Submit your post

Follow Us

वायरल वीडियो में हैवानियत करने वाले गिरफ्तार युवकों को पुलिस ने मारी गोली

सोशल मीडिया पर हाल में एक महिला के साथ दुर्व्यवहार का वीडियो वायरल हुआ. इसमें 5 लोग महिला के साथ बर्बरता करते नजर आ रहे थे. वीडियो को लेकर लोगों में खूब आक्रोश दिखा. मामला गरमाने के बाद बेंगलुरू पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया. इनमें एक महिला भी है. 28 मई की सुबह दो आरोपियों ने पुलिस की गिरफ्त से भागने की कोशिश की. पुलिस ने रोकने के लिए उनके पैर में गोली मार दी. अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है.

पुलिस पर पत्थर फेंके, बदले में गोलियां चलीं

गिरफ्तारी के बाद पुलिस जब आरोपियों को मौका-ए-वारदात पर जांच-पड़ताल के लिए लेकर गई, इसी दौरान ये घटना हुई. पुलिस का दावा है कि 2 आरोपियों ने पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया और भागने की कोशिश की. उन्हें रोकने के लिए पुलिस को गोली चलानी पड़ी.

बेंगलुरू ईस्ट के डीसीपी डॉक्टर शरणअप्पा ने इंडिया टुडे को बताया कि

एसीपी बनासवाड़ी सुबह 6.30 से 7 बजे के बीच आरोपियों को मौका-ए-वारदात पर ले गए थे. उसी समय आरोपी हृदय बाबू और सागर ने पुलिस पर पत्थर फेंककर भागने की कोशिश की. पुलिस ने आत्मरक्षा में फायरिंग की. इस घटना में आरोपियों के पैर में चोट आई है. हमने इलाज के लिए उन्हें हॉस्पिटल में शिफ्ट कर दिया है. एसीपी और स्टाफ मेंबर रवि को भी चोटें आई हैं. 

Bengaluru Police Shootout
28 मई की सुबह बेंगलुरू पुलिस आरोपियों को मौका ए वारदात पर लेकर गई तो उनमें से दो आरोपियों ने भागने की कोशिश की. पुलिस ने गोली चलाई तो दोनों घायल हो गए. (फोटो-आजतक)

दरिंदगी का बर्बर वीडियो

जिस वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया, वो बहुत भयावह है. इतना भयावह कि हम उसे आपको नहीं दिखा सकते हैं. वीडियो में चार आदमी और एक औरत मिलकर एक लड़की के साथ बर्बर व्यवहार करते दिख रहे हैं. जबरन लड़की के कपड़े उतारे जा रहे हैं. उसके सिर पर पैर रखा जा रहा है. वो चिल्ला न सके, इसके लिए उसके मुंह पर कपड़ा डाल दिया जाता है.

हालांकि शुरुआत में यह पता नहीं चला था कि पीड़ित लड़की कौन है और घटना कहां की है. कहा गया कि लड़की नॉर्थ-ईस्ट के किसी राज्य की है. उसके बाद, बेंगलुरू पुलिस ने वीडियो में दिख रहे चेहरों की तस्वीरें निकलवाईं. उनकी तलाश शुरू की, तो इन आरोपियों का पता चला. इस बारे में बेंगलुरू के पुलिस कमिश्नर कमल कांत ने ट्विटर पर बताया-

वीडियो और शुरुआती जांच के आधार पर हमने 6 लोगों के खिलाफ रेप और असॉल्ट का मामला दर्ज किया. इनमें से 2 महिलाएं हैं. एक पुलिस की टीम को पास के राज्य में भेजा गया है ताकि पीड़ित को खोजा जा सके. अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, सभी आरोपी एक ग्रुप के सदस्य हैं. माना जाता है कि सभी बांग्लादेशी हैं. पीड़ित महिला भी बांग्लादेशी है. उस मानव तस्करी करके भारत लाया गया था. पैसों के विवाद में उसके साथ बर्बरता की गई. 

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, ये घटना बेंगलुरु के राममूर्ति नगर में पिछले हफ्ते हुई थी. जो आरोपी पकड़े गए हैं, उनके नाम हैं- सागर (23), मोहम्मद बाबू साहिक (30), हृदय बाबू (25) और हकील (23). इनके साथ गिरफ्तार महिला की पहचान पुलिस ने नहीं बताई. सागर, साहिक और हृदय बेंगलुरू के ही रहने वाले हैं. हकील हैदराबाद का है. युवती के साथ दरिंदगी करने के बाद आरोपियों ने ही इसका वीडियो बनाकर ऑनलाइन शेयर किया था. पुलिस की जांच से ये भी पता चला कि युवती को बांग्लादेश से मानव तस्करी करके लाया गया था. लेकिन वह किसी तरह बचकर केरल भाग गई थी. लेकिन गैंग के लोग उसे पकड़कर बेंगलुरू ले आए. उसके बाद बर्बरता की गई.

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि मैंने इस केस के बारे में सुना है. हम सख्त एक्शन ले रहे हैं. ऐसे अमानवीय अपराध के लिए किसी को बख्शा नहीं जाएगा. दोषियों को कड़ा दंड मिलेगा.


वीडियो – नॉर्थ-ईस्ट की लड़की के साथ बर्बरता, अपराधियों की तलाश में जुटी पुलिस

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

झूठ बोलकर स्वरा से सेक्स वर्धक दवा के लिए ट्वीट करवाया, ये जवाब मिला

जनता ने ऐसी लताड़ लगाई कि ट्रोल ट्विटर से उड़न छू हो गया.

भोजपुरी सिंगर शिल्पी राज ने रोते हुए बताया अपनी 'शादी' का सच; मारपीट, धोखाधड़ी के आरोप भी लगाए

यूट्यूब पर दिख रहे 'शिल्पी की शादी' से जुड़े वीडियो के पीछे कौन?

इरफान पठान की हर फैमिली फोटो में उनकी पत्नी का चेहरा छिपा क्यों रहता है?

इसी तरह की एक फोटो पर विवाद हो गया है.

समलैंगिक कपल्स को शादी करने का अधिकार मिलना क्यों ज़रूरी है?

समलैंगिक शादियों को लेकर केंद्र सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट में क्या कहा?

मिडिल क्लास की लड़की, ब्याह के घर बिठा दी जाती लेकिन इस एक बात ने बना दिया पायलट

जोया की कहानी लाखों लड़कियों के लिए एक इंस्पिरेशन है.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ढाई साल पुराने 'मीटू' मामले को अपने ही मंत्री के खिलाफ यूज़ कर रहे हैं?

IAS ऑफिसर ने लगाया था यौन शोषण का आरोप. पहले क्लीनचिट दी, अब नोटिस भेजा.

कोरोना के दौरान बच्चा साथ लेकर ट्रैफिक संभालती ये कॉन्स्टेबल सरकार के मुंह पर तमाचा है

औरत की मजबूरी को 'मां की ममता' कहकर महिमामंडित करना बंद करें.

महिला क्रिकेट टीम के करोड़ों रुपये दबाकर क्यों बैठा है BCCI?

बड़ी नाइंसाफी है.

इंटरनैशनल फुटबॉलर को लॉकडाउन में गुज़ारे के लिए क्या-क्या करना पड़ रहा, सरकार को शर्मिंदा होना चाहिए

नौ महीने पहले मदद का आश्वासन देकर भूल गई सरकार.

बिहार: मरीजों का हाल जानने अस्पताल पहुंची विधायक कुर्सी के लिए डॉक्टर से उलझ गईं

अब वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है.