Submit your post

Follow Us

यौन शोषण का शिकार हुई बेटी का साथ मां ने छोड़ा, जज ने बच्ची के बयान पर सजा सुनाई

हरियाणा का अंबाला ज़िला. यहां यौन शोषण के डेढ़ साल पुराने एक मामले में अदालत ने 20 जनवरी के दिन सज़ा सुनाई. ये केस 6 साल की एक बच्ची के यौन शोषण का था. स्कूल वैन के अंदर ड्राइवर ने बच्ची का शोषण किया था. अंबाला के एडिशनल सेशन जज रजनीश बंसल ने ड्राइवर सतीश को दोषी करार देते हुए 20 साल की सजा सुनाई.

मां बयान से मुकरी, लेकिन बच्ची ने सब बता दिया

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्ची की मां ने 16 अगस्त, 2018 के दिन केस दर्ज करवाया था. मां की शिकायत के मुताबिक, जब ड्राइवर 14 अगस्त के दिन बच्ची को घर छोड़ रहा था, तो उसे अकेला पाकर उसने बच्ची का यौन शोषण किया था. हालांकि बाद में बच्ची की मां अपने बयान से मुकर गई थी. उसने कोर्ट में कहा कि गलती से बयान दिया था, ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी.

इस मामले में स्कूल के प्रिंसिपल और स्कूल वैन के इन्चार्ज टीचर ने भी ड्राइवर के पक्ष में बयान दिए थे. प्रिंसिपल ने कहा था कि बच्ची को आखिरी में घर नहीं छोड़ा गया था, उस वक्त वैन में पांच और बच्चे थे. हालांकि कोर्ट ने उनके बयानों को नहीं माना. जब सारे गवाह पीछे हटते दिखे, तो जज ने बच्ची को पुचकार कर सारी बात जानने की कोशिश की.

बच्ची ने जज को बताया कि ड्राइवर ने बस में उसके साथ गलत हरकत की थी. सरकारी वकील जंगबहादुर के मुताबिक, बच्ची के बयान को ही कोर्ट ने आधार मानते हुए सजा सुनाई.

ड्राइवर ने कैंसर की बात कहकर बचना चाहा

सतीश अगस्त, 2018 से ही जेल में है. जब उसे जेल भेजा गया, तब पता चला कि उसकी आंखों में कैंसर है. इलाज हुआ, कैंसर प्रभावित आंख को निकाल दिया गया. फिर समय के साथ दूसरी आंख की रोशनी भी कम हो गई. सतीश ने कहा कि उसके घर में उसकी बूढ़ी मां, पत्नी और 7 साल का बेटा हैं, इसलिए उसे छोड़ दिया जाए. हालांकि कोर्ट ने इन दलीलों को नहीं माना.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

ट्विटर पर सालभर बाद वापसी कर PM केयर्स फंड पर सवाल उठाने वाली ये महिला कौन हैं?

राजीव गांधी खेल रत्न के लिए किन तीन महिला खिलाड़ियों के नाम की सिफारिश हुई?

क्या PM मोदी का ये फैसला गांव की करोड़ों लड़कियों का नसीब बदल देगा?

शादी की न्यूनतम उम्र का तीया-पांचा समझ लीजिए.

कौन हैं ये महिला जिनसे मिलकर आमिर खान ट्रोल हो गए?

और भारतीय मूल की वो लड़की जो जर्मनी में झंडे गाड़ रही है.

'तीन साल तक उस व्यक्ति ने मेरा रेप किया, जो मेरी मां के लिए बेटे जैसा था'

लेखिका ने बताया, कितना मुश्किल था ये सब कुछ अपने पेरेंट्स को बताना.

फेसबुक इंडिया की अधिकारी को जान से मारने की धमकी क्यों मिल रही है?

और कौन हैं नम्रिता चांदी, जिन्होंने 'गुंजन सक्सेना' फिल्म पर सवाल उठाए हैं.

'गुंजन सक्सेना' में वायुसेना को लेकर झूठी बातें दखाई गईं? क्या कहती हैं महिला अफसर?

क्या सचमुच महिलाओं को मौके नहीं मिलते थे?

सुप्रीम कोर्ट की लॉयर ने बताया-पीरियड की वजह से छुट्टी लेने पर नौकरी से निकाल दिया था

और लोग कह रहे हैं पीरियड लीव कौन सी बड़ी बात है.

अपने 93वें जन्मदिन पर 'आंख मारे' पर डांस करती इन दादी को गले लगाने का दिल करेगा

और कौन हैं ये IPS ऑफिसर, जिनकी तस्वीरें हद वायरल हो रही हैं.

वो लड़की, जिसने पुरुष के भेष में युद्ध लड़कर दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिए

मूलान नाम की उस लड़की पर डिज्नी की फिल्म आ रही है, सितंबर में.

80 साल की उम्र में बच्चों को ऑनलाइन मैथ्स सिखा रही हैं ये महिला

और 31वीं बार मैदान में भिड़ेंगी दो सगी बहनें.