Submit your post

Follow Us

छत्तीसगढ़ः मां पर बेटे का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगा है

छत्तीसगढ़ का जशपुर जिला. यहां एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि उसकी पत्नी ने उसकी मर्ज़ी के बिना उसके आठ साल के बेटे का धर्म परिवर्तन कर दिया. उसने आरोप लगाया है कि पत्नी ने बेटे का खतना करवाकर उसका मुस्लिम नाम रख दिया. पुलिस ने इस मामले में IPC और धर्म की आज़ादी कानून के तहत केस दर्ज कर लिया है.

ये शिकायत चितरंजन सोनी नाम के शख्स ने अपनी पत्नी रेश्मा अंसारी के खिलाफ करवाई है. दोनों की 10 साल पहले हिंदू रीति-रिवाज से शादी हुई थी. जशपुर जिले के सन्ना गांव में दोनों रहते हैं. इस जोड़े के दो बच्चे हैं. आठ साल का बेटा और छह साल की बेटी.

चितरंजन सोनी ने पुलिस को बताया,

“नवंबर, 2020 में मेरी पत्नी मेरे बेटे को उसके ननिहाल लेकर गई थी. वहां उसने उसका खतना करवा दिया, जिसके बारे में मुझे बाद में पता चला.”

शख्स ने ये आरोप भी लगाए हैं कि उसकी पत्नी उस पर भी इस्लाम कुबूल करने का दबाव बनाया था. उसने बताया कि ससुराल वालों ने धर्म परिवर्तन करने पर पिकअप गाड़ी देने का लालच भी दिया था.

जशपुर की असिस्टेंट सुप्रिटेंडेंट ऑफ पुलिस प्रतिभा पांडे ने न्यूज़ एजेंसी PTI को बताया कि आईपीसी की धारा 295-ए (धार्मिक भावनाओं को आहत करना), 324 (जानबूझकर ख़तरनाक हथियारों या साधनों से चोट पहुंचाना) के साथ छत्तीसगढ़ धर्म स्वतंत्रता अधिनियम के तहत FIR दर्ज की गई है और महिला को हिरासत में ले लिया गया है.

इस मामले  पर राजनीति भी शुरू हो गई है. बीजेपी नेता और राज्य के पूर्व कैबिनेट मंत्री गणेश राम भगत ने कहा,

“लोगों ने धर्म की रक्षा के लिए बड़ी संख्या में विरोध किया. उसके बाद पुलिस ने FIR दर्ज की. धर्म की रक्षा ऐसे ही की जानी चाहिए.”

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने भी मामले को संज्ञान में लिया और इस संबंध में जशपुर कलेक्टर को पत्र लिखा.

बच्चे को पिता का धर्म क्यों मिलता है?

हम शुरू ऐसे कर सकते थे कि भारत एक पुरुष सत्तात्मक देश है. इस वजह से ये बाय डिफॉल्ट मान लिया जाता है कि जो पिता का धर्म या जाति होगी, बच्चों का भी वही धर्म या जाति होगी. लेकिन इसे लेकर क्या क्या कहता है? ये समझने के लिए हमने मदद ली कनुप्रिया से. उन्होंने डॉक्टर पारस दीवान की किताब ‘Allahabad Law Agency’s Family Law’ के कुछ हिस्से हमें भेजे. इसमें लिखा था,

हिंदू कानून के मुताबिक, बच्चे के जन्म के वक्त माता-पिता में से कोई एक अगर हिंदू है तो बच्चा हिंदू होगा. वहीं शरिअत भी कहता है कि यदि एक पेरेंट मुस्लिम है तो बच्चा मुस्लिम होगा.

डॉक्टर पारस जैन लिखते हैं कि इंटरफेथ शादियों के केस में बच्चे का धर्म वो माना जाता है जिसे मानते हुए वो बड़ा हुआ हो. फिर चाहे वो धर्म मां का हो या फिर पिता का. लेकिन, पितृ सत्तात्मक व्यवस्था के चलते अमूमन ये मान लिया जाता है कि जो पिता का धर्म है, वही बच्चे का धर्म होगा. जबकि ऐसा होता नहीं है. बच्चे के पास अपने विवेक के आधार पर अपना धर्म चुनने का अधिकार होता है. धर्म चुनने का फैसला बालिग होने के बाद यानी 18 साल का होने के बाद लिया जा सकता है.

यानी अगर माता-पिता अलग-अलग धर्म का पालन करते हैं तो वो अपने बच्चे पर अपने धर्म का पालन करने का दबाव नहीं बना सकते हैं. ये भी धार्मिक स्वतंत्रता का हनन माना जाएगा.


 

 

पड़ताल: 34 मुस्लिम परिवारों के हिन्दू धर्म अपनाने का दावा गलत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

उन्नाव रेप विक्टिम की मां लड़ेंगी UP विधानसभा चुनाव, कांग्रेस ने बनाया उम्मीदवार

उन्नाव रेप विक्टिम की मां लड़ेंगी UP विधानसभा चुनाव, कांग्रेस ने बनाया उम्मीदवार

125 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट में 50 महिलाओं का नाम.

औरतों का वो ताकतवर वीडियो जिसे देखकर तालिबानी किलस जाते हैं

औरतों का वो ताकतवर वीडियो जिसे देखकर तालिबानी किलस जाते हैं

आवाज़ दबाने वाले तालिबान के खिलाफ काबुल की औरतें फिर से सड़क पर उतर रही हैं.

Siddharth ने 'Bull and Cock' फ्रेज का इस्तेमाल किया, उसके मायने क्या हैं?

Siddharth ने 'Bull and Cock' फ्रेज का इस्तेमाल किया, उसके मायने क्या हैं?

साइना से सिद्धार्थ किलसे क्यों?

तालिबान को महिलाओं के नहाने से क्या दिक्कत है?

तालिबान को महिलाओं के नहाने से क्या दिक्कत है?

क्या होते हैं हमाम जो बंद करवाए जा रहे हैं?

स्वेटर के साथ साड़ी पहनना अजीब लगता है? ये रहे कुछ सुपर कूल स्टाइल्स

स्वेटर के साथ साड़ी पहनना अजीब लगता है? ये रहे कुछ सुपर कूल स्टाइल्स

ब्लेज़र, स्वेटर, हाई नेक सबके साथ पहनी जा सकती है साड़ी.

डेटिंग ऐप पर मिली लड़की ने लड़के को सवालों की लिस्ट भेजी, ट्विटर की मौज आ गई

डेटिंग ऐप पर मिली लड़की ने लड़के को सवालों की लिस्ट भेजी, ट्विटर की मौज आ गई

सवाल ऐसे हां कहकर भी फंसे, न कहकर भी फंसे?

साइना नेहवाल पर 'अभद्र' ट्वीट को लेकर एक्टर सिद्धार्थ ने क्या सफाई दी

साइना नेहवाल पर 'अभद्र' ट्वीट को लेकर एक्टर सिद्धार्थ ने क्या सफाई दी

सिद्धार्थ ने जो कहा क्या उसे बदतमीज़ी की कैटेगिरी में रखा जाना चाहिए?

इंजीनियरिंग कॉलेज में लड़कियों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है?

इंजीनियरिंग कॉलेज में लड़कियों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है?

इंजीनियरिंग में लड़कियां कम क्यों हैं ?

कहीं आपको भी देर तक पेशाब रोककर रखने की आदत तो नहीं है?

कहीं आपको भी देर तक पेशाब रोककर रखने की आदत तो नहीं है?

जानें कितनी देर तक पेशाब रोककर रख सकता है शरीर?

बच्चा पैदा करने को कहने वाले प्रेगनेंसी के ये सच क्यों नहीं बताते

बच्चा पैदा करने को कहने वाले प्रेगनेंसी के ये सच क्यों नहीं बताते