Submit your post

Follow Us

दीदी कॉन्ट्रैक्टरः वो आर्किटेक्ट जिन्होंने बिना ट्रेनिंग के वर्ल्ड क्लास इमारतें बना दीं

दीदी कॉन्ट्रैक्टर. डेलिया कॉन्ट्रैक्टर. 5 जुलाई को 91 की उम्र में उनका निधन हो गया. वो एक कलाकार थीं, डिज़ाइनर थीं. पर उनकी सबसे बड़ी पहचान एक आर्किटेक्ट की थी. ऐसी आर्किटेक्ट जिसने किसी इंस्टीट्यूट में जाकर ट्रेनिंग नहीं ली. बल्कि खुद से सबकुछ सीखा. और उन्होंने कई सस्टेनेबल इमारतें डिज़ाइन कीं.

कैसे पड़ा दीदी कॉन्ट्रैक्टर नाम

दीदी कॉन्ट्रैक्टर का असली नाम डेलिया किन्जिंगर (Delia Kinzinger) था. उनके पिता जर्मन और मां अमेरिकन थीं. दोनों आर्टिस्ट थे. इसलिए डेलिया की रुचि शुरुआत से आर्ट में थी. उनके पेरेंट्स जर्मनी के बाउहाउस मूवमेंट यानी घर बनाने के मूवमेंट से जुड़े थे. 1929 में अमेरिका में जन्मीं डेलिया ने 1951 में भारत आईं. नारायण रामजी कॉन्ट्रैक्टर से उनकी शादी हुई. इस तरह वो डेलिया कॉन्ट्रैक्टर बन गईं. नारायण कॉन्ट्रैक्टर सिविल इंजीनियर थे. वो नाशिक शिफ्ट हुईं, वहां उनका इंटरेस्ट हैंडमेड आर्ट की तरफ शिफ्ट हुआ.

सितंबर, 2017 में आर्किटेक्चरल डाइजेस्ट ने दीदी कॉन्ट्रैक्टर पर एक डिटेल में स्टोरी की थी. उनसे बात भी की थी. दीदी ने बताया था,

“हम महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में जाते थे. मैं गांव के क्राफ्ट, आर्किटेक्चर से बहुत प्रभावित हुई. मैं तब भी ग्रामीण जो आर्ट और क्राफ्ट अपने लिए बनाते थे उनसे मैं बहुत ज्यादा आकर्षित होती थी.”

संभवतः इन्हीं गांवों में घूमने के दौरान ही उनका नाम डेलिया से दीदी पड़ गया. 1961 में उन्होंने उदयपुर के लेक पैलेस की इंटीरियर डिज़ाइनिंग भी की थी.

Dharmalaya
Dharmalaya इंस्टीट्यूट की बिल्डिंग. इसे दीदी कॉन्ट्रैक्टर ने तैयार किया था. फोटो- इंस्टाग्राम/धर्मालय

दीदी ने कभी आर्किटेक्चर की फॉर्मल पढ़ाई नहीं की थी. उन्होंने आर्किटेक्चरल डाइजेस्ट को बताया था,

“मैं ट्रेनिंग से आर्किटेक्चर नहीं हूं. मैंने पूरी ज़िंदगी में जितने आर्किटेक्चर देखे, उनके बारे में जितना पढ़ा उससे ही मैंने सीखा. मुझे बचपन से इसमें इंटरेस्ट था. लेकिन तब महिलाओं को ये सब पढ़ने के लिए एनकरेज नहीं किया जाता था. “

मिट्टी के घर से बनाई पहचान

दीदी कॉन्ट्रैक्टर हिमाचल प्रदेश के एक छोट से गांव में रहती थीं. सिधबाड़ी में. आर्किटेक्चरल डाइजेस्ट की स्टोरी के मुताबिक, दीदी का खुद का घर भी मिट्टी का बना था. सिंगल स्टोरी घर था. जिसमें पत्थरों का फ्लोर लगा हुआ था. ये घर उन्होंने खुद डिज़ाइन किया था. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 70 के दशक में वो हिमाचल प्रदेश की कांगड़ा वैली में जाकर बस गईं. यहीं उन्होंने मिट्टी के धूप में सूखे ईंटों, बांस और पत्थरों से घर बनाने की कला सीखी. उन्होंने मिट्टी और कांच के इस्तेमाल से सोलर कुकर भी बनाना शुरू किया था. इसके बाद उन्होंने मिट्टी के कई घर और इमारतें बनाईं. कांगड़ा वैली में कई सस्टेनेबल इमारतें उन्होंने डिज़ाइन की हैं.

वो अपनी इमारतों में प्रकृति और परंपरा को जोड़कर रखने की कोशिश करती थीं. वो अपने कंस्ट्रक्शंस में ज्यादा से ज्यादा बायोडिग्रेडेबल चीज़ों का, मिट्टी का, घरेलू वेस्ट का, पत्थरों, गाय के गोबर और बांस आदि का इस्तेमाल करती थीं. वो लड़कियों का इस्तेमाल कम से कम करती थीं. इसकी वजह भी वो बताती थीं कि बांस तीन साल में तैयार हो जाता है, इसलिए उनका इस्तेमाल किया जा सकता है. लेकिन बाकी पेड़ वक्त लेते हैं और उन्हें काटने का मतलब है प्रकृति के संतुलन को खराब करना.

वो मानती थीं कि मिट्टी से घर बनाना काफी मेहनत का काम है. और इसमें सालभर का वक्त लग जाता है. लेकिन इतना वक्त और मेहनत के साथ बनी इन इमारतों की एक बहुत बड़ी खासियत है. ये इमारतें सर्दियों और गर्मियों में अंदर के तापमान को मेंटेन करके रखती हैं. आर्किटेक्चरल डाइजेस्ट के मुताबिक, बाहर और इन इमारतों के अंदर के तापमान में 10-15 डिग्री का अंतर होता है. दिन के वक्त इनमें सूरज की रोशनी से ही इतना उजाला होता है कि लाइट जलाने की ज़रूरत नहीं पड़ती.

कॉन्ट्रैक्टर दीदी की बनाई मुख्य इमारतों में निष्ठा, संभावना और धर्मालय शामिल हैैं. निष्टा एक ग्रामीण हेल्थ सेंटर है. संभावना एक एनजीओ का ऑफिस है और धर्मालय एक ट्रेनिंग इन्स्टिट्यूट है. धर्मालय में वोकेशनल ट्रेनिंग, ईको फ्रेंडली लाइफ स्टाइल, हेल्थ, पर्सनल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग दी जाती है. इसका मकसद है पारंपरिक ज्ञान को क्रिएटिव इनोवेशन से जोड़ना.

साल 2019 में दीदी को नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. ये अवॉर्ड उन्हें स्थानीय कौशल का प्रचार करने और परंपरागत चीज़ों का इस्तेमाल कर नई तकनीक इजाद करने के लिए दिया गया था.


गीता कपूर के बचपन की वो घटना जिसने उन्हें कोरियोग्राफर बना दिया

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यौन शोषण के 70 साल के दोषी को सज़ा देते हुए कोर्ट ने नाबालिगों के माता-पिता को सलाह दी है

यौन शोषण के 70 साल के दोषी को सज़ा देते हुए कोर्ट ने नाबालिगों के माता-पिता को सलाह दी है

13 साल की नातिन से दुष्कर्म करता था सौतेला नाना, कोर्ट ने सजा दी.

फेसबुक पर दोस्ती हुई, शादी से इनकार करने पर लड़की पर हमला कर दिया

फेसबुक पर दोस्ती हुई, शादी से इनकार करने पर लड़की पर हमला कर दिया

विक्टिम का कहना है कि आरोपी लंबे वक्त से शादी का दबाव बना रहा था.

लड़की ने लव मैरिज की, पिता ने लड़के को मारा, बदले में इधरवालों ने लड़की की मां को मार डाला

लड़की ने लव मैरिज की, पिता ने लड़के को मारा, बदले में इधरवालों ने लड़की की मां को मार डाला

गुजरात के जामनगर की घटना, डेढ़ घंटे के अंदर दो हत्याएं हो गईं.

बिहार: स्टेज पर डांसर के बाल छूने लगे JDU विधायक, बोले, 'गाना बजता है तो बेकाबू हो जाता हूं'

बिहार: स्टेज पर डांसर के बाल छूने लगे JDU विधायक, बोले, 'गाना बजता है तो बेकाबू हो जाता हूं'

दिसंबर 2020 में भी विधायक जी का ऐसा ही एक वीडियो वायरल हुआ था.

तेलंगाना: महिला का रेप कर हत्या की, फिर शव से रेप किया!

तेलंगाना: महिला का रेप कर हत्या की, फिर शव से रेप किया!

तेलंगाना के चौतुप्पल जिले की घटना.

सुप्रीम कोर्ट ने रेप के आरोपी को बरी किया, कहा- उनकी फैमिली लाइफ डिस्टर्ब नहीं करना चाहते

सुप्रीम कोर्ट ने रेप के आरोपी को बरी किया, कहा- उनकी फैमिली लाइफ डिस्टर्ब नहीं करना चाहते

कोर्ट ने कहा- इस फैसले को मिसाल न माना जाए.

मां-बाप ने अपने ही बच्चे को 22 कुत्तों के साथ 2 साल तक बंधक बनाया, बच्चा कुत्ते जैसा बर्ताव करने लगा

मां-बाप ने अपने ही बच्चे को 22 कुत्तों के साथ 2 साल तक बंधक बनाया, बच्चा कुत्ते जैसा बर्ताव करने लगा

महाराष्ट्र के पुणे का ये मामला जानकर एक पल को यकीन नहीं होता, लेकिन सच है.

जिस ऑटो वाले ने कोरोना काल में सबकी मदद की, उस पर रेप का आरोप लगा है

जिस ऑटो वाले ने कोरोना काल में सबकी मदद की, उस पर रेप का आरोप लगा है

आरोपी जावेद को कई संस्थाओं ने सम्मानित किया था.

शादी का कार्ड बांटने निकली लड़की कई दिन बाद मिली; किडनैपिंग, गैंगरेप और बेचे जाने का आरोप

शादी का कार्ड बांटने निकली लड़की कई दिन बाद मिली; किडनैपिंग, गैंगरेप और बेचे जाने का आरोप

लड़की का आरोप- एक नेता ने कुछ दिन अपने साथ झांसी में रखा था.

महिला पर एसिड फेंका, सज़ा काटी, 17 साल बाद उसी महिला को खोजकर रेप करने का आरोप

महिला पर एसिड फेंका, सज़ा काटी, 17 साल बाद उसी महिला को खोजकर रेप करने का आरोप

आरोप है कि शख्स ने महिला के पति और बच्चों को एसिड से जलाने की धमकी दी थी.