Submit your post

Follow Us

आयुष गोलीकांड: सुसाइड की धमकी देने के बाद BJP सांसद की बहू ने हाथ की नस काट ली

कौशल किशोर. BJP सांसद हैं. लखनऊ की मोहन लालगंज सीट को लोकसभा में रिप्रेज़ेंट करते हैं. लगभग दो हफ्ते से खबरों में हैं. वजह है इनका बेटा, जिसका नाम है आयुष. 2 मार्च के दिन आयुष के ऊपर किसी ने गोली चलाई थी. बस इसी के बाद से ही आए दिन आयुष गोलीकांड वाले इस केस में नए-नए अपडेट सामने आ रहे हैं. और कौशल किशोर भी लगातार खबरों में बने हुए हैं. मामले में लेटेस्ट अपडेट ये है कि सांसद के घर के पास, उनकी बहू यानी आयुष की पत्नी अंकिता ने सुसाइड की कोशिश की है. रविवार रात यानी 14 मार्च की रात अंकिता ने अपने हाथ की नस काटकर जान देने की कोशिश की. फिलहाल वो खतरे से बाहर हैं.

अंकिता ने सुसाइड की कोशिश से पहले एक वीडियो भी जारी किया था, जिसमें उन्होंने आत्महत्या करने की धमकी भी दी थी. आयुष पर गंभीर आरोप भी लगाए थे. अब अंकिता ने ऐसा क्यों किया? आयुष पर क्या गंभीर आरोप लगाए? आयुष गोलीकांड वाला मामला आखिर है क्या? पुलिस की जांच कहां तक पहुंची है? इन सारे सवालों के जवाब हम आपको देंगे एक-एक करके. मामला काफी पेचीदा है, लेकिन हम कोशिश करेंगे कि इसे आसान तरीके से आपको समझाएं

क्या है आयुष गोलीकांड केस?

2 मार्च की रात लखनऊ में BJP सांसद कौशल किशोर और विधायक जय देवी के बेटे आयुष किशोर को गोली मार दी गई. गोली आयुष को छूते हुए निकल गई. पुलिस को बताया गया कि बाइक सवार आदमियों ने वारदात को अंजाम दिया और फरार हो गए. घायल आयुष को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराकर पुलिस हमलावरों की तलाश में जुट गई. 3 मार्च की सुबह पुलिस को जांच में मामला करवट बदलता नजर आया. जांच में पुलिस को पता चला कि जो गोली आयुष को लगी है, वो उसी की लाइसेंसी पिस्टल से चली थी. इसके बाद जांच का रुख पलट गया. पुलिस ने आयुष के साले आदर्श को हिरासत में लिया. पूछताछ की, जिसमें आदर्श ने बताया कि उसने ही अपने जीजा पर गोली चलाई थी. हालांकि ये भी कहा कि आयुष के कहने पर ही उसने ऐसा किया था. आदर्श के मुताबिक, आयुष की तीन आदमियों से दुश्मनी थी. चंदन गुप्ता, मनीष जायसवाल और प्रदीप कुमार सिंह. इन्हीं तीनों को फंसाने के लिए आयुष ने आदर्श के साथ मिलकर अपने ऊपर गोली चलवाने का प्लान बनवाया था. पुलिस ने भी 3 मार्च को ये जानकारी दी कि ये प्लानिंग आदर्श और आयुष ने मिलकर रची थी.

आयुष क्या कहते हैं?

पुलिस ने आदर्श को जेल भेज दिया और इधर आयुष इलाज के बाद नर्सिंग होम से गायब हो गए. फिर चार-पांच दिन बाद आयुष फिर प्रकट हुए. अपना एक वीडियो जारी किया. दावा किया कि पत्नी अंकिता ने उन्हें हनी-ट्रैप में फंसाया था. आयुष का करीब 20 मिनट का एक वीडियो आया. इसमें आयुष ने कहा कि उन्होंने माता-पिता की मर्ज़ी के खिलाफ जाकर अंकिता से शादी की थी. और शादी के कुछ दिन बाद तक तो सब ठीक चला, लेकिन चार-पांच महीने बाद आयुष को ये पता चला कि अंकिता ने पहले ही किसी से शादी कर रखी थी और उससे तलाक भी नहीं हुआ था. इसके बाद जब आयुष ने इस मुद्दे को अंकिता के सामने उठाया, तो दोनों के बीच लड़ाई-झगड़े होने लगे. आयुष ने आगे क्या कहा था, सुनिए,

“मैं अपने मां-बाप से माफी मांगना चाहता हूं. जो मैंने किया, उस लड़की के जाल में फंसकर. कभी मैंने अपने मां-बाप की बात नहीं मानी. हर चीज़ उनके खिलाफ जाकर की. मैंने जो किया, उसकी जो भी सज़ा मुझे मिले, मैं उसे भुगतने के लिए तैयार हूं. और माता-पिता से निवेदन है कि मुझे माफ कर दें. जो भी इस वीडियो को देख रहे हैं, वो अपने बच्चो को समझाएं कि ऐसे लड़के-लड़कियों के चक्कर में बिल्कुल न पड़ें, ताकि जैसे मेरी ज़िंदगी बर्बाद हुई है, वैसी मेरे किसी भाई-बहन की बर्बाद न हो.”

इसके अलावा आयुष ने अंकिता के ऊपर मारपीट करने के भी आरोप लगाए. कहा कि अंकिता ने उनकी ज़िंदगी बर्बाद कर दी है. आयुष ने अपने वीडियो में ये भी कहा कि वो लखनऊ जा रहे हैं और वहां जाकर पुलिस के सामने सरेंडर कर देंगे. उसके बाद सारी जांच पुलिस के हाथ में होगी, वो जो जांच करे. इन आरोपों को भी खारिज किया कि वो उन्होंने खुद अपने ऊपर गोली चलवाई थी. इसके बाद आयुष ने हाई कोर्ट में अग्रिम ज़मानत की एक याचिका दायर की. फिर मड़ियांव थाना पुलिस ने आयुष को 41 A नोटिस भेजा. आयुष 14 मार्च को मड़ियांव थाना पहुंचे.

पुलिस क्या कहती है?

‘इंडिया टुडे’ के आशीष श्रीवास्तव की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने करीब एक-डेढ़ घंटे तक आयुष से पूछताछ की, जिसमें आयुष ने कहा कि आदर्श ने उसके ऊपर गोली चलाई, लेकिन ऐसा क्यों किया इसकी उन्हें जानकारी नहीं है. पूछताछ के बाद लखनऊ ADCP प्राची सिंह ने मीडिया से बात की. उन्होंने क्या कहा सुनिए,

“41 A नोटिस आयुष के घर पर भेजा गया था, उन्हें बुलाया गया था. वो आए थे जो भी केस हुआ था उस दिन, उनसे पूछताछ की गई, तो उन्होंने काफी चीज़ें बताई है. अभी पूछताछ हुई है, लेकिन अगर कुछ और जानना होगा तो उन्हें फिर बुलाएंगे. अभी कुछ साफ तरीके से इन्होंने बताया नहीं है. बाकी चीज़ें उन्हें बुलाया जाएगा, फिर पता चलेगी. गोली के लिए उन्होंने आदर्श का नाम बताया है, लेकिन किस वजह से उसने गोली चलाई है, वो उन्होंने स्पष्ट नहीं किया है. अभी अंकिता का कोई ज़िक्र उन्होंने नहीं किया है.”

Ayush And Ankita Case (3)
लखनऊ ADCP प्राची सिंह मीडिया से बात करते हुए.

रिपोर्ट्स की मानें तो आयुष ये आशंका जता रहे हैं कि हो सकता है कि अंकिता ने उनके ऊपर गोली चलवाई है. हालांकि ये बातें भी कयास मात्र ही है. गोली चलाने के आरोप तो आदर्श पर लगे हैं, लेकिन इसके पीछे हाथ किसका था, क्या मकसद था, इसे लेकर अभी साफ तस्वीर नहीं बन पा रही है. आयुष ने जो वीडियो जारी किया था, उसमें उन्होंने प्रदीप नाम के एक आदमी का ज़िक्र किया था, कहा था कि प्रदीप नाम के आदमी से अंकिता की शादी हो चुकी थी. मनीष जायसवाल नाम के आदमी का भी ज़िक्र किया था, इसे भी अंकिता का दोस्त बताया था. ये ध्यान रखिए कि आदर्श ने आयुष के तथाकथित तीन दुश्मनों के जो नाम बताए हैं, उनमें प्रदीप और मनीष का नाम भी शामिल है.

अंकिता क्या कहती है?

इस मामले में दूसरा पक्ष है आयुष की पत्नी अंकिता का. अंकिता ने 6 मार्च को अपने ससुर सांसद कौशल किशोर पर गंभीर आरोप लगाए थे. दावा किया था कि सांसद ने ही आयुष को फरार करवाया है. आयुष दिल्ली में सांसद आवास में छिपा है. पत्नी ने ये भी आरोप लगाया था कि आयुष ने उसके सामने ही सांसद पिता को बताया था कि वो अपने ऊपर गोली चलवाएगा. इसके बाद चंदन गुप्ता समेत दूसरे लोगों को फंसा देगा. हालांकि सांसद कौशल किशोर ने इन सब आरोपों को निराधार बताया था.

एक दिन पहले अंकिता ने एक वीडियो जारी किया था, जिसमें वो बुरी तरह से रोते-बिलखते दिख रही हैं. कह रही हैं कि उनकी कोई गलती नहीं थी, फिर भी आयुष ने उन्हें छोड़ दिया. आगे कहा कि उन्होंने कभी भी आयुष के साथ कुछ बुरा नहीं किया था, फिर भी सबने मिलकर उनके ऊपर झूठे आरोप लगा दिए. आगे अंकिता ने कहा कि वो आयुष के साथ जैसे भी थीं, खुशी से थीं, लेकिन अब आयुष ने उनके सामने जीने की कोई वजह नहीं छोड़ी. कुछ नहीं छोड़ा. अंकिता ने कहा,

“क्योंकि तुम्हारे पापा सांसद हैं, मां विधायक हैं, तो मैं कुछ नहीं कर सकती. कोई सुनेगा नहीं. मैं किसी से लड़ नहीं सकती. तुमको मार सकती थी? तुमको हाथ तक नहीं लगाने देती थी किसी को. तुमको मैं कैसे मार सकती थी? कितना झूठ बोल रहे हो तुम? मेरे पास कुछ छोड़ा नहीं है तुमने. जीने लायक नहीं छोड़ा. तुम्हारे घरवालों ने मुझे जीने लायक नहीं छोड़ा. तुम्हारे पापा से मैंने रिक्वेस्ट की. उन्हें फोन किया, वो मेरा फोन काट रहे हैं. सब गलत कर रहे हैं मेरे साथ. सब झूठे-झूठे आरोप लगा रहे हैं. मैं जो मर रही हूं न उसके ज़िम्मेदार तुम हो. तुम्हारा परिवार है. तुम्हारे घरवाले हैं. मेरी ज़िंदगी बर्बाद की है. अगर यही करना था तो हां क्यों कहा था शादी के लिए. तुमसे प्यार करने की ये सज़ा मिली मुझे. कभी किसी से प्यार नहीं करना, कुछ भी कर लेना. मैं तो जा रही हूं. कभी तुम्हारी ज़िंदगी में आऊंगी ही नहीं. इस दुनिया से जा रही हूं. तुम रहना खुश, जहां पर तुमको कोई प्यार नहीं करेगा. तुम्हीं तो कहते थे न कि तुम्हारे घरवाले तुम्हें प्यार नहीं करते. आज तुम उनके पास ही चले गए हो वापस. मुझे छोड़कर. मेरा हाल तक पूछने नहीं आए. घर छोड़ दिया. रेंट नहीं दिया. गैस-सिलेंडर नहीं है. कुछ भी नहीं है. एक बार सोचा भी नहीं कि मैं क्या खाऊंगी, कहां रहूंगी. सारी चीज़ें मेरी गई हैं, तुमको तो सबकुछ मिल गया. मेरा क्या?”

आगे अंकिता ने कहा कि वो आयुष के वापस आने का इंतज़ार करती रहीं, लेकिन वो नहीं आए. उन्हें पता चला कि आयुष थाने गया है, वो थाने भी गईं, लेकिन उनसे कह दिया गया कि आयुष वहां नहीं आया. अंकिता ने पुलिस के ऊपर भी मिलीभगत करने के आरोप लगाए हैं. फिर ये कहा कि आयुष उन्हें मारते थे, फिर भी वो उनके साथ ही थीं. अंकिता ने कहा कि अब वो इस दुनिया में नहीं रहना चाहतीं. इस वीडियो के सामने आने के बाद 14 मार्च की रात अंकिता लखनऊ के दुबग्गा इलाके में कौशल किशोर के घर के सामने पहुंचीं और नस काट ली. उन्हें अस्पताल ले जाया गया. इलाज के बाद अंकिता ने मीडिया से बात की. उन्होंने कहा,

“मैंने सुसाइड करने की कोशिश की थी, क्योंकि आयुष काफी समय से मिल ही नहीं रहा है. आज वो थाने पर भी गया था, मैंने उसके पिताजी से बात करने की कोशिश करी, तो उन्होंने मुझे ब्लॉक कर दिया. मैंने वॉट्सऐप पर कॉन्टैक्ट किया, तो वॉट्सऐप पर भी उन्होंने मुझे ब्लॉक कर दिया. उसके बाद तो कुछ बचा ही नहीं. क्योंकि मैं आयुष के जितने रिश्तेदारों को जानती थी, उनके घर गई, मैंने पता किया, सबने मना किया कि वो यहां पर नहीं है. आखिर में मैं उसके घर गई, तो घरवालों ने मुझे पहचानने से ही मना कर दिया. मुझे फिर सुसाइड के अलावा कोई ऑप्शन नज़र नहीं आया. उनके भाई से मेरी बात हुई, तो उन्होंने कहा कि कौन अंकिता, मैं किसी अंकिता को नहीं जानता. जबकि वो मेरे साथ बरेली में मुझे ड्रॉप करने भी गए थे. मैं वही तो कॉन्टैक्ट करना चाहती हूं कि मुझे बातचीत करना है. मेरा पति है, मुझे बात करना था, बात कराई भी नहीं जा रही थी. मुझे मिलने तक नहीं दिया जा रहा.”

Ayush And Ankita Case (4)
अंकिता अस्पताल में.

BJP सांसद क्या कहते हैं?

अंकिता ने आयुष के परिवार के ऊपर भी गंभीर आरोप लगाए हैं. कहा है कि वो लोग आयुष से उन्हें मिलने नहीं दे रहे हैं. इस पर ‘इंडिया टुडे’ के पत्रकार ने कौशल किशोर से बात की, जहां कौशल ने साफ तौर पर कह दिया कि अंकिता उनकी बहू नहीं है, वो केवल उनके बेटे की पत्नी है, दोनों ने अपनी मर्ज़ी से शादी की थी. उन्होंने कहा,

“पहली बात तो वो मेरी बहू नहीं है. क्योंकि आयुष और उसने अपने मन से शादी की थी. हमने नहीं करवाई थी. इसलिए बहू शब्द का इस्तेमाल करना ठीक नहीं है. वो आयुष की पत्नी है, बहू हम लोगों की नहीं है, एक बात. दूसरी बात ये कि वो यहां पर नहीं आई. मेरे घर पर. वो सड़क पर आई थी. सड़क पर एक दूसरा घर बना हुआ है. वहीं सड़क पर उसने जो भी किया, ड्रामेबाज़ी की. हमारी और विधायक की छवि को धूमिल कर रही है. उसके पीछे कुछ लोग लगे हुए हैं. दो लड़के उसके साथ थे. तो उसको प्रवोक किया जा रहा है जानबूझकर. जो भी कर रही है, वो हमारा और हमारी पत्नी, हमारे बाकी लड़कों को बदनाम करने का काम कर रही है. ये अपराध है. हमसे उसका कोई लेना-देना नहीं है. आयुष को पहले से ही हमने बेदखल कर दिया है. और उसकी बेदखली की घोषणा, जो अखबारों वगैरह में होती है, उसे भी कर दिया जाएगा. कोई न कोई तो उस लड़की के पीछे हैं, उन लड़कों को हम नहीं जानते. जो लड़के उसके साथ गाड़ी से आए थे, वो कौन हैं? कोई न कोई उनके पीछे लगा हुआ है, जो उन्हें बताता है कि आज तुम ये करो, आज तुम वो करो. और वो ऐसे ही लोग हैं, जो मेरी छवि को धूमिल करना चाहते हैं.”

Ayush And Ankita Case (2)
BJP सांसद कौशल किशोर मीडिया से बात करते हुए.

आयुष के भाई विकास किशोर ने भी मीडिया से बात की. और अंकिता के ऊपर आयुष की हत्या की कोशिश करने के आरोप लगाए. कहा कि अगर आयुष अंकिता को प्रताड़ित करता था, तो थाने में जाकर रिपोर्ट करानी चाहिए थी. विकास ने कहा,

“इनके मन में जो आ रहा है, वो कह रही हैं. हम क्यों इनके ज़िम्मेदार होंगे. हम किस बात के लिए ज़िम्मेदार होंगे. परिवार किसी तरह से भी ज़िम्मेदार नहीं हैं. ये कह रही हैं कि आयुष प्रताड़ित कर रहा था, अगर ऐसा था तो इनको थाने में जाकर रिपोर्ट करानी थी. लेकिन प्रताड़ित तो ये खुद ही कर रही थीं. जब इसकी सच्चाई आयुष जानने लगा तो आयुष की हत्या करने की पूरी प्लानिंग कर ली. और करने की कोशिश भी की, लेकिन वो तो बच गया. वो सच्चाई बता रहा है तो इन्हें डर लग रहा है कि समाज और देश के सामने इनकी सच्चाई पता चल जाएगी, तो इनकी इज्ज़त कहीं की नहीं रहेगी. इसलिए ये सवाल उठा रही हैं हम लोगों के ऊपर बार-बार.”

Ayush And Ankita Case (5)
आयुष का भाई विकास किशोर, मीडिया से बात करते हुए.

अंकिता बहराइच के हुजूरपुर की रहने वाली हैं. IAS की कोचिंग के लिए लखनऊ में रह रही थीं. उनका परिवार अभी भी हुजूरपुर में रह रहा है. ‘इंडिया टुडे’ के रिपोर्टर राम बारन चौधरी ने अंकिता के परिवार वालों से बात की. उनके पिता ने बताया कि उन्हें नहीं पता था कि अंकिता और आयुष ने शादी कर ली है. अंकिता के पिता ने कहा,

“लखनऊ में अंकिता साल-डेढ़ साल से पढ़ाई कर रही थी. हम उसके लिए लड़का खोज रहे थे. दो साल से. उसकी शादी नहीं हुई है. आयुष से उसकी शादी के बारे में हमें कोई जानकारी नहीं है.”

इसके आगे अंकिता के पिता ने बताया कि प्रदीप नाम के व्यक्ति से उन्होंने अंकिता की शादी तय कर दी थी. अंकिता की उम्र करीब 24-25 बरस है. वहीं आयुष की उम्र को लेकर दो तरह की बातें सामने आ रही हैं. पहले ये कहा जा रहा था कि आयुष 30 साल का है, लेकिन उनके परिवार वाले ये कह रहे हैं कि आयुष की उम्र 19 बरस है. रिपोर्ट्स की मानें तो आयुष और अंकिता की मुलाकात करीब सात महीने पहले हुई थी. और छह महीने पहले दोनों ने शादी कर ली थी. दोनों साथ में रह रहे थे. अंकिता इस मामले में CBI जांच की मांग कर रही हैं. ये केस काफी उलझा हुआ नज़र आ रहा है. हम उम्मीद करते हैं कि पुलिस सभी पक्षों की बात को ध्यान से सुने. कौन क्या साख रखता है, इसे थोड़ा नज़रअंदाज़ करे, और पता लगाए कि आखिर गोली किसने और क्यों मारी? अंकिता और आयुष, दोनों ने एक-दूसरे के ऊपर जो आरोप लगाए हैं, उनकी सच्चाई का पता लगाया जाए.


वीडियो देखें: महिला के वीडियो वायरल होने के बाद जोमैटो डिलीवरी बॉय की क्या सफाई आई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

बिहार: गांववालों ने दो नाबालिग लड़कियों को डायन बताकर पीटा, बाल काट दिए

बिहार: गांववालों ने दो नाबालिग लड़कियों को डायन बताकर पीटा, बाल काट दिए

मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस को दौड़ा लिया.

बिहार: गैंगरेप की कोशिश का आरोप, महिला को खंभे से लटकाने के बाद आरोपी फरार

बिहार: गैंगरेप की कोशिश का आरोप, महिला को खंभे से लटकाने के बाद आरोपी फरार

महिला ने दो पर आरोप लगाया, पुलिस ने कहा-मामला संदिग्ध, जांच जारी.

महिला पुलिस कर्मी की मौत को बताया सुसाइड, परिवार ने हेमंत सोरेन के करीबी पर लगाया हत्या का आरोप

महिला पुलिस कर्मी की मौत को बताया सुसाइड, परिवार ने हेमंत सोरेन के करीबी पर लगाया हत्या का आरोप

परिवार का आरोप- राजनीतिक दबाव में हत्या को आत्महत्या बता रही पुलिस.

'सिर्फ तौलिया लपेटकर पढ़ाते हैं', चेन्नई में बच्चों का स्कूल टीचर पर आरोप, कनिमोई ने उठाया मामला

'सिर्फ तौलिया लपेटकर पढ़ाते हैं', चेन्नई में बच्चों का स्कूल टीचर पर आरोप, कनिमोई ने उठाया मामला

पूर्व छात्रों ने कहा- पिछले बीस साल से लड़कियों को गलत तरीके से छू रहा आरोपी टीचर, मैनेजमेंट ने एक्शन नहीं लिया.

तरुण तेजपाल केस की पूरी कहानी, लिफ्ट में यौन शोषण करने का आरोप लगा था

तरुण तेजपाल केस की पूरी कहानी, लिफ्ट में यौन शोषण करने का आरोप लगा था

रेप और यौन शोषण के मामले में तेजपाल को बरी कर दिया गया है.

यौन शोषण केस में तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल बरी

यौन शोषण केस में तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल बरी

2013 के मामले में गोवा की मपूसा स्थित जिला अदालत का फैसला.

असम: बच्ची के यौन शोषण के आरोपी IPS ऑफिसर को SP नियुक्त किया गया

असम: बच्ची के यौन शोषण के आरोपी IPS ऑफिसर को SP नियुक्त किया गया

जबकि शुरुआती जांच में यौन शोषण के पुख्ता सबूत मिले हैं.

चलती ट्रेन से गायब हुई थी लड़की, लाश मिले बीते 2 महीने लेकिन FIR तक नहीं!

चलती ट्रेन से गायब हुई थी लड़की, लाश मिले बीते 2 महीने लेकिन FIR तक नहीं!

नेता-मंत्रियों की गुज़ारिश के बावजूद शिवराज सिंह चौहान के कानों पर जूं न रेंगी.

हुगली: आश्रम के बाबा पर लड़की को लीचड़ मैसेज भेजने का आरोप, 6 ऑडियो वायरल

हुगली: आश्रम के बाबा पर लड़की को लीचड़ मैसेज भेजने का आरोप, 6 ऑडियो वायरल

बाबा ने अपने बचाव में काफ़ी रोचक बात कही है, आप भी पढ़िए.

सोशल मीडिया पर मुस्लिम लड़कियों की बोली लग रही, पर शिकायत का कोई असर नहीं

सोशल मीडिया पर मुस्लिम लड़कियों की बोली लग रही, पर शिकायत का कोई असर नहीं

कुछ यूज़र लगातार पाकिस्तानी और इंडियन मुस्लिम लड़कियों की तस्वीरें चुराकर ये घटिया काम कर रहे हैं.