Submit your post

Follow Us

वो कॉमन दिक्कत जिसके चलते कई दिनों तक पॉटी नहीं होती

यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछ लें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.

रितेश 25 साल के हैं. दिल्ली के रहने वाले हैं. कुछ हफ़्तों से कब्ज़ की शिकायत है. सारे घरेलू नुस्खे ट्राई कर चुके हैं. पर आराम नहीं मिला है. अब हाल ये है कि अपनी पसंद की चीज़ें नहीं खा पा रहे. पेट में दर्द रहता है. स्टूल पास नहीं होता. उनकी हेल्थ पर असर पड़ रहा है. कब्ज़ यानी कॉन्स्टीपेशन बहुत ही आम परेशानी है. पर एक बड़ी परेशानी है.

इसलिए इसके बारे में जानने के लिए हमने बात की डॉक्टर दीपेश शर्मा से. वो पेट के डॉक्टर हैं. नागपुर के वॉक हार्ट अस्पताल में. सबसे पहले तो ये जान लेते हैं कि कब्ज़ होने के पीछे असली वजह क्या है? ओर इसके वो लक्षण जो आपको एकदम इग्नोर नहीं करने चाहिए.

डॉक्टर दिपेश शर्मा, वॉकहार्ट हॉस्पिटल, नागपुर
डॉक्टर दीपेश शर्मा, वॉकहार्ट हॉस्पिटल, नागपुर

क्या होता है कब्ज़?

-कब्ज़ में हफ़्ते में एक या दो बार ही पेट साफ होता है

-स्टूल काफ़ी हार्ड होता है, पेशेंट को काफ़ी प्रेशर लगाना पड़ता है

-स्टूल ढंग से नहीं होता

कारण:

-डाइट में फाईबर की कमी

-पानी कम पीना.

-एक्सरसाइज़ की कमी

-ज़्यादा समय तक बैठे रहना

-स्टूल को रोककर रखना.

-डाईबिटीज़, हाइपो थायरॉइड, क्रोनिक किडनी डिजीज़

-न्यूरोलॉजिकल डिजीज़. जैसे पार्किन्सन. इसके कारण भी कब्ज़ होता है

Reasons You May Be Constipated
अंतड़ियों की बीमारियों से भी कब्ज़ होता है. जैसे कि अंतड़ी में सिकुड़न हो जाना, स्टिंचर हो जाना. बड़ी आंत का कैंसर हो जाना

-इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज और टीबी में भी कब्ज़ हो जाता है

-कुछ दवाइयां जैसे डाइयुरेट्इक और कैल्शियम चैनल ब्लॉकर. जो बीपी के लिए लेते हैं

-ट्राइसाइक्लिक ऐन्टीडिप्रिसन्ट. इसे साइकियाट्रिक बीमारियों के लिए लेते हैं. और मॉर्फिन. इसे पेन के लिए लेते हैं. इनसे भी कब्ज़ हो सकता है

-कैल्शियम की मात्रा शरीर में ज़्यादा हो तो उससे भी कब्ज़ हो सकता है

-बहुत लोगों में कब्ज़ दवाई से ठीक हो जाता है. कुछ लोगों को आगे जांच करवानी पड़ती है

सीवियर कॉन्स्टीपेशन के क्या संकेत हैं?

-कब्ज़ लंबे समय के लिए होता है

-कब्ज़ बार-बार होता है

-स्टूल में ब्लड आता है

-शरीर में खून की कमी हो जाती है

-हल्का सा बुखार लंबे समय तक चलता है

-वज़न कम हो जाएगा

-जिनकी उम्र 50 साल से ज़्यादा है, उन्हें जांच करवाने की ज़रूरत पड़ती है

ये तो हुई बात वजहों और लक्षणों की. पर हममें से कई लोग कब्ज़ को सीरियसली नहीं लेते. और ये बड़ी गलती है. कब्ज़ से जुड़े कई रिस्क फैक्टर भी है. तो उनके बारे में बात करते हैं और जानते हैं इसका इलाज डॉक्टर शंकर झवर से. नागपुर के केयर हॉस्पिटल में पेट के डॉक्टर हैं. उन्होंने बताया:

डॉक्टर शंकर झवर, केयर हॉस्पिटल, नागपुर
डॉक्टर शंकर झवर, केयर हॉस्पिटल, नागपुर

रिस्क फैक्टर

-अगर अचानक कब्ज़ियत बन गई है और गैस भी नहीं निकल रही, उल्टियां हो रही हैं, पेट में दर्द है, पेट फूल रहा है, तो तुरंत किसी डॉक्टर से मिलिए

-वज़न घट रहा है, अगर भूख कम लग रही है, शौच के आकार में भारी बदलाव आया है, तब एक्सपर्ट की सलाह आपके लिए ज़रूरी है

इलाज:

-एक्सरसाइज़ करिए. 10-15 मिनट मॉर्निंग वॉक कर लीजिए. इससे आंतड़ियों की चाल बढ़ेगी और शौच निकलने में आसानी होगी

-अगर सुबह प्रेशर नहीं बनता तो खाली पेट शौच जाने के बजाय नाश्ता कर लीजिए या गुनगुना पानी पीजिए. फिर शौच को जाइए. हो सकता है ये आपके लिए फ़ायदा करे

-पानी ज़्यादा पीजिए. इससे आपकी शौच सख्त नहीं होगी.

-यदि वेस्टर्न कमोड में समस्या हो रही है तो भारतीय स्टाइल का कमोड इस्तेमाल करिए

-ये नहीं हो सकता तो वेस्टर्न कमोड के सामने स्टूल रखिए और पैर अपने उसपर रखिए. और सामने की तरफ थोड़े से झुक जाइए. इससे शौच निकलने में आसानी होगी

Whatsapp Image 2020 09 01 At 3.23.33 Pm (1)

-अगर एक-दो हफ़्ते में राहत न मिले तो जांच ज़रूर करवाइए. क्योंकि कब्ज़ियत गंभीर बीमारियों का लक्षण भी हो सकता है

इलाज तो आपने सुन लिया. पर अब अगर आपको कब्ज़ की शिकायत रहती है तो आपको अपने खान-पान का ख़ास ख़याल रखना है. खाने में क्या जोड़ें और क्या घटाएं, जानिए डायटीशियन श्रेया गोएल से.

श्रेया गोयल, डायटीशियन, श्रेया ग्रुप, चंडीगढ़
श्रेया गोयल, डायटीशियन, श्रेया ग्रुप, चंडीगढ़

खानपान

-आपके हर रोज़ के खाने में 20 से 30 ग्राम तक फाइबर होना ज़रूरी है

-पालक, मेथी जैसी हरी सब्जियां, कद्दू, टिंडा जैसे सब्जियां खाइए

-अनार, सेब, खरबूज़ जैसे फल. ये आप नियमित सेवन कर सकते हैं

-खाने को अच्छे से चबाइए. हमारे मुंह में पाचक रस रहते हैं वो ठीक से घुलमिल जाएंगे खाने में और उसका पाचन ठीक से होगा

-पहले से कब्ज़ है तो रात को सोने के समय दिनभर पानी में भिगोए हुए अंजीर खाकर सोइए

-अगर आप चाय, कॉफ़ी ज़्यादा लेते हैं तो उससे एसिडिटी ज़्यादा बढ़ती है. एसिडिटी हमारे शरीर से ज़्यादा से ज़्यादा पानी बाहर निकाल देती है. जिससे शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है. उससे भी कब्ज़ की तकलीफ़ बढ़ सकती है

Coffee and Cancer: What the Research Really Shows | American Cancer Society
कब्ज़ से बचना है तो कॉफ़ी से थोड़ी दूरी बना लें

-खाना टाइम पर खाएं, दो मील्स में बहुत ज्यादा अंतर न रखें.

अपनी डाइट में इन चीज़ों का ध्यान रखिए.


वीडियो 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

पार्क में एक्ट्रेस और उनकी दोस्तों से मारपीट के आरोप पर क्या बोलीं कांग्रेस नेता?

एक्ट्रेस सम्युक्ता हेगड़े ने लाइव वीडियो बनाया था. अब कविता रेड्डी ने भी अपना पक्ष रखा है.

मैट्रिमोनियल साइट पर दोस्ती की और फिर झूठ बोल-बोलकर 6.19 लाख रुपये ठग लिए

पैसे न देने पर प्राइवेट फोटो पब्लिक करने की धमकी देता था.

लड़की की एक चालाकी ने दिल्ली के पार्कों में 20 गैंगरेप करने का आरोपी गैंग पकड़वा दिया!

दोस्तों के साथ घूमने आने वाली लड़कियों को बनाते थे शिकार, रेप के विडियो वायरल करने की देते थे धमकी.

139 लोगों के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराने वाली महिला अब अलग ही बात कह रही है

हैदराबाद का मामला है. 42 पन्नों में इस केस की FIR हुई थी.

बच्चों और महिलाओं के साथ हिंसा की खुलेआम वकालत कर रही है ये वेबसाइट!

ऐसी-ऐसी बातें लिखी हैं कि पढ़कर इंसानियत पर से भरोसा उठ जाए.

कोरोना पॉजिटिव बताकर 14 दिन दवा खिलाई, फिर पता चला कभी संक्रमण था ही नहीं

होम आइसोलेशन के दौरान वे दवाएं भी खानी पड़ी जिनसे महिला को एलर्जी थी.

इंजीनियर ने कथित तौर पर नौ महीने की बच्ची के साथ पांचवी मंजिल से कूदकर जान दे दी

महिला के परिजनों ने ससुरालवालों पर धक्का देने का आरोप लगाया.

आरोप: घर बुलाकर स्कूल के मैनेजर ने छात्रा का रेप कर वीडिया बनाया था, पुलिस ने गिरफ्तार किया

पॉक्सो समते IPC की कई धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ.

महिला ने वीडियो बनाकर इंसाफ मांगा और फांसी लगाकर जान दे दी

सोशल मीडिया तक वीडियो पहुंचने के बाद पुलिस ने पति और सास को अरेस्ट किया.

यूपी: स्कॉलरशिप फॉर्म भरने गई लड़की की रेप के बाद हत्या, खेत में पड़ा मिला शव

लखीमपुर-खीरी ज़िले के गांव की वारदात.