Submit your post

Follow Us

महिला क्रिकेटर्स ने हेड कोच पर यौन शोषण के आरोप लगाए, कोच को सस्पेंड किया गया

गुजरात की बड़ौदा वुमन्स क्रिकेट टीम के हेड कोच अतुल बेडाडे. सस्पेंड हो गए हैं. इनके ऊपर सेक्शुअल हैरेसमेंट के आरोप लगे थे. बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन (BCA) ने 21 मार्च (शनिवार) को ये फैसला लिया.

BCA के सेक्रेटरी अजीत लेले ने जानकारी दी एसोसिएशन एक कमिटी बना रहा है, जो इन आरोपों की जांच करेगी. हालांकि ये भी कहा कि कोरोना वायरस के चलते अभी सारी क्रिकेट एक्टिविटीज़ को रोक दिया गया है, इसलिए कमिटी कब बनेगी और कब जांच होगी, ये नहीं कहा जा सकता. अजीत लेले ने PTI से कहा,

‘हां, उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड किया जा रहा है. उनके खिलाफ लगे आरोपों की जांच जो कमिटी करेगी, वो न्यूट्रल रहकर काम करे, इसलिए इसमें BCA के बाहर का भी एक सदस्य होगा.’

बेडाडे को भेजा गया लेटर

ESPNcricinfo की रिपोर्ट के मुताबिक, BCA की तरफ से शनिवार को बेडाडे को एक लेटर भेजा गया, जिसमें ऐसे कमेंट्स करने की बात कही गई है, जो टीम मेंबर्स का हौसला कमजोर करते हैं. पर्सनल और फिजिकल कमेंट करने की भी बात कही गई है. लिखा गया है, ‘इन-चार्ज व्यक्ति अशिष्ट भाषा का इस्तेमाल करे, ये स्वीकार नहीं किया जा सकता.’

क्या आरोप लगे हैं?

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ महिला क्रिकेटर्स ने बेडाडे पर यौन शोषण और पब्लिक शेमिंग के आरोप लगाए थे. खिलाड़ियों के मुताबिक, पिछले महीने हिमाचल प्रदेश में हुए वन-डे टूर्नामेंट के दौरान बेडाडे ने भद्दा बर्ताव किया था.

कौन हैं बेडाडे और क्या कहते हैं आरोपों पर?

अभी तो सस्पेंड हुए हेड कोच हैं. पूर्व क्रिकेटर हैं. 53 साल के हैं. बड़ौदा के लिए घरेलू क्रिकेट भी खेल चुके हैं. 13 वन-डे मैचों में टीम इंडिया में थे, इनमें से 10 में बल्लेबाजी करने का मौका मिला था. 10 पारियों में 158 रन बनाए थे.

अपने ऊपर लगे यौन शोषण के आरोपों को बेडाडे ने गलत बताया है. उन्होंने कहा है कि उन्हें खुद हैरानी हुई है और सारे आरोप आधारहीन हैं. ये भी कहा कि वो जल्दी ही अपनी तरफ की कहानी सबके सामने लाएंगे.


वीडियो देखें: महिला क्रिकेट T 20 वर्ल्ड कप में दनादन कमाल करने वाली शेफाली वर्मा कौन हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

जन्मदिन विशेष: स्मृति ईरानी जैसी मजबूत महिलाओं का पॉलिटिक्स में होना क्यों जरूरी है?

क्योंकि इसी पॉलिटिक्स में संजय निरुपम जैसे लोग भी मौजूद हैं.

जस्टिस भानुमती : रात ढाई बजे कोर्ट खोलकर निर्भया के दोषियों को फांसी तक पहुंचाने वाली जज

इससे पहले भी कई महत्वपूर्ण फैसले सुना चुकी हैं.

सीमा कुशवाहाः पायल बेचकर कॉलेज की फीस भरी थी, अब निर्भया के दोषियों को फांसी तक पहुंचा दिया

असल में चर्चा एपी सिंह के बजाए इस वकील की होनी चाहिए.

आज निर्भया होती तो इतने दिन में उसने ये बड़ी घटनाएं देख ली होतीं

गैंगरेप से दोषियों की फांसी तक इंडिया, 17 तस्वीरों में.

क्या है रेप के खिलाफ बना दिशा कानून जिसमें POCSO से भी कड़े नियम हैं?

सबूत पक्का तो 21 दिन में मिलेगी फांसी की सज़ा.

इस औरत को लगा इंजेक्शन सही निकला तो पूरी दुनिया कोरोना वायरस से बच जाएगी

ये बहादुर महिला खुदपर ट्राय करवा रही है कोरोना का पहला संभावित टीका.

रात के 3 बजे घने जंगलों में मीट के टुकड़े लेकर बाघ पकड़ने वाली अफ़सर से मिलिए

इसलिए कि उन जानवरों को बेहतर जीवन मिल सके.

कोरोना तो उम्मीद है एक दिन चला जाएगा, आपके इनबॉक्स में आई बकवास का क्या इलाज है?

ह्यूमर के नाम पर कुछ भी ठेले जा रहे हैं.

एक दशक पुरानी लड़ाई के बाद नेवी में औरतों को अब आदमियों की बराबरी का हक मिला

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- परमानेंट कमीशन में जेंडर के आधार पर भेदभाव न हो.

करीना कपूर वहां कामयाब होने में व्यस्त थीं, लोग यहां उनके ब्रेस्ट का मज़ाक उड़ाने में

ज़हरीली ज़ुबान वालों से आम लड़कियां कुछ कहना चाहती हैं.