Submit your post

Follow Us

कोविड के पहले टेस्ट में +ve निकली गर्भवती, दूसरे टेस्ट की रिपोर्ट देखकर दिमाग खराब हो गया

चंडीगढ़ का सेक्टर 27. यहां एक परिवार है. जिसको प्राइवेट कोविड टेस्टिंग लैब्स ने संशय में डाल दिया है. 24 घंटे में दो बार कोरोना का टेस्ट हुआ और दोनों का रिजल्ट अलग-अलग आया. कंफर्म ही नहीं है कि कोरोना हुआ है या नहीं. पता नहीं. पहले आई रिपोर्ट पॉजिटिव और ठीक दूसरे दिन टेस्ट करवाया तो नेगेटिव. इस मामले के बाद क्षेत्र के पार्षद ने प्रशासन को चिट्ठी लिखी है. और दोनों रिपोर्ट्स भी भेजी हैं और अपील की है कि वो इस मामले में संज्ञान लें.

पूरा मामला जानिए-

मामला चंडीगढ़ का है. सेक्टर 27 में रह रहे इस परिवार में एक गर्भवती महिला हैं. उनका घरवालों ने दो बार कोरोना का टेस्ट करवाया. सिर्फ क्रॉसचेक करने के लिए. कि इन्हें सच में संक्रमण है या नहीं. एक लैब ने इन्हें रिपोर्ट पॉजिटिव बताई और दूसरे ने नेगेटिव.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, महिला का आखरी महीना चल रहा था प्रेगनेंसी का. इसलिए उनके पति ने कोरोना टेस्ट कराने का फैसला किया. 8 सितंबर को महिला की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. टेस्ट RT-PCR तकनीक  से हुआ था. लेकिन फिर उनके पति को लगा कि एक बार क्रॉस चेक कर लेते हैं. कि लैब की रिपोर्ट सही है या नहीं. दूसरी लैब के स्टार मेंबर ने 9 सितंबर को 15 लोगों का सैम्पल लिया और सबका रिजल्ट नेगेटिव आया. इसी से सब परेशान हो गए.  महिला के पति ने बताया-

पत्नी की प्रेगनेंसी का आखरी महीना चल रहा था, इसलिए मैंने कोरोना टेस्ट कराने का फैसला किया. जब उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई, तो मैंने सोचा कि परिवार के सभी सदस्यों समेत पत्नी का क्रॉस चेक करने के लिए टेस्ट करवाया जाए. 9 सितंबर को लैब के स्टाफ मेंबर को बुलाया और सबका टेस्ट करवाया. 15 लोगों का सैम्पल कलेक्ट किया गया. लेकिन सबकी रिपोर्ट नेगेटिव आई. पत्नी की भी.

इसके बाद मैं अपनी पत्नी को लेकर मोहाली के प्राइवेट अस्पताल गया. वहां डॉक्टर्स ने उसे कोरोना केयर वॉर्ड में भर्ती किया. 11 सितंबर को उसने बच्चे को जन्म दिया. और इसके साथ ही परिवार के सभी सदस्यों की कोरोना नेगेटिव बताया. पर अब मुझे समझ नहीं आ रहा कि मैं इस पर कैसे रिएक्ट करूं? क्योंकि दोनों टेस्ट को RT-PCR तकनीकि से हुए थे. और रिपोर्ट में अंतर है. पहले पॉजिटिव और फिर नेगेटिव.

पार्षद का कहना है कि

प्राइवेट कोविड टेस्टिंग लैब्स ने गलत रिपोर्ट्स दी हैं. लोगों को गुमराह करके पैसे वसूल रही हैं. मैं सरकारी टेस्टिंग फैसिलिटी को बढ़ावा देने की मांग करता हूं. इससे एक तो सही रिपोर्ट मिलेगी. और ये साफ होगा कि चंडीगढ़ में असल में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या कितनी है.

महिला के पति  के मुताबिक, उनकी पत्नी कोविड केयर वॉर्ड में हैं. उनसे अभी किसी को मिलने नहीं दिया जा रहा है. और उनका बच्चा भी सुरक्षा के लिहाज से ICU में रखा गया है.



वीडियो देखें : बेंगलुरु: डेटा एंट्री की गड़बड़ी के कारण महिला को कोरोना पॉजिटिव बता दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

उत्तराखंड: परिवार की मर्जी के खिलाफ शादी की, तो घर के सामने ही गोलियों से भून डाला!

उधम सिंह नगर जिले से आया ऑनर किलिंग का खौफनाक मामला.

झारखंड : फेसबुक पर दोस्त बने लड़के से मिलने गई, घर जिंदा नहीं लौटी!

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में लड़की के साथ रेप की पुष्टि हुई है.

पार्क में एक्ट्रेस और उनकी दोस्तों से मारपीट के आरोप पर क्या बोलीं कांग्रेस नेता?

एक्ट्रेस सम्युक्ता हेगड़े ने लाइव वीडियो बनाया था. अब कविता रेड्डी ने भी अपना पक्ष रखा है.

मैट्रिमोनियल साइट पर दोस्ती की और फिर झूठ बोल-बोलकर 6.19 लाख रुपये ठग लिए

पैसे न देने पर प्राइवेट फोटो पब्लिक करने की धमकी देता था.

लड़की की एक चालाकी ने दिल्ली के पार्कों में 20 गैंगरेप करने का आरोपी गैंग पकड़वा दिया!

दोस्तों के साथ घूमने आने वाली लड़कियों को बनाते थे शिकार, रेप के विडियो वायरल करने की देते थे धमकी.

139 लोगों के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराने वाली महिला अब अलग ही बात कह रही है

हैदराबाद का मामला है. 42 पन्नों में इस केस की FIR हुई थी.

बच्चों और महिलाओं के साथ हिंसा की खुलेआम वकालत कर रही है ये वेबसाइट!

ऐसी-ऐसी बातें लिखी हैं कि पढ़कर इंसानियत पर से भरोसा उठ जाए.

कोरोना पॉजिटिव बताकर 14 दिन दवा खिलाई, फिर पता चला कभी संक्रमण था ही नहीं

होम आइसोलेशन के दौरान वे दवाएं भी खानी पड़ी जिनसे महिला को एलर्जी थी.

इंजीनियर ने कथित तौर पर नौ महीने की बच्ची के साथ पांचवी मंजिल से कूदकर जान दे दी

महिला के परिजनों ने ससुरालवालों पर धक्का देने का आरोप लगाया.

आरोप: घर बुलाकर स्कूल के मैनेजर ने छात्रा का रेप कर वीडिया बनाया था, पुलिस ने गिरफ्तार किया

पॉक्सो समते IPC की कई धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ.