Submit your post

Follow Us

बेटी ने मर्जी से शादी की तो पिता ने उसके लापता होने की शिकायत दर्ज करा दी

दिल्ली में एक लड़की ने शादी कर ली. परिवार की मर्जी के खिलाफ. ऐसे में लड़की के पिता ने पुलिस स्टेशन जाकर लड़की के नाबालिग होने और लापता होने की शिकायत दर्ज करवा दी. पुलिस ने भी शिकायत दर्ज कर जांच शुरू की. लड़की को तलाशने लगे.और जब वो मिली, तो उसे बाल गृह भेज दिया गया. वहीं, लड़की का पति कोर्ट पहुंच गया. याचिका दायर कर पत्नी की रिहाई की मांग करने लगा. अब इसी मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया है.

दिल्ली हाईकोर्ट ने लड़की को बाल गृह से रिहा करने का आदेश दिया. और कहा कि लड़की बालिग है और उसने अपनी मर्जी से शादी की है. उसके वहां रहने का कोई वाजिब कारण समझ नहीं आता. इसलिए उसे वहां से छोड़ दिया जाए. वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए हुई सुनवाई के पहले महिला को जज के सामने पेश किया गया था. वहां उसने बताया कि वो बालिग है. उसकी डेट ऑफ बर्थ 17 जून, 2020 है. उसने अपनी मर्जी से शादी की है. जस्टिस अनूर जयराम भंभानी और मनोज कुमार ओहरी की पीठ ने फैसला सुनाते हुए कहा कि अगर महिला की इच्छा है तो उसे अपने पति के साथ भेजा जाए. उसे जबरन न रखा जाए.

न्यूज़18 की खबर के मुताबिक, लड़की के पिता ने शिकायत में दावा किया था उनकी बेटी फरवरी 2004 की जन्मी है. इस हिसाब से वो नाबालिग है. कोर्ट में वकील कामना वोहरा ने ये पूरी बता बताई. कहा कि लड़की की शादी के बाद उसके ही पिता ने उसके लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई थी और कहा था कि उनकी बेटी नाबालिग है. पिता के बयान के तहत वजीराबाद पुलिस स्टेशन में अपहरण का केस दर्ज किया गया था. पुलिस ने भी छानबीन करके 25 दिसंबर को लड़की का पता लगा लिया था और फिर उसे बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया था. यहां से उसे बाल गृह भेज दिया गया था.

उधर, दूसरी तरफ उसके पति ने भी कोर्ट में बंदी प्रत्यीक्षकरण की याचिका दायर कर दी थी. और 18 वर्षीय पत्नी को बाल गृह से रिहा करने की मांग की थी. कोर्ट में लड़की का बर्थ सर्टिफिकेट और मैरिज सर्टिफिकेट पेश किया गया. जांच अधिकारी के द्वारा सभी डॉक्यमेंट्स वैरिफाई हुआ. आर्य समाज में शादी करने की फोटो भी दिखाई गई. फिर कोर्ट ने कहा कि जिस समय लड़की की शादी हुई, वो बालिग थी. कोर्ट ने कहा है कि लड़की नाबालिग नहीं है, तो कोई कारण नहीं बनता कि उसे बाल गृह में रखा जाए. उसे रिहा कर दिया जाए.


वीडियो देखें: इलाहाबाद हाई कोर्ट ने केस की सुनवाई के दौरान महिलाओं के किस अधिकार की बात की?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

बिलकिस दादी को 'वंडर वुमन' बताने पर ट्रोल क्यों हो गई ये हॉलीवुड एक्ट्रेस?

बिलकिस दादी को 'वंडर वुमन' बताने पर ट्रोल क्यों हो गई ये हॉलीवुड एक्ट्रेस?

गैल गडोट की फिल्म वंडर वुमन 1984 हाल में रिलीज हुई है.

मेंस टीम ऑस्ट्रेलिया में खेल रही, मगर महिला टीम की इस हालत पर विश्वास नहीं होता!

मेंस टीम ऑस्ट्रेलिया में खेल रही, मगर महिला टीम की इस हालत पर विश्वास नहीं होता!

ये सब तब है जब गांगुली BCCI चला रहे. विदेशी बोर्ड अलग दे रहे धोखा.

इस औरत को कुछ भी न भूल पाने की बीमारी है, जन्म के ठीक बाद का भी सब याद है

इस औरत को कुछ भी न भूल पाने की बीमारी है, जन्म के ठीक बाद का भी सब याद है

ये सुनने में जितना क्यूट लगता है, असल में उतना की खतरनाक है.

जिस म्यूज़ियम में अपना पुतला लगने को लोग खुशनसीबी मानते हैं, उसे खोलने वाली औरत आखिर कौन थी?

जिस म्यूज़ियम में अपना पुतला लगने को लोग खुशनसीबी मानते हैं, उसे खोलने वाली औरत आखिर कौन थी?

मैडम तुसाद की वो कहानी, जो हर किसी को जाननी चाहिए.

वो लाखों मासूम जिन्हें कोरोना ने बिना संक्रमित किए मार डाला, आंकड़ों में दर्ज नहीं हुए

वो लाखों मासूम जिन्हें कोरोना ने बिना संक्रमित किए मार डाला, आंकड़ों में दर्ज नहीं हुए

चौंकाने के साथ-साथ दुखी करने वाले आंकड़े सामने आए.

इस प्लेटफॉर्म के आगे पॉर्न साइट्स को भी फीका मान रहे लोग

इस प्लेटफॉर्म के आगे पॉर्न साइट्स को भी फीका मान रहे लोग

हॉलीवुड के सितारे भी इसका हिस्सा बन रहे हैं क्योंकि कमाई बेतहाशा है.

छह महीने का भ्रूण गिराना चाहती थी महिला, कोर्ट ने डॉक्टरों की राय पर दे दी इजाज़त

छह महीने का भ्रूण गिराना चाहती थी महिला, कोर्ट ने डॉक्टरों की राय पर दे दी इजाज़त

बता दें, ज्यादा विकसित भ्रूण को गिराना क्राइम है.

SBI की पहली महिला चेयरपर्सन की ये कहानी आपको जरूर जाननी चाहिए

SBI की पहली महिला चेयरपर्सन की ये कहानी आपको जरूर जाननी चाहिए

अरुंधति भट्टाचार्य की चुनौतियों और हौसले की कहानी

रायता फैलाने वाली कंगना से लेकर बहादुर ज्योति तक- 2020 की 20 औरतें

रायता फैलाने वाली कंगना से लेकर बहादुर ज्योति तक- 2020 की 20 औरतें

किसी ने कुछ हासिल किया, तो किसी ने देश की नाक में दम किया.

जब मिताली राज को अपने बोर्ड एग्ज़ाम और क्रिकेट में से किसी एक को चुनना पड़ा था

जब मिताली राज को अपने बोर्ड एग्ज़ाम और क्रिकेट में से किसी एक को चुनना पड़ा था

जानिए, मिताली से उनके पापा ने बोर्ड एग्ज़ाम के बारे में क्या कहा था