Submit your post

Follow Us

ट्रेन पकड़ने में मदद के बहाने दो RPSF आरक्षकों ने नाबालिग का रेप कर उसे सड़क पर छोड़ा

दिल्ली में रेलवे प्रोटेक्शन स्पेशल फोर्स (RPSF) के दो कॉन्स्टेबल गिरफ्तार हुए हैं. इनके नाम प्रदीप और प्रेमचंद है. दोनों पर 16 साल की लड़की का गैंगरेप करने का आरोप है.

क्या है पूरा मामला?

‘आज तक’ से जुड़े अरविंद ओझा की रिपोर्ट के मुताबिक, सोना (काल्पनिक नाम) झारखंड की रहने वाली है, लेकिन पिछले नौ साल से दिल्ली के प्रीत विहार में डोमेस्टिक हेल्प के तौर पर काम कर रही थी. उसे घर जाना था, लेकिन लॉकडाउन हो गया. जब ट्रेनें दोबारा चलना शुरू हुईं, तो 12 जून को सोना अपना सामान लेकर आनंद विहार रेलवे स्टेशन पहुंच गई. सोना जिनके घर काम करती है, उन लोगों को उसने कुछ नहीं बताया.

पता चला कि वहां से उसे ट्रेन नहीं मिलेगी, फिर वो किसी तरह नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंची. स्टेशन पर सोना को हैरान-परेशान देख RPSF का एक कॉन्स्टेबल उसके पास पहुंचा. सारी कहानी जानी, फिर कहा कि वो ट्रेन पकड़वाने में मदद करेगा. अपने दूसरे कॉन्स्टेबल दोस्त को बुलाया. दोनों सोना को एक कमरे में लेकर गए. उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया. जब सोना होश खोने लगी, तो एक कॉन्स्टेबल ने उसका रेप किया, जबकि दूसरा दरवाज़े पर खड़ा होकर ये सब देखता रहा.

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, रेप के बाद दोनों ने सोना को एक सड़क पर छोड़ दिया. वो घंटों तक पैदल चलती रही. तभी एक पुलिसवाले की नज़र उस पर पड़ी. वो उसे लेकर थाने गया. महिला अधिकारियों ने उससे पूछताछ की, तब मामले का पता चला. सोना को खाना खिलाया गया और मेडिकल जांच की गई.

इस वक्त वो चाइल्ड वेलफेयर कमिटी के पास है. पुलिस ने IPC की धारा 376D (गैंगरेप) और पॉक्सो एक्ट की कुछ धाराओं के तहत केस दर्ज किया है.


वीडियो देखें: राजस्थान में दिगम्बर जैन मुनि ने महिला का रेप किया, भाभी को मोलेस्ट किया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

सुशांत सिंह राजपूत का एक बड़ा सच ये था, जिससे हम मुंह नहीं मोड़ सकते

फिर चाहे हम फिल्म इंडस्ट्री को कितना भी ब्लेम कर लें.

क्या है ये BPET, जिसमें भारतीय सेना ने महिला अफसरों के लिए नौ साल पुराना नियम बदल दिया?

और कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी ये टेस्ट क्लियर करने के लिए.

केंद्र सरकार का नाम लेकर इस झूठी योजना के बहाने पैसे ऐंठ रहे हैं ठग

आखिर किस तरह दिया जा रहा है झांसा?

कोरोना: अपने बीमार पति को तलाश रही महिला ने दिल्ली के बड़े अस्पताल पर लगाया गंभीर आरोप

महिला के पति कोरोना पॉजिटिव.

लॉकडाउन के दौरान पुरुषों के मुकाबले ज्यादा नौकरियां खो रही हैं महिलाएं?

नई स्टडी तो यही कहती है.

दलितों के नाम पर पैसा पीट रही थी ये कंपनी, लोगों ने आईना दिखा दिया

इसके बाद से माफ़ी मांगने का दौर जारी है.

क्या ये वेबसाइट, गे मैरिज अरेंज कराने के नाम पर समलैंगिकों को ठग रही है!

इस साइट के पीछे क्या चल रहा है? सीईओ ने हमें कोई जवाब नहीं दिया.

क्या जान-बूझकर तोड़ी गईं इस एथलीट की टोक्यो ओलंपिक की उम्मीदें?

दो साल बाद डोपिंग का केस बंद हुआ.

वीडियो कॉल के दौरान एक ट्रिक आपको घरेलू हिंसा से बचा सकती है

वायरल है ये तरीका.

आज जान लीजिए, सिर्फ़ औरतों को नहीं, इन लोगों को भी पीरियड होते हैं

मासिक धर्म से किसी का औरत होना डिसाइड नहीं होता.