Submit your post

Follow Us

मध्य प्रदेश: रेप की कोशिश में लड़की की रीढ़ की हड्डी तोड़ी

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल. यहां के कोलार इलाके में 24 साल की एक लड़की से ऐसी हैवानियत हुई कि अब वह छह महीने तक बेड से उठ तक नहीं सकती. खबर के मुताबिक, आरोपी ने पीड़िता का बलात्कार करने की कोशिश में उसे इतना पीटा कि उसकी रीढ़ की हड्डी टूट गई. डॉक्टरों को उसमें स्क्रू लगाने पड़े हैं. पीड़िता के सिर में भी चोटें आई हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, रेप की कोशिश में आरोपी ने ऐसी हैवानियत दिखाई कि खौफ में आकर पीड़िता ने उससे यह तक कह दिया कि ‘अगर उसे बलात्कार करना है तो कर ले, लेकिन जान से ना मारे’. पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है.

क्या है मामला?

आजतक से जुड़े संवाददाता रवीश पाल सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक-

“लड़की की मां ने बताया कि उनकी बेटी के साथ यह बर्बरता करीब एक महीना पहले हुई. वह भोपाल स्थित अपने घर के पास एक शाम ईवनिंग वॉक कर रही थी. इसी दौरान सुनसान इलाका और अंधेरा देख एक लड़के ने उसे धक्का देकर सड़क से नीचे की ओर धकेल दिया और उनकी बेटी के साथ जबरदस्ती करने लगा. युवक उसके साथ लगातार मारपीट कर रहा था और उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश कर रहा था. लड़की जब जोर से चीखने लगी तो सड़क पर से गुजर रहे लोग उस ओर भागे, जिसे देखकर आरोपी भाग गया.”

इसके बाद पीड़िता को अस्पताल ले जाया गया. वहां पता लगा कि उसे इस बर्बरता से इतना पीटा गया कि उसके सिर, गले और पीठ पर गंभीर चोट आई. करीब 10 दिन तक अस्पताल में भर्ती रहने के बाद 25 जनवरी के दिन पीड़िता को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया. फिलहाल वह बिस्तर पर अपनी मां की देखरेख में है. रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की की रीढ़ की हड्डी में रॉड लगाई गई है और उसे स्क्रू से कसा गया है. इसके अलावा लड़की को हार्ड प्लास्टिक एक कवर पहनाया गया है. इससे वह हिल नहीं सकती. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि पीड़िता के हिलने से हड्डी में लगाए गए स्क्रू पर असर ना पड़े.

पीड़िता की रीढ़ की हड्डी की मरम्मत के लिए यह प्लास्टिक कवर पहनाया गया है.
पीड़िता की रीढ़ की हड्डी को जोड़ने के लिए यह प्लास्टिक कवर पहनाया गया है.

बेटी के साथ हुई बर्बरता से उसकी मां भी सदमे में है. वे बताती हैं-

“जब मैंने अपनी बेटी से बात की तो उसने आपबीती बताई और कहा कि जब लड़का उसे बेरहमी से मार रहा था, तब उनकी बेटी ने एक पल के लिए समझा कि वह इस मारपीट से मर ही जाएगी. मेरी बेटी चिल्ला रही थी और लड़का उसके सिर पर पत्थर से वार कर रहा था. इसलिए उसने लड़के को कह दिया कि उसे जो करना है कर ले पर मारे नहीं.”

पीड़िता की मां ने बताया कि शुरुआत में पुलिस ने इस मामले में केवल छेड़छाड़ का केस दर्ज किया था. उन्होंने इस बारे में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी ज्ञापन भेजा. इसके बाद बड़े अधिकारियों ने उनकी हरसंभव मदद करने की बात कही. हालांकि, पुलिस ने अभी तक आरोपी की शिनाख्त बेटी से नहीं करवाई है.

पुलिस ने क्या किया?

इस मामले में आजकत संवाददाता ने DIG इरशाद वली से बात की. उन्होंने बताया-

“घटना 16 जनवरी की है. मामले में FIR दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई थी. पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज भी मिला था. लेकिन वह साफ नहीं थी. इसलिए चश्मदीदों के बयानों के आधार पर एक आरोपी को दबोचा गया, जिसने पूछताछ में अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है. पहले धारा 154 के तहत मामला दर्ज किया गया था. लेकिन डिस्चार्ज रिपोर्ट के आधार पर अब मामले में धाराएं बढ़ाते हुए धारा 376 और 307 भी FIR में जोड़ दी गई है.”

पीड़िता से आरोपी की शिनाख्त कराने में देरी करने के आरोपों पर डीआईजी ने बताया,

“क्योंकि पीड़िता की स्थिति ऐसी नहीं है कि उसे कहीं ले जाया जा सके. इसलिए आरोपी की शिनाख्त नहीं हो सकी है. पीड़िता की मां और एक रिश्तेदार को आरोपी से मिलवाया गया था. अब सीएसपी के एक नेतृत्व में एक एसआईटी बनाई गई है, जो और बारीकी से इन्वेस्टिगेशन करेगी ताकि आरोपी बच ना सके.”

डीआईजी के मुताबिक, SIT लड़की से वॉइस सैंपल के जरिए भी आरोपी की पहचान करवाएगी. इरशाद वली ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था और दो बार उसकी जमानत याचिका भी खारिज हो चुकी है. आरोपी का पहले भी आपराधिक रिकॉर्ड रहा है.

Rahul Gandhi का ट्वीट.
Rahul Gandhi का ट्वीट.

इस मामले को लेकर अब शिवराज सरकार पर सवाल भी उठ रहे हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि भोपाल रेप पीड़िता एक महीने के बाद भी न्याय से कोसों दूर है, क्योंकि BJP हमेशा पीड़िता को ही रेप का जिम्मेदार ठहराती है और कार्रवाई में ढील देती है, जिससे अपराधियों का फायदा होता है. राहुल ने शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए कहा, “यही है सरकार के ‘बेटी बचाओ’ का सच.”

वीडियो- उन्नाव में दो नाबालिग दलित लड़कियों की मौत, एक गंभीर

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

महिला रोजगार को लेकर आई ये खबर चिंता बढ़ाने वाली है

महिला रोजगार को लेकर आई ये खबर चिंता बढ़ाने वाली है

इस मामले में इंडोनेशिया और सऊदी अरब से भी पीछे हैं हम.

आलिया कश्यप ने बताया- 'रेट' पूछने वाले ट्रोल्स के साथ वो ऐसा सुलूक करती हैं

आलिया कश्यप ने बताया- 'रेट' पूछने वाले ट्रोल्स के साथ वो ऐसा सुलूक करती हैं

बताया- लोग मैसेज करके रेप-मर्डर की धमकी देते हैं.

स्वाति मोहनः वो साइंटिस्ट जिनके बिना NASA का रोवर मंगल पर नहीं उतर पाता

स्वाति मोहनः वो साइंटिस्ट जिनके बिना NASA का रोवर मंगल पर नहीं उतर पाता

बच्चों की डॉक्टर बनना चाहती थीं, फिर कैसे पहुंचीं NASA तक?

पुडुचेरी में किरण बेदी की जगह लेने वाली तमिलिसाई सुंदराराजन कौन हैं?

पुडुचेरी में किरण बेदी की जगह लेने वाली तमिलिसाई सुंदराराजन कौन हैं?

वो तेलंगाना की पहली महिला गवर्नर भी हैं.

बेटियों के साथ फोटो डालकर एक्ट्रेस ने पूछा, 'बेटा होने से ही परिवार पूरा होता है क्या?'

बेटियों के साथ फोटो डालकर एक्ट्रेस ने पूछा, 'बेटा होने से ही परिवार पूरा होता है क्या?'

साथ में एक पते की बात कही है.

श्वेता मीटिंग में माइक म्यूट करना भूल गई और अब सबको 'पंडित' के अफ़ेयर के बारे में पता है

श्वेता मीटिंग में माइक म्यूट करना भूल गई और अब सबको 'पंडित' के अफ़ेयर के बारे में पता है

अगली श्वेता बनने से ऐसे बचें.

राहुल गांधी पैट्रियार्की से लड़ना चाहते हैं, लेकिन उनके तरीके सही नहीं हैं

राहुल गांधी पैट्रियार्की से लड़ना चाहते हैं, लेकिन उनके तरीके सही नहीं हैं

पितृसत्ता के खिलाफ बोल रहे थे, पर उसी को बल देने वाला उदाहरण दे दिया.

किरण बेदी के पांच विवाद जिन्होंने दमदार IPS की छवि की भद्द पीट दी

किरण बेदी के पांच विवाद जिन्होंने दमदार IPS की छवि की भद्द पीट दी

PDS के तानाशाही फैसले से लेकर नस्लभेदी ट्वीट तक...

प्रिया रमानी के बरी होने पर लोग बोले- हम उस बात का जश्न मना रहे, जिसकी जरूरत ही नहीं होनी चाहिए

प्रिया रमानी के बरी होने पर लोग बोले- हम उस बात का जश्न मना रहे, जिसकी जरूरत ही नहीं होनी चाहिए

यौन शोषण के आरोपी ने विक्टिम को कोर्ट में घसीटा, फैसले ने सोशल मीडिया का दिल जीत लिया.

किस तरह प्रिया रमानी के एक ट्वीट ने लिख दी केंद्रीय राज्यमंत्री रहे एमजे अकबर के पतन की कहानी

किस तरह प्रिया रमानी के एक ट्वीट ने लिख दी केंद्रीय राज्यमंत्री रहे एमजे अकबर के पतन की कहानी

प्रिया सहित करीब 20 महिला पत्रकारों ने मीटू मूवमेंट के दौरान एमजे अकबर पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे.