Submit your post

Follow Us

इलाज के बहाने लड़कियों के प्राइवेट पार्ट में हाथ डालने वाले डॉक्टर का कच्चा-चिट्ठा फिर खुला

कल्पना कीजिए. आपको कोई खेल दिलो-जान से पसंद है. उस खेल की ट्रेनिंग लेने के लिए आपने कोई एकेडमी जॉइन की. ट्रेनिंग के दौरान आपको चोट लग गई, फिर आपको एक बहुत ही फेमस डॉक्टर के पास भेजा जाए, जिसका दर्जा किसी सेलिब्रिटी से कम न हो, आप खुद को लकी मानेंगे. फिर अगले ही पल आपको अगर ये अहसास हो कि वो डॉक्टर आपके शरीर का दर्द कम करने के बजाए आपको ताउम्र का मानसिक दर्द दे रहा हो, आपका यौन शोषण कर रहा है, तो क्या करेंगे आप. किसी से शिकायत? हां आइडियल सिचुएशन तो यही है कि शिकायत कर दो, लेकिन जब आप ये समझ ही न पाएं कि आपका यौन शोषण हो रहा है, आपको ये लगे कि हो सकता है कि ये इलाज की कोई प्रोसेस हो, आप पूरे वक्त कन्फ्यूज़ रहेंगे. और जिस दिन आप ये जानेंगे कि आप यौन शोषण का शिकार हुए हो, तब तक वो आदमी कई लड़कियों को अपना शिकार बना चुका होगा.

अमेरिकी जिमनास्ट टीम का एक डॉक्टर हुआ करता था, लैरी नासर. कभी ये सेलिब्रिटी था, अब सेक्स ऑफेंडर के नाम से जाना जाता है. ये वही डॉक्टर है, जिसने इलाज की आड़ में कई जिमनास्ट्स का यौन शोषण किया था. इसे साल 2018 में सज़ा भी हो चुकी है. अब आप सोच रहे होंगे कि जब सज़ा हुए दो साल हो गए हैं, तो अब हम इसकी बात क्यों कर रहे हैं. दरअसल, हाल ही में फेमस अमेरिकी जिमनास्ट सिमोन बाइल्स ने एक डॉक्यू सीरीज़ में लैरी की हरकतों के बारे में खुलकर बात की है. वो खुद भी लैरी के हाथों यौन शोषण का शिकार हुई थीं. हम आपको सिमोन की कहानी बताएंगे, लैरी का मामला बताएंगे और ये भी बताने की कोशिश करेंगे कि यौन शोषण का दर्द कैसे ताउम्र सर्वाइवर्स के साथ बना होता है.

सिमोन की कहानी क्या है?

जल्द ही टोक्यो ओलिंपिक्स होने वाले हैं. धीरे-धीरे इसमें पार्ट लेने वाले खिलाड़ियों और एथलीट्स के नाम भी सामने आ रहे हैं. 24 बरस की सिमोन बाइल्स भी ओलिंपिक्स की तैयारी में बिज़ी हैं. इन्हीं सबके बीच उनकी एक डॉक्यू सीरीज़ फेसबुक पर रिलीज़ हुई. जिसका टाइटल है- सिमोन वर्सेज हरसेल्फ. 6 जुलाई को इस सीरीज़ का सातवां और आखिरी एपिसोड ‘What More can I say’ भी आ गया. इस एपिसोड में सिमोन अपने साथ हुए सेक्शुअल हैरेसमेंट के मुद्दे पर खुलकर बात करते नज़र आईं.

अमेरिका का एक स्टेट है टेक्सास. यहां केरोली रेंच नाम की एक फेसिलिटी हुआ करती थी. यहीं पर अमेरिका की विमन्स नेशनल जिमनास्टिक्स टीम की ट्रेनिंग होती थी. काफी नाम था केरोली रेंच का. बहुत की कठोर ट्रेनिंग होती थी, एथलीट्स के पैरेंट्स को वहां एंट्री नहीं थी. यहीं पर सिमोन ने भी ट्रेनिंग लेनी शुरू कर दी. 12 साल की उम्र से. इसी रेंच में लैरी नासर भी मौजूद था, वो जिमनास्ट्स का डॉक्टर था. सिमोन अपने इंटरव्यू में बताती हैं-

“रेंच में एथलीट्स को दिन भर में कई सारे स्टेशन्स पर जाना होता था. लास्ट स्टेशन था थैरेपी का. जहां यंग गर्ल्स डॉक्टर नासर से मिलती थीं. उन बरसों में किसी ने भी हमें ये नहीं बताया था कि सेक्सुअल अब्यूज़ क्या होता है. इसलिए हमें पता ही नहीं चला कि हमारे साथ वो सब हो रहा है, हम विक्टिम्स बन रहे हैं. हममें से बहुत से लोग स्कूल नहीं जाते थे, होम स्कूलिंग भी नहीं थी, इसलिए कुछ पता नहीं था. मुझे याद है मैंने अपनी एक दोस्त से पूछा था कि “अगर यहां मुझे किसी के द्वारा टच किया गया, तो क्या इसका मतलब ये होगा कि मैं सेक्शुअली असॉल्ट हुई?” मुझे लगा कि मैं ड्रेमेटिक हो रही हूं. उसने कहा- “बिल्कुल नहीं”. मैंने कहा “क्या तुम श्योर हो, मुझे ऐसा नहीं लगता.” उन सभी घटनाओं में, मैं सबसे लकी रही, क्योंकि मेरे साथ उतना बुरा नहीं हुआ था, जितना कुछ और लड़कियों के साथ हुआ था.”

सिमोन बताती हैं कि जब लैरी की हरकतों के बारे में बातें शुरू हुईं, तब उनसे उनकी मां ने और भाई ने पूछा भी था कि क्या उनके साथ कभी ऐसा कुछ हुआ? क्या उनका यौन शोषण हुआ था? इस मुद्दे पर सिमोन ने सीधे ये कह दिया था कि वो बात नहीं करना चाहतीं. डॉक्यू सीरीज़ में सिमोन की मां ने बताया कि समझ गई थीं कि सिमोन भी उन सबका शिकार हुई थीं, लेकिन वो खुद से कुछ नहीं कह रही थीं, इसलिए उनकी मां ने उन्हें वक्त दिया, ताकि वो खुद अपने मन से सबकुछ बता सकें.

सिमोन कन्फ्यूज्ड थीं. एक दिन वो ड्राइव कर रही थीं हाईवे पर. तभी उनके दिमाग में एक विचार आया, ये कि वो सबकुछ उनके साथ भी हुआ था. सिमोन बताती हैं-

“फिर मुझे बस इतना याद है कि मैं रोने लगी. अपनी मां को कॉल किया. उन्होंने पूछा कि क्या तुम गाड़ी चला सकती हो? क्योंकि मैं लगातार रो रही थी, बहुत ज्यादा.”

सिमोन की मां बताती हैं कि जब उन्हें फोन आया तो उन्हें भी रोना आ गया. क्योंकि वो जानती थीं कि सिमोन किस बारे में बात करना चाहती हैं, उनके बिना कुछ कहे कि उनकी मां सब समझ गई थीं. सिमोन बताती हैं-

“मैं डिप्रेस हो गई. दिनभर अपने कमरे में रहती थी. कहीं जाना नहीं चाहती थी. किसी से बात करने का मन नहीं होता था. बहुत मुश्किल था मेरे लिए. मैं दिन भर सोती रहती थी. क्योंकि वो सच्चाई से भागने का मेरा अपना तरीका था. उस वक्त सोना मेरे लिए मौत के करीब होने जैसा था. इसलिए हर वक्त सोती रही.”

सिमोन की कंडीशन ऐसी हो गई थी कि कई बार जिमनास्टिक्स उन्हें वो सब याद दिलाता था, जिसका उन्होंने सामना किया था. हालांकि ऐसा हमेशा नहीं होता था. सिमोन ने हिम्मत नहीं हारी, उन्होंने कमबैक किया. वो कहती हैं जो होता है आपके साथ आप उसे मिटा नहीं सकते, इसलिए उसे स्वीकार करें.

Simone Biles (2)
सिमोन बाइल्स बहुत ही फेमस जिमनास्ट हैं. (फोटो- PTI)

आरोप कैसे सामने आए?

साल 2016 में एक आर्टिकल छपा था. जो खिलाड़ियों के साथ होने वाले यौन शोषण के बारे में था. उसमें कोच के हाथों यौन शोषण का भी जिक्र था. हालांकि आर्टिकल में कहीं भी लैरी का नाम नहीं था. लेकिन उसे पढ़कर लगभग महीने भर बाद जिमनास्ट रेचल डेनहॉलेंडर अपनी कहानी के साथ सामने आईं. लैरी के ऊपर यौन शोषण के आरोप लगाए. बताया कि वो कई दिनों तक लैरी के क्लिनिक में इलाज के लिए गईं. वो उन्हें उल्टा लिटा देता, अपनी उंगली इलाज के नाम पर उनके प्राइवेट पार्ट में डालता. एक बार तो ब्रा का हुक भी खोला था.

रेचल के सामने आने पर बाकी लड़कियों को हिम्मत मिली, और उन्होंने सामने आकर लैरी का कच्चा-चिट्ठा खोला. 16 जनवरी 2018 को सिमोन बाइल्स ने भी इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट डाला था. लिखा था-

“मैं अपनी कहानी कहने से अब नहीं डरूंगी. लैरी ने जिन्हें सेक्शुअल अब्यूज़ किया, उनमें मैं भी एक हूं. इस बात को लिखना ही मेरे लिए बहुत टफ है. बहुत से कारणों के चलते मैं ये बात किसी को बता नहीं रही थी, लेकिन अब मैं जानती हूं कि इसमें मेरी गलती नहीं थी. इन एक्सपीरियंस को याद करना बहुत मुश्किल देता है और इस बात से मुझे और दुख होता है कि जैसे मैं टोक्यो 2020 की तैयारी कर रही हूं, मुझे उसी फेसिलिटी में दोबारा लौटना होगा, जहां मैं अब्यूज़ हुई थी.”

अच्छी बात ये रही कि टेक्सास के केरोली रेंच को जनवरी 2018 में बंद कर दिया गया. लैरी नासर को सज़ा मिलने के ठीक बाद. लैरी के खिलाफ कोर्ट में हुई सुनवाई में सिमोन शामिल नहीं हुई थीं, क्योंकि वो उस आदमी का सामना दोबारा करने के लिए इमोशनली फिट नहीं थीं.

लैरी नासर की कहानी क्या है?

अब नासर की थोड़ी कहानी जानते हैं. सज़ा मिलने के दौरान नासर 54 साल का था. कई साल पहले उसने अपनी डॉक्टरी की डिग्री पाई. वो अमेरिकी जिमनास्ट्स के लिए बनाई गई डॉक्टर्स की टीम का हिस्सा बन गया. सबको मालूम था, लैरी नासर सबसे अच्छा डॉक्टर था. उसे भगवान का दर्जा दिया जाता था. लैरी इसी का इस्तेमाल करता था. अपनी सभी जिमनास्ट को लैरी ने एक ही तरह से परेशान किया. जिमनास्ट उसके पास कराहती हुई आती थीं. वो दर्द में होती थीं. उन्हें मदद चाहिए होती थी. लैरी उन्हें बेहतर महसूस करवाता था. और उनकी सबसे कमज़ोर घड़ी में उन्हें छूता था. बातचीत या मजाक करते हुए. ऐसे में पीड़ित भी सोच में पड़ जाता है कि क्या इसे शोषण के दायरे में रखा जाएगा.

Simone Biles (1)
सिमोन बाइल्स जिमनास्टिक्स की एक प्रतियोगिता के दौरान. (फोटो- PTI)

जब जिमनास्ट्स और बाकी लड़कियों ने सामने आकर नासर के गुनाहों का खुलासा किया, तब उसे सबसे पहले 21 नवंबर, 2016 में गिरफ्तार किया गया. ये उसके कंप्यूटर में चाइल्ड पोर्नोग्राफी मिलने के बाद हुआ था. जिसके बाद लैरी को 60 साल की सजा सुनाई गई. मगर फिर उसके ऊपर यौन उत्पीड़न के भी आरोप लगने लगे. और उसका अंत हुआ 25 जनवरी 2018 के दिन. 7 दिन चलने वाली सुनवाई ऐतिहासिक थी. शायद वैसी, जैसी हम फिल्मों में देखते हैं. मगर ये असली थी, इसलिए फिल्मों से कहीं ज्यादा डरावनी थी. 156 लड़कियों ने लैरी के खिलाफ स्टेटमेंट दिया. सुनवाई शुरू हुई तो नासर नज़र झुकाए सब सुन रहा था. फिर उसके साथ जिम कोच रह चुके टॉम ब्रेनन ने उससे कहा, ‘कम से कम उनसे नजरें तो मिलाओ, जिनके तुम गुनाहगार हो.’ नासर ने फिर वो सब सुना जो उसने किया था. सब एक साथ.

लैरी ने कोर्ट में 10 लड़कियों का यौन शोषण करना स्वीकारा था. मगर उसके कुकर्मों का पूरा इतिहास दर्ज था. किसी अदृश्य ईश्वर के पास नहीं, उसके हाथों सताई हुई लड़कियों के ज़हन में. 156 लड़कियां कोर्ट में आकर खड़ी हो गईं. इस बात की गवाही देने कि हां, लैरी एक मानसिक रूप से दिवालिया आदमी है, गुनाहगार है. ये सब मुमकिन हुआ जज रोजलिन अक्विलिना की वजह से. जिसने लैरी के गुनाह क़ुबूल कर लेने के बावजूद सभी 156 लड़कियों के स्टेटमेंट लिए. क्योंकि शायद सिर्फ सजा लैरी के लिए काफी नहीं थी. उसके लिए ये सुनना जरूरी था कि उसका गुनाह कैसा दिखता है. लैरी को 175 साल की सजा हुई है. वो जेल में भी रहेगा. वहीं मर जाएगा.

सिमोन द्वारा डॉक्यू सीरीज़ में लैरी नासर के ज़िक्र की वजह से एक बार फिर ये मामला चर्चा में है. वहीं सिमोन की बात करें तो दुनिया की सबसे दिग्गज जिमनास्ट्स में उनका नाम शामिल है. ओलिंपिक्स और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले बाकी कॉम्पिटिशन्स को मिलाएं तो 25 से 30 मेडल्स वो जीत चुकी हैं. और अब टोक्यो ओलिंपिक्स की तरफ उनकी नज़र है.


वीडियो देखें: मध्यप्रदेश में नर्सों की हड़ताल को हाईकोर्ट ने क्यों बताया गैरकानूनी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

YS शर्मिलाः आंध्र के CM की अब तक पर्दे के पीछे रहने वाली बहन, जिसने अपनी अलग पार्टी बना ली है

YS शर्मिला आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री YS राजशेखर रेड्डी की बेटी हैं.

मुंबई: कोविड की दूसरी लहर में आठ गुना ज्यादा प्रेगनेंट महिलाओं की मौत हो गई

ICMR से जुड़े संस्थान और एक अस्पताल की स्टडी में सामने आई जानकारी.

महिला सशक्तिकरण या चुनावी समीकरण? किस वजह से मोदी कैबिनेट में शामिल हुईं सात नई महिला मंत्री

यूपी चुनाव से लेकर कर्नाटक की आंतरिक कलह, हर जगह है बीजेपी की नजर.

जान की बाज़ी लगाकर कोविड ड्यूटी की, अब सरकार ने इन नर्सों से मुंह क्यों मोड़ लिया?

मध्य प्रदेश में सात दिन तक हज़ारों नर्स धरने पर बैठी थीं.

जानकारों ने कहा- 'धर्म में नहीं है दहेज का ज़िक्र', फिर क्यों और कैसे शुरू हुई ये कुप्रथा?

वर्ल्ड बैंक की स्टडी ने मॉडर्न भारत की पोल खोल दी.

दीदी कॉन्ट्रैक्टरः वो आर्किटेक्ट जिन्होंने बिना ट्रेनिंग के वर्ल्ड क्लास इमारतें बना दीं

दीदी कॉन्ट्रैक्टर का 5 जुलाई को 91 की उम्र में निधन हो गया.

सिंदूर से जुड़े सबसे बड़े झूठ, जिन्हें आप आजतक सच मानकर मांग में भरती आईं

एक चुटकी सिंदूर की कीमत अब जान लीजिए.

अमेरिका के जाते ही अफगानी महिलाओं पर तालिबानी हिंसा शुरू, कई अधिकार छीन लिए गए

इस्लाम के नाम पर अत्याचार को सही ठहराता है तालिबान.

गीता कपूर के काम से ज्यादा उनके सिंदूर और शादी पर बात करने वाले ये कौन लोग हैं?

फेमस कोरियोग्राफर गीता कपूर का आज हैपी बर्थडे है.

पड़ोसी की बीवी वाले भद्दे कमेंट के लिए दिनेश कार्तिक घेरे गए, माफी मांगनी पड़ी

मैच की कमेंटरी में कही थी आपत्तिजनक बात.