई लोग भाप ले रहे हैं. अब हर कोई घर की सेफ्टी में तो है नहीं, जैसे पुलिस वाले और बाकी फ्रंटलाइन वर्कर्स.

कई मेडिकल प्रोफेशनल्स भाप लेने की सलाह लोगों को दे रहे हैं. पुलिस के कई जवान कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. ऐसे में ड्यूटी पर तैनात पुलिस वाले भी अपनी सेहत को लेकर सतर्क हो गए हैं. इसके लिए उन्होंने व्यवस्था करनी भी शुरू कर दी है.

दिल्ली के अमर कॉलोनी थाना इलाके में पड़ती है श्रीनिवासपुरी चौकी. यहां तैनात पुलिस वाले भाप ले सकें इसके लिए कुकर से एक भाप मशीन तैयार की गई है. कुकर की सीटी वाली नॉब पर लंबी पाइप लगा दी गई है. कुकर में पानी भरकर उसे आग पर चढ़ाया जाता है. पानी उबलने के बाद सीटी वाली नॉब से भाप निकलती है, जिसे पाइप के जरिए पुलिस वाले इन्हेल करते हैं.

लेकिन क्या ये जुगाड़ वाकई में मददगार है? क्या एक ही सोर्स से कई लोगों का भाप लेना खतरनाक नहीं है? ये समझने के लिए हमने बात की डॉक्टर अरुण खत्री से. डॉक्टर अरुण कोविड-19 मरीजों के इलाज में जुटे हुए हैं.

डॉक्टर अरुण खत्री
डॉक्टर अरुण खत्री

डॉक्टर अरुण खत्री ने बताया कि भाप लेने से वायरस हमारे लंग्स पर बहुत अधिक असर नहीं करता है. इसलिए कोरोना से लड़ने में भाप काफी फायदेमंद होता है. लेकिन जिस तरीके से पुलिसवाले भाप ले रहे हैं वो तरीका ग़लत है. उन्होंने कहा कि इस तरीके से भाप लेना वायरस को और ज्यादा प्रमोट कर सकता है.  उन्होंने कहा,

स्टीम लेते वक्त पसीना निकलता है, नाक भी बहती है. इस तरह स्टीम लेते वक्त आप अपने कीटाणु वहां छोड़ देते हैं और अगर दूसरा व्यक्ति उसी सिस्टम से स्टीम लेता है तो वो आपके छोड़े हुए कीटाणु को इनहेल करेगा. संभावना है कि वो बीमार पड़ जाए. खतरा तब और बढ़ जाता है जब एक ही सिस्टम से भाप लेने वाले लोगों में से कोई एक वायरस का एसिम्प्टोमैटिक कैरियर हो.”

डॉक्टर अरुण खत्री का कहना है कि स्टीम लें. लेकिन ऐसे नहीं कि एक ही स्टीमर से कई लोग स्टीम लें. अगर कई लोग एक ही स्टीमर शेयर करते हैं तो ज़रूरी है कि हर व्यक्ति के इस्तेमाल के बाद स्टीमर को अच्छे से सैनिटाइज़ किया जाए.


वीडियो- पीरियड्स के दौरान वैक्सीन लगवाने से कोई मना करे तो ये वीडियो दिखा दीजिएगा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

कपड़ा फैक्ट्री में 19 महिलाओं से जबरन काम कराया जा रहा था, पुलिस ने बचा लिया

तीन महीने की ट्रेनिंग के लिए बुलाया, फिर बंधक बना लिया.

ग्वालियर: COVID सेंटर में वॉर्ड बॉय पर मरीज से रेप की कोशिश का आरोप, गिरफ्तार

आरोपी को नौकरी से निकाला.

बाप पर आरोपः दो साल तक बेटी का रेप किया, दांतों से चबाकर उसकी नाक काट ली

पैसे देकर दूसरे लड़के से रेप करवाने का भी आरोप है.

सुसाइड कर रहे पति को रोकने की जगह पत्नी उसका वीडियो क्यों बना रही थी?

पति की मौत हो गई है.

लड़कियों को बेरहमी से घसीट रही पुलिस के वायरल वीडियो का पूरा सच क्या है

क्या कार्रवाई के लिए पुलिस फसल पकने का इंतज़ार कर रही थी?

रेप के आरोपी NCP नेता को बचाने की कोशिश कर रहा था ACP, कोर्ट ने दिन में तारे दिखा दिए

ये सुनकर कोई भी पुलिस वाला शर्मिंदा हो जाए.

POCSO कोर्ट ने आंख मारने और फ्लाइंग किस को यौन उत्पीड़न माना, एक साल की सजा सुनाई

कोर्ट ने 15 हजार का जुर्माना भी लगाया.

'वर्जिनिटी टेस्ट' में फेल हुई तो जात पंचायत ने तलाक कराने का आदेश दे दिया

मामला कोल्हापुर का है. दो बहनों की एक ही परिवार में शादी हुई थी.

CRPF जवानों पर ऐसा क्या लिखा कि महिला को रेप की धमकी मिलने लगी

असमिया लेखिका शिखा शर्मा पर राजद्रोह का आरोप लगा है.

औरत का सिर मूंडने वाली, उस पर कालिख पोतने वाली भीड़ ने उसके बराबर जिम्मेदार पुरुष को छुआ तक नहीं

औरतों पर ऐसा अत्याचार करने वाली भीड़ को सज़ा कितनी मिलती है?