Submit your post

Follow Us

अनूप जलोटा-जसलीन की आने फिल्म का पोस्टर पॉर्न फिल्म का पोस्टर क्यों लग रहा है?

4.18 K
शेयर्स

अनूप जलोटा, भूतपूर्व भजन गायक और वर्तमान सोशल मीडिया मीम मटीरियल फिर से ख़बरों में हैं. इस बार भी जसलीन मथारू की वजह से. अगर आपको याद न हो तो बता दें कि पिछले साल बिग बॉस में अनूप जलोटा आए थे, और उनके साथ आई थीं जसलीन मथारू. उनकी स्टूडेंट. लेकिन अफवाह ये उड़ी कि ये दोनों कपल हैं. यानी रिलेशनशिप में हैं. बस, फिर क्या था. हर जगह यही मामला फ़ैल गया, रायते की तरह.

लोगों ने जोक बनाए. मीम शेयर किए. दोनों के बीच उम्र के फासले को लेकर बतकही हुई. बाहर निकलने के बाद इन दोनों ने कहा कि इनके बीच कुछ नहीं था. कोई रिलेशनशिप नहीं थी.  खैर. वो सब कल की बातें. कल की बात पुरानी. नई बात ये है कि दोनों ने एक फिल्म में साथ आने का प्लैन बनाया है. फिल्म का नाम होगा-वो मेरी स्टूडेंट है. इसका मुहूर्त शॉट हाल में लिया गया. उसका वीडियो ये रहा:

कहानी फिल्म की अभी तक यही पता चली है कि इस फिल्म में अनूप जलोटा रैपर बनेंगे. जसलीन उनकी स्टूडेंट बनेंगी. एक व्यक्ति इसमें और दिखाया गया है. पोस्टर और वीडियो देखकर उसका काम उदास शक्लें बनाना ही लग रहा है.


View this post on Instagram

A post shared by Bollywoodflash (@bollywoodflash01) on

अब बात करते हैं ज़रा इस फिल्म पर. फिल्म के नाम पर. और उसके प्रोमोशन के लिए इस्तेमाल की जा रही जसलीन की तस्वीर पर. जिसमें वो शार्ट स्कर्ट और वाइट शर्ट में नज़र आ रही हैं. वैसे कुछ भी कहने से पहले दिल की एक बात बता दें. अपनी पूरी ज़िन्दगी में हमने ऐसा स्टूडेंट नहीं देखा जो इतनी छोटी स्कर्ट पहनता हो. न जाने कौन स्कूलों में ऐसे स्टूडेंट पढ़ते हैं. हमारी स्कर्ट घुटनों से ज़रा ऊंची जाती न थी, कि डस्टर से धुन दिए जाते थे. चुटिया कस के न बंधी हो और चेहरे पर बाल आ जाएं तो घर वापस भेज दिया जाता था. जाने कहां गए बचपन के वो दिन. ठीक ही हुआ चले गए. कोई न, लौटते हैं फिल्म पर.

फिल्म का नाम – वो मेरी स्टूडेंट है. नाम से ही ये एस्टेब्लिश कर दिया जा रहा है कि फिल्म टीचर स्टूडेंट के ऊपर होगी. ये एक बेहद पॉपुलर पॉर्न कैटेगरी है. जिसमें टीचर और स्टूडेंट्स को सम्बन्ध बनाते हुए दिखाया जाता है. इसमें अधिकतर स्टूडेंट का किरदार लड़की को दिया जाता है. कुछेक में लड़के भी दिख सकते हैं. इन वीडियोज में लड़कियां खुद को स्टूडेंट दिखाने के लिए इसी तरह के कपड़े पहने होती हैं. उत्तेजित करने वाले. भड़कीले.

भड़क, और उससे परे की कहानी.

आखिर ये स्टूडेंट की पॉपुलर कैटेगरी आई कहां से. और ये यूनिफ़ॉर्म का कॉन्सेप्ट कैसे जुड़ा पॉर्न से?

अधिकतर रीसर्च करने वालों का ये मानना है कि यहां पर दो चीज़ें सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण साबित होती हैं. एक तो पॉवर गेम. दूसरा स्कूल यूनिफ़ॉर्म से जुड़ा हुआ ये आइडिया कि उसे पहनने वाली लड़की कमसिन होगी. भोली होगी. ‘वर्जिन’ होगी.

पॉवर गेम दूसरी वीडियोज में भी देखने को मिल सकता है जैसे बॉस और उसकी सेक्रेटरी. डॉक्टर और नर्स. यहां पर सेक्रेटरी और नर्स जैसे रोल लगभग हमेशा लड़कियों को दिए जाते हैं. क्योंकि इन के ऊपर अपनी डॉमिनेंस यानी प्रभुत्व जमाते हुए देखना पुरुषों को अच्छा लगता है. और कड़वा सच यही है कि पॉर्न का अधिकतर हिस्सा पुरुषों की नज़रों को सूट करने, उन्हें नयनसुख देने के लिए बनाया जाता है.

जसलीन की इस तस्वीर देखकर कभी आर कभी पार गाने की भी याद आती है. उस के रीमिक्स में दीपल शॉ ने भी यही ड्रेस पहनी थी.
जसलीन की इस तस्वीर देखकर कभी आर कभी पार गाने की भी याद आती है. उस के रीमिक्स में दीपल शॉ ने भी यही ड्रेस पहनी थी.

दूसरी बात, हाई स्कूल जाने वाली लड़कियों की उम्र 13 से 16 साल के बीच होती है. इस उम्र में ही पहली बार लड़कों को भी शारीरिक आकर्षण होना शुरू होता है. लेकिन इस उम्र में शारीरिक सम्बन्ध बनाना उनके लिए ठीक नहीं होता. तो ये चीज़ भी साइकी में कहीं दबी रह जाती है, ऐसा पढ़ने को मिलता है. कि पहली बार शारीरिक आकर्षण जब हुआ था, तब स्कूल की ही यादें आस-पास थीं. स्कूल जाने वाली लड़की के साथ भोलापन जुड़ा होता है. चूंकि उस उम्र की लड़की की तरफ आकर्षित होना अपने-आप में पीडोफिलिया है, तो अपने आकर्षण को एक वयस्क औरत पर अक्सर लोग प्रोजेक्ट करते हैं. क्योंकि उनको पता होता है कि इसके लिए उत्तेजित महसूस करने में कोई गलती नहीं है. और उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध भी बनाए जा सकते हैं.

इन स्कूल यूनिफ़ॉर्म्स के साथ सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात ये है कि इनमें स्कर्ट्स बेहद छोटी होती है. ये जापान के कोगल कल्चर से प्रेरित दिखाई देती हैं. कोगल कल्चर में लड़कियां बेहद छोटी स्कर्ट, ढीले मोज़े पहनती हैं. बाल डाई करवाती हैं. खुद को ग्यारू कहने वाली ये लड़कियां जापान के स्कूलों में देखी जा सकती हैं. इनकी लाइफस्टाइल की आलोचना ये कहकर की जाती है कि वो इतनी कम उम्र में मेकअप और दूसरी चीज़ों पर ध्यान देने में फंस जाती हैं और उनके खर्चे अधिकतर उनके अमीर मां-बाप उठाते हैं. इस चीज़ को जापान में अच्छी नज़र से नहीं देखा जाता. लेकिन कोगल संस्कृति फॉलो करने वाली लड़कियों के पहनावे ने पूरी दुनिया में अपना असर छोड़ा है. अक्सर ये स्कूल यूनिफ़ॉर्म काफी ज्यादा सेक्सुअल तरीके से पेश की जाती है, जिसकी वजह से उनकी एक ख़ास इमेज समय के साथ पॉप कल्चर में बन गई है.

कोगल कल्चर में पहनी जाने वाली स्कर्ट और सॉक्स का एक नमूना. (तस्वीर: विकिमीडिया कॉमन्स)
कोगल कल्चर में पहनी जाने वाली स्कर्ट और सॉक्स का एक नमूना. (तस्वीर: विकिमीडिया कॉमन्स)

लेकिन ये चीज़ लड़कियों को खाए जा रही है.

ब्रिटेन के पब्लिक स्कूल और भारत के स्कूलों में चाहे वो प्राइवेट हों या सरकारी, यूनिफ़ॉर्म आवश्यक है. अमेरिका में नहीं है. कुछ प्राइवेट स्कूलों में ज़रूर है. लेकिन ये यूनिफ़ॉर्म उनके लिए दिक्कत का सबब भी बन जाती है.  प्लैन इंटरनेशनल यूके के अनुसार ब्रिटेन की एक तिहाई लड़कियों ने कहा कि स्कूल यूनिफ़ॉर्म पहने हुए उन्हें यौन शोषण झेलना पड़ा. उन्होंने बताया कि उन्हें राह चलते छेड़ा गया, सीटियां बजाई गईं. सात में से एक ने कहा कि जब वो यूनिफ़ॉर्म में घर लौट रही थीं तब उनका पीछा किया गया. कुछ ने बताया कि पुरुषों ने उनकी स्कर्ट्स के भीतर से फोटो खींचने की कोशिश की.  14 साल की न्याशा ने बताया कि उसे स्कूल यूनिफ़ॉर्म में बाहर जाने की इजाज़त नहीं है. क्योंकि उसकी मम्मी ने कहा कि वो इसमें अपनी उम्र से बड़ी लगती है.

एक 14 साल की बच्ची को उसकी स्कूल की यूनिफ़ॉर्म पहनने में डर लगता है. कि कहीं उसका यौन शोषण न हो जाए. कहीं वो अपनी उम्र से बड़ी न लगने लगे.

ये दुनिया मिल भी जाए तो क्या है. आग लगे ऐसी दुनिया को.


वीडियो: इनकी बातें सुनकर विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के दावे की पोल खुल जाएगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

अंग्रेजी कमजोर थी, इसलिए कॉलेज स्टूडेंट ने सुसाइड कर लिया

स्कूल की पढ़ाई हिंदी में की थी. कॉलेज अंग्रेजी में कर रही थी.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में बच्चियों से बलात्कार केस का फैसला टल गया है

वकीलों की हड़ताल की वजह से फैसले में देरी होगी.

रेप के बाद नाबालिग मां बन गई, पंचायत ने बच्चे को 20 हजार में बेचने का फरमान सुना दिया!

पहली बार टीचर ने, फिर बिजली बनाने वाले रेप किया था.

अस्पताल के टॉयलेट में इस महिला ने जो किया जान लेंगे तो आपको स्कूल याद आ जाएगा

पुलिसवाले टॉर्च लेकर उसे ढूंढ़ रहे हैं.

बर्फीली नदी में डूब रहा था, लोग बचाने गए तो पता चला लाश के टुकड़े ठिकाने लगा रहा था

मगर ये कुछ भी नहीं था, पूरी कहानी अभी बाकी थी.

81 साल की बुजुर्ग महिला के मुंह पर कालिख पोती, नंगे पांव पूरे गांव में घसीटा

जूतों की माला पहनाई.

परीक्षा देने शहर आई लड़की के साथ उसी के भाई ने होटल में रेप किया

अगले दिन परीक्षा थी. कज़िन ने ख़ुद लड़की से कहा, रात को मेरे साथ ही होटल में रुक जाओ.

पाकिस्तान में हिंदू लड़की की मौत की गुत्थी सुलझी, हत्या से पहले उसका रेप हुआ था

पुलिस को जिस बात की आशंका थी, वही हुआ.

घर पर अकेला पाकर अपनी ही बेटी को गलत तरह से छूता था पिता, मां ने भी विश्वास नहीं किया

बच्ची खुद समझदार न होती, तो ये जाने कबतक चलता.

कैफे के वॉशरूम में लड़की ने छिपा कैमरा देखा, शिकायत की तो सिर चकराने वाला जवाब मिला

कैफे के मैनेजर कुछ और ही बात कह रहे हैं.