Submit your post

Follow Us

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

सोशल मीडिया पर एक महिला से अभद्रता, मारपीट और गाली गलौज का वीडियो वायरल हो रहा है. महिला चीखती चिल्लाती रहती है लेकिन कुछ लोग उससे छेड़खानी करते रहते हैं. गालियां देते रहते हैं. वीडियो को लेकर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. मामले में विपक्षी दलों ने बिहार सरकार पर सवाल उठाए हैं.

क्या है वीडियो में?

महिला से अभद्रता का वीडियो ऐसा है, जिसे दिखाया नहीं जा सकता. इसलिए हम वीडियो को यहां नहीं दिखा रहे हैं. इस वीडियो में बाइक पर किसी के साथ पीछे बैठी महिला के साथ कुछ लोग अभद्रता करते दिख रहे हैं. महिला के शरीर को छू रहे हैं. महिला अपनी साड़ी से तन को ढकने का बार-बार प्रयास कर रही है. चिल्ला रही है. बाइक पर आगे बैठा युवक तेजी से भागना चाह रहा है, लेकिन कुछ लोग महिला को दबोचने की कोशिश कर रहे हैं. गाली देते हैं. जो लोग छेड़छाड़ कर रहे थे, उन्हीं में से एक वीडियो बना रहा था.

आजतक के रिपोर्टर आलोक कुमार जायसवाल के मुताबिक, मामला सारण जिले के दरियापुर थाना क्षेत्र का है. दरियापुर रेल कारखाना से दरिहरा चवंर होकर एक रास्ता जाता है, दरिहरा सरैया गांव को. वहां जाने के लिए ये मेन रोड है. इसी पर ये वारदात हुई. आजतक के मुताबिक, बताया जा रहा है कि कुछ लोगों ने इस कपल को जंगल में पकड़ा था. पहले पूछताछ की. फिर महिला से छेड़छाड़ की. युवक से हाथापाई की गई. काफी मिन्नतों के बाद युवक बाइक पर महिला को लेकर वहां से निकल पाया.

विपक्ष ने हमला बोला

इस वीडियो को लेकर विपक्षी दलों ने बिहार की नीतीश सरकार को निशाने पर लिया है. बिहार प्रदेश महिला कांग्रेस ने ट्वीट में लिखा,

ये है बिहार के छपरा की स्थिति. एक महिला के साथ दिनदहाड़े उसकी इज्जत लूटी जा रही है. आखिर सुशासन किधर है? शासक और प्रशासन का जरा भी भय अपराधियों को नहीं. कैसे बचेगी बिहार की बेटी-बहू?

आरजेडी के प्रवक्ता ने अरुण कुमार यादव ने लिखा,

बिहार के जिला छपरा की यह अमानवीय घटना है. बिहार में नीतीश-भाजपा गठबंधन की 15 वर्षों से सरकार है. नीतीश सरकार में यह कोई नई घटना नहीं है. प्रदेश में रोज इस तरह की घटनाओं को बेखौफ अपराधी अंजाम देते हैं. नीतीश सरकार महिलाओं की रक्षा करने में पूरी तरह विफल.. शर्म करो सरकार.

आजाद समाज पार्टी के हिमांशु वाल्मीकि ने लिखा,

देखिए बिहार के सुशासन बाबू का शासन. बिहार के जिला छपरा में महिलाओं के सम्मान में भाजपा मैदान में, छपरा में कुशासन राज में महिलाओं का चीर हरण करते हुए… क्या यही है बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान. @NitishKumar. दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के आदेश दे @NCWIndia

आम आदमी पार्टी की दिल्ली महिला विंग की जॉइंट सेक्रेटरी कैप्टन शालिनी सिंह ने लिखा,

महिलाओं के सम्मान में भाजपा उतरी मैदान में. छपरा जिला में हुई ये घटना. एक महिला को गिद्धों की तरह नोचते ये घटिया पुरुष. कोई शर्म नहीं, कोई क़ानून का भय नहीं. ये भाजपा का राज है. अभी भी आंखें नहीं खुली तो ये गिद्ध हर घर पर हमला करेंगे.

पुलिस का क्या कहना है?

वीडियो में दिख रही घटना के बारे में पुलिस को औपचारिक शिकायत नहीं मिली है. वायरल वीडियो के मामले में सारण के SP सन्तोष कुमार ने बताया था कि वीडियो संज्ञान में आते ही पुलिस की कई टीम बनाकर घटना को सत्यापित करने और पहचान की जिम्मेदारी दी गई. जांच पड़ताल के क्रम में वीडियो में दिख रहे सभी 6 लोगों की पहचान कर ली गई है. इनमें 3 की गिरफ्तारी हो चुकी है. बाकी अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम छापेमारी कर रही है. जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

वहीं DIG रविंद्र कुमार ने बताया,

वीडियो की सत्यता की जांच की गई है. सभी शामिल अपराधियों की पहचान कर ली गई है. कुल छह अपराधी हैं जिसमें से 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. बाकी दो लोगों की गिरफ्तारी का प्रयास जारी है. घटना दरियापुर की है.

ये पूछने पर कि इस तरह की घटनाएं आम हो गई हैं. DIG ने कहा कि सामाज में नैतिक शिक्षा की कमी है. मेरा ये मानना है कि स्कूल के स्तर पर ही नैतिक शिक्षा पर जोर देना चाहिए.

पुलिस के मुताबिक आरोपियों की पहचान, गुड्डू राय, आमोद कुमार राय. राकेश कुमार राय, धमेंद्र कुमार राय, अरविंद कुमार राय और नीतिश कुमार उर्फ घोष है. इनमें से राकेश, अरविंद नितिश, आमोद को गिरफ्तार कर लिया गया है. घटना 27 सितंबर की है.


मध्यप्रदेश: पन्ना में रेप का विरोध करने पर लड़की की आंखों में तेजाब डालकर अंधा किया!

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

साड़ी पहनती थी, इसलिए मेरे बिना ही क्लाइंट मीटिंग्स में चले जाते थे कलीग्सः इंदिरा नूई

साड़ी पहनती थी, इसलिए मेरे बिना ही क्लाइंट मीटिंग्स में चले जाते थे कलीग्सः इंदिरा नूई

इंदिरा नूई की ऑटोबायोग्राफी 'माय लाइफ ऐट फुल' रिलीज़ हुई है.

कच्चे पपीते से लेकर यूट्यूब के नुस्खे: बच्चा गिराने के लिए न करें ये भयानक गलतियां

कच्चे पपीते से लेकर यूट्यूब के नुस्खे: बच्चा गिराने के लिए न करें ये भयानक गलतियां

यूट्यूब पर ट्यूटोरियल देख एक महिला खुद का अबॉर्शन कर रही थी, ऐसा हाल हो गया

ज़िंदगीभर जेल में रहेगा औरतों का रेप और बच्चों की तस्करी करने वाला सिंगर R Kelly

ज़िंदगीभर जेल में रहेगा औरतों का रेप और बच्चों की तस्करी करने वाला सिंगर R Kelly

कोर्ट ने माना- केली ने अपनी स्टारडम का इस्तेमाल कर महिलाओं और बच्चों का यौन शोषण किया.

वो टेस्ट जिसमें महिला खिलाड़ियों को साबित करना पड़ता है कि वो महिला हैं

वो टेस्ट जिसमें महिला खिलाड़ियों को साबित करना पड़ता है कि वो महिला हैं

तापसी पन्नू की आने वाली फिल्म 'रश्मि रॉकेट' स्पोर्ट्स में होने वाले जेंडर वेरिफिकेशन टेस्ट पर बात करती है.

REET का एग्ज़ाम देने गई लड़कियों के कपड़ों की अस्तीन क्यों काट दी गई?

REET का एग्ज़ाम देने गई लड़कियों के कपड़ों की अस्तीन क्यों काट दी गई?

क्या चीटिंग रोकने के लिए ऐसा किया या कारण कुछ और है?

जिस इवेंट में CJI ने औरतों के अधिकारों पर बात की, उसकी बार काउंसिल ने आलोचना क्यों कर दी?

जिस इवेंट में CJI ने औरतों के अधिकारों पर बात की, उसकी बार काउंसिल ने आलोचना क्यों कर दी?

CJI ने जुडीशरी में औरतों की 50 प्रतिशत भागीदारी पर जोर दिया, साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चरल बदलावों की बात की.

आइसलैंड से आई एक गलत खबर और दुनिया में जेंडर इक्वालिटी पर बहस छिड़ गई

आइसलैंड से आई एक गलत खबर और दुनिया में जेंडर इक्वालिटी पर बहस छिड़ गई

आइसलैंड की कौन सी बात उसे भारत से कई गुना बेहतर देश बनाती है?

कोविड से जूझते हुए UPSC में तीसरी रैंक लाने वाली अंकिता जैन ने ऐसे की तैयारी

कोविड से जूझते हुए UPSC में तीसरी रैंक लाने वाली अंकिता जैन ने ऐसे की तैयारी

अंकिता के पति IPS हैं, बहन ने भी 21वीं रैंक हासिल की है.

महिला अधिकार कार्यकर्ता कमला भसीन का 75 वर्ष की उम्र में निधन

महिला अधिकार कार्यकर्ता कमला भसीन का 75 वर्ष की उम्र में निधन

नारीवाद और पितृसत्ता पर कई किताबें लिखी हैं, जिनमें से कई का 30 से अधिक भाषाओं में अनुवाद हुआ.

UPSC की महिला टॉपर जागृति अवस्थी, BHEL में इंजीनियर थी, नौकरी छोड़ दूसरे प्रयास में पाई सफलता

UPSC की महिला टॉपर जागृति अवस्थी, BHEL में इंजीनियर थी, नौकरी छोड़ दूसरे प्रयास में पाई सफलता

ग्रामीण, महिला और बाल विकास के क्षेत्र में काम करना चाहती हैं.