Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

नाबालिग दोस्त का आंखों के सामने गैंगरेप देखना बर्दाश्त नहीं कर पाया 19 साल का लड़का

2.84 K
शेयर्स

एक 19 साल के लड़के ने आत्महत्या कर ली. एकाएक. उसका परिवार, उसके दोस्त, कोई समझ ही नहीं पाया कि यूं यकायक ऐसा क्या हुआ कि उसने अपनी जान दे दी. पुलिस को भी आत्महत्या की कोई वजह नहीं मिल पा रही थी. तकरीबन 12 दिन गुजर गए. केस इस बुनियादी सवाल पर अटका रहा कि आत्महत्या की वजह क्या थी. फिर वजह मालूम चली. उसके सामने उसकी एक दोस्त के साथ गैंगरेप हुआ था. वो उसे बचाने के लिए कुछ नहीं कर पाया. उसे सबकुछ देखना पड़ा. शायद इसी गिल्ट, इसी तकलीफ, इसी अपमान की वजह से उसने अपनी जान ले ली.

दोनों दोस्त थे, उस दिन हाट में मुलाकात हो गई थी
ये छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले की घटना है. यहां कटघोरा थाना पड़ता है. उसी के एक गांव में ये लड़का रहता था. 1 सितंबर की बात है. यहां के लोकल भेलवाटिकरा बाजार में हाट लगा था. वो जो हर हफ्ते बाजार लगता है, वही. लड़की यहां हाट में सामान खरीदने आई थी. यहीं उसने उस लड़के को देखा. दोनों पहले से ही एक-दूसरे के दोस्त थे. शाम हो गई थी. गांव कुछ दूर था. लड़की ने उससे कहा कि चलो, मुझे गांव तक छोड़ आओ. दोनों गांव की तरफ बढ़े. रास्ते में एक स्कूल पड़ता है. वहां स्कूल के बाहर ही दोनों बैठकर बात कर रहे थे. इसी दौरान वहां से एक बाइक गुजरी. उस पर दो लड़के थे. उन दोनों ने इन दोनों (लड़का-लड़की) को देखा. आस-पास दूर तक कोई और नहीं था. इसका फायदा उठाकर वो बाइक वाले लड़के इन दोनों के पास आए. उन्होंने लड़की के साथ बदतमीजी शुरू कर दी. लड़के ने विरोध किया, तो उसे खूब मारा-पीटा. लड़का अधमरा सा होकर जमीन पर गिर पड़ा.

जहां ये घटना हुई, वो इलाका कटघोरा थाने में पड़ती है. ये छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में आता है.
जहां ये घटना हुई, वो इलाका छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के कटघोरा थाने में पड़ता है.

न लड़की ने, न लड़के ने, दोनों ने घरवालों को कुछ नहीं बताया
लड़की ये सब देख रही थी. खुद को बचाने के लिए वो डरकर गांव की तरफ भागी. लेकिन इन दोनों लड़कों ने उसका पीछा किया. उसे लेकर वापस उस स्कूल के पास पहुंचे, जहां वो लड़का पड़ा था. वहीं पर उन दोनों ने लड़की के साथ रेप किया. उन दोनों ने लड़के को पीट-पीटकर मजबूर किया कि वो रेप होता हुआ देखे. गैंगरेप करने के बाद वो दोनों वहां से चले गए. वो लड़का अपने घर चला गया और लड़की अपने घर. दोनों ने अपने घरवालों को कुछ भी नहीं बताया.

जिस लड़की के साथ गैंगरेप हुआ, उसी ने पुलिस को पूरी वारदात के बारे में बताया. लड़की के बयान के बाद पुलिस ने इन दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है.
जिस लड़की के साथ गैंगरेप हुआ, उसी ने पुलिस को पूरी वारदात के बारे में बताया. लड़की के बयान के बाद पुलिस ने इन दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है.

लड़की ने पुलिस को खुदकुशी की वजह बताई
उधर वो दोनों आरोपी अपने दोस्तों से मिले और उन्हें सब बता दिया. जैसे कोई बड़ा बहादुरी का काम किया हो. ये बात उस लड़के को भी मालूम चली. वो पहले से ही शर्मिंदा महसूस कर रहा था. और शर्मिंदा हो गया. वो खुद को गुनहगार मानने लगा. अगले दिन घरवालों ने देखा, वो पंखे से लटका हुआ है. मर चुका है. बच्चे की मौत का दुख तो है ही. लेकिन परिवार को यही समझ नहीं आ रहा था कि उसने आत्महत्या क्यों की. पुलिस भी कोई जवाब नहीं खोज पाई. फिर जांच के दौरान कहीं से पुलिस को उस लड़की के बारे में मालूम चला. किसी ने उसे उस लड़के के साथ देखा था. उसी लड़की ने पुलिस को पूरी घटना के बारे में बताया. कहा- मेरे साथ हुए गैंगरेप को देखने के लिए मजबूर किया उसको और इसीलिए उसने खुदकुशी कर ली. लड़की के बयान के आधार पर 13 सितंबर को पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया. लड़की नाबालिग है. जो दो आरोपी पकड़े गए हैं, उनका नाम है- खेम कंवर और ईश्वर. ईश्वर ड्राइवर है. खेम मवेशी चराता है.

सोचिए, उस लड़के के परिवारवाले इतने दिनों तक क्या सोचते होंगे. कितनी बातें आती होंगी मन में. कि कहीं उस बात पर तो नाराज नहीं हुआ. कहीं उस बात का तो बुरा नहीं लगा उसे. जाने क्या-क्या सोचने के बाद अब उन्हें ये वजह बताई गई है. ये वजह तो शायद तकलीफ और बढ़ा दे.


क्या है अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला, जिसमें नेता अफ़सर सबने दलाली खाई!

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Rapists force 19 year old teen to watch friend’s gang rape in Chattisgarh’s Korba, boy commits suicide

टॉप खबर

भारत बंद तो ठीक है, लेकिन इसमें हुई हिंसा और तोड़फोड़ की ज़िम्मेदारी कौन लेगा?

कांग्रेस की अगुवाई में 21 विपक्षी पार्टियों ने किया है भारत बंद.

सवर्णों के भारत बंद में भी हुई हिंसा, पथराव में घायल हो गए सांसद पप्पू यादव

बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और राजस्थान में दिखा सबसे ज्यादा असर.

धारा 377: समलैंगिकता पर सुप्रीम कोर्ट ने क्रांतिकारी फैसला दिया है

फैसला हाशिए में रह रहे LGBTQ समुदाय के लिए उत्सव का सबब है

कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में हार के बाद अब निकाय चुनाव में BJP के साथ क्या हुआ?

कांग्रेस और जेडी-एस अलग-अलग लड़े, मगर फिर भी फायदा नहीं उठा पाई बीजेपी.

इंडिया vs इंग्लैंड: हाथी निकल गया मगर दुम रह गई

इंडिया और जीत के बीच अादिल राशिद आ गए.

कीनन-रुबेन मर्डर केस में जो मेन गवाह था, उसका भी मर्डर हो गया

लड़की छेड़ने का विरोध करने पर कीनन-रुबेन को मार दिया गया था, अब अविनाश को भी वैसे ही मारा गया.

नहीं रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी

93 साल की उम्र में एम्स में ली अंतिम सांस.

कांवड़ियों पर 'पुष्पवर्षा' के लिए किराए पर आए हेलिकॉप्टर पर तगड़ा खर्च आया

यूपी सरकार की तरफ से ये हेलिकॉप्टर लिया तो गया था कांवड़ियों पर निगरानी के लिए.

मुजफ्फरपुर जैसा देवरिया का केस, कार आती थी, 15 साल से बड़ी लड़कियों को कहीं ले जाती थी

24 बच्चियों को पुलिस ने छुड़ा लिया है, 18 अब भी गायब हैं.

मैच में चीटिंग हुई है: इंग्लैंड के 11 खेल रहे थे, इंडिया का बस एक कोहली

एक ही बल्लेबाज के भरोसे टेस्ट मैच नहीं जीते जाते.