Submit your post

Follow Us

रोज़ की ये गलतियां आपकी स्किन को बर्बाद कर रही हैं

यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.

हम अपनी स्किन का ध्यान रखने के लिए क्या-क्या नहीं करते? महंगे-महंगे फ़ेस वॉश. क्रीम्स. न जाने कितनी स्किनकेयर की चीज़ों पर पैसा खर्च कर देते है . और दिल तब टूट जाता है जब इतना कुछ करने के बाद भी स्किन की ऐसी की तैसी हो रखी हो. ऑयली स्किन ऑयली ही रहे. ड्राई स्किन ड्राई. ऊपर से उल्टा और दाने निकल आएं. उम्र से काफ़ी पहले झुर्रियां पड़ने लगें. अब आप सोचेंगे कि आपने कहां कसर छोड़ दी. सब कुछ तो किया. तो गलती कहां हो रही है. जवाब है, आपकी आदतें. आपको पता भी नहीं है कि आप रोज़ ऐसी कितनी गलतियां कर रहे हैं जो आपकी स्किन बर्बाद कर रही हैं. कौन सी हैं वो गलतियां? चलिए जानते हैं.

ये गलतियां आपकी स्किन बर्बाद कर रही हैं

iDoc Academy - Dr. Apratim Goel
डॉक्टर अप्रीतम गोएल, डर्मटॉलजिस्ट, क्यूटिस स्किन स्टूडियो, मुंबई

स्किन को ओवरक्लीन करनाः या तो आप ग़लत प्रोडक्ट इस्तेमाल कर रहे हैं, या बहुत ज़्यादा समय के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं. या बहुत कम समय के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं.

स्किन को आप फ़र्श की तरह रगड़ नहीं सकते. आप स्किन को डैमेज कर रहे हैं. अगर आप तौलिए से बहुत देर तक या बहुत हार्ड रब करते हैं. या कॉटन इस्तेमाल करते हैं ये सोचकर कि कॉटन आपकी स्किन के लिए बेटर है, इसलिए उसे बहुत बार रब करते हैं. या मेकअप वाइप्स इस्तेमाल करते हैं जिसमें ऑइल बेस्ड प्रोडक्ट होता है और उससे आप स्किन को बहुत रब करते हैं. उससे आपकी स्किन डैमेज हो जाती है.

पूरे फ़ेस की स्किन को एक जैसा ट्रीट करना. गर्दन पर स्किन बहुत पतली होती है. मुंह के चारों ओर स्किन थोड़ी ड्राई और सेंसिटिव होती है. आंखों के चारों ओर स्किन बहुत पतली होती है. उसमें ऑइल ग्लैंड्स नहीं होते हैं. इसलिए, जहां जैसी स्किन है, वहां वैसा स्किनकेयर इस्तेमाल करना है.

-ऑइली स्किन के लोग मॉइस्च्राइज़र इस्तेमाल करने से डरते हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. अगर हमारी स्किन में ऑइल ज़्यादा है तो ज़रूरी नहीं है कि पानी भी ज़्यादा हो. इसलिए स्किन को मॉइस्चराइज़ करना ज़रूरी है

Caring for Oily Skin | Trilogy Natural Products
पूरे फ़ेस की स्किन को एक जैसा ट्रीट करना एक बड़ी गलती होती है

-अगर आपके पास 4-5 प्रोडक्ट्स हैं इस्तेमाल करने के लिए तो उन्हें सही आर्डर में इस्तेमाल करिए. ग़लत ऑर्डर में इस्तेमाल किया तो बाद में इस्तेमाल किए गए प्रोडक्ट्स आपकी स्किन में एब्सॉर्ब ही नहीं होंगे. सबसे पहले बहुत पतला प्रोडक्ट या सीरम. उसके बाद थोड़ा थिक. और आख़री में सबसे थिक प्रोडक्ट इस्तेमाल करिए

-गर्म पानी में ज़्यादा देर न नहाएं. इससे स्किन के पोर खुल जाते हैं और सारा मॉइस्चर निकल जाता है. इस कारण स्किन बहुत सेंसिटिव हो जाती है. फिर आप कोई भी प्रोडक्ट इस्तेमाल करें. वो स्किन में एब्सोर्ब नहीं होता. एलर्जी और दाने हो जाते हैं

-अक्सर हम घरेलू नुस्खों पर बहुत यकीन करते हैं. किचन का सामान चेहरे पर ख़ूब लगाते हैं. लेकिन ये हमेशा ठीक नहीं है. घरेलू नुस्खों में भी एक्टिव इंग्रीडिएंट होते हैं. अगर आप ग़लत इंग्रीडिएंट लगाएंगे, या बहुत लंबे समय के लिए लगाएंगे, या फिर दो अलग इंग्रीडिएंट मिक्स करके लगा लेंगे जिन्हें मिक्स नहीं होना चाहिए था, तो उससे स्किन पर बहुत ज़्यादा साइड इफ़ेक्ट्स हो सकते हैं.

-आपके खाने और स्किन का रिलेशन होता है. इसलिए अच्छी स्किन के लिए सही डाइट लें. बैड डाइट अवॉयड करें. बैड डाइट यानी जंक फ़ूड. हाई ग्लाईसेमिक फ़ूड जैसे व्हाइट ब्रेड, मैदा, व्हाइट शुगर, वो खाना जिसमें प्रेज़रवेटिव होते हैं, कोल्ड-ड्रिंक, इन चीज़ों से इंसुलिन बढ़ता है और ये आपकी स्किन के लिए बहुत खराब हैं.

इनमें से कितनी गलतियां आप भी कर रहे थे न? अब पता चल गया क्या-क्या अवॉइड करना है. अब आते हैं दूसरे मुद्दे पर. कुछ ऐसी टिप्स जो आप अपना सकते हैं. अपनी स्किन को हेल्दी रखने के लिए. वो जान लीजिए.

डॉक्टर ज़ेबा छपरा, डर्मटॉलजिस्ट, क्यूटिस स्किन स्टूडियो, मुंबई
डॉक्टर ज़ेबा छपरा, डर्मटॉलजिस्ट, क्यूटिस स्किन स्टूडियो, मुंबई

-मुंह धोने के लिए जेंटल क्लेंज़िंग लोशन इस्तेमाल करना चाहिए. दिन में कम से कम दो बार फ़ेस वॉश करना चाहिए. सुबह और सोने से पहले. क्लेंज़िंग लोशन पानी और साबुन से बेहतर स्किन साफ़ करता है. सोप इस्तेमाल करने से स्किन के नेचुरल ऑइल निकल जाते हैं और स्किन काफ़ी ड्राई हो जाती है

-चाहे स्किन ऑइली हो या ड्राई हो. मॉइस्चराइज़ ज़रूर करें. मॉइस्चराइज़र स्किन बैरियर को एकसाथ रखता है. उसमें क्रैक नहीं पड़ने देता है. इसलिए स्किन ज़्यादा इलास्टिक रहती है

-लाइट वेट बेस्ड मॉइस्चराइज़र इस्तेमाल करें. जो लोशन बेस्ड हो. या हायलुरॉनिक एसिड (Hyaluronic acid) जेल बेस्ड हो. ये आपकी स्किन को ज़्यादा चिपचिपा नहीं रहने देता. रात में हेवी मॉइस्च्राइज़र इस्तेमाल कर सकते हैं जिसमें ऑलिव ऑइल, शीया बटर, और कोकोनट ऑइल हो. सर्दियों में और भी ज़्यादा मॉइस्च्राइज़र लगाना पड़ता है.

-सन डैमेज से स्किन धीरे-धीरे ख़राब होती जाती है. झुर्रियां, निशान पड़ने लगते हैं. इसलिए सनस्क्रीन ज़रूर लगाएं. स्किन टाइप के हिसाब से सनस्क्रीन इस्तेमाल करें. ऑइली है तो जेल-बेस्ड इस्तेमाल करें. ड्राई है तो क्रीम-बेस्ड

How to choose the best sunscreen, according to these dermatologists
धूप में निकलने से 20 मिनट पहले सनस्क्रीन ज़रूर लगाएं

-कोरोना के वक्त में हमें मास्क पहनना पड़ रहा है. मास्क पहनने से स्किन में काफ़ी प्रॉब्लम आ रही हैं. इसलिए ऐसा मास्क इस्तेमाल करें जो क्लीन हो. रोज़ मास्क बदलें. मास्क के नीचे मेकअप न लगाएं. सनस्क्रीन भी सिर्फ़ ऊपर के हिस्से में लगाएं

-स्ट्रेस न लें, स्ट्रेस से कोर्टिसोल नाम का हॉर्मोन बनने लगता है. इससे ऑइल ज़्यादा निकलता है. पिंपल निकल आते हैं. इसलिए योग करें. मेडिटेशन करें. जो भी आपको पसंद हो वो करें.

ये टिप्स ट्राई करिए. क्या असर हुआ, हमें ज़रूर बताइएगा.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

कोविड केयर सेंटर में काम कर रही नर्स ने शादी से इनकार किया, तो स्टॉकर ने ज़िंदा जलाया

नर्स ने लड़के को भागने से रोका लिया. नतीजा दोनों के लिए बुरा रहा.

यूपी के गोंडा में तीन नाबालिग दलित बहनों पर एसिड अटैक, हालत गंभीर

घर पर सो रही थीं बहनें, तब हुआ हमला.

हाथरस केस: हाई कोर्ट ने पुलिस के बड़े अफसर से पूछा- अपनी बेटी का अंतिम संस्कार ऐसे होने देंगे?

कोर्ट ने यूपी पुलिस की कार्रवाई पर नाराज़गी जताई है.

बक्सर: 7 लोगों पर आरोप- महिला को अगवा कर गैंगरेप किया, मासूम बेटे समेत नदी में फेंक दिया

डूबने से बच्चे की मौत हो गई है.

राजस्थान: लापरवाही से प्रेग्नेंट महिला की मौत का आरोप लगा 4 दिन से धरने पर गांववाले

विपक्षी दल गहलोत सरकार को घेरने में जुटे हैं

नाबालिग ने कथित रेप के बाद खुद पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली

मध्य प्रदेश के रीवा की घटना, आरोपी भी नाबालिग है.

गैंगरेप विक्टिम ने सुसाइड किया, फिर पिता ने जान देने की कोशिश की तब जाकर केस दर्ज हुआ

दफन हो चुके शव को निकालकर जांच के लिए भेजा गया.

जोक ऑफ द डे: खुद 44 अपराधों में आरोपी बीजेपी नेता ने हाथरस विक्टिम को ही दोषी बता दिया

इस नेता ने चारों आरोपियों के लिए मुआवजे की मांग भी की है.

बलरामपुर केस: पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या निकला?

दो लड़कों पर 22 साल की दलित लड़की से गैंगरेप का आरोप है.

लखनऊ: दलित युवती से गैंगरेप का आरोप, पुलिस ने केस दर्ज करने में एक महीने लगा दिए!

हाथरस मामले के तूल पकड़ने के बाद जागी पुलिस.