Submit your post

Follow Us

चेन्नई में मी टू की नई लहर, बच्चियों से लेकर कलाकारों तक ने लगाए यौन शोषण के आरोप

चेन्नई में बीते एक सप्ताह यौन शोषण के बहुत सारे मामले सामने आए हैं. सोशल मीडिया पर मी टू कैंपेन फिर से शुरू हो गया है. पिछले एक सप्ताह में चेन्नई के कम से कम पांच स्कूलों के टीचर या तो अरेस्ट किए जा चुके हैं या फिर सस्पेंड. इन सभी के ऊपर यौन शोषण के आरोप लगे हैं. टीचर्स के अलावा कई कलाकारों के ऊपर भी इस तरह के इल्जाम लगे हैं.

एक स्कूल से शुरू हुई मुहिम

चेन्नई में मी टू की यह मुहिम 24 मई को शुरू हुई. इस दिन पद्म शेषाद्रि बाल भवन के कई स्टूडेंट्स ने राजगोपालन नाम के टीचर के ऊपर आरोप लगाए. इन बच्चों को स्कूल के पूर्व छात्रों का सहयोग मिला. बताया गया कि राजगोपालन तौलिया केवल तौलिया लपेटकर क्लास लेते हैं और स्टूडेंट्स की फोटो पर आपत्तिजनक कमेंट करते हैं. साथ ही साथ उन्हें आपत्तिजनक फोटो भी भेजते हैं.

पूर्व छात्रों ने भी आरोप लगाया कि पहले भी कई बार स्कूल मैनेजमेंट से राजगोपालन की शिकायत की जा चुकी है, लेकिन मैनेजमेंट ने कार्रवाई नहीं की. बाद में मामले को बढ़ता देख टीचर को सस्पेंड कर दिया गया. पुलिस ने टीचर को हिरासत में भी ले लिया. इसके बाद शहर के दूसरे स्कूलों के बच्चे भी सामने आए और उन्होंने भी अपने टीचर्स पर आरोप लगाए.

PSBB स्कूल की बिल्डिंग. यहीं के छात्रों और पूर्व छात्रों ने टीचर राजगोपालन के खिलाफ यौन शोषण के आरोप लगाए थे.(फोटो: स्कूल की वेबसाइट)
PSBB स्कूल की बिल्डिंग. यहीं के छात्रों और पूर्व छात्रों ने टीचर राजगोपालन के खिलाफ यौन शोषण के आरोप लगाए थे.(फोटो: स्कूल की वेबसाइट)

‘इंडिया टुडे’ ने इन स्कूलों के कई बच्चों से बात की. सबकी कहानी एक जैसी ही निकली. यौन शोषण, आपत्तिजनक कमेंट, कुछ कहने पर फेल करने की धमकी और बार-बार शिकायत करने पर भी मैनेजमेंट की तरफ से कार्रवाई नहीं.

पद्म शेषाद्रि बाल भवन के मामले को डीएमके की सांसद कनिमोई ने सोशल मीडिया पर भी उठाया था. देखते ही देखते ही सोशल मीडिया पर एक कैंपेन चल पड़ा. पैरेंट्स अपने बच्चों के लिए न्याय की मांग करने लगे.

इसी दौरान एक और मामला सामने आया. एक स्पोर्ट्स एकेडमी के हेड कोच पर शोषण के आरोप लगे. 19 साल की पीड़िता ने आरोप लगाया कि कोच ने कई बार उसका यौन शोषण किया. शिकायत के बाद कोच को गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपी पर पॉक्सो एक्ट के तहत भी FIR दर्ज की गई.

बच्चों ने क्या कहा?

एक पीड़ित बच्चे ने इंडिया टुडे को बताया-

“मैं तब नौंवी क्लास में थी. अपने जन्मदिन पर क्लास में चॉकलेट बांट रही थी. तभी हिंदी के टीचर ने पीछे से पकड़ लिया. दूसरे स्टूडेंट्स के साथ भी इस तरह का शोषण हुआ. हम सबने कमेटी बनाई. मैनेजमेंट से शिकायत की. मैनेजमेंट ने कहा कि कार्रवाई होगी. लेकिन कभी ऐसा नहीं लगा कि मैनैजमेंट कार्रवाई करना चाहता है.”

एक दूसरी पीड़िता ने बताया-

“जब मैं स्कूल में थी, तो मैंने बहुत बुरा बर्ताव झेला. मेरे साथ एक टीचर ने यौन शोषण किया था. मैंने उस समय सीधे प्रिंसिपल से शिकायत की थी. लेकिन कुछ नहीं हुआ. स्कूल किसी भी तरह की कार्रवाई करने के लिए तैयार ही नहीं था.”

इसी तरह एक और पीड़िता ने बताया कि कोच उसे जबरन बास्केटबॉल खेलने के लिए मजबूर करता था. खेलते हुए उसकी जांघों को छूता था. इसके चलते पीड़िता ने बास्केटबॉल खेलनी बंद कर दी. इसके बाद कोच कहने लगा कि पीड़िता के अंदर खिलाड़ियों वाला जोश नहीं है.

तमिल कवि को अवार्ड का विरोध

पिछले हफ्ते ही चेन्नई में एक तमिल कवि को अवार्ड दिए जाने का भी विरोध किया गया. कवि का नाम वैरामुथू है. वैरामुथू कवि होने के साथ-साथ गीतकार भी हैं. साल 2018 में उनके ऊपर मी टू के तहत यौन शोषण के कई आरोप लगे थे. हाल फिलहाल में वैरामुथू को ONV साहित्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया. जिसके बाद कई अभिनेत्रियों और संगीतकारों ने ONV सांस्कृतिक समिति की आलोचना की. एक्ट्रेस पार्वती ने बीती 27 मई को कहा कि कवि ओएनवी कुरुप हमारे गर्व हैं. उनसे किसी की तुलना नहीं की जा सकती. उनका जो योगदान है, उसने हमारा आत्मिक विकास किया है. इसलिए उनके नाम से चलने वाले पुरस्कार को एक यौन शोषण के आरोपी को दिया जाना, उनकी विरासत का अपमान है.

 

 

 

View this post on Instagram

 

  A post shared by Parvathy Thiruvothu (@par_vathy)

गायिका चिनमई ने भी इस संबंध में ट्वीट किया. वैरामुथू के बारे में उन्होंने लिखा- “वो हमेशा से इस तरह का व्यक्ति रहा है, जिसने अपने ओहदे का पॉवर का यूज महिलाओं को शांत कराने और उन्हें अपने साथ काम करने के लिए मजबूर करने में किया है. जिन औरतों ने इस व्यक्ति के खिलाफ आवाज उठाई है, उन्हें शुक्रिया.”

गायक टीएम कृष्णा ने भी अपनी आवाज उठाई. उन्होंने लिखा- “इस तरह से हमारा समाज उस व्यक्ति को स्वीकृति देता है, जिसके ऊपर कई महिलाओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं. यह शर्मनाक है.”

साल 2018 में कम से कम 17 महिलाओं ने वैरामुथू के खिलाफ यौन शोषण के आरोप लगाए थे. फिलहाल, अवार्ड मिलने के बाद इस पूरे विवाद पर वैरामुथू का पक्ष भी सामने आया है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की वजह से विवाद खड़ा हो गया है और वे इस अवार्ड को वापस कर देंगे. इसके लिए उन्होंने ONV सांस्कृतिक अकादमी को पत्र लिख दिया है.


 

वीडियो- तमिल अभिनेत्री ने AIADMK के पूर्व मंत्री पर लगाया रेप और जबरन एबॉर्शन का आरोप, पर वो अकेले नहीं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

चीन के सबसे चर्चित #metoo केस को बीजिंग की अदालत ने क्यों खारिज किया?

चीन के सबसे चर्चित #metoo केस को बीजिंग की अदालत ने क्यों खारिज किया?

एक बड़े न्यूज़ चैनल के एंकर पर लगा था यौन शोषण का आरोप.

इलाज के बहाने लड़कियों के प्राइवेट पार्ट में हाथ डालने वाले डॉक्टर की FBI ने ढंग से जांच नहीं की!

इलाज के बहाने लड़कियों के प्राइवेट पार्ट में हाथ डालने वाले डॉक्टर की FBI ने ढंग से जांच नहीं की!

यौन शोषण का शिकार हुईं सिमोन बाइल्स और उनका साथी खिलाड़ियों ने FBI को खरी-खोटी सुनाई.

महिला को बेरहमी से पीटते तालिबान का ये वीडियो दहलाने वाला है!

महिला को बेरहमी से पीटते तालिबान का ये वीडियो दहलाने वाला है!

तालिबान ने औरतों की आज़ादी पूरी तरह छीन ली है.

नुसरत जहां के बच्चे के पिता का नाम जानकर चौंक जाएंगे आप!

नुसरत जहां के बच्चे के पिता का नाम जानकर चौंक जाएंगे आप!

असली झटका तो खबर पढ़ने के बाद लगेगा.

'रेपिस्ट की हत्या करने का भरोसा दिलाते मंत्री जी! गैरक़ानूनी बात करते हुए आपको शर्म आनी चाहिए'

'रेपिस्ट की हत्या करने का भरोसा दिलाते मंत्री जी! गैरक़ानूनी बात करते हुए आपको शर्म आनी चाहिए'

ऐसी जनता और ऐसे नेता, दोनों ही इस देश और लोकतंत्र के लिए खतरनाक हैं. जिनके लिए इंसाफ का मतलब हत्या है.

'लहू दी आवाज़': इंस्टाग्राम की 'न्यूड रील्स' पर बना ये गीत आज इंटरनेट पर सबसे घटिया चीज है

'लहू दी आवाज़': इंस्टाग्राम की 'न्यूड रील्स' पर बना ये गीत आज इंटरनेट पर सबसे घटिया चीज है

पंजाबी सिंगर सिमरन कौर का गाना वायरल है और इंटरनेट पर तूफ़ान मचाए हुए है.

यौन शोषण की शिकायत की तो कांग्रेस के सहयोगी IUML ने महिला विंग को ही बैन कर दिया

यौन शोषण की शिकायत की तो कांग्रेस के सहयोगी IUML ने महिला विंग को ही बैन कर दिया

संगठन के पुरुष सदस्यों पर यौन शोषण के आरोप लगे थे.

अफगानिस्तान की बचा पोश प्रथा, जिसमें लड़कियों को लड़कों के जैसे रखा जाता है

अफगानिस्तान की बचा पोश प्रथा, जिसमें लड़कियों को लड़कों के जैसे रखा जाता है

इस प्रथा के जड़ में भी औरतों के साथ होने वाला भेदभाव है.

इस साल मेट गाला में शामिल हुईं इकलौती भारतीय सुधा रेड्डी कौन हैं?

इस साल मेट गाला में शामिल हुईं इकलौती भारतीय सुधा रेड्डी कौन हैं?

सोने के काम वाला गाउन और हीरे के गहने खासी चर्चा बटोर रहे हैं.

अफगानिस्तान की इन महिलाओं ने रंग-बिरंगे कपड़ों में फोटो डालकर तालिबान को करारा जवाब दिया है!

अफगानिस्तान की इन महिलाओं ने रंग-बिरंगे कपड़ों में फोटो डालकर तालिबान को करारा जवाब दिया है!

आप तस्वीरें देखिए, बुर्का को संस्कृति का हिस्सा बताने वालों पर गुस्सा आएगा.