Submit your post

Follow Us

प्रियंका ने अबकी जो बोला है, उसके बाद राहुल गांधी को राफेल छोड़कर इसका जवाब देना चाहिए

1.62 K
शेयर्स

कांग्रेस की फायरब्रांड स्पोक्सपर्सन प्रियंका चतुर्वेदी ने पार्टी पर गंभीर आरोप लगाया है. बीच इलेक्शन में उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर गुंडों को तवज्जो देने का आरोप लगाया है. आपको सुनने में अटपटा लग रहा होगा कि ये कैसे हो सकता है, कांग्रेस की इतनी मशहूर नेता, जो खुद टीवी पर कांग्रेस को हर मुद्दे पर डिफेंड करते आईं हैं. अब खुद कांग्रेस पर ऐसे आरोप कैसे लगा सकती हैं. अगर आपके मन में ऐसे सवाल उठ रहे हैं तो फिर से कन्फर्म किए देते हैं कि उन्होंने बाकायदा ट्वीट करके ऐसा लिखा है, साथ ही उन्होंने ये भी लिखा है कि पार्टी में गुंडों को तवज्जो दी जा रही है जो महिलाओं के साथ बदसलूकी करते हैं. उन्होंने लिखा:

जो लोग मेहनत कर अपनी जगह बना रहे हैं, उनके बदले ऐसे लोगों को तवज्जो मिल रही है. पार्टी के लिए मैंने गालियां और पत्थर खाए हैं, लेकिन उसके बावजूद पार्टी में रहने वाले नेताओं ने ही मुझे धमकियां दीं. जो लोग धमकियां दे रहे थे, वह बच गए हैं. इनका बिना किसी कड़ी कार्रवाई के बच जाना काफी दुर्भाग्यपूर्ण हैं.

प्रियंका चतुर्वेदी ने ये बातें एक ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा, जिस ट्वीट में एक चिट्ठी भी जुड़ी हुई थी.

चिट्ठी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के मथुरा में जब प्रियंका चतुर्वेदी पार्टी की तरफ से राफेल विमान सौदे को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करने गई थीं. तब स्थानीय कार्यकर्ताओं ने उनके साथ बदसलूकी की थी. इसके बाद उन्होंने मामले की शिकायत कांग्रेस आलाकमान से की. फिर जाकर सभी कांग्रेस नेताओं पर अनुशानात्मक कार्रवाई हुई थी. सभी को पार्टी से निकाल दिया गया था.

1 सितंबर को मथुरा के इसी प्रेस कान्फ्रेंस में प्रियंका चतुर्वेदी के साथ बदसलूकी की घटना हुई थी.
1 सितंबर को मथुरा के इसी प्रेस कान्फ्रेंस में प्रियंका चतुर्वेदी के साथ बदसलूकी की घटना हुई थी.

लेकिन फिर सभी के माफी मांगने और खेद जताने पर पार्टी ने उन्हे उनके पदों पर बहाल कर दिया. चिट्ठी में ये बातें लिखी गई हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की सिफारिश के बाद इन सभी कार्यकर्ताओं को बहाल किया गया है. क्योंकि सिंधिया पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं और लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी भी हैं.

ये पूरा मामला 1 सितंबर 2018 का है जब राफेल विवाद को लेकर कांग्रेस केंद्र सरकार पर हमलावर थी. देशभर में पार्टी के नेता मोदी सरकार के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे. उसी सिलसिले में प्रियंका चतुर्वेदी मथुरा में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने गई थीं. पहले प्रियंका का कार्यक्रम ज़िला कांग्रेस कमेटी के ऑफ़िस में होना था. लेकिन नेताओं के आपसी झगड़े की वजह से इसे एक होटल में कर दिया गया. फिर वहां प्रियंका चतुर्वेदी के साथ बदसलूकी की घटना हुई थी.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Priyanka Chaturvedi hits out at Congress for reinstating leaders who misbehaved with her in mathura

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव में बंपर वोट खींचने वाला ऐलान कर दिया है

वो ऐसी स्कीम लेकर आए हैं कि दिल्ली-NCR की महिलाएं खुश हो गईं.

आखिर क्या सोचकर मोदी ने UP के इन नेताओं को कैबिनेट में जगह दी है?

इनमें कुछ से पिछली सरकार के दौरान बीच में ही मंत्रालय छीन लिया गया था.