Submit your post

Follow Us

क्या हुआ जब एक डरावनी बीमारी से जूझ रहे 17 दिन के बच्चे को कोरोना हो गया

अहमदाबाद का सिविल अस्पताल. कुछ दिन पहले यहां एक 17 दिन के बच्चे की सर्जरी हुई. बच्चे को जेजूनल अट्रेशिया था. जितना डरावना नाम, उतनी डरावनी बीमारी. सर्जरी से ही उसे बचाया जा सकता था. लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच डॉक्टर्स के लिए ऐसी सर्जरी कर पाना मुश्किल था. ये बीमारी होती क्या है, इस पर थोड़ी देर में आएंगे. फ़िलहाल ये समझ लीजिए कि इसकी सर्जरी आंतों से जुड़ी होती है.

बच्चे की मां सीताबेन ने बताया,

‘मैं और मेरे पति बच्चे को देखने के लिए आतुर थे. जब मुझे डिलीवरी के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया तो मेरा कोविड-19 का टेस्ट हुआ. मेरा रिजल्ट पॉजिटिव आया. मुझे सोला सिविल हॉस्पिटल शिफ्ट किया गया. बच्चे को निगरानी में रखा गया. उसकी आंतों में दिक्कत थी. उसका पेशाब आसानी से पास नहीं हो पाता था. मल निकलने में भी परेशानी थी. इसलिए उसका पेट भी काफ़ी सूजा हुआ था.’

Baby 1
बच्चे की मां सीताबेन अपने नवजात के साथ. मां और बच्चा दोनों अब ठीक हैं.

जेजूनल अट्रेशिया में बच्चे की आंतें सही तरह डेवेलप नहीं हो पातीं. इसका असर पड़ता है खाना पचाने की पूरी प्रक्रिया पर. इस केस में तो बच्चा भी कोविड पॉजिटिव था. इसलिए सर्जरी और भी मुश्किल थी. डॉक्टर्स की एक टीम तैयार की गई. अस्पताल की चाइल्ड स्पेशलिस्ट जयश्री रामजी ने सर्जरी की. सर्जरी के बाद बच्चे को डॉक्टर डॉली वैष्णव और डॉक्टर चारुल पुराणी की देखरेख में रखा गया.

हमने बात की डॉक्टर राकेश जोशी से. वो बच्चों की सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड हैं. उन्होंने बताया-

‘हमने बच्चे की सर्जरी के बाद उसका ट्रीटमेंट किया. उसकी रिकवरी भी अच्छी हुई. वो अब ठीक है. दूध भी पी पा रहा है. उसका टेस्ट भी नेगटिव आया. हम सब बहुत ख़ुश हैं.’

सोला सिविल हॉस्पिटल के डॉक्टर्स की टीम ने जी जान लगाकर सर्जरी की.
सोला सिविल हॉस्पिटल के डॉक्टर्स की टीम ने जी जान लगाकर सर्जरी की.

अब आते हैं सबसे ज़रूरी मुद्दे पर.

ये जेजूनल अट्रेशिया आख़िर होता क्या है?

डॉक्टर राकेश जोशी ने बताया-

‘ये एक बहुत ही रेयर बीमारी होती है. ये पैदा हुए बच्चों में पाई जाती है. 10,000 में ये सिर्फ़ एक या दो बच्चों को ही होती है. हमारे शरीर में एक झिल्ली होती है. जो हमारी स्माल इनटेसटाइन यानी छोटी आंत को पेट की दीवार से जोड़ता है. जेजूनल अट्रेशिया के केस में ये झिल्ली या तो होती ही नहीं है. और अगर होती भी है तो ठीक स्थिति में नहीं होती. इस चक्कर में छोटी आंत का एक हिस्सा धमनी (artery) के इर्द-गिर्द मुड़ जाता है. इस आर्टरी का काम कोलन तक खून पहुंचाना होता है. अब आप पूछेंगे ये कोलन क्या होता है? ये एक लंबा ट्यूबनुमा चीज़ होती है. इसका काम पचे हुए खाने से पानी निकालने का होता है.’

जिन बच्चों को जेजूनल अट्रेशिया होता है उन्हें क्या दिक्कतें होती हैं

– दूध पीने, खाना खाने में काफ़ी परेशानी होना

-उम्र के साथ बढ़ न पाना

-उल्टी

-पेट से ठीक ऊपर हद से ज़्यादा सूजन होना

-खाना पचाने और निकाल पाने की क्षमता न होना

-आंतें न बढ़ पाना

जिस बच्चे की सर्जरी हुई, उसके साथ और भी रिस्क था. बच्चा सिर्फ ढाई किलो का था. साथ ही उसे कोविड-19 भी था. इसलिए उसे एनिस्थीसिया भी देना मुश्किल था. पर इन सारी मुश्किलों के बावजूद सर्जरी हो पाई. और मां और बच्चे को अब घर भी भेज दिया गया है.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

घर से चली गई थी, रिश्तेदारों ने बेरहमी से पीटा, उसके कंधे पर लड़के को बिठाकर गांव में घुमाया

पीड़िता के पिता की शिकायत पर पुलिस ने 15 लोगों को गिरफ्तार किया.

शराब के लिए पैसे मांगे, पत्नी ने कहा-कमा कर लाओ, बहस हुई, फिर इतना पीटा कि पति की मौत हो गई!

पति के खिलाफ मारपीट का आरोप लगाकर महिला ने थाने में शिकायत भी कर दी थी.

टिंडर पर फेक अकाउंट बनाते, शादी का झांसा देते और प्राइवेट फोटो से ब्लैकमेल करते थे, अरेस्ट

कबीर सिंह के किरदार से प्रेरित हुए थे आरोपी, पुलिस ने गिरफ्तार किया.

नोएडा में कुत्ते ने पालतू कुत्ते पर हमला किया, तो मालिक ने चीन की रहने वाली महिला को बेरहमी से मारा

महिला जिस कुत्ते को खाना खिलाती थी, उसी ने हमला किया था.

सोनीपत: क्या इस नवजात बच्ची को अस्पताल ने मरने के लिए छोड़ दिया?

छोटे से टब में रखी नवजात बच्ची का वीडियो वायरल.

अलका लांबा ने 2 साल पहले मोदी को अपशब्द कहे, अब उनके चरित्र पर हमला किया जा रहा

कोई किसी को 'नपुंसक' कहता है, कोई किसी को 'वेश्या': नेताओं की क्रिएटिविटी के क्या कहने.

सुसाइड करने वाली एक्ट्रेस के आखिरी शब्द, 'सब ठीक है' वाली मानसिकता को हिलाकर रख देंगे

काम न मिलने की वजह से परेशान टीवी एक्ट्रेस प्रेक्षा मेहता ने सुसाइड कर लिया था.

केरल: पत्नी की जान लेने के लिए अजीब वारदात को अंजाम दिया, यूट्यूब से मिला आइडिया!

चार महीने में दूसरी बार किया ऐसा काम.

बेटी से रेप की कोशिश कर रहा था, पत्नी, बेटे और बेटी ने गला दबाकर मार डाला

महिला ने की थी दूसरी शादी, पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया.

झारखंड में महिलाओं ने महिला को चप्पल की माला पहनाई, कपड़े उतारकर गांव में घुमाया

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने की कार्रवाई, 200 के खिलाफ केस दर्ज.