Submit your post

Follow Us

नोएडा में कुत्ते ने पालतू कुत्ते पर हमला किया, तो मालिक ने चीन की रहने वाली महिला को बेरहमी से मारा

चीन की रहने वाली एक महिला, ग्रेटर नोएडा में रहती हैं. उनसे वहीं के एक व्यक्ति ने मारपीट की. आरोप है कि वह जिस सोसाइटी में रहती हैं, उसी सोसाइटी में वह व्यक्ति भी रहता है. मार पीट की जो वजह सामने आई है, उसके मुताबिक, जिस कुत्ते को महिला खाना खिलाती थी, उसी कुत्ते ने उस व्यक्ति के पालतू कुत्ते पर हमला कर दिया था. महिला के सामने. हालांकि महिला ने गार्ड की मदद से दोनों कुत्तों के बीच हुई झड़प शांत करवा लिया था, पर उस व्यक्ति ने महिला को डंडे से बेरहमी से मारा-पीटा. महिला ने इस मामले की शिकायत की और पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

पूरा मामला क्या है?

‘इंडिया टुडे’ के पत्रकार अरविंद कुमार ओझा की रिपोर्ट के मुताबिक, मामला नोएडा के बीटा-2 थाना क्षेत्र का है. यहां के ATS ग्रीन पैराडाइज सोसाइटी में महिला रहती है. उन्होंने 27 मई को कई ट्वीट किए. इसमें उन्होंने तीन पन्नों का एक लेटर औऱ कुछ तस्वीरें अटैच कीं. साथ ही महिला एवं बाल विकाल मंत्रालय, स्मृति ईरानी, राष्ट्रीय महिला आयोग, योगी सरकार, PMO और एस जयशंकर को टैग किया. लिखा-

ग्रेटर नोएडा के ATS ग्रीन पैराडाइज सोसाइटी में सुबह के समय मॉर्निंग वॉक के दौरान एक भारतीय व्यक्ति ने डंडे से मारा-पीटा. पीछे से मुझ पर अटैक किया. शरीर पर काले-नीले घाव हो गए हैं. मेरी मदद करें. मुझे जल्द से जल्द इंसाफ चाहिए.

चाइनीज़ महिला ने ट्वीट कर इंसाफ की मांग की.
महिला ने ट्वीट कर इंसाफ की मांग की.

महिला ने लेटर में लिखा,

मैंने पूरी घटना पुलिस को बताई, पर उन्होंने मेरी बात नहीं सुनी, इसलिए ये पोस्ट लिखा. घटना 25 मई की है. मैं अपनी सोसाइटी में मॉर्निंग वॉक कर रही थी. तभी एक आवारा कुत्ता मेरे पीछे-पीछे आने लगा. दूसरी तरफ से एक भारतीय अपने कुत्ते के साथ गुज़र रहे थे. आवारा कुत्ते ने उस व्यक्ति के कुत्ते पर हमला कर दिया. उस समय मैं कुछ भी कर पाने में असमर्थ थी. इसलिए मैंने पास के एक सुरक्षागार्ड को बुलाया और मदद मांगी. जैसे ही मैं वहां से जाने लगी, तभी उस व्यक्ति ने मुझ पर पीछे से एक मोटे डंडे से हमला कर दिया. मारना शुरू कर दिया. हाथ और हिप्स में काफी चोट भी आई. इस वाकये का गवाह गार्ड और सोसाइटी के कुछ लोग थे. मुझे लोगों ने बचाया और पुलिस को बुलाया. मैंने न तो पहले कभी आरोपी से बात की थी. न ही उनसे कोई विवाद हुआ था. मीडिया रिपोर्ट्स में गलत तथ्य छापे जा रहे हैं. मैं तो बस उस आवारा कुत्ते को खाना खिलाती थी. क्योंकि वो भूखा होता था. और वैसे भी ये कुत्ते का मुद्दा नहीं है. 

महिला का लेटर, जो ट्विटर पर पोस्ट किया है.
महिला का लेटर, जो ट्विटर पर पोस्ट किया है.

महिला आगे लिखती हैं

घटना के बाद मुझे कुछ सोसाइटी के लोग, सोसाइटी के सचिव, मेरी एक दोस्त, आरोपी और उसके बेटे के साथ बीटा-2 पुलिस स्टेशन गए थे. काफी समय बीतने के बाद स्थानीय लोग वहां से चले गए, ये सोचकर कि अब पुलिस संभाल लेगी. मैं और मेरी दोस्त वहीं थे. लेकिन हमें हिंदी समझ नहीं आती थी. अंग्रेजी में ही बात करते थे. FIR की प्रक्रिया क्या होती है, ये भी पता नहीं था. और न तो हमें आरोपी का नाम पता था. बस ये मालूम था कि आरोपी मेरी ही सोसाइटी में रहता है. हालांकि मैंने थाने के ही एक पुलिसकर्मी की मदद मांगी कि वह उस आरोपी का नाम पता करके बताएं. उस पुलिसकर्मी ने आरोपी का नाम पता किया. बताया कि आरोपी का नाम अमरपाल सिंह है. इसके बाद मुझे सरकारी अस्पताल में मेडिकल टेस्ट के लिए ले जाया गया. और वहां से मुझे पुलिस स्टेशन वापस लाया गया.

महिला के मुताबिक, उनका केस रेखा चौधरी नाम कि एक महिला सब इंस्पेक्टर देख रही थीं. उन्होंने महिला से ये बोल दिया था कि वह घर जाएं, जैसा होगा, वह फोन पर अपडेट कर देंगी. महिला घर आई, तो उन्हें याद आया कि आरोपी का नाम पुलिस ने शिकायत में ‘अज्ञात’ लिखा है, जबकि पुलिस को नाम पता है. फिर वह थाने गईं. और तब पुलिस ने कहा कि आरोपी को गिरफ्तार करके जिला अधीक्षक के पास पेश किया जाएगा. महिला के मुताबिक, सोसाइटी के कई लोगों ने आरोपी को उसी दिन शाम के वक्त सोसाइटी में देखा था. इससे महिला और उनकी दोस्त डर गईं थीं, क्योंकि उन्हें लग रहा था कि कहीं आरोपी उन पर दोबारा हमला न कर दे.

इस पोस्ट पर नोएडा पुलिस ने रिप्लाई करते हुए कहा कि पुलिस पीड़ित महिला का पूरा सपोर्ट कर रही है. पीड़िता की शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ पहले IPC की धारा 323 के तहत केस दर्ज किया गया था. और जब मामले की जांच की गई तब IPC की धारा  354 बी, 504 और 323 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. साथ ही ट्वीट में लिखा कि हम सभी महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान के लिए प्रतिबद्ध हैं.

नोएडा पुलिस का महिला को रिल्पाई.
नोएडा पुलिस का महिला को रिल्पाई.

अरविंद ओझा की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया है. और आगे की कार्रवाई कर रही है.


वीडियो देखें : पंजाब के लुधियाना में एक बाप ने अपनी सगी बेटी से रेप की कोशिश की, पत्नी ने बच्चों संग पति को मार डाला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

लड़कियों को गोल्ड डिगर बताते, उनसे ज़िप बंद कराते, उनके हिप्स छूने वाले ये ‘प्रैंक’ वीडियो जी घिना देते हैं!

लड़कियों को गोल्ड डिगर बताते, उनसे ज़िप बंद कराते, उनके हिप्स छूने वाले ये ‘प्रैंक’ वीडियो जी घिना देते हैं!

सबकुछ जानकर भी इसे देखने वाले हम और आप ही हैं.

क्या कोरोना का टीका लगवाने से लड़कियों को पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग और तेज़ दर्द हो रहा है?

क्या कोरोना का टीका लगवाने से लड़कियों को पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग और तेज़ दर्द हो रहा है?

1 मई के बाद कोरोना का टीका लगवाने वाली हर लड़की के लिए सबसे अहम खबर.

घर पर रहें, लोगों को ये समझाने के लिए पांच महीने की प्रेगनेंट DSP सड़क पर उतरीं

घर पर रहें, लोगों को ये समझाने के लिए पांच महीने की प्रेगनेंट DSP सड़क पर उतरीं

प्रेग्नेंसी में भी अपनी ड्यूटी पूरी लगन से निभार रही हैं दंतेवाड़ा की DSP शिल्पा साहू.

प्रेगनेंट औरतों को कोरोना का नया रूप इतना क्यों सता रहा है?

प्रेगनेंट औरतों को कोरोना का नया रूप इतना क्यों सता रहा है?

क्या मां से गर्भ में पल रहे बच्चे में जा रहा है वायरस?

'पॉज़िटिव' शब्द से डर के माहौल में ये ऐड आपको सकारात्मकता से भर देगा

'पॉज़िटिव' शब्द से डर के माहौल में ये ऐड आपको सकारात्मकता से भर देगा

आज की तारीख में यूट्यूब पर ये न देखा, तो कुछ नहीं देखा.

वो औरत जो दो साल दुनिया की सबसे बड़ी धर्म गुरु रहीं, गर्भवती हुईं फिर भी किसी को खबर न हुई

वो औरत जो दो साल दुनिया की सबसे बड़ी धर्म गुरु रहीं, गर्भवती हुईं फिर भी किसी को खबर न हुई

वो औरत जिसका नाम इतिहास से मिटा दिया गया.

केरल हाईकोर्ट का फैसला-महिलाओं को नाइट शिफ्ट की वजह से जॉब देने से मना नहीं कर सकते

केरल हाईकोर्ट का फैसला-महिलाओं को नाइट शिफ्ट की वजह से जॉब देने से मना नहीं कर सकते

एक फैक्ट्री ने सिर्फ पुरुषों के लिए जॉब निकाली थी.

घुंघराले बाल वाली लड़कियों के साथ चल रहा इतना बड़ा फ्रॉड और किसी को खबर तक नहीं

घुंघराले बाल वाली लड़कियों के साथ चल रहा इतना बड़ा फ्रॉड और किसी को खबर तक नहीं

एक बार में हज़ारों का चूना लग जाता है.

'द ग्रेट इंडियन किचन': स्वादिष्ट भोजन के पीछे की इस सच्चाई को देख हमारा सर शर्म से झुक जाना चाहिए

'द ग्रेट इंडियन किचन': स्वादिष्ट भोजन के पीछे की इस सच्चाई को देख हमारा सर शर्म से झुक जाना चाहिए

पुरुष का खाना बनाना क्यों सबसे बड़ा छलावा है.

क्रिकेट वेबसाइट ने एक अच्छी पहल की लेकिन स्त्री विरोधियों को छरछर क्यों लगा?

क्रिकेट वेबसाइट ने एक अच्छी पहल की लेकिन स्त्री विरोधियों को छरछर क्यों लगा?

अपने अंदर का गंद लेकर ट्विटर पर डालने लगे लोग.