Submit your post

Follow Us

'अमेठी की बेटी' की कथित हत्या पर लोग बौखलाए, पुलिस ने रेप के दावों को खारिज किया

14 मई की सुबह दो लड़िकियों के साथ हुई भयावह घटनाओं की खबर से हुई. एक खबर हरियाणा से थी. जिसमें 22 साल की एक लड़की के साथ कथित तौर पर 25 लोगों ने गैंगरेप किया. वहीं दूसरा मामला यूपी के अमेठी से था. जहां 12-13 साल की एक बच्ची की हत्या हो गई. दोनों मामलों पर एक-एक करके बात करते हैं.

पहले अमेठी की घटना.

ट्विटर पर #अमेठी_की_बेटी_को_न्याय_दो हैशटैग ट्रेंड कर रहा है. लोग 12-13 साल की एक बच्ची की तस्वीर शेयर करके इंसाफ मांग रहे हैं. क्या है ये मामला आपको डिटेल में बताते हैं.

क्या है मामला?

जिस बच्ची की बात हो रही है, वो दलित समुदाय से आती थी और अब वो इस दुनिया में नहीं है. उसके पिता जी द्वारा मामले की जानकारी देता हुआ एक लेटर हमें मिला, जिसमें उन्होंने बताया कि, बच्ची 13 मई की सुबह करीब साढ़े आठ बजे अपने घर से बकरी चराने के लिए निकली थी. बकरी अकेले दोपहर 12 बजे घर आ गई. तो घर वालों को बेटी की चिंता हुई. बड़ी बहन उसे खोजने के लिए निकली, कुछ दूर जाने के बाद उसे अपनी बहन का शव सफेदा के एक पेड़ से लटका हुआ दिखा. उसने शव को पेड़ से उतारा और कंधे में उठाकर घर की तरफ बढ़ गई. कुछ दूरी पर कुछ लोग मौजूद थे, उन्होंने बच्ची के घर पर जानकारी दी. उसके पिता और भाई तुरंत वहां पहुंचे. पुलिस को बुलाया गया. परिवार वालों का कहना है कि बच्ची के शव पर चोट के निशान थे और उसके प्राइवेट पार्ट से खून भी निकल रहा था.

‘आज तक’ से जुड़े पत्रतकार आलोक श्रीवास्तव ने हमें मामले की और ज्यादा जानकारी दी. बताया कि बच्ची के परिवार का कहना है कि बच्ची का रेप करके उसकी हत्या की गई है. पिता ने मीडिया को बताया कि जिस पेड़ पर शव मिला, वो सीधा था, अगल-बगल डालियां नहीं निकली थीं, इसलिए बच्ची खुद से फांसी नहीं लगा सकती.

पुलिस क्या कहती है?

पुलिस ने रेप की बात को सिरे से खारिज कर दिया है. अमेठी के SP दिनेश सिंह का कहना है कि तीन डॉक्टर्स के पैनल ने शव का पोस्टमार्टम किया है और किसी भी तरह के सेक्शुअल असॉल्ट या रेप की पुष्टी रिपोर्ट में नहीं की गई है. ये सामने आया है कि बच्ची की मौत फांसी की वजह से हुई है. SP से जब पूछा गया कि ये मामला हत्या का लग रहा है या आत्महत्या का. तो उन्होंने कहा कि अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता, जांच चल रही है. और पुलिस की चार टीमें प्लस एक फॉरेंसिक की टीम छानबीन में जुटी हुई है.

सोशल मीडिया पर लोग लगातार इस मामले पर लिख रहे हैं. केंद्र और राज्य सरकार से तीखे सवाल पूछ रहे हैं कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्लोगन कहां गया. चूंकि अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी है, तो लोग उनसे भी सवाल कर रहे हैं कि वो इस मुद्दे पर अभी तक चुप क्यों हैं? ये भी कहना है कि जब राहुल गांधी अमेठी के सांसद थे, तब ऐसी घटनाएं नहीं हुईं, अभी ही हो रही हैं. कुछ नामी लोगों ने भी अमेठी वाली घटना पर अपनी राय रखी है. लिरिसिस्ट मनोज मुंतशिर ने भी ट्विटर पर #अमेठीकीबेटीकोन्याय_दो का इस्तेमाल करते हुए योगी आदित्यनाथ को टैग किया और बच्ची के लिए इंसाफ की मांग की. भीम आर्मी अमेठी के ज़िला महासचिव अरुण आंबेडकर ने पीड़ित परिवार के घर का दौरा किया और उन्होंने भी न्याय की मांग की है. वहीं पुलिस का कहना है कि वो पूरी कोशिश कर रही है कि सच सामने आ सके. इस वक्त गांव में भारी मात्रा में पुलिसवालों को तैनात किया गया है.

अब बढ़ते हैं पलवल में हुई वारदात की तरफ.

पलवल में 25 आदमियों पर गैंगरेप का आरोप

पलवल हरियाणा का एक ज़िला है. दिल्ली से महज़ 70 किलोमीटर दूर है. यहां के हसनपुर थाने में 22 साल की एक लड़की ने 12 मई को एक शिकायत दर्ज कराई. आरोप लगाया कि करीब 25 लोगों ने उसका गैंगरेप किया है. क्या है ये पूरा मामला आपको डिटेल में बताते हैं.

क्या है मामला?

‘आज तक’ से जुडे सचिन गौड़ की रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की मूल रूप से यूपी के बांदा ज़िले की रहने वाली है. फिलहाल कुछ महीनों से दिल्ली के बदरपुर में रह रही थी. करीब तीन-चार महीने पहले फेसबुक के ज़रिए लड़की की दोस्ती सागर नाम के लड़के से हुई. लड़की ने 12 मई को पुलिस में जो शिकायत दी है, उसके मुताबिक, 3 मई के दिन सागर ने उसे पलवल ज़िले के होडल टाउन में बुलाया था. ये कहकर कि वो उससे शादी करना चाहता है और रामगढ़ में अपने घर ले जाकर पैरेंट्स से मिलवाना चाहता है. जब वो होडल पहुंची तो वहां से सागर ने उसे रामगढ़ ले जाने के बजाए एक ट्यूबवेल पर ले गया, वहां उसका भाई समन्द्र भी आ गया. दोनों उसे वहां से जंगल में लेकर गए जहां पर सागर के 20 से 22 दोस्त भी आ गए और सबने बारी-बारी से उसका रेप किया. अगली सुबह उसे रामगढ़ के पास एक जगह पर लेकर गए, यहां भी उसका रेप किया. 4 मई की रात लड़की को बदरपुर छोड़ दिया गया. शिकायत पत्र में लड़की ने आगे कहा कि वो शारीरिक तौर पर इतनी कमज़ोर हो गई थी कि चार-पांच दिन तक बिस्तर से उठ नहीं पाई थी. और जब चलने लायक हुई तो आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने पुलिस थाने पहुंची.

Palwal
पुलिस की गिरफ्त में मुख्य आरोपी सागर. (फोटो- सचिन गौड़)

पुलिस ने IPC की धारा 365, यानी किडनैपिंग, धारा 376-डी यानी गैंगरेप, 120 बी यानी आपराधिक साजिश के तहत मामला दर्ज कर लिया है और मुख्य आरोपी सागर को गिरफ्तार किया जा चुका है. महिला ने अपनी शिकायत में जंगल में ले जाने की बात कही थी, लेकिन हसनपुर थाना प्रभारी राजेश कुमार ने इस बात को नकारा है. कहा है कि हम इस मामले की जांच कर रहे हैं. साथ ही पुलिस ने आरोपियों की संख्या के मुद्दे पर भी कहा कि ये भी जांच का विषय है.

मामले में लगातार अपडेट आ रहे हैं. हमें भी आगे जो भी जानकारी मिलेगी, आप तक ज़रूर पहुंचाई जाएगी.


वीडियो देखें: पश्चिम बंगाल से टिकरी बॉर्डर आई थी लड़की, पिता पुलिस को सबूत देने वाले थे, फिर क्या हुआ?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

दिल्ली में पुरुषों जितनी महिलाएं क्यों नहीं लगवा रही हैं कोरोना वैक्सीन?

दिल्ली, यूपी, जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर के राज्यों में गैप बहुत ज्यादा है.

कोविड से अनाथ हुए बच्चों के लिए जारी सरकारी हेल्पलाइन नंबर्स चलते भी हैं या नहीं?

कोई बच्चा कोरोना काल में अनाथ हो जाए तो क्या करें?

कोरोना काल में जहां अपने भी पराए हो रहे, वहां इन औरतों ने कायम की नई मिसाल

इंटरनेशनल नर्सिंग डे का पूरा इतिहास यहां जानिए.

कोरोना ड्यूटी करने वाली महिला पुलिसकर्मियों का ये रूप कभी ना देखा होगा!

महामारी के बीच ड्यूटी में लगीं महिला पुलिसकर्मियों ने सुनाई परेशान करने वाली आपबीती.

कोरोना के ज़ोरदार अटैक के बीच प्रेग्नेंसी प्लान करना क्या गलत है?

प्रेगनेंट औरतों से जानिए, हर पल किस बात का डर सताता है.

मदर्स डे: मिलिए दुनिया की सबसे 'लीचड़', 'घटिया', 'कपटी' मांओं से

और जानिए कि वो ऐसी कैसे बन गईं.

पहले पिता फिर मां की मौत, कोरोना के डर से कोई नहीं आया, बेटी ने PPE किट पहन किया अंतिम संस्कार

तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

शादी में दुल्हन ने दूल्हे को मंगलसूत्र पहनाया तो कुछ लोगों का हाजमा क्यों खराब हो गया?

दूल्हे पर ब्रा पहनने और बच्चा पैदा करने तक के तंज कसने लग गए कई लोग.

कोरोना ड्यूटी कर रहे डॉक्टर्स ने ऐसी-ऐसी बातें बताईं जो कभी बाहर नहीं आईं

डॉक्टर्स की ये बातें सुनकर रूह कांपती है.

ऐसे गाने यूट्यूब पर डालने से पहले कोई चेक नहीं करता क्या?

'धीयां' गाने में ऐसी ऐसी बातें कह गए हैं सिंगर कि 'आ दीवार मुझे मार' कहने का मन होता है.