Submit your post

Follow Us

ये एक्ट्रेसेस सोशल मीडिया पर अपना नाम क्यों बदल रही हैं?

फोटो/वीडियो शेयरिंग ऐप इंस्टाग्राम पर एक ट्रेंड चल रहा है. बॉलीवुड के सेलेब्रिटी अपनी अपनी तसवीरें लगा रहे हैं. और उन पर महिलाओं के नाम लिख रहे हैं. ऐसी महिलाएं जो घरेलू हिंसा का शिकार हुईं. लेकिन उनके लिए आवाज़ नहीं उठी. ये सांकेतिक नाम हैं, जिनका इस्तेमाल भारत में बढ़ रही घरेलू हिंसा के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए किया जा रहा है. इसका नाम लॉकडाउन में लॉकअप रखा गया है. ट्विटर पर भी इस हैशटैग के साथ पोस्ट किए जा रहे हैं. कुछ तस्वीरें ये रहीं:

1.

Swara Bhaskar
(तस्वीर क्रेडिट: स्वरा भास्कर का इंस्टाग्राम पेज)

2.

Shilpa Shetty 700
(तस्वीर क्रेडिट: शिल्पा शेट्टी का इंस्टाग्राम पेज)

3.

Mouni Roy 700
(तस्वीर क्रेडिट: मौनी रॉय का इंस्टाग्राम पेज)

4.

Karisma Kapoor 700
(तस्वीर क्रेडिट: करिश्मा कपूर का इंस्टाग्राम पेज)

हर तस्वीर के साथ एक कैप्शन डाला गया. घरेलू हिंसा की विक्टिम का नाम लिखकर इन सेलेब्रिटीज़ ने लिखा,

‘आज मैं उसकी और कई दूसरी घरेलू हिंसा की शिकार विक्टिम्स की आवाज हूं. जिन्हें कोई सुन नहीं रहा, और वो इस लॉकडाउन के दौरान अपने प्रताड़कों के साथ घर में बंद हैं. SNEHA नाम का NGO पिछले 20 साल से घरेलू हिंसा के खिलाफ काम कर रहा है. बढ़ते मामलों के चलते NGO के संसाधनों पर काफी दबाव पड़ा है. उन्हें इस काम के लिए फंड की ज़रूरत है.’

इसके बाद ये बताया गया कि इस NGO की साइट पर घरेलू हिंसा की कई विक्टिम्स के नाम हैं. उनमें से एक चुनकर आप अपनी फोटो के साथ पोस्ट करके उन्हें सपोर्ट कर सकते हैं. साथ ही उन्हें पैसे भी डोनेट कर सकते हैं. सेलेब्रिटीज़ में अपनी तस्वीर तो डाली ही, साथ ही साथ दूसरों को भी टैग किया.

घरेलू हिंसा का डरावना सच

हाल में ही रिपोर्ट आई थी कि लॉकडाउन की वजह से कई लोग अपने हिंसक पार्टनर्स/परिवार के सदस्यों के साथ घर में बंद होने को मजबूर हैं. इस वजह से उनके ऊपर होने वाली हिंसा भी बढ़ गई है. नेशनल कमीशन फॉर विमेन के अनुसार 23 मार्च से लेकर 16 अप्रैल के बीच कमीशन के पास 239 शिकायतें आईं. मेल और वॉट्सऐप के ज़रिए. आम दिनों के मुकाबले ये संख्या दुगुनी है.

18 अप्रैल को दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र और आम आदमी पार्टी की सरकार को निर्देश दिए कि घरेलू हिंसा से लड़ने के लिए टॉप लेवल की मीटिंग बुलाई जाए. और लॉकडाउन के दौरान विक्टिम्स को सुरक्षित रखा जाए.

विद्या बालन ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया था जिसमें कई जाने माने सितारे जैसे शबाना आज़मी, माधुरी दीक्षित, सुनील शेट्टी, साक्षी तंवर, नंदिता दास, सचिन तेंदुलकर नज़र आए.

इन्होंने मैसेज दिया कि अगर आपके आस-पास घरेलू हिंसा हो रही है, या आप खुद इसके शिकार हो रहे हैं, तो रिपोर्ट कीजिए. ताकि इस पर लगाम लगाने में मदद मिल सके.


वीडियो: टिक टॉक पर ट्रेंडिंग एक चैलेंज को पूरा करने में टीवी कलाकार बुरा फंसे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

बच्ची ने दुकान खोलने से मना किया तो AIADMK के दो नेताओं ने उसे ज़िंदा जला दिया

लड़की के पिता के साथ पुरानी दुश्मनी थी, बदला ले लिया.

दिल्ली: ऑटो ड्राइवर ने पहले गर्भवती पत्नी की हत्या की, फिर पुलिस को बता दी पूरी कहानी

खुद ही सरेंडर करने भी पहुंच गया.

21 साल की नन की लाश कुएं में मिली, दूसरी नन ने लिखा- और कितनी लाशें चाहिए आंखें खोलने के लिए?

पुलिस का एक ही जवाब- जांच चल रही है.

'बॉयज़ लॉकर रूम' में नहीं हुई थी गैंगरेप प्लानिंग, लड़की ने लड़के की फेक ID बनाकर ये बात की थी

मार्च के महीने में हुई थी ये बातचीत.

80 साल के बुजुर्ग पर 22 साल की लड़की के रेप का आरोप

मामला अप्रैल का है, पीड़िता ने 8 मई को केस दर्ज कराया.

अस्पताल के कर्मचारियों पर आरोप- डिलीवरी के बाद महिला का यौन शोषण किया

दूध की टेस्टिंग के लिए महिला को सैंपल देना था.

बॉयज़ लॉकर रूम: विक्टिम ने बताया, लड़कों के घरवाले शिकायत वापस लेने को कह रहे हैं

इंस्टाग्राम के इस ग्रुप के चैट वायरल होने के बाद छानबीन शुरू.

अफेयर का शक था, इसलिए पुलिसवाले ने कॉन्स्टेबल पत्नी को गोली से उड़ा दिया

अगले दिन कुछ ऐसा हुआ, जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी.

जामिया की सफ़ूरा के अजन्मे बच्चे को 'नाजायज़' कहने वालों की अब खैर नहीं!

दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस के सामने तीन मांगें रखी हैं.

'बॉयज़ लॉकर रूम' में लड़कियों का रेप प्लान करने वाले लड़कों का भांडा कैसे फूटा?

इस इंस्टाग्राम ग्रुप के एडमिन को दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने गिरफ्तार किया है.