Submit your post

Follow Us

भारत में MeToo का बिगुल बजाने वाली तनुश्री ने लड़ाई छोड़ दी है!

भावना मेनन और तनुश्री दत्ता. इन दोनों में क्या कॉमन है? दोनों एक्ट्रेसेस हैं और दोनों ने ही अपने वक्त के नामी अभिनेताओं के खिलाफ MeToo कैम्पेन के तहत आरोप लगाए थे. अंतर क्या है? भावना ने इंसाफ के लिए अपनी लड़ाई जारी रखी है, लेकिन इस सिस्टम ने तनुश्री को इतना निराश किया कि उन्होंने इस लड़ाई से दूरी बनाकर अपने लिए शांति को चुन लिया है.

दरअसल, साउथ इंडियन एक्ट्रेस भावना मेनन ने पांच साल पहले अपने साथ हुए यौन शोषण के मामले को लेकर पोस्ट लिखा है. इस पोस्ट में उन्होंने बताया है कि इन पांच सालों में उनके साथ कैसा व्यवहार किया गया. उन्होंने अपने साथ खड़े लोगों का आभार व्यक्त करते हुए लिखा है कि वो ये लड़ाई रखेंगी. वहीं, भावना के पोस्ट को रीपोस्ट करते हुए तनुश्री ने उनकी हिम्मत की दाद दी. साथ ही बताया है कि अब वो इस विषय पर बात करना अवॉइड करती हैं क्योंकि ये उन्हें एंग्जायटी, डिप्रेशन और तकलीफ के अलावा कुछ नहीं देता.

भावना ने क्या लिखा

भावना ने लिखा,

“ये सफर आसान नहीं था. विक्टिम से सर्वाइवर बनने का सफर. बीते पांच साल से मेरे नाम और मेरी पहचान को उस अपराध के बोझ से दबाया जा रहा है जो मेरे साथ हुआ. मैंने कोई अपराध नहीं किया, लेकिन मुझे चुप कराने की, शर्मिंदा करने की और अलग-थलग कर देने की कई कोशिशें की गईं. पर ऐसे वक्त में कुछ लोग थे जिन्होंने मेरी आवाज़ को जिंदा रखा. आज जब मैं कई लोगों को अपने लिए आवाज़ उठाते देखती हूं तो मुझे पता चलता है कि इंसाफ की इस लड़ाई में मैं अकेली नहीं हूं.

मैं ये सफर जारी रखूंगी. इंसाफ के लिए, अपराधियों को सज़ा दिलाने के लिए और ये सुनिश्चित करने के लिए कि कोई और ऐसे मुश्किल दौर से न गुज़रे. जो मेरे साथ खड़े हैं उनका तहे दिल से शुक्रिया.”

क्या हुआ था भावना के साथ?

फरवरी, 2017 भावना अपनी कार से नैशनल हाईवे पर ट्रैवल कर रही थीं. इस दौरान सुनील कुमार उर्फ पल्सर सुनी नाम के एक शख्स ने उनकी कार में ही उनका अपहरण कर लिया. इस दौरान उसने भावना का यौन शोषण किया और उनकी आपत्तिजनक तस्वीरें क्लिक कर लीं. आरोपी ने एक्ट्रेस के वीडियो भी बनाए. इस दौरान मामले के अन्य आरोपी उनकी कार के पीछे एक दूसरी गाड़ी से चल रहे थे. घटना के बाद मुख्य आरोपी एक्ट्रेस की कार से उतरकर दूसरी गाड़ी में बैठ गया और वो लोग मौके से फरार हो गए. जांच में सामने आया कि इस घटना की साजिश लंबे वक्त से चल रही थी और एक्ट्रेस के साथ काम कर चुका एक शख्स भी प्लानिंग का हिस्सा था. भावना ने एक्टर दिलीप पर आरोप लगाया था इस प्लानिंग के पीछे उनका हाथ है. उन्होंने कहा था कि दिलीप से उनकी अनबन है और इसी के चलते उन्होंने ये साजिश रची थी.

Tanushree Dutta ने लिखा- ये केवल ऊर्जा की बर्बादी है

भावना का ये पोस्ट एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने भी पोस्ट किया है. बता दें कि तनुश्री ने अक्टूबर, 2018 में नाना पाटेकर पर आरोप लगाया था कि उन्होंने फिल्म ‘हॉर्न ओके प्लीज़’ की शूटिंग के दौरान उनका यौन शोषण किया था. भावना की तारीफ करते हुए तनुश्री ने अपने सफर के बारे में बताया. उन्होंने लिखा,

“ऐसे मुश्किल वक्त में आपके पास इमोशनल और फाइनेंशियल सपोर्ट होना ज़रूरी होता है. मुझे खुद को, अपनी ज़िंदगी को और अपने करियर को संभालना पड़ा…. उन सबने मुझे शर्मिंदा किया, छोटा महसूस कराया जिनके पास कुछ कहने या कर पाने की ताकत और प्लैटफॉर्म था. सारे फेक फेमिनिस्ट रातों रात गायब हो गए. मुझे बेसिक सर्वाइवल के लिए स्ट्रगल करना पड़ा. आंदोलनों से घर नहीं चलता!

ये शोबिज़ है और कहते हैं कि आप उतने ही अच्छे दिखते हैं जितना अच्छा आप महसूस करते हैं. 2008 के बाद 12 साल का एक लंबा वक्त मैंने बुरा महसूस करते हुए, घबराहट, डिप्रेशन, गुस्से और बुरा महसूस करते हुए गुज़ारा. क्रोनिक एन्जायटी के चलते मैं दो साल दवाओं पर रही. अब मैं नॉर्मल और बेहतर महसूस करती हूं क्योंकि मैंने इस टॉपिक को अवॉइड करदिया. हॉर्न ओके प्लीज़ की उस घटना के बाद एंग्जायटी, डिप्रेशन और PTSD के चलते मैं कई साल तक कोई काम ठीक से नहीं कर पाई.

Tanushree Post
एक्ट्रेस तनुश्री की पोस्ट के एक हिस्से का स्क्रीनशॉट.

मैं हमेशा ऐसे नहीं रह सकती थी, इसलिए मैंने इसे इग्नोर करने का फैसला किया. ताकि मैं अपने काम और सेहत पर फोकस कर सकूं. ये विषय हमेशा गंभीर एंग्जायटी और स्ट्रेस लेकर आता है और ये मेरी सेहत को खराब कर रहा था. इससे मुझे कुछ नहीं मिल रहा था. मुझे कभी जस्टिस सिस्टम पर खास भरोसा नहीं रहा और इतने पुराने मामले में नतीजे की संभावना वैसे भी नहीं है. तो मैंने शांति को चुन लिया.

मुख्य गवाह चुप करा दिए गए. मेरी केस फाइल कोल्ड स्टोरेज में डाल दी गई और बार-बार कोशिश के बाद भी उस पर कुछ नहीं हुआ. जब कोई चाहता ही नहीं कि आप जीतो तो लड़ने का कोई मतलब नहीं है. ये केवल ऊर्जा की बर्बादी है.”

बता दें कि भारत में मीटू मूवमेंट की शुरुआत तनुश्री ने ही की थी. यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद जिस तरीके से उन्हें अकेले छोड़ दिया गया और एक लंबी लड़ाई के बाद, जिस तरीके से उन्हें अपने कदम पीछे खींचने पड़े ये परेशान करने वाला है. ‘जब कोई चाहता ही नहीं कि आप जीतो, तो लड़ने का कोई मतलब नहीं’ उनकी ये लाइन बहुत गहरी चोट करती है. न सिर्फ हमारी संवेदनशीलता पर, बल्कि हमारी न्याय व्यवस्था और सेलिब्रिटी पूजने की व्यवस्था पर भी.


कानूनप्रिया: क्या भारत में लड़के मोलेस्ट नहीं होते? लड़कों का अगर रेप हुआ तो क़ानून क्या कहता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

तालिबान को महिलाओं के नहाने से क्या दिक्कत है?

तालिबान को महिलाओं के नहाने से क्या दिक्कत है?

क्या होते हैं हमाम जो बंद करवाए जा रहे हैं?

स्वेटर के साथ साड़ी पहनना अजीब लगता है? ये रहे कुछ सुपर कूल स्टाइल्स

स्वेटर के साथ साड़ी पहनना अजीब लगता है? ये रहे कुछ सुपर कूल स्टाइल्स

ब्लेज़र, स्वेटर, हाई नेक सबके साथ पहनी जा सकती है साड़ी.

डेटिंग ऐप पर मिली लड़की ने लड़के को सवालों की लिस्ट भेजी, ट्विटर की मौज आ गई

डेटिंग ऐप पर मिली लड़की ने लड़के को सवालों की लिस्ट भेजी, ट्विटर की मौज आ गई

सवाल ऐसे हां कहकर भी फंसे, न कहकर भी फंसे?

साइना नेहवाल पर 'अभद्र' ट्वीट को लेकर एक्टर सिद्धार्थ ने क्या सफाई दी

साइना नेहवाल पर 'अभद्र' ट्वीट को लेकर एक्टर सिद्धार्थ ने क्या सफाई दी

सिद्धार्थ ने जो कहा क्या उसे बदतमीज़ी की कैटेगिरी में रखा जाना चाहिए?

इंजीनियरिंग कॉलेज में लड़कियों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है?

इंजीनियरिंग कॉलेज में लड़कियों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है?

इंजीनियरिंग में लड़कियां कम क्यों हैं ?

कहीं आपको भी देर तक पेशाब रोककर रखने की आदत तो नहीं है?

कहीं आपको भी देर तक पेशाब रोककर रखने की आदत तो नहीं है?

जानें कितनी देर तक पेशाब रोककर रख सकता है शरीर?

बच्चा पैदा करने को कहने वाले प्रेगनेंसी के ये सच क्यों नहीं बताते

बच्चा पैदा करने को कहने वाले प्रेगनेंसी के ये सच क्यों नहीं बताते

आंगनबाड़ी की कर्मियों ने सैलरी बढ़ाने की योगी सरकार की घोषणा में क्या पेच बताया?

आंगनबाड़ी की कर्मियों ने सैलरी बढ़ाने की योगी सरकार की घोषणा में क्या पेच बताया?

सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाल में आंगनबाड़ी कर्मियों का वेतन बढ़ाने का ऐलान किया था.

अरेंज मैरिज से बचने के लिए इस पाकिस्तानी लड़के ने लंदन भर में होर्डिंग लगवा दिए

अरेंज मैरिज से बचने के लिए इस पाकिस्तानी लड़के ने लंदन भर में होर्डिंग लगवा दिए

कमाल तो ये था कि इतने पर भी नहीं रुका.

इस 'फल' का तेल पूरी दुनिया खरीदने में क्यों लगी है?

इस 'फल' का तेल पूरी दुनिया खरीदने में क्यों लगी है?

ऐसा क्या है रोजहिप ऑइल में कि सब इसके इस्तेमाल की सलाह दे रहे हैं?