Submit your post

Follow Us

CRPF जवानों पर ऐसा क्या लिखा कि महिला को रेप की धमकी मिलने लगी

बीते दिनों छत्तीसगढ़ के बीजापुर में एक बड़ा नक्सली हमला हुआ. इस हमले में CRPF के 22 जवान शहीद हुए. एक जवान को नक्सलियों ने बंधक बना लिया है. इस हमले को लेकर लोग लगातार सोशल मीडिया पर गुस्सा ज़ाहिर कर रहे हैं. नक्सल मोर्चे पर आर पार की लड़ाई की मांग वाले पोस्ट भी लिखे जा रहे हैं. इन सबके बीच एक पोस्ट शिखा शर्मा ने भी लिखा. शिखा असमिया भाषा की लेखिका हैं. ऑल इंडिया रेडिया, डिब्रूगढ़ के लिए काम करती हैं. उनके पोस्ट में आम लोगों की भावना से अलग बात लिखी थी. शिखा ने लिखा,

“सैलरी पाने वाले वो लोग जो ड्यूटी के दौरान मारे जाते हैं उन्हें शहीद का दर्जा नहीं दिया जाना चाहिए. इस लॉजिक से जाएं तो बिजली विभाग के उन कर्मचारियों को भी शहीद कहा जाना चाहिए जिनकी करंट लगने से मौत हो जाती है. मीडिया! लोगों को भावुक मत बनाओ.”

अलग-अलग मोर्चों पर दुश्मनों से लोहा रहे रहे जवान, जिनकी तैनाती हम सभी को सुरक्षित महसूस कराती है. शिखा शर्मा ने उनकी पहचान को महज़ कुछ वेतन भोगियों के रूप में पारिभाषित कर दिया. उनकी बात कई लोगों को सही नहीं लगी. इस मामले में 5 अप्रैल को गुवाहाटी हाई कोर्ट के दो वकीलों उमी डेका बरुआ और कंकना गोस्वामी ने दिसपुर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई. इसमें लिखा गया,

“यह जवानों के प्रति घोर असम्मान है और ऐसी भद्दी टिप्पणी न केवल जवानों के अद्वितीय बलिदान को महज़ पैसे कमाने के ज़रिए के तौर पर कमतर आंकती है बल्कि देश सेवा की भावना और उसकी पवित्रता पर भाषाई हमला भी करती है. “

इस शिकायत के आधार पर शिखा शर्मा पर राजद्रोह का केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है.

पोस्ट के बाद मिल रहीं रेप और मर्डर की धमकियां

शिखा शर्मा ने एक पोस्ट किया. पोस्ट को असंवेदनशील और सैनिकों के प्रति अपमानजनक मानते हुए पुलिस ने उन पर कार्रवाई भी की. लेकिन हमेशा की तरह इस बार भी सोशल मीडिया पर एक धड़ा ऐसा था जिसके लिए औरत की आलोचना का एकमात्र तरीका उसे रेप की धमकी देना लगता है. ऐसे लोग यहां भी शुरू हो गए. शिखा को रेप की धमकी, जान से मारने की धमकी देने लगे. उनके लिए गालियों का इस्तेमाल करते हुए उन्हें वेश्या तक बुलाने लगे.

इसे लेकर शिखा ने खुद फेसबुक पर पोस्ट किया, उन्होंने लिखा,

“मेरे पोस्ट की गलत तरीके से व्याख्या करके मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित करना क्या गुनाह नहीं है? मेरे खिलाफ खड़ा हुआ झूठा प्रोपागैंडा क्या कानून के दायरे में नहीं आएगा? मैंने हत्या और रेप की धमकियों को लेकर पहले जो FIR दर्ज करवाई थी उसकी जांच क्यों नहीं हुई?”

মোৰ পষ্টৰ ভুল ব্যাখা দি মোক তীব্ৰ মানসিক নিৰ্য্যাতন চলোৱাটো অপৰাধ হয় নে নহয় ? মোক দিয়া মিছা অপবাদৰ বাবে আইনৰ আওঁতাত আহিব…

Posted by Sikha Sarma on Monday, 5 April 2021

शिखा ने इस पोस्ट में जो फोटो लगाई है उसमें पीली पट्टी में उन्हें अजमल कसाब की दूसरी पत्नी बताया गया है. साथ ही लिखा गया है कि असम पुलिस के बड़े अधिकारी के साथ उनके संबंध हैं इस वजह से उनकी गिरफ्तारी पहले नहीं हुई.

शिखा ने फेसबुक पर जो भी पोस्ट किया उसे लेकर अलग-अलग राय हो सकती है. शिखा से असहमति हो सकती है, असहमति जताने के तमाम तरीके हैं. आप शिकायत करो, पोस्ट लिखकर आलोचना करो. लेकिन किसी को सिर्फ इसलिए टारगेट करना कि वो महिला है, उसे रेप की धमकी देना, उसे वेश्या कहना, उसके चरित्र पर सवाल उठाना और उसे एक घोषित आतंकवादी की पत्नी बताना निंदनीय है.

आप एक तरफ देश भक्ति, देश प्रेम की बात करते हैं और दूसरी तरफ खुद से अलग विचार रखने वाली एक महिला के लिए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करते हैं. ये दोगलापन नहीं तो और क्या है?


सोशल लिस्ट: तसलीमा नसरीन क्रिकेटर मोइन अली पर इस्लामोफोबिक ट्वीट कर बुरी फंसीं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

स्वेज नहर में जहाज फंसने के लिए क्या एक महिला जिम्मेदार थी?

स्वेज नहर में जहाज फंसने के लिए क्या एक महिला जिम्मेदार थी?

जहाज फंसने के बाद मिस्र की पहली महिला शिप कैप्टन मारवा एल्सलेहदर के खिलाफ क्या साजिश हुई?

देश निकाले के खतरे के बावजूद, म्यांमार की इस मॉडल ने इंटरनैशनल मंच पर असली बहादुरी दिखा दी

देश निकाले के खतरे के बावजूद, म्यांमार की इस मॉडल ने इंटरनैशनल मंच पर असली बहादुरी दिखा दी

म्यांमार में दो महीने पहले सेना ने तख्ता पलट कर दिया था.

अरी बहिन! जूती वाली इन्फेक्टेड रोटी खिलाने से आदमी वश में नहीं आता, मर ज़रूर सकता है

अरी बहिन! जूती वाली इन्फेक्टेड रोटी खिलाने से आदमी वश में नहीं आता, मर ज़रूर सकता है

रोटी बनाने और पुरुषों को वश में करने के अलावा जैसे औरतों के पास कोई काम ही न है.

महिलाओं के लिए सीट आरक्षित हुई तो पिता ने मॉडल-एक्ट्रेस बेटी को यूपी पंचायत चुनाव में उतार दिया

महिलाओं के लिए सीट आरक्षित हुई तो पिता ने मॉडल-एक्ट्रेस बेटी को यूपी पंचायत चुनाव में उतार दिया

साल 2015 में फेमिना मिस इंडिया की रनरअप रह चुकी हैं.

शादी के बाद पति का सरनेम लगाना आपकी तरह कानून को भी क्यूट लगता है क्या?

शादी के बाद पति का सरनेम लगाना आपकी तरह कानून को भी क्यूट लगता है क्या?

पति का सरनेम नहीं लगाने पर क्या होता है, सुप्रीम कोर्ट की वकील से जानिए.

दिया मिर्ज़ा के होने वाले बच्चे को 'नाजायज़' ठहराने वालों के दिमाग में कूड़ा भरा है

दिया मिर्ज़ा के होने वाले बच्चे को 'नाजायज़' ठहराने वालों के दिमाग में कूड़ा भरा है

बेहद घटिया बातें लिख रहे हैं लोग.

बिना शादी के लड़का-लड़की साथ रहें तो क्या मां-बाप उन्हें जेल भिजवा सकते हैं?

बिना शादी के लड़का-लड़की साथ रहें तो क्या मां-बाप उन्हें जेल भिजवा सकते हैं?

लिव इन रिलेशनशिप में रहने वालों की प्रोटेक्शन के लिए कानून में कौन से प्रावधान किए गए हैं?

क्यों पुरुष नेताओं पर अटैक करते हुए भी औरतों को घसीट लेते हैं नेता?

क्यों पुरुष नेताओं पर अटैक करते हुए भी औरतों को घसीट लेते हैं नेता?

तमिलनाडु के सीएम पर ए राजा का कमेंट इसका लेटेस्ट उदाहरण है.

अपराधियों को धूल चटाने वाली लेडी अफसर ने सुसाइड क्यों किया?

अपराधियों को धूल चटाने वाली लेडी अफसर ने सुसाइड क्यों किया?

सुसाइड के बाद लोग SC/ST एक्ट को खत्म करने की मांग क्यों कर रहे हैं?

समलैंगिक जोड़े के लिए मद्रास हाईकोर्ट ने जो रास्ता निकाला वो इस वक्त की सबसे बड़ी ज़रूरत है

समलैंगिक जोड़े के लिए मद्रास हाईकोर्ट ने जो रास्ता निकाला वो इस वक्त की सबसे बड़ी ज़रूरत है

परिवार वाले अलग होने का दबाव बना रहे थे.